उत्तराखंड

  • 16 को दून में राहुल गांधी शहीदों को देंगे श्रद्धांजलि, ये रहेगा पूरा शेड्यूल 

    16 को दून में राहुल गांधी शहीदों को देंगे श्रद्धांजलि, ये रहेगा पूरा शेड्यूल 

     

    कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 16 दिसबर को उत्तराखंड आएंगे। यहां वो प्रदेश कांग्रेस की ओर से होने वाली सैन्य सम्मान सभा मे शिरकत करेंगे। शुक्रवार को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने बताया कि बांग्लादेश के गठन के 50 साल हो रहे हैं।

    पूर्व प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी के साहसिक नेतृत्व की बदौलत यह मुमकिन हो हो पाया था। उनकी पुण्यतिथि के कांग्रेस सैन्य सम्मान समारोह मना रही है। 26 कि इस कड़ी में दून में अंतिम सैन्य सम्मान समारोह का आयोजन किया जा रहा है। राहुल इसमे शरीक होकर देवभूमि और शहीद सैनिकों को नमन करेंगे।

    और भी...

  • HNB गढ़वाल विश्वविद्यालय में नौवां दीक्षांत समारोह आज, बतौर मुख्य अतिथि CDS बिपिन रावत हुए शामिल

    HNB गढ़वाल विश्वविद्यालय में नौवां दीक्षांत समारोह आज, बतौर मुख्य अतिथि CDS बिपिन रावत हुए शामिल

     

    एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय (HNB Garhwal Central University) में आज यानी बुधवार को नौवां दीक्षांत समारोह (ninth convocation) आयोजित किया जा रहा है। इस समारोह में गढ़ गौरव लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी (Narendra Singh Negi) को मानद उपाधि देकर सम्मानित किया जाएगा। समारोह में रक्षा प्रमुख (CDS) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए है। वहीं, केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) भी मुख्य अतिथि के तौर पर ऑनलाइन जुड़ेंगे।

    छात्र-छात्राओं को दी जाएगी उपाधि
    दीक्षांत समारोह के मीडिया प्रभारी प्रो. एमएम सेमवाल ने बताया कि कार्यक्रम में सुबह ऑनलाइन/ऑफलाइन (Online/Offline) दोनों तरह से प्रवेश किया जाएगा। यह कार्यक्रम दोपहर लगभग 12:30 बजे तक चलेगा। इस दौरान पीएचडी और स्नातकोत्तर के 196 छात्र-छात्राओं को उपाधि दी जाएगी। इतना ही नहीं समारोह का सोशल मीडिया पर लाइव टेलीकास्ट भी किया जाएगा। 

    निमंत्रण पत्र में कुलाधिपति का नाम गायब
    बता दें कि गढ़वाल VV निमंत्रण पत्र में कुलाधिपति डॉ. योगेंद्र नारायण (Dr. Yogendra Narayan) का नाम लिखना ही भूल गया। जबकि कुलाधिपति ही दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता करेंगे। इसकी जानकारी कार्यक्रम सूची से मिली, जिसमें निमंत्रण पत्र में अतिथि गण, लोक गायक नरेंद्र सिंह नेगी, कुलपति और कुलसचिव का नाम अंकित था, लेकिन कुलाधिपति का नाम ही नहीं था। 

    और भी...

  • CM धामी ने पलटा त्रिवेंद्र सिंह रावत का फैसला, भंग किया देवस्थानम बोर्ड

    CM धामी ने पलटा त्रिवेंद्र सिंह रावत का फैसला, भंग किया देवस्थानम बोर्ड

     

    उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Former CM Trivendra Singh Rawat) का फैसला पलटते हुए देवस्थानम बोर्ड (Devasthanam Board) को भंग कर दिया है। बता दें कि इस बोर्ड का काफी लंबे समय से तीर्थ-पुरोहित इसे भंग करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे थे। माना जाता है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत की कुर्सी साधु-संतों की नाराजगी के कारण ही गई थी।

