खबरें अब तक

  • खेलो इंडिया और एग्जाम पर पीएम ने की 'मन की बात'

    खेलो इंडिया और एग्जाम पर पीएम ने की 'मन की बात'

     

    पीएम मोदी ने गणतंत्र दिवस के मौके पर पहली बार 'मन की बात' कार्यक्रम में बोले। मोदी ने कहा कि गणतंत्र दिवस की वजह से ही कार्यक्रम के समय में बदलाव किया गया और शाम 6 बजे मैं आप लोगों से बात कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि भारत में कैन डू यानी "हम कुछ कर सकते हैं' का भाव संकल्प बनकर उभर रहा है।

    पीएम ने असम में खेलो इंडिया के आयोजन पर बधाई दी और ऐलान किया कि इसी तर्ज पर खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का आयोजन होगा। उन्होंने छात्रों को परीक्षा की तैयारियों के लिए बधाई दी और कहा कि सर्दी और परीक्षा के सीजन में खुद को फिट रखें। पीएम ने कहा कि 2022 में हमारी आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं और उस मौके पर हमें गगनयान मिशन के साथ एक भारतवासी को अंतरिक्ष में ले जाने के अपने संकल्प को सिद्ध करना है।

    पीएम ने एग्जाम पर कहा कि, एग्जाम का सीजन आ चुका है। देश के करोड़ों विद्यार्थियों से चर्चा के बाद मैं विश्वास से कह सकता हूं कि देश का युवा आत्मविश्वास से भरा है और चुनौती के लिए तैयार है। सर्दी और परीक्षा के बीच खुद को फिट रखें। एक्सरसाइज जरूर करें।

    और भी...

  • CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों के समर्थन में आए 300 बॉलीवुड कलाकार

    CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों के समर्थन में आए 300 बॉलीवुड कलाकार

     

    CAA और NRC पर पूरे देश में विरोध प्रद्रर्शन हो रहे हैं। इन विरोध प्रदर्शन में आम आदमी से लेकर बॉलीवुड हस्तियों तक ने अपनी राय रखी है चाहे वो पक्ष में हो या विरोध में, वहीं अब बॉलीवुड हस्तियों ने  CAA-NRC का विरोध कर रहे छात्रों का खुलकर समर्थन किया है।

    इनमें फिल्म निर्माता मीरा नायर, नंदिता दास, अभिनेता नसीरुद्दीन शाह, रत्ना पाठक शाह, जावेद जाफरी,पार्थ चटर्जी, अनीता देसाई, किरण देसाई, टीएम कृष्णा, आशीष नंदी और गायत्री चक्रवर्ती समेत 300 से ज्यादा लोग शामिल हैं। इन  बॉलीवुड हस्तियों ने CAA-NRC का विरोध कर रहे छात्रों के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए एक खुले पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। हस्ताक्षर किए गए इस पत्र में लोगों का कहना है कि, "राष्ट्र की आत्मा खतरे में है। हमारे लाखों राज्य-हित और भारतीयों की आजीविका दांव पर है।"

    CAA-NRC का विरोध कर रहे छात्रों का समर्थन में आए इन  बॉलीवुड हस्तियों का मानना है कि, " हम में से कई लोग अक्सर अन्याय के विरोध में चुप रहते हैं। ऐसे में  भारत के संविधान के सिद्धांतों को बनाए रखने के लिए इन छात्रों का किया जा रहा विरोध सराहनीय है।" इनका कहना है कि, " इस वक्त की गंभीरता को देखते हुए हम में से हर एक को अपने सिद्धांतों को बचाने के लिए सामने आना होगा।"

    और भी...

