खबरें अब तक

  • केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने किया फिल्म 'बाल नरेन' का पोस्टर लॉन्च

    केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने किया फिल्म 'बाल नरेन' का पोस्टर लॉन्च

     

    केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने राजधानी दिल्ली के एक पार्क में सफाई अभियान की शुरुआत कर फिल्म 'बाल नरेन' का पोस्टर लॉन्च किया। हालांकि, लोगों को ऐसा लगता है, जैसे 'बाल नरेन' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर आधारित फिल्म होगी, लेकिन असल में ऐसा है नहीं। 'बाल नरेन' का मतलब यह नहीं कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बचपन की कहानी है, बल्कि यह फिल्म उनसे प्रेरित और प्रभावित होकर कैसे एक बच्चा गांव राजनगर में स्वच्छता अभियान चलाता है, 'बाल नरेन' की कहानी उस पर केंद्रित है। लेकिन, इसमें दो राय नहीं कि इस फिल्म का निर्माण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से किया गया है और फिल्म का निर्देशन पवन केके नागपाल ने किया है। 

    पोस्टर लॉन्च के मौके पर अभिनेता रजनीश दुग्गल ने कहा, 'मैं पहली बार किसी ऐसी फिल्म में काम कर रहा हूं जो एक सार्थक संदेश देती है। समाज को अनूठा संदेश देने वाली इस फिल्म में काम करके मुझे वाकई में बहुत मजा आया।' पोस्टर लॉन्च के इस मौके पर फिल्म से जुड़े बाल कलाकार योग्य भसीन के साथ फिल्म के अहम कलाकार बिंदु दारा सिंह, अभिनेत्री बिदिता बाग और सह निर्माता हुनर मुकुट भी मौजूद थे।

    और भी...

  • तूफान की चपेट में आई RR की फ्लाइट, टला बड़ा हादसा, देखिए केबिन के अंदर खिलाड़ियों का हाल

    तूफान की चपेट में आई RR की फ्लाइट, टला बड़ा हादसा, देखिए केबिन के अंदर खिलाड़ियों का हाल

     

    आईपीएल 2022 (IPL 2022) के लीग स्टेज मुकाबले पंजाब और हैदराबाद मैच (PUB vs SRH) के साथ खत्म होने वाले हैं। हालांकि इस मैच का आईपीएल के प्लेऑफ (IPL playoffs) से कुछ लेना-देना नहीं है। क्योंकि आईपीएल 2022 प्लेऑफ के लिए चार टीमें पहले ही क्वालीफाई हो चुकी हैं। मुंबई (Mumbai) ने दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) को हराकर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) के प्लेऑफ में पहुंचने का रास्ता साफ कर दिया है। इससे पहले गुजरात (Gujrat), राजस्थान (Rajasthan) और लखनऊ (Lucknow) पहले ही प्लेऑफ में अपनी जगह बना चुकी हैं।

    राजस्थान रॉयल्स (RCB) ने अपने पिछले मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को हराकर शीर्ष- दो में अपनी जगह हासिल कर ली थी। आईपीएल 2022 के पहले क्वालीफायर में राजस्थान का मुकाबला गुजरात टाइटंस से कराया जाएगा, जोकि 10 मुकाबले जीतकर प्लेऑफ तक पहुंची है। 24 मई को इन दोनों टीमों के बीच पहला क्वालीफायर खेला जाएगा, जिसके लिए राजस्थान रॉयल्स ने कोलकाता (Kolkata) के लिए उड़ान भरी थी, जहां पर ये मैच होना है। हालांकि उनके लिए कोलकाता का सफर ठीक नहीं रहा। कोलकाता पहुंचते के दौरान राजस्थान रॉयल्स की फ्लाइट में भारी अशांति हुई, जो प्लेन में सवार सभी लोगों के लिए एक डरावना अनुभव साबित हुआ।



    इस हफ्ते कोलकाता में काफी तेज हवाएं चल रही हैं, जिससे शहर में जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है। तूफान की वजह से शहर में खेल गतिविधियां प्रभावित हुईं और साथ ही एटीके मोहन बागान और वसुंधरा किंग्स के बीच एशियाई फुटबॉल परिसंघ कप मैच को खराब मौसम की वजह से एक घंटे के लिए रोकना पड़ा।

    बता दें कि मुंबई इंडियन्स (Mumbai Indians) की दिल्ली कैपिटल्स पर पांच विकेट की रोमांचक जीत से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) आईपीएल के प्लेऑफ में पहुंच चुकी है, जिसके बाद विराट कोहली (Virat Kohli) ने रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की अगुवाई वाली टीम का आभार व्यक्त करते हुए उन्हें कहा कि ''धन्यवाद मुंबई, हम इसे हमेशा याद रखेंगे।'' वहीं मैक्सवेल ने कहा है कि आरसीबी अब इतिहास रचने के काफी करीब है।

    और भी...