    जानकारी के लिए बता दें कि देवस्थानम बोर्ड का गठन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जनवरी 2020 में किया था। इस बोर्ड के गठन के कारण 51 मंदिरों का पूरा नियंत्रण राज्य सरकार (State govt.) के पास आ गया था। जिसमें उत्तराखंड के चार धाम यानी केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और बद्रीनाथ भी शामिल थे। तब से ही तीर्थ-पुरोहित इस फैसले विरोध कर रहे थे।

    वहीं, जब पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाया गया, तो उन्होंने तीर्थ-पुरोहितों की मांग पर एक कमेटी का गठन किया और उसकी रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने 30 अक्टूबर तक फैसला लेना का वादा किया, लेकिन इसमें पूरे एक महीने देरी हो गई है। इसी देवस्थानम बोर्ड को लेकर तीर्थ-पुरोहितों ने नवंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ दौरे का विरोध भी किया था। हालांकि, धामी के समझाने से पुरोहित समझ गए थे।

    और भी...

  • पीएम मोदी के प्रस्तावित दौरे से पहले परेड मैदान का जायजा लेने पहुंचे सीएम धामी

    पीएम मोदी के प्रस्तावित दौरे से पहले परेड मैदान का जायजा लेने पहुंचे सीएम धामी

     

    देहरादून राजधानी के परेड मैदान में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) प्रस्तावित दौरे पर जाने की खबर सामने आ रही है। इस दौरान वह एक विशाल जनसभा भी करेंगे। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले सोमवार सुबह यानी आज उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने परेड मैदान (Parade Ground) में विभिन्न व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

    इस पर सीएम धामी ने मीडिया को बताया कि 'जनसभा की तैयारियों तैयारियों के लिए हम यहां आए हैं। प्रधानमंत्री जी उस दिन लगभग 4 हज़ार करोड़ रुपए की योजनाएं जो पूरी हो चुकी हैं उनका लोकार्पण करेंगे और 26 हज़ार करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास करेंगे।

    गौरतलब है कि उत्तराखंड भाजपा की प्रस्तावित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के लिये देर शाम मुख्य सचिव समेत अन्य अफसरों ने परेड मैदान का जायजा लिया। यहाँ स्मार्ट सिटी के कामकाज के चलते मैदान की हालत बेहद खराब बताई जा रही है। गंदगी असमतलीकरण के साथ-साथ जगह-जगह पर मैदान में असुरक्षा की स्थिति है। यही कारण है कि खुद सीएम यहां का जायजा लेने पहुंचे हैं।  

    और भी...

  • Rudrapur assembly seat: भाजपा-कांग्रेस के बीच टिकट दावेदारों की लगी होड़ 

    Rudrapur assembly seat: भाजपा-कांग्रेस के बीच टिकट दावेदारों की लगी होड़ 

     

    विधानसभा चुनाव के लिए चुनावी बिसात बिछने लगी है। रुद्रपुर सीट के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों से कई दावेदार हैं। दोनों पार्टियों में टिकट के लिए अंदरूनी तौर पर दावेदारों के बीच नूराकुश्ती चल रही है। ऐसे में जिले की अहम रुद्रपुर सीट पर अभी टिकट को लेकर तस्वीर धुंधली ही है। दोनों ही पार्टियों के दावेदार अपने-अपने स्तर से पर्यवेक्षकों के सामने खुद की दावेदारी को मजबूत बताने के लिए कार्यकर्ताओं के जरिए ‘इमेज मेकिंग’ में जुटे हुए हैं।  

    विधायक राजकुमार ठुकराल ने पिछले लगातार दो चुनावों में कांग्रेस के कद्दावर नेता तिलकराज बेहड़ को शिकस्त दी है। लगातार दो बार विधायक चुने जाने के आधार पर उनका दावा मजबूत है। खुद ठुकराल कहते हैं कि वह टिकट को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं। वहीं इसके उलट भाजपा से इस बार दावेदारों को होड़ सी दिख रही है। भाजपा पर्यवेक्षक भी सर्वे कर रहे हैं।

    और भी...

