खबरें अब तक

  • आज ही छोड़ दें ये 5 आदतें वरना हो सकते हैं कंगाल, छिन सकता है सुख-चैन

    आज ही छोड़ दें ये 5 आदतें वरना हो सकते हैं कंगाल, छिन सकता है सुख-चैन

     

    सनातन धर्म में आपने बहुत से पुराणों के बारे में सुना होगा। सनातन धर्म में कुल 18 महापुराण है जिनमें से एक है गरुड़ पुराण। वैसे तो धार्मिक मान्यता के अनुसार गरुड़ पुराण का पाठ किसी व्यक्ति की मृत्यु होने के बाद पढ़ा जाता है। लेकिन इसके अलावा इस पुराण में ऐसी बहुत सी बातें बताई गई हैं, जो मनुष्य की आदतों से जुड़ी हुई है। यदि व्यक्ति उन आदतों को नहीं छोड़ता है तो उसके ऊपर भारी पड़ यहां तक की वह कंगाल भी हो सकता है। इसलिए जितना जल्दी हो उन आदतों को छोड़ दें। आइए जानते हैं वे कौन सी आदतें हैं जिन्हें मनुष्य को त्याग देना चाहिए। 

    दूसरों पर शोषण करना 

    ऐसे बहुत से व्यक्ति होते है जो अपने से छोटे व्यक्ति या गरीब व्यक्तियों पर अत्याचार करते है उनका शोषण करते है। गरुण पुराण के अनुसार वह व्यक्ति जीवन भर दुखी रहता है। ऐसे भी व्यक्ति है जो दूसरों का शोषण कर धन कमाते हैं,  उनकी कमाई और सभी संपत्ति जल्दी नष्ट हो जाती है। 

    घर को हमेशा साफ रखें 

    ऐसे बहुत से लोग है जो अपने आलस के कारण घर को काफी गंदा रखते है। लेकिन ये आप पर भारी पड़ सकता है, गरुड़ पुराण कहता है कि घर में कभी भी गंदगी नहीं होनी चाहिए। जिस घर में गंदगी होती है उस घर में मां लक्ष्मी का वास नहीं होता। इसीलिए व्यक्ति को अपना आलस छोड़ कर घर को स्वच्छ रखना चाहिए। 

    लालच करना

    आपने ये तो सुना ही होगा की लालच करना बुरी बला है। गरुड़ पुराण में कहा गया है की लालच व्यक्ति के जीवन को पूरी तरह से तबाह कर सकता है। क्योंकि लालच इंसान में बुरी आदतों का वास करता है और व्यक्ति गलत तरीकों से धन कमाना लगता है। गरुड़ पुराण के अनुसार जो व्यक्ति जितना लालच करेगा मां लक्ष्मी उससे उतनी ही दूर जाएंगी। 

    अहंकारी मनुष्य 

    ऐसा अक्सर देखा जाता है की मनुष्य सफल होने के बाद बहुत अहंकारी बन जाता है और ऐसा कहा भी गया है की मनुष्य को कभी भी अपने जीवन में अहंकार नहीं करना चाहिए वो इसलिए क्योंकि अहंकार व्यक्ति की बुद्धि को भ्रष्ट कर देता है। ऐसे लोगों के पास धन कभी भी नहीं रुकता। 

    पैर घसीट कर चलना 

    कई लोग अपने पैरों को घसीट कर चलते है। जो लोग पैर घसीट कर चलते हैं वह जीवन में कभी भी आर्थिक तरक्की नहीं कर सकते ना सिर्फ आर्थिक तरक्की बल्कि उनके वैवाहिक जीवन पर भी गलत प्रभाव पड़ता है। ऐसे व्यक्तियों को मनमुटाव का भी सामना करना पड़ता है।

    और भी...

  • बजट सत्र से पहले अपने संबोधन में बोले PM मोदी- तकरार भी रहेगी, तकरीर भी तो होनी चाहिए...

    बजट सत्र से पहले अपने संबोधन में बोले PM मोदी- तकरार भी रहेगी, तकरीर भी तो होनी चाहिए...