  • शिमला में गणतंत्र दिवस कुछ इस तरह मनाया गया

    शिमला में गणतंत्र दिवस कुछ इस तरह मनाया गया

     

    शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर 71वें गणतंत्र दिवस के राज्य स्तरीय समारोह में राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने तिरंगा फहराया और मार्च पास्ट की सलामी ली। इस मौके पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी मौजूद रहे। परेड देखने के लिए सैकड़ों की तादाद में लोगों की भीड़ जुटी थी।

    समारोह में लोगों को शिमला, बिलासपुर और कुल्लू की नाटी देखने को मिली। इसके अलावा कांगड़ा का झमाकड़ा, पटियाला का भांगड़ा और राजस्थानी नृत्य भी पेश किया गया। गणतंत्र दिवस पर सेना, उद्योग विभाग के अलावा महिला एवं बाल विकास विभाग ने बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ पर लोगों को जागरूक किया। पर्यटन विभाग ने पर्यटक स्थल, वन विभाग ने पेड़ लगाओ पेड़ बचाओ की जानकारी दी।

    भारतीय डाक के इतिहास में पहली बार विभाग के ब्रांड एंबेसडर डाकियों की टुकड़ी शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर गणतंत्र दिवस परेड में शामिल हुई। डाक विभाग की टुकड़ी में 24 से 55 साल तक के डाकियों को शामिल किया गया था। वहीं ऊना में स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने झंडा फहराया और मार्च पास्ट की सलामी ली।

    और भी...

  • मनोहर लाल ने फहराया तिरंगा और मोदी सरकार की तारीफ में कही ये बात

    मनोहर लाल ने फहराया तिरंगा और मोदी सरकार की तारीफ में कही ये बात

     

    हरियाणा में 71 वें गणतंत्र दिवस पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ सूर्य नमस्कार और योग करते हुए स्कूली बच्चे नजर आए। सीएम मनोहर लाल ने दुष्यंत चौटाला के क्षेत्र जींद और दुष्यंत चौटाला ने सीएम मनोहर लाल के गृह जनपद करनाल में ध्वजारोहण किया। हरियाणा का राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह अंबाला में आयोजित किया गया। जहां हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया। 

    सीएम मनोहरलाल सुबह 9:45 बजे गोहाना रोड स्थित शहीद स्मारक पहुंचे और वहां देश के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद मुख्यमंत्री सफीदों रोड स्थित एकलव्य स्टेडियम पहुंचे और यहां पर ध्वजारोहण किया। इस दौरान सीएम मनोहर लाल ने प्रदेश वासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई दी और भारत माता के जयकारों से अपना संबोधन शुरू किया।

     सीएम मनोहर लाल ने कहा कि 26 जनवरी कोई तारीख नही बल्कि इतिहास है।  गणतंत्र का मतलब लोकतांत्रिक व्यवस्था से है। संविधान लोकतंत्र का पावन ग्रंथ है। इसमे समानता, विचारों की अभिव्यक्ति और स्वतंत्रता मिलती है।  पिछले सात दशकों में देश ने सराहनीय प्रगति की है। केंद्र सरकार ने तीन ऐतिहासिक निर्णय लिए है। नागरकिता संशोधन कानून, अनुच्छेद 370 और तीन तलाक कानून इसमें शामिल हैं।

     

     

     

     

    और भी...

  • जानिए आखिर 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस ?

    जानिए आखिर 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस ?

     

    भारत का गणतंत्र दिवस हर साल 26 जनवरी को मनाया जाता है इस दिन देशभर में सरकारी अवकाश घोषित होता है। कई लोगों के मन में इससे जुड़े कई सवाल आते होंगे जैसे गणतंत्र दिवस क्या है ये क्यों मनाया जाता है, गणतंत्र दिवस को कैसे मनाया जाता है, तो आइए जानते हैं।

    भारत की संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को भारत के संविधान को स्वीकार किया था। जबकि 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान पूरे देश में लागू हुआ था। इसी उपलक्ष में हर साल गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि 26 जनवरी 1929 को अंग्रेजों की गुलामी के विरुद्ध कांग्रेस ने पूर्ण स्वराज का प्रस्ताव पास किया था।

    आपको बता दें कि, भारत के आजाद होने के बाद संविधान सभा का गठन हुआ था। संविधान सभा ने अपना काम 9 दिसंबर 1946 से शुरू किया। दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान 2 साल, 11 माह, 18 दिन में तैयार हुआ। संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान सौंपा गया, इसलिए 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में प्रति वर्ष मनाया जाता है। 

    और भी...