  • आय से अधिक संपत्ति मामला: पूर्व आयकर आयुक्त श्वेताभ सुमन ने किया सरेंडर, भेजा गया हरिद्वार जेल

    आय से अधिक संपत्ति मामला: पूर्व आयकर आयुक्त श्वेताभ सुमन ने किया सरेंडर, भेजा गया हरिद्वार जेल

     

    सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश के बाद आखिरकार पूर्व आयकर आयुक्त श्वेताभ सुमन (Former Income Tax Commissioner Shwetabh Suman) ने सरेंडर कर दिया। श्वेताभ सुमन को हरिद्वार जेल (Haridwar Jail) भेज दिया गया है। शुक्रवार को सरेंडर से जुड़ी तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद श्वेताभ सुमन को जेल प्रशासन के सौंप दिया गया है।

    बता दें कि श्वेताभ सुमन ने हरिद्वार जेल में ही सरेंडर की सारी औपचारिकताएं पूरी की। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने 13 मई को अन्य आरोपी डॉ अरुण कुमार सिंह को कुछ समय के लिए सरेंडर की मोहलत दी है। आय से अधिक संपत्ति के मामले (Disproportionate Assets Case) में श्वेताभ सुमन पहले भी हरिद्वार जेल में रह चुके हैं।

    बाद में अंतरिम बेल मिलने पर हरिद्वार जेल से श्वेताभ सुमन को रिहा कर दिया गया था। 5 मार्च 2022 को श्वेताभ सुमन, डॉ अरुण कुमार सिंह (Dr. Arun Kumar Singh) और राजेंद्र विक्रम सिंह (Rajendra Vikram Singh) के बेल बांड (bail bond) को खारिज करते हुए हिरासत में लेने के आदेश दिया गया था। इस केस में श्वेताभ सुमन को पहले सात साल कठोर कारावास और पांच करोड़ के जुर्माने की सजा सुनाई गई थी। पिछले दिनों उच्च न्यायालय (High Court) ने सजा में राहत देते हुए सात साल की जगह पांच साल कठोर कारावास दे दिया था।

    इस आदेश के खिलाफ श्वेताभ सुमन ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में स्पेशल लीव पिटीशन दाखिल की थी। लेकिन कोर्ट ने 22 अप्रैल को विशेष अनुमति याचिका खारिज करते हुए उन्हें सरेंडर के आदेश दिए। सुप्रीम कोर्ट ने 13 मई के आदेश में श्वेताभ सुमन व दो अन्य अभियुक्तों को एक सप्ताह के अंदर सरेंडर होने के आदेश दिए थे। इस आदेश के बाद श्वेताभ सुमन ने आत्मसमर्पण कर दिया। श्वेताभ सुमन के जेल जाने की पुष्टि हरिद्वार जेल प्रशासन द्वारा की गई है।

    और भी...

  • हिमाचल: हरिद्वार से लौट रही HRTC बस को ट्रक ने मारी टक्कर, 43 यात्री थे सवार

    हिमाचल: हरिद्वार से लौट रही HRTC बस को ट्रक ने मारी टक्कर, 43 यात्री थे सवार

     

    हिमाचल पथ परिवहन निगम केलांग डिपो की हरिद्वार-चंडीगढ़-केलांग बस (Haridwar-Chandigarh-Keylong Bus) शनिवार रात को दुर्घटनाग्रस्त हो गई। शनिवार रात करीब 11:40 बजे पांवटा साहिब (Paonta Sahib) में एक ट्रक बस को टक्कर मारकर मौके से फरार हो गया। इस हादसे में बस चालक को घायल हो गया। कुछ यात्रियों को भी हल्की चोटें आईं थी। यह दुर्घटना पांवटा साहिब के अग्रसेन चौक की बताई जा रही है। बता दें कि इस चौक पर पहले भी इस तरह की कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं।

    हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने बस चालक को तुरंत पांवटा अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचाया। उसके बाद हिमाचल पथ परिवहन निगम नाहन डिपो ने अपनी बस भेजकर हरिद्वार से आ रहे सभी यात्रियों को चंडीगढ़ तक भेजा। चंडीगढ़ से तीसरी बस में यात्रियों को केलांग के लिए रवाना किया गया।

    दरअसल, हिमाचल पथ परिवहन निगम केलांग डिपो की एचपी 66ए-1577 बस (HP 66A-1577 Bus) अपने नियमित रूट पर शनिवार देर शाम को हरिद्वार से केलंग की ओर रवाना हुई थी, जिसे पांवटा साहिब में एक अज्ञात ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में बस चालक मनजीत सिंह घायल हो गया। इस बस में करीब  43 यात्री सवार थे। हिमाचल पथ परिवहन निगम नाहन के क्षेत्रीय प्रबंधक संजीव बिष्ट ने इस हादसे को लेकर बताया कि जैसे ही पांवटा साहिब में एचआरटीसी की बस के दुर्घटनाग्रस्त होने की उन्हें सूचना मिली। उन्होंने तुरंत नाहन से अपनी बस मौके पर भेजकर सभी यात्रियों को चंडीगढ़ भिजवाया।

    चंडीगढ़ से केलांग डिपो की बस में सभी यात्रियों को अपने गंतव्य के लिए रवाना किया गया। उधर पांवटा साहिब के डीएसपी वीर बहादुर सिंह ने इस पर बताया की ड्राइवर व कंडक्टर की शिकायत पर बस को टक्कर मारने वाले ट्रक चालक के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही फरार हुए ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

    और भी...