     

    संसद का बजट सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को मीडिया को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज की वैश्विक परिस्थिति में भारत के बजट की तरफ न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व का ध्यान है।

    उन्होंने कहा कि आज एक अहम अवसर है। भारते के वर्तमान राष्ट्रपति की आज पहली बार संयुक्त सदन को संबोधित करेंगी। आज नारी सम्मान का भी अवसर है। दूर सुदूर जंगलों में जीवन बसर करने वाले हमारे देश के महान आदिवासियों के सम्मान का समय है। आज न केवल सांसदो बल्कि पूरे देश के लिए गौरव का पल है कि भारत के राष्ट्रपति का आज पहला संबोधन हो रहा है। 

    पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति का पहला अभिभाषण है, सभी सांसदों की तरफ से उमंग, उत्साह और ऊर्जा से भरा यह पल हो। मुझे विश्वास है कि सभी सांसद इस कसौटी पर खरे उतरेंगे। 

    'बजट की तरफ न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व का ध्यान'

    संसद परिसर में मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की वित्त मंत्री भी महिला हैं। वह कल आम बजट लेकर संसद में आएंगी। आज की वैश्विक परिस्थिति में भारत के बजट की तरफ न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व का ध्यान है। विश्व की डंवाडोल आर्थिक परिस्तिथि में बजट भारत के सामान्य लोगों की आशा को पूरा करने का प्रयास करेगा। मुझे उम्मीद है कि वित्त मंत्री इन आशाओं को पूरा करने के लिए पूरा जोर लगाएंगी।

    उन्होंने कहा, "सबसे पहले देश, सबसे पहले देशवासी, उसी भावना को आगे बढ़ाते हुए इस बजट सत्र में भी तकरार भी रहेगी लेकिन तक़रीर भी तो होनी चाहिए। मुझे विश्वास है कि विपक्ष के सभी साथी बड़ी तैयारी के साथ, बहुत अध्ययन करके सदन में अपनी बात रखेंगे।" पीएम मोदी ने आगे कहा कि मुझे आशा है सदन देश की नीति निर्धारण में बहुत ही अच्छी तरह से चर्चा करके अमृत निकालेगा।
     

    और भी...

  • ऐतिहासिक होगा इस बार का केंद्रीय बजट, कांग्रेस न करे राजनीति : कर्ण नंदा

    ऐतिहासिक होगा इस बार का केंद्रीय बजट, कांग्रेस न करे राजनीति : कर्ण नंदा

     

    भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सह मीडिया प्रभारी कर्ण नंदा ने कहा कि इस बार का केंद्रीय बजट ऐतिहासिक होने वाला है और कांग्रेस के नेता केवल इस बजट को लेकर राजनीति करते हैं। आज भी कुछ कांग्रेस नेताओं ने केंद्र बजट को लेकर बयानबाजी की है और अभी तो केंद्र बजट आया भी नही है।

    उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा हिमाचल प्रदेश को अपना दूसरा घर माना है और हिमाचल प्रदेश को प्रधानमंत्री ने बिना मांगे हमेशा बड़ी सौगात दी है। चाहे वह बिलासपुर में एम्स हो या ऊना जिला में 1923 करोड़ की लागत से बनने वाला बल्क ड्रग पार्क और यही नहीं पीएम मोदी ने हिमाचल को हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज भी दिया है।

    कर्ण नंदा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश की उन्नति के लिए हमेशा बढ़-चढ़कर काम किया है और अगर किसी पार्टी ने हिमाचल के साथ द्वेष भावना से काम किया तो वह केवल कांग्रेस पार्टी है जिसने हिमाचल प्रदेश का औद्योगिक पैकेज भी छीन लिया था।

    उन्होंने कहा कि अगर हम नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की बात करें तो हाल ही में कुल्लू मनाली रोड की डबल लेने बनाने के लिए भी नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया आगे बढ़कर काम कर रही है। इस रोड को डबल लेन बनाने में कुल खर्चा 500 करोड़ से भी अधिक आएगा। इससे हिमाचल में तरक्की होगी। 

    कर्ण नंदा ने कहा, "शायद कांग्रेस पार्टी के नेता आलोचना के लिए आलोचना करते हैं, उन्हें कभी हिमाचल की प्रगति दिखी ही नहीं हाल ही में केंद्र सरकार ने सुन्नी बांध पर 382 मेगावाट का हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट हिमाचल प्रदेश को दिया है यह सतलुज नदी पर बनेगा और इसकी कुल लागत 2615 करोड होगी इससे हिमाचल को कितना फायदा हो रहा है कांग्रेस के नेताओं को यह नहीं दिखता।"