  • राजपथ पर भारत का शक्ति प्रदर्शन, परेड में नारी शक्ति ने दिखाई अपनी ताकत

    राजपथ पर भारत का शक्ति प्रदर्शन, परेड में नारी शक्ति ने दिखाई अपनी ताकत

     

    देश आज 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। इस मौके पर दिल्ली के राजपथ पर हर साल की तरह परेड आयोजित हुई। इसमें ब्राज़ील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो मुख्य अतिथि थे और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने परेड की सलामी ली। परेड में देश की बढ़ती हुई सैन्य शक्ति, बहुमूल्य सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का भव्य प्रदर्शन किया जा रहा है। 

    उपग्रह भेदी हथियार 'शक्ति, थलसेना का युद्धक टैंक भीष्म, इन्फैंट्री युद्धक वाहन' और हाल ही में भारतीय वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलीकाप्टर भव्य सैन्य परेड का हिस्सा है। राजपथ पर राष्ट्र की बहुमूल्य सांस्कृतिक धरोहर और आर्थिक प्रगति को दर्शाने वाली 22 झांकियों में से 16 झांकियां राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की हैं और छह विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की। 

    स्कूली बच्चे नृत्य और संगीत के माध्यम से युगों पुरानी योग परंपरा और आध्यात्मिक मूल्यों का संदेश देंगे। गणतंत्र दिवस परेड समारोह की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट के समीप स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक पर जाकर कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। बाइक पर सेना के जवानों और वीरांगनाओं के डेयर डेविल एक्ट से सभी लोग हैरान रह गए।

    और भी...

  • 26 JANUARY के दिन की ऐतिहासिक घटनाएं

    26 JANUARY के दिन की ऐतिहासिक घटनाएं

     

    1956- साल 1956 में मुगल सम्राट बाबर के पुत्र हुमायूं की मृत्यु हो गई थी.

    1930- ब्रिटिश शासन के अंतर्गत भारत में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया.

    1931- 'सविनय अवज्ञा आंदोलन' के दौरान ब्रिटिश सरकार से बातचीत के लिए महात्मा गांधी रिहा किए गए थे.

    1949- संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को भारत का संविधान सुपूर्द किया. इस दिन भारत का संविधान बनकर तैयार हुआ था.

    1950- भारत एक संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ और भारत का संविधान लागू हुआ.

    1950- स्वतंत्र भारत के पहले और अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने अपने पद से त्यागपत्र दिया और डा. राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने.

    1950- अशोक स्तंभ को राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न के रूप में अपनाया गया.

    1963- मोर के अद्भुत सौंदर्य के कारण भारत सरकार ने 26 जनवरी को इसे राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया.

    1972: दिल्ली के इंडिया गेट पर राष्ट्रीय स्मारक अमर जवान ज्योति को स्थापित किया गया।

    1981- पूर्वोत्तर भारत में हवाई यातायात सुगम बनाने को ध्यान में रखते हुए हवाई सेवा वायुदूत प्रारम्भ हुई.

    और भी...

  • Padma Awards 2020: पद्म श्री पुरस्कारों का ऐलान, ये हस्तियां होंगी सम्मानित

    Padma Awards 2020: पद्म श्री पुरस्कारों का ऐलान, ये हस्तियां होंगी सम्मानित

     

    गणतंत्र दिवस के मौके पर दिए जाने वाले देश के प्रतिष्ठित पद्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। इस बार पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित करने के लिए समाज के क्षेत्र में काम करने वाली कई हस्तियों को चुना गया है। 1984 की भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों के लिए कार्य करने वाले कार्यकर्ता अब्दुल जब्बार को मरणोपरांत पद्म श्री से सम्मानित किया गया है। इसके अलावा लंगर बाबा जगदीश लाल आहूजा, समेत मोहम्मद शरीफ, तुलसी गौड़ा और मुन्ना मास्टर सहित 21 लोगों को पद्म श्री पुरस्कार 2020 से सम्मानित किया गया है।