  • Davos 2022: जानें WEF की बैठक में क्या होगा खास, इन मुद्दों पर रहेगा जोर

    Davos 2022: जानें WEF की बैठक में क्या होगा खास, इन मुद्दों पर रहेगा जोर

     

    दावोस (Davos) में होने वाली वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) की बैठक बेहद खास मानी जा रही है। 22 मई से 26 मई तक चलने वाली इस बैठक में कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा होने वाली है। दावोस बैठक में जलवायु परिवर्तन (Climate change), कोविड संकट (Covid Crisis) और यूक्रेन (Ukraine) जैसे मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद जताई जा रही है।

    यह बैठक करीब ढाई साल बाद होने जा रही है। कोविड महामारी के कारण यह बैठक लगातार स्थगित होती रही है। कई वैश्विक नेता इस बैठक में चर्चा करेंगे। यह कोविड महामारी के बाद पहली फिजिकल बैठक (Physical Meeting) है।

    ये सभी दिग्गज हस्तियां होंगी शामिल?
    वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (world economic forum) की बैठक में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमीर ज़ेलेंस्की (Volodymyr Zelensky), जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज (Olaf Scholz) और यूरोपियन यूनियन की प्रेसिडेंट उर्सला वॉन डेर लेयेन (Ursula von der Leyen) भी शामिल होंगे। बैठक में दुनिया के कई दिग्गज देशों के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे। इस बैठक में कुल 50 देशों और राज्यों के प्रमुख हिस्सा लेने वाले हैं।

    भारत से कौन-कौन होगा बैठक में शामिल?
    भारत से तीन केंद्रीय मंत्री इस बैठक में शामिल होंगे। इन मंत्रियों में पीयूष गोयल (Piyush Goyal), मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) और हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) दावोस पहुंचे हैं। कई राज्यों के नेता भी इस बैठक में शामिल होंगे। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) और आंध्र प्रदेश के सीएम वाई एस रेड्डी (CM Y S Reddy), तेलंगाना के सीएम केसीआर (CM KCR) भी शामिल होंगे। महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) भी बैठक में शामिल होंगे।

    बैठक की थीम क्या है ?
    विश्व इकोनॉमिक फोरम की इस बैठक की थीम 'हिस्ट्री एट ए टर्निंग पॉइंट' (History at a Turning Point) है। बैठक में सरकारी योजनाओं पर चर्चा की जाएगी। बैठक में कोविड महामारी पर भी चर्चा की जाएगी। यूक्रेन और दूसरे भौगोलिक संकट पर भी चर्चा होने की संभावना है। 

    और भी...

  • Gyanvapi Masjid: सपा सांसद शफीकुर्रहमान का बड़ा बयान, बोले- ज्ञानवापी में कोई शिवलिंग नहीं है

    Gyanvapi Masjid: सपा सांसद शफीकुर्रहमान का बड़ा बयान, बोले- ज्ञानवापी में कोई शिवलिंग नहीं है

     

    सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (SP MP Shafiqur Rehman Burke) ने कहा कि वाराणसी (Varanasi) की ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Mosque) में कोई शिवलिंग नहीं है। इस तरह के मुद्दे 2024 के लोकसभा चुनाव में ध्रुवीकरण करने के लिए ही उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि आप इतिहास का अवलोकन करेंगे तो पाएंगे कि वहां कोई भी शिवलिंग नहीं था। ये सब सिर्फ लोगों को भावनात्मक रूप से बरगलाने के लिए किया जा रहा है जिससे कि 2024 के लोकसभा चुनाव में ध्रुवीकरण का फायदा उठाया जा सके।

    रविवार को बर्क सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलने के लिए लखनऊ (lucknow) आए हैं। जहां उन्होंने पीटीआई से बातचीत की। अयोध्या (Ayodhya) में मंदिर निर्माण पर बर्क बोले कि ये सब ताकत के बलबूते पर ही किया जा रहा है। मैं अब भी यही कहूंगा कि वहां पर पहले मस्जिद ही थी। उन्होंने कहा कि भाजपा राज में मुसलमानों और मस्जिदों को तेजी से निशाना बनाया जा रहा है। प्रदेश में कानून का राज नहीं बल्कि बुलडोजर राज है जबकि देश को कानून और संविधान द्वारा चलाया जाना चाहिए।