    भाजपा सह मीडिया प्रभारी ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश में कितनी सड़कें बनी है कांग्रेस के नेताओं को इसका आभास भी नहीं है और नाबार्ड ने तो हाल ही में 283 करोड रुपए हिमाचल के सड़क निर्माण के लिए स्वीकृत कर दिया। इसका टेंडर जल्द होने जा रहा है। कांग्रेस के नेताओं को छोटी राजनीति छोड़ केंद्र सरकार के हिमाचल प्रदेश को दिए गए सौगातो को याद रखना चाहिए।

    उन्होंने आगे कहा कि कुछ दिन पहले केंद्र मंत्री मनसुख मांडवीया मंडी दौरे पर आए थे तो श्री लाल बहादुर मेडिकल कॉलेज नेरचौक को 15 करोड़ की सौगात दे गए। कर्ण नंदा ने कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी के नेताओं से पूछना चाहता हूं कि केंद्र ने हिमाचल प्रदेश के लिए कहां कमी छोड़ी है। इसलिए कांग्रेस पार्टी के नेताओं को सोच समझकर ही बयानबाजी करनी चाहिए।

     

    और भी...

  • बजट सत्र: खराब मौसम के चलते राष्ट्रपति के अभिभाषण में शामिल नहीं होंगे कांग्रेस अध्यक्ष समेत कई नेता

    बजट सत्र: खराब मौसम के चलते राष्ट्रपति के अभिभाषण में शामिल नहीं होंगे कांग्रेस अध्यक्ष समेत कई नेता

     

    भारत जोड़ो यात्रा के चलते कांग्रेस अध्यक्ष समेत तमाम नेता आखिरी दिन का जश्न मनाने श्रीनगर पहुंचे थे। अब खराब मौसम के कारण मल्लिकार्जुन खड़गे सहित सभी नेता बजट सत्र से पहले होने वाले राष्ट्रपति भाषण में शामिल नहीं हो सकेंगे। यह जानकारी पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर दी।

    जयराम रमेश ने कहा, "खराब मौसम के चलते श्रीनगर हवाई अड्डे से उड़ानों में विलंब हो रहा है। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष खड़गे जी और कांग्रेस के कई अन्य सांसद दोनों सदनों की बैठक में होने जा रहे राष्ट्रपति के अभिभाषण में मौजूद नहीं रह सकेंगे।"

     

    बता दें कि संसद का बजट सत्र आज से शुरू हो रहा है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में अपना पहला अभिभाषण देंगी। बजट सत्र का पहला चरण 13 फरवरी तक चलेगा और दूसरा चरण 13 मार्च से शुरू होकर छह अप्रैल तक चलेगा। वहीं, बजट सत्र के दौरान 27 बैठक होंगी।

    और भी...

  • 31 जनवरी की ऐतिहासिक घटनाएं

    31 जनवरी की ऐतिहासिक घटनाएं

     

    1561: मुग़ल बादशाह अकबर के संरक्षक बैरम ख़ाँ की गुजरात के पाटण में हत्या कर दी गई।
    1599: ब्रिटेन की रानी एलिज़ाबेथ प्रथम के आदेश पर भारत में ब्रिटेन की पहली ईस्ट इंडिया कम्पनी की स्थापना हुई।
    1850: चीन में ताए पींगहा (जनता का संकल्प )नाम से सबसे बड़ा जनान्दोलन आरंभ हुआ।
    1865: अमेरिका में ‘दासता उन्मूलन’ संबंधी 13वां संशोधन विधेयक स्वीकृत हुआ।
    1893: अमेरिका में पहली बार ‘कोका कोला’ ट्रेडमार्क का पेटेंट किया गया।
    1915: ‘प्रथम विश्व युद्ध’ के दौरान जर्मनी ने रूस के खिलाफ ज़हरीली गैस का इस्तेमाल किया।
    1958: अमेरिका ने पहले भू-उपग्रह का प्रक्षेपण किया।
    1963: मोर को भारत का राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया गया।
    1968: अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया।
    1975: भारतीय अभिनेत्री प्रीति जिंटा का जन्म।
    1981: अभिनेत्री अमृता अरोड़ा का 31 जनवरी को जन्म हुआ।
    1990: रूस की राजधानी मास्को में विश्व का सबसे बड़ा मेकडोनाल्ड स्टोर शुरू हुआ।
    2000: भारतीय सिनेमा के खलनायक अभिनेता के. एन. सिंह का निधन हुआ।
    2004: प्रसिद्ध पाश्र्व गायिका और अभिनेत्री सुरैया जमाल शेख का निधन हुआ।
    2008: पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय बेनजीर भुट्टो की पार्टी ने चुनाव के लिए अपनी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया।
    2010: हॉलीवुड फिल्म ‘अवतार’ दो बिलियन डॉलर कमाकर दुनियाभर में सबसे ज्यादा कमायी करने वाली फिल्म बनी।