    1984 के भोपाल गैस त्रासदी पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले कार्यकर्ता अब्दुल जब्बार को मरणोपरांत पद्म श्री से सम्मानित किया गया है। 14 नवंबर 2019 को उनका निधन हो गया था। वहीं, लंगर बाबा के नाम से मशहूर जगदीश लाल आहूजा को भी इस सर्वोच्च पुस्कार से नवाजा गया है। जगदीश आहूजा हर दिन चंडीगढ़ में गरीब मरीजों के परिजनों को मुफ्त में भोजन कराते हैं और उनकी दूसरे तरीकों से भी मदद करते हैं। लंगर बाबा ने 1980 में मुफ्त भोजन परोसना शुरू किया था।

    इन 21 लोगों को मिला पद्म श्री

    जगदीश लाल आहूजा

    मोहम्मद शरीफ

    जावेद अहमद टाक,

    तुलसी गौड़ा

    सत्यनारायण मुंदयूर

    अब्दुल जब्बार

    उषा चौमार

    पोपटराव पवार

    हरेकाला हजब्बा

    अरुणोदय मंडल

    राधामोहन और साबरमती

    कुशल कोनवार शर्मा

    त्रिनिती सावो

    रविकन्नन

    एस रामकृष्णन

    सुंदरम वर्मा

    मुन्ना मास्टर

    योगी आर्यन

    राहीबाई सोमा पोपेरा

    हिम्मत राम भांभू

    मोझ्झिकल पंकजाक्षी

    पद्म पुरस्‍कार जैसे पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री देश के सर्वोच्‍च नागरिक पुरस्‍कार हैं। 1954 में शुरू किए गए इन पुरस्‍कारों की घोषणा हर वर्ष गणतंत्र दिवस पर की जाती है। ये पुरस्‍कार आसाधारण कार्य को मान्‍यता प्रदान करने और सभी क्षेत्रों जैसे कला, साहित्‍य और शिक्षा, खेल, चिकित्‍सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान और इंजीनियरिंग, सार्वजनिक मामलों, प्रशासनिक सेवा, व्‍यापार और उद्योग आदि के सभी क्षेत्रों में विशिष्‍ट और असाधारण उपलब्धियां हासिल करने और सेवाएं देने के लिए दिया जाता है।

    और भी...

  • गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया राष्ट्र को संबोधित

    गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया राष्ट्र को संबोधित

     

    गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्र को संबोधित किया। अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने देश और विदेश में बसे भारत के सभी लोगों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी साथ ही लोकतांत्रिक मूल्यों पर भी चर्चा की। अपने संबोधन की शुरुआत राष्‍ट्रपति ने 71वें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं के साथ की।

    अपने संबोधन में राष्‍ट्रपति ने सरकार की कई योजनाओं जैसे उज्‍ज्‍वला योजना, आयुष्‍मान योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि इनका लाभ अब करोड़ों देशवासियों को मिल रहा है। उन्‍होंने इसरो की भी तारीफ की और कहा कि आज इसकी उपलब्धियों पर हम सभी देशवासियों को बहुत गर्व है।

    हमारे संविधान ने हम सब को एक स्वाधीन लोकतंत्र के नागरिक के रूप में कुछ अधिकार प्रदान किए हैं। लेकिन संविधान के अंतर्गत ही, हम सब ने यह ज़िम्मेदारी भी ली है कि हम न्याय, स्वतंत्रता और समानता तथा भाईचारे के मूलभूत लोकतान्त्रिक आदर्शों के प्रति सदैव प्रतिबद्ध रहें। जन-कल्याण के लिए, सरकार ने कई अभियान चलाए हैं। यह बात विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि नागरिकों ने, स्वेच्छा से उन अभियानों को, लोकप्रिय जन-आंदोलनों का रूप दिया है।