    गर्मी की छुट्टियों के बाद शुरू होगी मामले की सुनवाई
    बता दें कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने ज्ञानवापी मामला वाराणसी की जिला अदालत को स्थानांतरण कर दिया है। शुक्रवार को सर्वोच्च अदालत ने आदेश दिया कि इस मामले की सुनवाई अनुभवी और वरिष्ठ जज करेंगे। वाराणसी जिला अदालत के आदेश के खिलाफ अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमेटी (Anjuman Intjamiya Masjid Committee) की याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी आदेश दिया कि शिवलिंग की सुरक्षा और नमाज की इजाजत देने का उसका 17 मई का अंतरिम आदेश पहले की तरह बरकरार रहेगा। वहीं, मस्जिद कमेटी की याचिका पर जिला अदालत में प्राथमिकता के आधार पर सुनवाई की जाएगी। इसके साथ ही इस मामले में अदालत ने अगली सुनवाई गर्मी की छुट्टियों के बाद यानी जुलाई के दूसरे हफ्ते में करने का निर्णय किया है।

    और भी...

  • जालौन: घर में झूला लगाते समय रस्सी में फंसी 8 साल के बच्चे की गर्दन, दम घुटने से हुई मौत

    जालौन: घर में झूला लगाते समय रस्सी में फंसी 8 साल के बच्चे की गर्दन, दम घुटने से हुई मौत

     

    यूपी (Uttar Pradesh) के जालौन (Jalaun) के बसरेही गांव में शनिवार को एक साल के बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। बच्चे की मौत झूले की रस्सी में फंसकर दम घुटने के कारण हो गई। मृत बच्चे की पहचान अर्जुन के रूप में हुई है। कोतवाली थाने के एसएचओ उमाकांत ओझा ने बताया कि अर्जुन अपने घर के एक कमरे में खेल रहा था और वह रस्सी से झूला बनाने की कोशिश कर रहा था। इस दौरान उसने गेहूं की कुछ बोरियों को एक के ऊपर एक रखकर उनका ढेर लगा दिया और झूले को पंखे से लटकाने के लिए उन पर चढ़ गया।

    एसएचओ ने आगे कहा कि जैसे ही वह झूलने की कोशिश करने लगा, ऊपर से गेहूं की बोरियां अचानक से खिसक गईं, जिससे बच्चे का संतुलन बिगड़ गया और इससे रस्सी उसके गले में लिपट गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। ओझा ने बताया कि उसे उसके परिवार के सदस्यों ने अर्जुन को लटका हुआ देखा तो इलाज के लिए कदौरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए, जहां डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। उन्होंने कहा कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

    और भी...

  • Hisar: स्याहड़वा में काम करते समय कुएं में गिरे दो किसान मिट्टी में दबे, बचाव कार्य जारी

    Hisar: स्याहड़वा में काम करते समय कुएं में गिरे दो किसान मिट्टी में दबे, बचाव कार्य जारी

     

    हिसार जिले के निकट के गांव स्याहड़वा में दो किसानों के कुए की मिट्टी में दबने का मामला सामने आया है। जैसे ही किसानों की कुएं में दबे होने की जानकारी ग्रामीणों को मिली हड़कंप मच गया। जेसीबी की मदद से दोनों किसानों को बाहर निकालने का काम जारी है, लेकिन 20 फीट की खुदाई के बाद भी दबे हुए किसानों का कोई पता नहीं चल सका है।

    जानकारी के अनुसार रविवार सुबह 7 बजे के आसपास दोनों किसान किसी काम से कुएं में उतरे थे तभी हादसा हो गया। मिट्टी में दबे किसान जगदीश उर्फ फौजी तथा जयपाल घटना के करीब 5 घंटे बाद भी कुएं में दबे हुए हैं। वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची प्रशासन की टीम और पुलिसकर्मियों ने जेसीबी के जरिये मिट्टी में दबे दोनों किसानों को बाहर निकालने के लिए बचाव कार्य शुरू कर दिया है, कुंआ 40 फुट गहरा बताया जा रहा है। हालांकि अभी तक किसानों का कोई सुराग नहीं लग सका है।
     

    और भी...

  • केंद्र सरकार ने घटाई Excise Duty, पेट्रोल 9.5 रुपए और डीजल 7 रुपए हुआ सस्ता

    केंद्र सरकार ने घटाई Excise Duty, पेट्रोल 9.5 रुपए और डीजल 7 रुपए हुआ सस्ता

     

    केंद्र सरकार (Central Govt) ने शनिवार को पेट्रोल और डीजल पर बड़ी राहत देते हुए एक्साइज ड्यूटी कम कर दिया है। पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी ( petrol diesel excise duty) 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये कम कर दिया गया है। इस कटौती के बाद दिल्ली (Delhi) में आज पेट्रोल (Petrol price in delhi) 8.69 रुपये सस्ता हो गया है। वहीं, दिल्ली में डीजल 7.05 रुपये सस्ता बिक रहा है। ऐसे में अगर देश की आर्थिक राजधानी मुंबई की बात करें तो यहां आज एक लीटर पेट्रोल की कीमत (Petrol price in mumbai) में 9.16 रुपये की कटौती के बाद 111.35 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से पेट्रोल बिक रहा है। मुंबई में डीजल (Diesel price in mumbai) 7.49 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया है। आइए जानते हैं दिल्ली और मुंबई के अलावा किस राज्य में कितना रुपये तक सस्ता हो गया है फ्यूल-