    और भी...

  • श्रीनगर में बर्फबारी का लुत्फ उठाते नजर आए राहुल-प्रियंका, ऐसे बर्फ से खेलते दिखे

    श्रीनगर में बर्फबारी का लुत्फ उठाते नजर आए राहुल-प्रियंका, ऐसे बर्फ से खेलते दिखे

     

    कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और उनकी बहन एवं पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने श्रीनगर में सोमवार को बर्फबारी का आनंद लिया। जम्मू-कश्मीर में रविवार शाम से शुरू हुई बर्फबारी अभी भी जारी है, जो इस मौसम की पहली बड़ी बर्फबारी है।

    इसे देखकर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के चेहरे खिल उठे। उन्होंने एक दूसरे पर बर्फ के गोले फेंके। इसके अलावा अन्य पदयात्रियों ने भी बर्फबारी का जमकर लुत्फ उठाया।

    वहीं, सोशल मीडिया पर भाई-बहन की जोड़ी की प्यारी सी स्नोबॉल फाइट की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। अन्य तस्वीरों में प्रियंका अपने भाई के साथ खेल-खेल में कुश्ती करती नजर आई।

    उन्होंने राहुल के हाथों को पकड़ कर उनके सिर पर स्नोबॉल फेंकी। इससे पहले राहुल गांधी ने 145 दिवसीय 'भारत जोड़ो यात्रा' का नेतृत्व किया, जो रविवार को श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक पर तिरंगा फहराने के बाद संपन्न हुआ।  

     

    और भी...

  • U19 महिला विश्वकप में ऐतिहासिक जीत के बाद कप्तान शैफाली के घर पहुंचे CM मनोहर लाल,परिवार को दी बधाई

    U19 महिला विश्वकप में ऐतिहासिक जीत के बाद कप्तान शैफाली के घर पहुंचे CM मनोहर लाल,परिवार को दी बधाई

     

    हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल सोमवार को रोहतक में अंडर-19 टी20 विश्व कप चैंपियन टीम की कप्तान शेफाली वर्मा के घर पहुंचे। उन्होंने शैफाली वर्मा के परिवार मुलाकात की और उनके साथ मिठाइयां खाईं।

    साथ ही मुख्यमंत्री ने शेफाली वर्मा के परिवार का अभिनंदन किया और कहा कि हरियाणा की बेटी शैफाली और पूरी क्रिकेट टीम पर देश को गर्व है।

    रोहतक पहुंचे मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने शेफाली के पिता संजीव वर्मा को मिठाई खिलाकर जीत की बधाई दी। मुलाकात के दौरान शेफाली वर्मा के दादा संत लाल वर्मा व पिता संजीव वर्मा ने मुख्यमंत्री को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया।

    हरियाणा की बेटी शैफाली वर्मा के नेतृत्व में भारतीय महिला अंडर-19 क्रिकेट टीम ने विश्वकप जीता है, जो अपने आप में बड़ी बात है। बता दें कि शैफाली वर्मा हरियाणा के रोहतक की रहने वाली हैं।

    वहीं, शैफाली को मैच व विश्वकप जीतता देख भावुक हुए पिता संजीव वर्मा ने कहा कि सबकी सालों की मेहनत कामयाब हो गई। बेटी ने क्रिकेट में भविष्य बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है।
     

     

    और भी...