    प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की उपलब्धियां गर्व करने योग्य हैं। लक्ष्य को पूरा करते हुए, 8 करोड़ लाभार्थियों को इस योजना में शामिल किया जा चुका है। ऐसा होने से, जरूरतमंद लोगों को अब स्वच्छ ईंधन की सुविधा मिल पा रही है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि' के माध्यम से लगभग 14 करोड़ से अधिक किसान भाई-बहन प्रति वर्ष 6 हजार रुपए की न्यूनतम आय प्राप्त करने के हकदार बने हैं। इससे हमारे अन्नदाताओं को सम्मानपूर्वक जीवन बिताने में सहायता मिल रही है। मुझे विश्वास है कि ‘जल जीवन मिशन' भी ‘स्वच्छ भारत अभियान' की तरह ही एक जन आंदोलन का रूप लेगा।

    जीएसटी के लागू हो जाने से एक देश, एक कर, एक बाजार की अवधारणा को साकार रूप मिल सका है। इसी के साथ ई-नाम योजना द्वारा भी एक राष्ट्र के लिए एक बाजार बनाने की प्रक्रिया मजबूत बनाई जा रही है, जिससे किसानों को लाभ पहुंचेगा। हम देश के हर हिस्से के सम्पूर्ण विकास के लिए निरंतर प्रयासरत हैं, चाहे वह जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हो, पूर्वोत्तर क्षेत्र के राज्य हों या हिंद महासागर में स्थित हमारे द्वीप-समूह हों। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, इसरो की उपलब्धियों पर हम सभी देशवासियों को बहुत गर्व है।

    देश की सेनाओं, अर्धसैनिक बलों और आंतरिक सुरक्षा बलों की मैं मुक्त-कंठ से प्रशंसा करता हूं। देश की एकता, अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने में उनका बलिदान, अद्वितीय साहस और अनुशासन की अमर गाथाएं प्रस्तुत करता है। प्रवासी भारतीयों ने भी सदैव देश का गौरव बढ़ाया है. कई प्रवासियों ने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान दिया है।

    और भी...

  • दिल्ली: भजनपुरा में निर्माणाधीन इमारत गिरी, कोचिंग पढ़ने गए तीन बच्चों समेत पांच लोगों की मौत

    दिल्ली: भजनपुरा में निर्माणाधीन इमारत गिरी, कोचिंग पढ़ने गए तीन बच्चों समेत पांच लोगों की मौत

     

    दिल्ली के भजनपुरा इलाके में एक निर्माणाधीन इमारत भरभरा कर गिर गई। इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक इस इमारत में एक कोचिंग सेंटर चल रहा था। हादसे के वक्त इमारत में छात्र पढ़ रहे थे। मृतकों में चार छात्र और एक कोचिंग संचालक का भाई है। अभी भी इमारत के मलबे में कई लोगों के फंसे होने की आशंका है।

    घटनास्थल पर दिल्ली अग्निशमन सेवा का दल पहुंच कर बचाव कार्य में जुट गया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि इस इमारत में शंकर इंस्टीट्यूट चलता था, मिली जानकारी के मुताबिक शाम तकरीबन साढ़े चार बजे पुलिस और फायर डिपार्टमेंट को जनकारी मिली कि एक कोचिंग सेंटर की बिल्डिंग का चौथी मंजिल का ऊपरी हिस्सा नीचे गिर गया है।

    जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त तीसरी मंजिल की छत के नीचे बच्चे पढ़ रहे थे और वो बच्चे उसकी चपेट में आ गए। घायलों का इलाज किया जा रहा है। इस हादसे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट किया, भजनपुरा से बहुत बुरी खबर आ रही है। भगवान सब को सलामत रखे। थोड़ी देर में वहां पहुंचूंगा।

    और भी...