    कोलकाता- पेट्रोल 9.09 रुपये सस्ता हो गया है, वहीं डीजल 7.07 रुपये सस्ता हुआ है। आज कोलकाता में पेट्रोल 106.03 रुपये और डीजल 92.76 रुपये लीटर बिक रहा है।

    चेन्नई- यहां पेट्रोल 8.22 रुपये और डीजल 6.7 रुपये तक सस्ता हुआ है। चेन्नई में आज पेट्रोल सस्ता होने के बाद 102.63 रुपये और डीजल 94.24 रुपये लीटर मिल रहा है।

    पटना- पटना में एक लीटर पेट्रोल के दामों में आज 8.99 रुपये की कटौती की गई है। यहां डीजल 7.02 रुपये सस्ता हो गया है। पटना में पेट्रोल 107.24 रुपये लीटर और डीजल 94.04 रुपये मिल रहा है।

    भोपाल- भोपाल में पेट्रोल 9.49 रुपये तक सस्ता हुआ है। यहां डीजल की कीमत में 7.26 रुपये घटाए गए हैं जिसके बाद भोपाल में पेट्रोल 108.65 रुपये और डीजल 93.90 रुपये लीटर बिक रहा है।

    पोर्ट ब्लेयर- पोर्ट ब्लेयर में पेट्रोल 84.10 रुपये और डीजल 79.74 रुपये लीटर बिक रहा है। यहां पेट्रोल करिब 7.35 रुपये सस्ता किया गया है।

    जानें बाकी शहरों के दाम
    आपको बता दें कि हुए एक्साइज ड्यूटी कम करने के बाद नोएडा में एक लीटर पेट्रोल 96.79 रुपये और डीजल 89.96 रुपये बिक रहा है। गुरुग्राम में एक लीटर पेट्रोल के दाम 97.18 रुपये और डीजल 90.05 रुपये लीटर तक हो गया है। चंडीगढ़ में पेट्रोल 96.20 रुपये लीटर और डीजल 84.26 रुपये लीटर बिक रहा है। लखनऊ में पेट्रोल 96.57 रुपये और डीजल 89.76 रुपये लीटर दिया जा रहा है।

    और भी...

  • Jammu-Kashmir: रामबन सुरंग हादसे में मिले 10 लोगों के शव, 16 लाख मुआवजे की घोषणा

    Jammu-Kashmir: रामबन सुरंग हादसे में मिले 10 लोगों के शव, 16 लाख मुआवजे की घोषणा

     

    जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के रामबन (Ramban) में गुरुवार को एक बड़ा हादसा हो गया था। यहां जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग (Jammu-Srinagar National Highway) पर पहाड़ों को काटकर बनाई जा रही चार लेन की सुरंग (Tunnel) का एक हिस्सा अचानक ढह गया था। इस हादसे में 9 लोग सुरंग में अंदर फंस गए थे। जिसके बाद मौके पर राहत बचाव का कार्य शुरू किया गया था। अधिकारियों ने अब यह बताया है कि भूस्खलन (landslide) के बाद मलबे से 9 शवों को बाहर निकाल लिया गया है। शनिवार तक इस हादसे में मारे गए लोगों की संख्या करीब 10 तक पहुंच गई थी।

    मृतकों के परिवार को दिया जाएगा 16 लाख का मुआवजा
    रामबन के डिप्टी कमिश्नर मुसर्रत इस्लाम (Ramban deputy commissioner Musarat Islam) ने कहा है कि सभी 10 लोगों के शव मिल चुके हैं और मृतकों के परिजनों को सूचित भी कर दिया गया है। इसी के साथ अब राहत बचाव ऑपरेशन पूरा हो गया है। उन्होंने कहा कि मृतकों के परिवार को 16 लाख रुपये का मुआवजा दिए जाने का ऐलान किया गया है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि मृतकों के परिवार को करीब 15 लाख रुपये दिए जाएंगे और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Jammu and Kashmir Lieutenant Governor Manoj Sinha) की ओर से रिलीफ फंड (Relief Fund) से भी एक लाख रुपये दिए जाने का ऐलान किया गया है।

    कहां-कहां के रहने वाले हैं मृतक
    मरने वाले 10 मजदूरों में 5 लोग पश्चिम बंगाल (West Bengal) के रहने वाले हैं। जबकि एक असम (Asam), दो नेपाल (Nepal) और दो लोग वहीं के स्थानीय बताए जा रहे हैं। इस मामले में लापरवाही के आरोप में एफआईआर (FIR) दर्ज कर ली गई है। अब बचाव अभियान भी खत्म कर दिया गया है। बता दें कि दो दिन तक चली इस लंबी तलाशी के बाद शवों को रिकवर किया गया है।

    और भी...