  • पाकिस्तान के पेशावर में पुलिस लाइंस इलाके की मस्जिद के अंदर धमाका, 25 की मौत, 80 से ज्यादा घायल

    पाकिस्तान के पेशावर में पुलिस लाइंस इलाके की मस्जिद के अंदर धमाका, 25 की मौत, 80 से ज्यादा घायल

     

    पाकिस्तान में अशांत खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के पेशावर में सोमवार को एक मस्जिद में जोरदार धमका हुआ। इस आत्मघाती धमाके में 25 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 80 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे है।

    यह धमाका पेशावर के पुलिस लाइन्स क्षेत्र में स्थित मस्जिद में हुआ। बताया जा रहा है कि यह विस्फोट करीब एक बजकर 40 मिनट पर हुआ, जब ज़ुहर की नमाज़ अदा की जा रही थी।

    घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है और वहां सिर्फ एंबुलेंस प्रवेश कर सकती हैं। अधिकारियों के मुताबिक, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। 

     

    और भी...

  • आखिर क्यों होती है घर पर लगी पानी की टंकी में लाइनें, जानिए इसके पीछे की बड़ी वजह

    आखिर क्यों होती है घर पर लगी पानी की टंकी में लाइनें, जानिए इसके पीछे की बड़ी वजह

     

    हमारे आसपास ऐसी बहुत सी चीजें मौजूद होती है, जिनमें कुछ खास प्रकार के डिजाइन बने होते है। उन डिजाइन को बनाने की कोई ना कोई वजह होती है। उदाहरण के लिए हम हर दिन अपने घर की छत पर रखी पानी की टंकी को देखते है। जिनमें एक खास प्रकार की लाइनों वाला डिजाइन होता है। क्या आपने कभी ये सोचा है की ये लाइनें क्यों बनाई जाती है। अगर नहीं तो आज हम इन्हीं लाइनों के बारे में बताने जा रहे है की पानी की टंकी पर ये लाइनें बनाने की बड़ी वजह क्या है। तो आइए जानते है... 

    पानी के टंकी में बनाई गई ये लाइनें टंकी को मजबूती देने का काम करती है और हर मौसम में पानी के टंकी को टिकाऊ बनाने का काम करती है। जहां-जहां ये लाइनें बनी होती हैं, उन जगहों की खास बात ये होती है कि टंकी का वो हिस्सा मजबूत होता है। टंकी मजबूत रहने से प्लास्टिक की टंकी फैलकर आगे नहीं बढ़ती है। 

    दरअसल, पानी की टंकी पानी के प्रेशर को नही झेल सकती है। टंकी में बनी लाइनें पानी के प्रेशर को झेलने में मदद करती है। अगर आप पानी की टंकी को हाथ लगाएंगे तो आपको पता चलेगा कि जहां ये लाइनें होती हैं, वहां आपको टंकी ज्यादा मजबूत दिखेगी।

    इस तरह से ये पानी के प्रेशर को झेलने में मदद करती है। इन लाइनों को बनाने की एक बड़ी वजह ये भी है की प्लास्टिक की चीजों का गर्मी के मौसम में फैलने का खतरा होता है। प्लास्टिक की बनी ये पानी की टंकी गर्मी के मौसम में ना फैले इसलिए इनमें लाइनें बनाई जाती है। 

    अगर प्लास्टिक की टंकियों में ये लाइनें नहीं बनाई जाएगी और स्ट्रक्चर पूरी तरह से प्लेन रहेगा तो इसके फूलने का डर बना रहता है।  इस खास प्रकार के डिजाइन से टंकी को मजबूती मिलती है और टंकी लंबे समय तक चलती है। 

    और भी...