  • मुख्यमंत्री धामी ने प्रधानमंत्री की तारीफ में कहा 'भारत के साथ दुनिया को भी दिशा दिखा रहे हैं पीएम'

    मुख्यमंत्री धामी ने प्रधानमंत्री की तारीफ में कहा 'भारत के साथ दुनिया को भी दिशा दिखा रहे हैं पीएम'

     

    Uttarakhand : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि एक चाय वाला देश का प्रधानमंत्री है, भारत और दुनिया को दिशा दिखा रहा है, यह देन भारतीय संविधान की ही है। 26 नवंबर को संविधान दिवस (Indian Constitution Day) के अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भारतीय संविधान की खासियत है कि देश का प्रधानमंत्री होने के नाते एक चाय बेचने वाला न केवल भारत को बल्कि पूरी दुनिया को दिशा दिखा रहा है। बता दें कि पीएम मोदी ने खुद कहा था कि वह बचपन में चाय बेचा करते थे।

    'संविधान गौरव अभियान' का आगाज
    भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 26 नवंबर यानी संविधान दिवस पर देशभर में ‘‘संविधान गौरव अभियान’’ की शुरुआत की जो करीब छह दिसंबर तक चलगा। इस दौरान BJP सभी राज्यों के जिला मुख्यालयों में यात्राएं निकालेगी और साथ ही विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करेगी। सभी यात्राओं के समापन पर संगोष्ठी आयोजित की जाएगी, जिसमें अनुसूचित जाति की प्रतिभाओं का सम्मान किया जाएगा, साथ ही मुख्य अतिथि द्वारा उन्हें संविधान की शपथ भी दिलाई जाएगी।

    2015 से हुई संविधान दिवस मनाने की शुरुआत
    बता दें कि हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है क्योंकि 1949 में इसी दिन भारत के संविधान को संविधान सभा द्वारा स्वीकार किया गया था। संविधान दिवस की शुरुआत 2015 में मोदी सरकार द्वारा की गई थी।
     

    और भी...

  • Badrinath Dham में भी ध्यान कर सकेंगे तीर्थयात्री

    Badrinath Dham में भी ध्यान कर सकेंगे तीर्थयात्री

     

    बदरीनाथ धाम की तीर्थयात्रा पर पहुंचने वाले तीर्थयात्री अब केदारनाथ की तर्ज पर बदरीनाथ धाम में भी ध्यान कर सकेंगे। बदरीनाथ धाम से करीब एक किलोमीटर की दूरी पर नीलकंठ पर्वत की तलहटी में ऋषि गंगा के समीप नगर पंचायत बदरीनाथ की ओर से दो ध्यान केंद्रों का निर्माण किया गया है। नगर पंचायत अगले वर्ष यात्राकाल में इन केंद्रों का संचालन शुरू कर देगा। 

    बदरीनाथ धाम भगवान विष्णु को समर्पित है। धाम में विष्णु भगवान योगध्यान मुद्रा में विराजमान हैं। इसलिए इस पवित्र स्नान में योग ध्यान का विशेष महातम्य है। चारधाम यात्रा के दौरान यहां कई तीर्थयात्री खुले आसमान के नीचे ध्यान मुद्रा में बैठे रहते हैं। शीतकाल में जब धाम बर्फ के आगोश में रहता है, तो सिद्धि प्राप्ति के लिए साधु-संत यहां ध्यान करते हैं। बदरीनाथ धाम में अटूट आस्था रखने वाले तीर्थयात्रियों के लिए नगर पंचायत की ओर से दो ध्यान केंद्र स्थापित किए गए हैं। 26 लाख की लागत से निर्मित इन ध्यान केंद्रों को नीलकंठ पर्वत की तलहटी में बनाया गया है। 

    नगर पंचायत बदरीनाथ के अधिशासी अधिकारी सुनील पुरोहित ने बताया कि आगामी 2022 की चारधाम यात्रा के दौरान इन ध्यान केंद्रों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। ध्यान केंद्र तक का पहुंच मार्ग निर्माणाधीन है। ऋषि गंगा से ध्यान केंद्र तक रास्ते का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही धाम में चरणपादुका क्षेत्र को भी विकसित किया जा रहा है। 

    और भी...