  • MCD merger: आज दिल्ली में तीनों नगर निगम का होगा विलय, जानें कर्मचारियों पर क्या पड़ेगा असर?

    MCD merger: आज दिल्ली में तीनों नगर निगम का होगा विलय, जानें कर्मचारियों पर क्या पड़ेगा असर?

     

    दिल्ली (Delhi) के नगर निगमों के एकीकरण (MCD merger) की प्रक्रिया अब पूरी हो चुकी है। आज यानी रविवार को दिल्ली की तीनों नगर निगमों का विलय हो जाएगा। IAS अधिकारी अश्विनी कुमार दिल्ली नगर निगम (MCD) के विशेष अधिकारी चुने गए हैं वहीं ज्ञानेश भारती निगम आयुक्त नियुक्त किए गए हैं।

    गृह मंत्रालय की तरफ से जारी आदेश के अनुसार नए सदन का चुनाव होने तक विशेष अधिकारी ही निगम के मामलों को संभालने वाला शीर्ष अधिकारी माना जाएगा। बता दें कि एजीएमयूटी कैडर के 1992 बैच के आईएएस अधिकारी अश्विनी कुमार पुडुचेरी के मुख्य सचिव थे। केंद्र सरकार (Central Govt) ने हाल में उनका ट्रांसफर दिल्ली में किया था और वह अपनी नई तैनाती का इंतजार कर रहे थे।

    वहीं, एजीएमयूटी कैडर के 1998 बैच के आईएएस अधिकारी ज्ञानेश भारती फिलहाल दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त हैं। भारती दिल्ली के तीन निगम आयुक्तों में सबसे वरिष्ठ हैं। एकीकृत एमसीडी के विशेष अधिकारी के रूप में कुमार की नियुक्ति को बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि वह निकाय चुनाव से महीनों पहले एकीकृत नगर निगम के कामकाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

    एकीकरण का असर
    एकीकृत एमसीडी के लिए विशेष अधिकारी और नए आयुक्त की नियुक्ति के बाद नगर निगम के स्टाफ में फेरबदल और पुनर्गठन की कवायद जल्द ही शुरू होने वाली है। निगम मामलों के विशेषज्ञ और एमसीडी कार्य समिति के पूर्व अध्यक्ष जगदीश ममगई (Jagdish Mamgai) ने कहा कि वर्तमान में तीन नगर निकायों के हर एक विभाग में तीन विभागाध्यक्ष हैं लेकिन एकीकरण के बाद एक विभाग में एक विभागाध्यक्ष ही होगा।

    अधिकारियों के सामने सबसे बड़ी चुनौती क्या है?
    जानकारों का कहना है कि इन अधिकारियों के सामने एमसीडी को आर्थिक रूप से स्थिर बनाने की चुनौती होगी। बता दें कि तीन नगर निकायों को एकजुट करने के लिए 30 मार्च को एक विधेयक लोकसभा और पांच अप्रैल को राज्यसभा ने अनुमोदित किया गया था।

    जानें कब हुए थे हस्ताक्षर?
    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने 18 अप्रैल को इस विधेयक पर हस्ताक्षर किए थे जिसके बाद यह विधेयक एक अधिनियम बन गया था। इस अधिनियम के तहत राष्ट्रीय राजधानी में वार्डों की मौजूदा संख्या 272 से घटाकर 250 कर दिया जाएगा, जिसका अर्थ है कि एमसीडी को चुनाव से पहले परिसीमन की कवायद से गुजरना होगा। वार्डों के सीमांकन के लिए केंद्र एक परिसीमन आयोग का भी गठन करेगा।

    क्या होगा 700 कर्मचारियों का?
    नगर निगमों के एकीकरण के बाद करीब 700 कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। तीन नगर निगमों के एकीकरण के बाद, लगभग 700 कर्मचारियों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है। नई प्रणाली के लिए उन्हें समायोजित करना एक बड़ी चुनौती होगी।

    और भी...

  • 22 मई के दिन की ऐतिहासिक घटनाएं

    22 मई के दिन की ऐतिहासिक घटनाएं

     