  • PCB की धमकी, भारतीय टीम अगर पाक नहीं आयेगी तो हम भी भारत नहीं जाएंगे

    PCB की धमकी, भारतीय टीम अगर पाक नहीं आयेगी तो हम भी भारत नहीं जाएंगे

     

    PCB के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने शनिवार को कहा कि अगर भारतीय टीम इस साल सितंबर में होने वाले एशिया कप टी-20 के लिए पाकिस्तान का दौरा नहीं करेगी, तो पाकिस्तान भी 2021 विश्व कप के लिए अपनी टीम को भारत नहीं भेजेगा।

    वसीम खान ने कहा, भारतीय टीम एशिया कप के लिए अगर पाकिस्तान नहीं आयेगी तो हम भी उनकी मेजबानी में होने वाले टी-20 विश्व कप में भाग लेने से मना कर देंगे। वसीम खान ने उन रिपोर्टों को खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि बोर्ड ने बांग्लादेश को पाकिस्तान के दौरे के लिए मनाने के एवज में एशिया कप की मेजबानी उन्हें सौप दी थी। उन्होंने कहा, एशियाई क्रिकेट परिषद ने मेजबानी का अधिकार हमें सौपा है और हम इसे किसे और को नहीं दे सकते। हमारे पास इसका अधिकार नहीं है।

    भारत ने 2008 से पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है जबकि उसने राजनीतिक और कूटनीतिक संबंधों के कारण 2007 से पाकिस्तान के साथ पूर्ण द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली है। पाकिस्तान ने सीमित सीमित ओवरों की सीरीज के लिए 2012 में भारत का दौरा किया था।

    और भी...

  • दिल्ली: बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर चुनाव आयोग ने 48 घंटे के लिए प्रचार पर लगाया प्रतिबंध

    दिल्ली: बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर चुनाव आयोग ने 48 घंटे के लिए प्रचार पर लगाया प्रतिबंध

     

    दिल्ली विधानसभा चुनाव में 48 घंटे तक बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा प्रचार नहीं कर पाएंगे। चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, निर्वाचन आयोग ने बीजेपी के मॉडल टाउन से उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर 48 घंटे का प्रचार प्रतिबंध लगाया है।

    यह कार्रवाई विवादित ट्वीट को लेकर की गई है। इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने विवादित ट्वीट के मामले में कपिल मिश्रा के खिलाफ FIR दर्ज की थी। कपिल मिश्रा ने अपने विवादित ट्वीट में दिल्ली में 8 फरवरी को होने वाले चुनाव को भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबले जैसा बताया था।

    चुनाव आयोग के अधिकारियों के निर्देश के बाद प्राथमिकी दर्ज की गयी। उन्होंने बताया कि जन प्रतिनिधित्व कानून की धारा 125 के तहत मॉडल टाउन थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी। बहरहाल, ट्विटर ने चुनाव आयोग के निर्देश के बाद विवादित ट्वीट को हटा दिया है। चुनाव आयोग ने ट्विटर से उचित कदम उठाने को कहा क्योंकि विवादित ट्वीट से सांप्रदायिक भावनाएं भड़क सकती हैं।

    और भी...

  • शाहीन बाग में भारत के टुकड़े-टुकड़े करने की साजिश: संबित पात्रा

    शाहीन बाग में भारत के टुकड़े-टुकड़े करने की साजिश: संबित पात्रा

     

    असम को भारत से अलग कर देंगे वाले वायरल विडियो पर राजनीति तेज हो गई है। बीजेपी ने उस विडियो को शाहीन बाग का बताते हुए दावा किया कि वहां भारत के टुकड़े करने की साजिश रची जा रही है। बीजेपी की तरफ से संबित पात्रा ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन की जगह शाहीन बाग नहीं, बल्कि दिशाहीन बाग है, तौहीन बाग है।

    पात्रा ने दावा किया कि शाहीन बाग में प्रदर्शन के नाम पर भारत के टुकड़े करने की साजिश चल रही है। पात्रा बोले, वहां खुलेआम आगजनी, खुले जिहाद का आवाहन किया जा रहा है। असम को अलग करने की बात की जा रही है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल ने शाहीन बाग का खुला समर्थन किया था। अब फिर दोनों को सबके सामने आकर बोलना चाहिए।

    बता दें कि सोशल मीडिया पर एक विडियो वायरल हो रहा है। विडियो में दिख रहे शख्स को शरजिल इमाम बताया जा रहा है जो कि जेएनयू का छात्र है। इस विडियो में वह पूर्वोत्तर और असम को भारत के नक्शे से मिटाने की बात कर रहा है।

    और भी...