  • उत्तराखंड चुनाव 2022: चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक में प्रह्लाद जोशी, बोले 'भाजपा पूरी तरह से तैयार'

    उत्तराखंड चुनाव 2022: चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक में प्रह्लाद जोशी, बोले 'भाजपा पूरी तरह से तैयार'

     

    उत्तराखंड (Uttarakhand) में भाजपा चुनाव प्रबंधन समिति (BJP Election Management Committee) की बैठक में शिरकत करने देहरादून पहुंचे प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रह्लाद जोशी (Prahlad Joshi)। इस दौरान उन्होंने कहा है कि 'हम उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार हैं। हम सभी राज्य में जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं।'

    दो दिवसीय अधिवेशन के लिए हुई ये बैठक
    बता दें कि देहरादून में दो दिवसीय अधिवेशन के लिए भाजपा नेतृत्व गुरुवार से बैठक कर रहा है। बैठक में उत्तराखंड चुनाव के पार्टी प्रभारी प्रह्लाद जोशी भी हिस्सा ले रहे हैं।

    चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक में प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम (Dushyant Gautam), आरपी सिंह (RP Singh) और लॉकेट चटर्जी सहित कैबिनेट मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री मौजूद हैं। यहां बैठक करने के बाद प्रभारी जोशी श्रीनगर गढ़वाल में रुद्रप्रयाग, चमोली और पौड़ी जिले की कोर कमेटी की बैठक में हिस्सा लेंगे। वह इन बैठकों में चुनावी रणनीति पर मंथन करेंगे। 

    और भी...

  • देहरादून: दस डिग्री से कम रहेगा आज रात का तापमान, ठंड में होगा इजाफा

    देहरादून: दस डिग्री से कम रहेगा आज रात का तापमान, ठंड में होगा इजाफा

     

    उत्तराखंड: आज रात राजधानी देहरादून और आसपास के इलाकों में तापमान दस डिग्री से नीचे रहेगा। मौसम केंद्र की तरफ से जारी बुलेटिन के मुताबिक राजधानी में न्यूनतम तापमान नौ डिग्री के आस-पास रह सकता है। इससे रात और सुबह-शाम के समय की ठंड बढ़ जाएगी।

    ठंड में धूप में गर्मी भी कम होगी
    फिलहाल रात के तापमान में तीन डिग्री तक की कमी दर्ज की जा रही है। इससे पहले सोमवार को रात का तापमान करीब 12 डिग्री के आसपास था। हालाकि दिन के तापमान में कुछ कमी होने का अनुमान लगाया गया है। राजधानी में अधिकतम तापमान 25 डिग्री के आस-पास रह सकता है। ठंड बढ़ने के साथ-साथ दिन में गर्मी भी कम होगी। 

    सार्वजनिक स्थलों पर होगी अलाव की व्यवस्था
    वहीं, टिहरी डीएम ने सर्दी के मौसम में जिले में बर्फबारी वाले हाईवे और आंतरिक मोटर मार्गों को चिह्नित करके वहां चूना और नमक का छिड़काव करने व अधिक ठंड वाले सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलाने के निर्देश दे दिए हैं। इस पर डीएम इवा आशीष श्रीवास्तव ने स्वास्थ्य सेवाओं को चाकचौबंद रखते हुए दवाओं का पर्याप्त भंडार रखने का भी निर्देश दिया हैं।

     

    और भी...