    1420- ऑस्ट्रिया और सीरिया से यहूदियों को निकाला गया।
    1859- स्कॉटिश लेखक और भौतिकशास्त्री सर ऑर्थर कोनन डॉयल का जन्म आज के दिन हुआ था।
    1915- प्रथम विश्व युद्ध के दौरान इटली ने आस्ट्रिया, हंगरी तथा जर्मनी के खिलाफ युद्ध की घोषणा की।
    1947- ट्रूमन दस्तावेज पर हस्ताक्षर किया गया जिसमें अमेरिका ने शित युद्ध में तुर्की और युनान की सहायता के लिए 400 मिलियन डालर का प्रावधान किया गया था।
    1949- पश्चिम जर्मनी संविधान को अंगीकार करने के बाद औपचारिक रूप से अस्तित्व में आया।
    1971- आज ही के दिन अमरीकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन एक सप्ताह की यात्रा पर सोवियत संघ की राजधानी मॉस्को पहुंचे।
    1972- पाकिस्तान द्वारा राष्ट्रमंडल की सदस्यता से त्यागपत्र।
    2001- दलाई लामा ने तिब्बत की आज़ादी की मांग छोड़ी।
    2002- नेपाल में संसद भंग।
    2003- अल्जीरिया में आये विनाशकारी भूकम्प में हजारों से भी अधिक लोग मारे गये।
    1774- धार्मिक और सामाजिक विकास के क्षेत्र में सबसे अग्रणी राजा राममोहन राय का जन्म हुआ।
    1922- अमेरिकी टेलीविजन निर्माता क्वीन मार्टिन का जन्म हुआ।
    1545- भारत में ‘सूर साम्राज्य’ का संस्थापक और महान् योद्धा शेरशाह सूरी का निधन हुआ।
    1991- भारत के प्रारम्भिक कम्युनिस्ट नेताओं में से एक श्रीपाद अमृत डांगे का निधन हुआ।

    और भी...

  • आज से हिमाचल के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त होंगे 233 टेस्ट

    आज से हिमाचल के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त होंगे 233 टेस्ट

     

    हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सरकारी अस्पतालों (Govt. Hospitals) में शनिवार शाम पांच बजे से मरीजों के 233 टेस्ट निशुल्क किए जाएंगे। अस्पतालों में सेवाएं दे रही एसआर लैब शाम पांच बजे से हट जाएगी। इसकी जगह पुणे की कंपनी मरीजों को टेस्ट सुविधा उपलब्ध करवाएगी। 20 दिनों के अंदर कंपनी अस्पताल परिसरों में आधारभूत ढांचे को विकसित करेगी।

    जब तक कंपनी अधिकारियों का आधारभूत ढांचा तैयार नहीं हो जाता, तब तक कंपनी के कर्मचारी चंडीगढ़ सैंपल जांच के लिए भेजेंगे। इसके लिए कंपनी की तरफ से 8 से 10 गाड़ियां लगाई जाएंगी। कंपनी द्वारा हर दिन मरीजों को रिपोर्ट देने का दावा किया गया है। यह सेवाएं प्रदेश के छह मेडिकल कॉलेजों, जोनल अस्पतालों, सिविल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध करवाई गई है।

    पहले अस्पतालों में 11 तरह की श्रेणियों में आने वाले मरीजों को ही यह सुविधा दी जाती थी, लेकिन अब सभी मरीज निशुल्क टेस्ट सुविधा का लाभ उठा पाएंगे। इसमें अल्ट्रासाउंड और सीटी स्कैन जैसे बड़े टेस्ट भी शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग के उपनिदेशक रमेश चंद (Ramesh Chand) ने कहा कि आज से पुणे की कंपनी मरीजों के निशुल्क टेस्ट करवाने का काम संभालेगी।

    और भी...

  • 16 साल की उम्र में Praggnanandhaa ने दिखाया कमाल, दूसरी बार चेसेबल मास्टर्स मैग्नस कार्लसन को दी मात

    16 साल की उम्र में Praggnanandhaa ने दिखाया कमाल, दूसरी बार चेसेबल मास्टर्स मैग्नस कार्लसन को दी मात

     

    भारतीय ग्रैंडमास्टर आर प्रज्ञानंद (R Praggnanandhaa) ने इस साल दूसरी बार मैग्नस कार्लसन (Magnus Carlson) को हराकर मौजूदा चेसेबल मास्टर्स (Chasable Masters) के पांचवें दौर में विश्व चैंपियन (World Champion) से बेहतर प्रदर्शन किया है। प्रज्ञानंद की उम्र अभी सिर्फ 16 साल की हैं। इस साल की शुरुआत में ही प्रज्ञानानंद ने कार्लसन को मात दी थी। अब 3 महीने के बाद उन्होंने एक बार फिर कार्लसन से बेहतर प्रदर्शन कर सबको हैरान कर दिया है।

    चेसेबल मास्टर्स प्रतियोगिता क्या है
    चेसेबल मास्टर्स प्रतियोगिता (Chessable Masters Competition) एक 16-खिलाड़ियों का ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट (chess Tournament) है। इसमें कार्लसन और प्रज्ञानानंद के बीच मुकाबला ड्रॉ की तरफ बढ़ रहा था लेकिन कार्लसन ने अपने 40वें मूव पर एक बहुत बड़ी गलती कर दी जिसका फायदा प्रज्ञानंद ने मौका देखते ही उठा लिया और कार्लसन को मात देने में कामयाब हो गए। बता दें कि इसी साल प्रज्ञानानंद ने फरवरी महीने में एयरथिंग्स मास्टर्स ऑनलाइन रैपिड टूर्नामेंट (AirThings Masters Online Rapid Tournament) में कार्लसन को हराया था।