  • हिमाचल में हिमपात, तेज हवाओं और बारिश से यातायात प्रभावित, कई स्थानों पर बिजली आपूर्ति भी ठप

    हिमाचल में हिमपात, तेज हवाओं और बारिश से यातायात प्रभावित, कई स्थानों पर बिजली आपूर्ति भी ठप

     

    हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले इलाकों में रात भर जारी हिमपात, तेज हवाओं और हल्की बारिश से यातायात प्रभावित हुआ। यही नहीं कई स्थानों पर बिजली आपूर्ति भी ठप हो गई है। खराब मौसम के कारण हिमाचल में पिछले 24 घंटों के दौरान सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया।

    मिली रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की से मध्यम बर्फबारी हुई है और कुल्लू, शिमला और किन्नौर की ऊंची चोटियों पर कल रात ताजा हिमपात हुआ। वहीं, फिसलन की स्थिति के कारण कई सड़कें बंद हो गई हैं। लाहौल स्पीति, चंबा के पांगी, भरमौर और ऊपरी शिमला में हिमपात के कारण इनका जिला मुख्यालय के साथ सम्पर्क टूट गया।

    पिछले 24 घंटे में चार राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 280 सड़कों के बंद होने की सूचना है। सड़कें बंद होने से लोगों की आवाजाही प्रभावित हो रही है। राजधानी को किन्नौर से जोड़ने वाला एनएच-5 कुफरी और नारकंडा में यातायात के लिए बंद है।

    इसी तरह रोहड़ू को खड़ापत्थर से जोड़ने वाला हाईवे और चौपाल को शिमला से जोड़ने वाला हाईवे बंद है। आसमान में काले बादल मंडराने के कारण और अधिक हिमपात का अनुमान है। मौसम विज्ञान केंद्र ने शिमला, किन्नौर, लाहौल-स्पीति, कुल्लू, चंबा, मंडी, कांगड़ा और सिरमौर के जिला प्रशासन से पर्यटकों और लोगों को ऊंचे इलाकों में नहीं जाने देने की अपील की है।

    बर्फबारी के कारण यातायात प्रभावित होने की आशंका है। शिमला, सोलन, बिलासपुर, ऊना, सिरमौर और हमीरपुर के निचले इलाकों में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली आंधी ने आम जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया। राज्य के 300 विद्युत ट्रांसफार्मरों (डीटीआर) में बिजली आपूर्ति बाधित रही, जिसके खराब मौसम में आपूर्ति बहाल होने में समय लगने का अनुमान है। 
     

    और भी...

  • CM योगी ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर दी श्रद्धाजंलि, राष्ट्रपिता की प्रतिमा पर अर्पित किए पुष्प

    CM योगी ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर दी श्रद्धाजंलि, राष्ट्रपिता की प्रतिमा पर अर्पित किए पुष्प

     

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 75वीं पुण्यतिथि पर बापू की प्रतिमा पर माथा टेका और पुष्प अर्पित कर उन्हे श्रद्धाजंलि अर्पित की। सीएम योगी ने लखनऊ में जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पहुंचे और राष्ट्रपिता की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हे श्रद्धाजंलि अर्पित की।

    इस मौके पर उन्होंने भजन कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक भी मौजद रहे। उन्होंने ने भी महात्मा गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

    इससे पहले सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा, "राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि। बापू के समग्र चिंतन में मनुष्यता, स्वतंत्रता एवं समरसता का आह्वान है। उनकी शिक्षाएं रामराज्य और विश्व शांति की संकल्पना की सिद्धि का मार्ग प्रशस्त करती हैं।"

    बता दें कि 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की दिल्ली के बिड़ला हाउस परिसर में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।  

     

    और भी...

  • Airtel यूजर्स के लिए बड़ी खबर: अब कही भी बैठकर कर सकते हैं दिल्ली मेट्रो का स्मार्ट कार्ड रीचार्ज

    Airtel यूजर्स के लिए बड़ी खबर: अब कही भी बैठकर कर सकते हैं दिल्ली मेट्रो का स्मार्ट कार्ड रीचार्ज

     

    दिल्ली मेट्रो के स्मार्ट कार्ड को यात्री अब एयरटेल पेमेंट्स बैंक के जरिए भी टॉपअप (रिचार्ज) कर सकेंगे। इस बाबत दोनों कंपनियों ने एक करार किया है। रविवार को जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया है कि दिल्ली मेट्रो और एयरटेल पेमेंट्स बैंक की यह नई पहल हर भारतीय को डिजिटेल लेन-देन की सुविधा उपलब्ध कराकर डिजिटल इंडिया और वित्तीय समावेशन के सरकारी दृष्टिकोण में योगदान देने पर केंद्रित है।

    यह नई सुविधा यात्रियों के लिए बहुत सुविधाजनक होगी, क्योंकि इसके जरिये वे अपने स्मार्ट कार्ड को मोबाइल फोन की मदद से रिचार्ज करने के लिए एक और विश्वसनीय विकल्प का इस्तेमाल कर सकेंगे। आपको बता दें कि इस सुविधा की शुरुआत नहीं होने से पहले तक यात्रियों को काउंटर या वेंडिंग मशीन से स्मार्ट कार्ड रिचार्ज करने की सुविधा थी।

    और भी...