  • उत्तराखंड मंत्रिमंडल की बैठक आज, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

    उत्तराखंड मंत्रिमंडल की बैठक आज, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

     

    उत्तराखंड मंत्रिमंडल (Uttarakhand Cabinet) की बैठक आज यानी मंगलवार को राज्य सचिवालय में होगी। इस बैठक में राज्य की नई खेल नीति के प्रस्ताव पर मुहर लग सकती है। खबरों के मुताबिक, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, कृषि, उद्यान, राजस्व, पर्यटन, स्वास्थ्य से जुड़े प्रस्ताव पर चर्चा हो सकती है।

    बता दें कि मुख्यमंत्री ने सोमवार को एक कार्यक्रम के दौरान खेल नीति का प्रस्ताव कैबिनेट में लाए जाने के संकेत दिए। उन्होंने कहा कि 'राज्य के खिलाड़ियों के लिए प्रदेश सरकार खेल नीति (sports policy) में कई नए प्रावधान करने जा रही है। इससे राज्य के खेल और खिलाड़ियों, दोनों को लाभ होगा। बैठक में राशन डीलरों का अंशदान बढ़ाने, सरकारी क्षेत्र के उद्यानों को लीज पर देने व विभागीय सेवा नियमावलियों के प्रस्ताव चर्चा के बाद आ सकते हैं।

    11 नवंबर को स्थगित हुई थी बैठक
    गौरतलब है कि इससे पहले  11 नवंबर को मंत्रिमंडल की बैठक होनी थी। लेकिन मुख्यमंत्री और मंत्रियों की कार्यक्रमों में व्यस्तता की वजह से बैठक को स्थगित कर दिया गया। इससे पहले जब पिछले महिने कैबिनेट बैठक हुई थी तो उसमें उत्तराखंड सरकार ने सरकारी मेडिकल कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों को एक बड़ी सौगात दी थी। एमबीबीएस के छात्रों (MBBS Student) की एक साल की निर्धारित चार लाख रुपये की फीस को 1.45 लाख रुपये कर दिया था। वहीं, मेडिकल की पढ़ाई करने के बाद उत्तराखंड में ही अपनी सेवाएं देने का बांड भरने वाले छात्रों के लिए पूरे 50 हजार रुपये का शुल्क तय किया गया था।

    और भी...

  • Uttarakhad Election 2022: नैनीताल सीट से कांग्रेस के इन तीन नेताओं ने की दावेदारी

    Uttarakhad Election 2022: नैनीताल सीट से कांग्रेस के इन तीन नेताओं ने की दावेदारी

     

    कांग्रेस के टिकट के लिए नैनीताल विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस से तीन लोगों ने अपनी दावेदारी पेश की है। इसमें हाल में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में लौटे पूर्व विधायक संजीव आर्य, पूर्व विधायक सरिता आर्य और हेम आर्य शामिल हैं। कांग्रेस ने विधानसभा चुनावों को देखते हुए दावेदारों के बायोडाटा एकत्रित कर लिए हैं। पर नैनीताल विधानसभा में कांग्रेस के लिए स्थिति थोड़ी अलग है।

    दरअसल कुछ समय पहले तक जिसे भाजपा विधायक के खिलाफ कांग्रेस व कार्यकर्ता आक्रामक रहते थे। वह अब कांग्रेस में शमिल हो चुके हैं। ऐसे में कांग्रेस के टिकट पर विधायक बनने का सपना देख रहे दावेदारों को करारा झटका लगा है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष सतीश नैनवाल ने बताया कि पर्यवेक्षकों के समक्ष हेम आर्य ने नैनीताल में ही पर्यवेक्षकों के समक्ष दावेदारी प्रस्तुत की है। इसके अलावा संजीव आर्य व सरिता आर्य ने टिकट का दावा करते हुए बायोडाटा पर्यवेक्षकों को सौंपा है।

    और भी...

  • champawat: लोहाघाट में देर रात खाई में गिरी कार, 2 की मौत, 4 घायल

    champawat: लोहाघाट में देर रात खाई में गिरी कार, 2 की मौत, 4 घायल

     

    उत्तराखंड: लोहाघाट के बाराकोट ब्लॉक के दयारतोली के पास से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है, जहां शनिवार देर रात करीब 12 बजे एक मैक्स कार खाई में गिर गई। इस हादसे में एक युवक और युवती की दर्दनाक मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, गाड़ी में सवार लोग पूजा से घर लौट रहे थे। मृतकों की पहचान ममता और विशाल के रूप में की गई है। दोनों मृतक बापरु के रहने वाले थे। वहीं, हादसे में गाड़ी में सवार चार लोग घायल हुए हैं। जिन्हें चंपावत जिला अस्पताल भेज दिया गया है।