    प्रतियोगिता में पांचवें स्थान पर हैं प्रज्ञानानंद
    चेसेबल मास्टर्स टूर्नामेंट के बारे में अगर बात करें तो दूसरे दिन के बाद कार्लसन 15 स्कोर के साथ तीसरे स्थान पर चल रहे हैं। प्रज्ञानानंद 12 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर पहुंच गए है। चीन के वेई यी 18 के स्कोर के साथ शीर्ष पर बने हुए हैं। इसके बाद डेविड एंटोन हैं जिनके पास करीब 15 का स्कोर है।

    क्रिकेट का भी शौक है प्रज्ञानानंद को
    चेन्नई के रहने वाले प्रज्ञानानंद ने 2018 में प्रतिष्ठित ग्रैंडमास्टर खिताब अपने नाम किया था। यह उपलब्धि हासिल करने वाले प्रज्ञानानंद भारत के सबसे कम उम्र के और उस समय दुनिया में दूसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने थे। फिलहाल प्रज्ञानानंद सबसे कम उम्र के ग्रैंडमास्टर की सर्वकालिक सूची में पांचवें स्थान पर बने हुए हैं। बता दें कि उनका मार्गदर्शन भारत के दिग्गज शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद (Chess player Viswanathan Anand) ने किया है। ग्रैंडमास्टर बनने के बाद से प्रज्ञानानंद ने लगातार प्रगति की ओर अपने कदम बढ़ाए हैं। लेकिन कोविड-19 महामारी (Covid19) के कारण कई टूर्नामेंट को रोक दिया गया।  

    और भी...

  • London: Rahul Gandhi का मोदी सरकार पर हमला, बोले- भारत की आवाज दबा दी गई है...

    London: Rahul Gandhi का मोदी सरकार पर हमला, बोले- भारत की आवाज दबा दी गई है...

     

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने लंदन (London) की Cambridge University में आइडियाज फॉर इंडिया सम्मेलन (Ideas for India conference) में कहा कि कांग्रेस (Congress) किसी भी तरह से अन्य विपक्षी दलों से बेहतर नहीं है। उन्होंने कहा, वह कांग्रेस को बिग डैडी के रूप में कभी नहीं देखना चाहते हैं। मोदी सरकार (Modi Govt) पर हमला बोलते हुए कहा उन्होंने आगे कहा कि, आवाज के बिना आत्मा का कोई मतलब नहीं होता है। भारत की आवाज दबाई जा चुकी है। जो इस समय भारत में हो रहा है, ठीक वैसे ही पाकिस्तान (Pakistan) में भी हुआ था।

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी की यह टिप्पणी हाल ही में उदयपुर में चिंतन शिविर (Meditation camp) के ठीक बाद आई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा से अकेले लड़ सकती है क्योंकि क्षेत्रीय दलों की न तो कोई विचारधारा होती है और न ही केंद्रीकृत दृष्टिकोण। उनके इस बयान से विपक्ष के कई दल उनसे नाराज हो गए हैं।

    राहुल गांधी ने पार्टी में अंदरूनी कलह, विद्रोह, दलबदल और चुनावी हार को लेकर कहा कि, “कांग्रेस भारत को एक फिर से हासिल करने के लिए लड़ रही है। यह अब एक वैचारिक लड़ाई बन चुकी है - एक राष्ट्रीय वैचारिक लड़ाई। आवाज के बिना आत्मा का कोई मतलब नहीं होता। भारत की आवाज दबाई जा चुकी है। जो इस समय भारत में हो रहा है, ठीक वैसे ही पाकिस्तान में भी हो चुका है।”

    उन्होंने कहा, "हम सिर्फ BJP से नहीं लड़ रहे हैं। हम भारतीय राज्य के संस्थागत ढांचे के साथ लड़ रहे हैं, जिस पर एक संगठन ने अपना कब्जा कर लिया है।" कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि, "हम उनके पास मौजूद फंड की बराबरी तो नहीं कर पाएंगे। हमें महंगाई और बेरोजगारी (Unemployment) जैसे मुद्दों पर बड़े पैमाने पर जन आंदोलनों के बारे में सोचना होगा।"

    चीन को लेकर सरकार पर बोला हमला
    राहुल गांधी ने चीन द्वारा पैंगोंग पर दो पुल बनाने को लेकर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए ट्वीट किया कि-

    चीन ने जब पहला पुल बनाया
    भारत सरकार- हम स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।

    चीन ने जब पैंगोंग पर दूसरा पुल बनाया
    भारत सरकार- हम स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।

    भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान किया जाना चाहिए। एक डरपोक और विनम्र प्रतिक्रिया से कभी काम नहीं चलेगा। पीएम को देश की रक्षा करनी चाहिए।

    और भी...