  • हिमाचल में सालों से डटे अधिकारी और कर्मचारी अब रडार पर, CM सुक्खू ने मांगी रिपोर्ट

    हिमाचल में सालों से डटे अधिकारी और कर्मचारी अब रडार पर, CM सुक्खू ने मांगी रिपोर्ट

     

    हिमाचल प्रदेश के सभी औद्योगिक क्षेत्रों में वर्षों से एक ही जगह पर डटे अधिकारी और कर्मचारी अब मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के रडार पर आ गए हैं। दरअसल, सीएम सुक्खू ने ऐसे सभी कर्मचारियों और अधिकारियों की रिपोर्ट तलब की है, जो कई सालों से एक ही जगह पर डटे हुए हैं।

    ऐसे सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को उनकी स्थायी जगह से हटाया जाएगा। सरकार के ध्यान में मामला आया है कि कई अधिकारी और कर्मचारी सालों से औद्योगिक क्षेत्रों में डटे हुए हैं।

    इसके पीछे उनकी मंशा क्या है, अब सरकार यह पता लगाने में जुट गई है। पूर्व की सरकारों द्वारा तबादले किए जाते थे, पर वे अधिकारी अपनी ट्रांसफर किसी न किसी तरह से रुकवा ही लेते थे। अब मुख्यमंत्री ने ऐसे अधिकारियों और कर्मचारियों को हटाने का मन बना लिया है। 

    इन सब के पीछे क्या है मुख्यमंत्री का मकसद

    सीएम सुक्खू का ऐसा करने का मकसद काम में पारदर्शिता लाना है। काम को लेकर सरकार पर कोई उंगली न उठाए, इससे बचने के लिए सुक्खू सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ काम को आगे बढ़ा रही है। मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि वह सत्ता परिवर्तन नहीं, बल्कि व्यवस्था परिवर्तन के लिए आए हैं। इस दिशा में उन्होंने काम करना भी शुरू कर दिया है। 

    जल्द ही बड़ी संख्या में होंगे तबादले 

    इसी कड़ी में औद्योगिक क्षेत्र में काम को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए प्रशासनिक फेरबदल किया जाएगा। सरकार के इस फैसले से उन अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मच गया है, जो बरसों से एक ही जगह पर डटे हुए हैं। हालांकि अभी बड़े स्तर पर तबादले नहीं किए गए हैं। निचले स्तर पर ही तबादलों का दौर जारी है, लेकिन जल्दी ही बड़ी संख्या में तबादले होंगे। 

     

    और भी...

  • ध्वजारोहण और रैली के साथ आज होगा ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का समापन, 20 से ज्यादा पार्टियां होंगी शामिल

    ध्वजारोहण और रैली के साथ आज होगा ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का समापन, 20 से ज्यादा पार्टियां होंगी शामिल

     

    भारत जोड़ो यात्रा का समापन श्रीनगर में सोमवार को कांग्रेस पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में ध्वजारोहण और फिर ‘शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम’ में रैली के साथ होगा। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने रैली के लिए 20 से अधिक समान विचारधारा वाली पार्टियों को आमंत्रित किया है, जो विपक्षी एकजुटता का संदेश देने का प्रयास है।

    बर्फ की चादर से ढक चुके श्रीनगर में होने वाली इस रैली में कई विपक्षी दलों के नेताओं और प्रतिनिधियों के शामिल होने की संभावना है। हालांकि, कुछ प्रमुख विपक्षी दलों की उपस्थिति को लेकर असमंजस की स्थिति भी है।