    बता दें कि शनिवार की रात पूजा से वापस लौटते समय कार अचानक अनियंत्रित होकर करीब 60 फीट गहरी खाई में गिर गई थी।जिसके बाद उनके साथ दूसरी गाड़ी में गए लोगों ने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर राहत-बचाव टीम पहुंची और घायलों को खाई से निकाला गया और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोहाघाट भेजा गया। हादेस के समय गाड़ी में चालक मुकेश कुमार (34), हेमा देवी (27), पूजा देवी (28), हयात राम (60), तुलसी देवी (62), रेवती देवी (65), राहुल उम्र (18), ममता देवी (18), गोपाल दत्त (50) और विशाल (18) सवार थे। 

    और भी...

  • उत्तराखंड पहुंचे CM अरविंद केजरीवाल, रोड शो में होंगे शामिल

    उत्तराखंड पहुंचे CM अरविंद केजरीवाल, रोड शो में होंगे शामिल

     

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने रविवार को हरिद्वार, सिडकुल के एक होटल में ऑटो चालकों (Auto Driver) व टैक्सी चालकों से संवाद किया। सूत्रों के मुताबिक, केजरीवाल इस दौरे के दौरान कई बड़ी चुनावी घोषणा कर सकते हैं। इससे पहले, जौलीग्रांट एयरपोर्ट (Jollygrant Airport) पर पहुंचे सीएम केजरीवाल का आप (AAP) कार्यकर्ताओं और आप प्रभारी मोहनिया समेत कर्नल अजय कोठियाल (Colonel Ajay Kothiyal) ने उनका स्वागत किया। संवाद के बाद केजरीवाल हरिद्वार (Haridwar) में प्रेस वार्ता (Press Conference) करेंगे। साथ ही रोड शो (Roadshow) में भी शामिल होंगे। बता दें कि अरविंद केजरीवाल का उत्तराखंड का यह चौथा दौरा है।

    सूत्रों के अनुसार, पिछली बार की तरह ही इस बार भी सीएम केजरीवाल कुछ बड़ा धमाका कर सकते हैं। इतना ही नहीं इस दौरान वह संगठन की कई बैठकों में भी शामिल होंगे। इसी के साथ गणमान्य लोगों से भी मुलाकात  कर सकते हैं। बता दें कि दो हफ्ते पहले ही उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) भी अपना दो दिन का उत्तराखंड दौरा पूरा कर वापस दिल्ली लौटे हैं।

    देहरादून में मनीष ने बिजनेस डायलॉग में भाग लेने के साथ ही उत्तरकाशी में रोड शो भी आयोजित किया था। इस दौरान उन्होंने विधिवत गंगोत्री विधानसभा क्षेत्र से  कर्नल अजय कोठियाल को पार्टी प्रत्याशी भी घोषित किया। पथरी के गांव धनपुरा में आम आदमी पार्टी के कार्यालय (Aam Aadmi Party Office) पर हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा प्रभारी नरेश शर्मा ने बताया कि 21 नवंबर को ग्रामीण क्षेत्र से काफी संख्या में आप कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल की रैली में शामिल होने हरिद्वार पहुंचेंगे, जहां वह परशुराम चौक से शंकर आश्रम चौक तक रैली निकालेंगे।

     

    और भी...

  • आज शाम विधि-विधान के साथ बंद होंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, साथ ही चारधाम यात्रा का भी हो जाएगा समापन

    आज शाम विधि-विधान के साथ बंद होंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, साथ ही चारधाम यात्रा का भी हो जाएगा समापन

     

    बद्रीनाथ धाम (Badrinath Dham) के कपाट शनिवार की शाम 6:45 बजे विधि-विधान से शीतकाल में छह महीने के लिए बंद कर दिए जाएंगे। इसके बाद अगले छह महीने तक भगवान बदरीनाथ की पूजा पांडुकेश्वर और जोशीमठ (Joshimath) में की जाएगी। वहीं, बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने के साथ ही उत्तराखंड चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) का भी समापन हो जाएगा।