  • अब जॉर्डन करेगा ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर की मेजबानी, चीन से इस कारण ली गई मेजबानी

    अब जॉर्डन करेगा ओलंपिक मुक्केबाजी क्वालीफायर की मेजबानी, चीन से इस कारण ली गई मेजबानी

     

    टोक्यो ओलिंपिक गेम्स के लिए चीन में होने वाले बॉक्सिंग क्वालियर मुकाबले अब जॉर्डन में खेले जाएंगे। कोरोनावायरस के कारण चीन से इसकी मेजबानी छीन ली गई है। इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी की बॉक्सिंग टास्क फोर्स ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की। एशियन/ओशियाना क्वालिफाइंग इवेंट अब जॉर्डन की राजधानी अम्मान में 3 से 11 मार्च तक होंगे।

    इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी ने कहा, ये मुकाबले चीन के वुहान में 3 से 14 फरवरी तक होने थे। बीटीएफ और चीनी ओलंपिक कमेटी के संयुक्त फैसले के बाद कोरोनावायरस के कारण इवेंट को वहां से हटाया गया है। सभी विकल्पों की सावधानी पूर्वक समीक्षा के बाद बीटीएफ ने जॉर्डन ओलिंपिक समिति के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इससे इवेंट की तारीखों और स्थान की जल्द से जल्द पुष्टि हो सकेगी।

    इससे पहले बॉक्सिंग और महिला फुटबॉल क्वालिफाइंग मुकाबले को वुहान से बाहर करवाने का फैसला किया गया था। यहां 3 से 9 फरवरी के बीच चीन, ताइवान, थाईलैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीमें महिला एशियन फुटबॉल के ग्रुप बी के मुकाबले होने थे। साथ ही 3 से 14 फरवरी के बीच बॉक्सिंग मुकाबले होने थे। फुटबॉल मुकाबले अब चीन के ही नानझिंग में होंगे। उसकी तारीखों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

    और भी...

  • टीवी अभिनेत्री सेजल शर्मा ने की खुदकुशी, आमिर संग कर चुकी भी थी काम

    टीवी अभिनेत्री सेजल शर्मा ने की खुदकुशी, आमिर संग कर चुकी भी थी काम

     

    टीवी अभिनेत्री सेजल शर्मा ने शुक्रवार को आत्महत्या कर ली। वह दिल तो हैप्पी है जी में सिम्मी खोसला के किरदार से लोकप्रिय हुई थीं। हालांकि, माना जा रहा है कि उनकी निजी जिंदगी में परेशानियां चल रही थी, जिसके चलते उन्होंने ऐसा किया है।

    उदयपुर की रहने वालीं सेजल साल 2017 में मुंबई आईं थीं। उन्होने कुछ विज्ञापन भी किए है और आजाद परिंदे नामक एक वेब श्रृंखला में भी काम किया था। वहीं सेजल के को-एक्टर अरु वी वर्मा ने खबर की पुष्टि करते हुए बताया, हां ये सच है, मुझे इस खबर को सुनकर झटका लगा है। ये मेरे लिए मानना बहुत मुश्किल है कि सेजल इस दुनिया में नहीं है क्योंकि मैं उससे 10 दिन पहले ही मिला था और रविवार को मेरी उससे व्हाट्सएप पर बात भी हुई थी।

    सेजल शर्मा उदयपुर की रहने वाली थीं और सीरियल दिल तो हैप्पी है जी उनका पहला टीवी शो था। इससे पहले उन्हें कई विज्ञापनों और एक वेब सीरीज में देखा जा चुका है. उन्होंने आमिर खान के साथ एक विज्ञापन में काम किया था।

    और भी...