    कांग्रेस के मुताबिक, पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में तिरंगा फहराएंगे और फिर भारत जोड़ो यात्रा से जुड़े स्मृति चिन्ह का अनावरण करेंगे। बता दें कि इससे पहले रविवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ऐतिहासिक लाल चौक पर तिरंगा फहराया था।

    उन्होंने कहा था कि विपक्ष में मतभेद जरूर हैं, लेकिन वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के खिलाफ एक साथ खड़ा होगा और लड़ेगा। 

    भारत जोड़ो यात्रा का 145 दिनों के बाद समापन हो रहा है। यह यात्रा 4,080 किलोमीटर के सफर के बाद श्रीनगर में संपन्न होगी। सात सितंबर 2022 को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई यह यात्रा देशभर के विभिन्न राज्यों के 75 जिलों से होकर गुजरी। 

    ये पार्टियां हो सकती हैं शामिल 

    कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि इस रैली में नेशनल कांफ्रेंस, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), शिवसेना, द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) और कुछ अन्य दलों के नेताओं और प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की संभावना है। 

    हालांकि, रैली में समाजवादी पार्टी (सपा), तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) जैसी पार्टियों के प्रतिनिधियों के शामिल होने को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

     

    और भी...

  • 30 जनवरी की ऐतिहासिक घटनाएं

    30 जनवरी की ऐतिहासिक घटनाएं

     

    1903 : लार्ड कर्जन ने कलकत्ता के मटकॉफ हॉल में इंपीरियल लाइब्रेरी का उद्घाटन किया। वर्ष 1948 में इस लाइब्रेरी का नाम बदलकर नेशनल लाइब्रेरी कर दिया गया।
    1933 : राष्ट्रपति पॉल वान हिंडेनबर्ग ने अडोल्फ हिटलर को जर्मनी का चांसलर बनाया।
    1941 : नौवहन के इतिहास की एक बड़ी घटना में सोवियत संघ की एक पनडुब्बी ने जर्मनी का एक पोत डुबा दिया, जिससे उसमें सवार लगभग नौ हजार लोगों की मौत हो गई।
    1948 : शाम की प्रार्थना के लिए जा रहे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की नई दिल्ली के बिड़ला भवन में हत्या। तभी से इस दिन को ‘शहीद दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।
    1965: ब्रिटेन के लोगों ने द्वितीय विश्वयुद्ध के समय देश के प्रधानमंत्री रहे विंस्टन चर्चिल को अंतिम विदाई दी। चर्चिल एक कुशल कूटनीतिज्ञ और प्रखर वक्ता थे और वह एकमात्र प्रधानमंत्री थे, जिन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्हें ब्रिटेन की महानतम विभूतियों में गिना जाता है।
    1985 : लोकसभा ने दल बदल विरोधी कानून पारित कर राजनीतिक दलबदलुओं के स्वत: अयोग्य होने का रास्ता साफ कर दिया।
    2004 : वैज्ञानिकों ने संवाददाता सम्मेलन में ऐलान किया कि मंगल पर भेजे गए अंतरिक्ष यान ‘अपोर्चुनिटी’ को मंगल ग्रह पर आयरन ऑक्साइड की मौजूदगी के संकेत मिले हैं। इसका सीधा मतलब है कि संभवत: एक समय वहां पानी रहा होगा।
    2007 : एक बड़े अन्तरराष्ट्रीय सौदे में भारत की दिग्गज कंपनी टाटा ने एंग्लो डच स्टील निर्माता कंपनी कोरस ग्रुप को 12 अरब डॉलर से अधिक में खरीदा।
    2008 : चेन्नई की एक विशेष अदालत ने स्टाम्प घोटाला मामले के मुख्य आरोपी अब्दुल करीम तेलगी को 10 साल की सज़ा सुनाई।
    2009 : ऑस्ट्रेलिया ओपन के मिक्स्ड डबल मुक़ाबले में सानिया मिर्ज़ा और महेश भूपति की जोड़ी फाइनल में पहुंची।
    2009 : कोका कोला कंपनी ने ऐलान किया कि वह अमेरिका में अपने प्रमुख उत्पाद कोका कोला क्लासिक का नाम बदलकर कोका कोला करने जा रही है। कोका कोला के साथ ‘क्लासिक’ शब्द को 1985 में जोड़ा गया था।

    और भी...