    गेंदा, गुलाब और कमल के फूलों से सजा धाम
    बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने से पहले मंदिर को चारों ओर से पुष्प सेवा समिति ऋषिकेश से आए 20 क्विंटल गेंदा, गुलाब और कमल के फूलों से सजाया गया है। बता दें कि धाम के कपाट बंद होने की प्रक्रिया आज शाम चार बजे से शुरू हो कर दी जाएगी। वहीं, इससे पहले सुबह छह बजे भगवान बद्रीनाथ का अभिषेक किया गया। इसके बाद सुबह आठ बजे बाल भोग चढ़ाया गया। अब दोपहर साढ़े बारह बजे एक बार फिर भोग लगाया जाएगा।

    आज शाम चार बजे माता लक्ष्मी को बद्रीनाथ गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा और गर्भगृह से गरुड़जी, उद्धवजी, कुबेर महाराज को बदरीश पंचायत से बाहर लाया जाएगा। सभी धार्मिक परंपराओं को पूरा करते हुए शाम 6:45 बजे बदरीनाथ धाम के कपाट बंद कर दिए जाएंगे।
     
    कपाट बंद होने से एक दिन पहले यानि शुक्रवार को कई हस्तियों ने भगवान बद्रीनाथ के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया। इसी कड़ी में  कल दोपहर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने भगवान बद्रीनाथ के दर्शन कर किए, वहीं, उनके साथ कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, प्रदेश सह प्रभारी विधायक झारखंड दीपिका पांडेय, कांग्रेस के चमोली जिलाध्यक्ष विरेंद्र सिंह रावत, प्रदेश महामंत्री हरिकृष्ण भट्ट, कवींद्र इष्टवाल, विकास नेगी और राजेश मेहता ने भी बदरीनाथ की  पूजा अर्चना की।
     

    और भी...

  • Farm laws: कृषि कानून वापसी के फैसले पर SKM ने जताई खुशी, आगे का ये होगा प्लान

    Farm laws: कृषि कानून वापसी के फैसले पर SKM ने जताई खुशी, आगे का ये होगा प्लान

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जून 2020 में पहली बार अध्यादेश के रूप में लाए गए सभी तीन किसान-विरोधी, कॉर्पोरेट-समर्थक काले कानूनों को निरस्त करने के भारत सरकार के फैसले की घोषणा की है। उन्होंने गुरु नानक जयंती के अवसर पर यह घोषणा करने का निर्णय लिया। संयुक्त किसान मोर्चा ने इस निर्णय का स्वागत किया है। किसान नेताओं ने कहा उचित संसदीय प्रक्रियाओं के माध्यम से घोषणा के प्रभावी होने की प्रतीक्षा करेगा। अगर ऐसा होता है, तो यह भारत में एक वर्ष से चल रहे किसान आंदोलन की ऐतिहासिक जीत होगी। हालांकि, इस संघर्ष में करीब 700 किसान शहीद हुए हैं।

    किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल, डॉ दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हन्नान मोल्ला, जगजीत सिंह डल्लेवाल, जोगिंदर सिंह उगराहां, शिवकुमार शर्मा (कक्का जी), युद्धवीर सिंह ने कहा है कि संयुक्त किसान मोर्चा प्रधानमंत्री को यह भी याद दिलाना चाहता है कि किसानों का यह आंदोलन न केवल तीन काले कानूनों को निरस्त करने के लिए है, बल्कि सभी कृषि उत्पादों और सभी किसानों के लिए लाभकारी मूल्य की कानूनी गारंटी के लिए भी है। किसानों की यह अहम मांग अभी बाकी है। इसी तरह बिजली संशोधन विधेयक को भी वापस लिया जाना बाकि है। एसकेएम सभी घटनाक्रमों पर संज्ञान लेकर, जल्द ही अपनी बैठक करेगा और यदि कोई हो तो आगे के निर्णयों की घोषणा करेगा।

    और भी...