बिजनेस

  • अब मेट्रो का सफर होगा आसान, डेबिट और क्रेडिट कार्ड से भी कर सकेंगे किराये का भुगतान

    अब मेट्रो का सफर होगा आसान, डेबिट और क्रेडिट कार्ड से भी कर सकेंगे किराये का भुगतान

     

    दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। मेट्रो का सफर अब पहले से काफी आसान होने वाला है। अब आपको मेट्रो से सफर के लिए टोकन या स्मार्ट कार्ड को रिचार्ज कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी और न ही टोकन के लिए लाइन में लगना पड़ेगा। क्योंकि अब आप मेट्रो में सफर करने के लिए अपना किराया अपने बैंक के डेबिट या क्रेडिट कार्ड से आसानी से कर पाएंगे। इसके लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन(DMRC) द्वारा लेटेस्ट ऑटोमेटिक फेयर मशीनें लगाई जा रही हैं।

    44 स्टेशन पर नई AFC
    इस नए नियम के अनुसार अब से आप स्मार्ट कार्ड के अलावा, अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड, नियर फील्ड कम्युनिकेशन (NFC), क्यूआर कोड-आधारित टिकटिंग मोबाइल फोन और पेपर QR टिकट के जरिए मेट्रो का किराया दे सकेंगे। इसके लिए डीएमआरसी ने चौथे चरण के दौरान 44 स्टेशनों पर AFC सिस्टम इंस्टॉल करना भी शुरू कर दिया है। यानी जल्द ही आपको इस सुविधा का लाभ मिलेगी। इसके अलावा मौजूदा मेट्रो स्टेशनों पर लगे एएफसी(AFC) गेटों को भी अपडेट किया जा रहा है।

    इस पर डीएमआरसी के एक अधिकारी ने बताया कि "इससे नए सिस्टम में कैशलेस और ह्यूमन एयर फ्री ट्रांजेक्शन(HAFT) के अलावा सेवाओं के अधिक डिजिटलीकरण को बढ़ावा मिलेगा। इतना ही नहीं मेट्रो कॉर्पोरेशन एएफसी फर्मवेयर को भी अपग्रेड कर रहा है। इससे यात्री अपने किसी भी बैंक के क्रेडिट और डेबिट कार्ड को स्मार्ट कार्ड के रूप में इस्तेमाल कर मेट्रो के किराये का भुगतान कर पाएंगे। फिलहाल राजधानी में यह सुविधा सिर्फ एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर ही उपलब्ध है।

    बता दें कि अभी यह सुविधा कोच्चि और नागपुर जैसे कुछ महानगरों में यह में भी उपलब्ध है। लेकिन यहां पर सिर्फ विशेष बैंकों के डेबिट/क्रेडिट कार्ड से ही भुगतान किया जा सकता है। डीएमआरसी की प्रणाली रुपे पोर्टल के के जरिए सभी बैंकों से लेनदेन को स्वीकार कर सकेगी।

    किराया देने के तरीके
    स्मार्ट कार्ड, नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड,  मोबाइल आधारित एनएफसी (Near Field Communication Ticketing), मोबाइल QR कोड आधारित टिकट, पेपर QR टिकट।

    अब स्मार्ट कार्ड से ही कटेगी पेनाल्टी

    डीएमआरसी के प्रवक्ता ने बताया कि "इस नई व्यवस्था के अंतर्गत स्मार्ट कार्ड के जरिए पेनाल्टी की कटौती भी हो सकती है। जैसे अभी जब किसी यात्री को स्टेशन से बाहर निकलना हो तो उसे, विंडो के पास जाना पड़ता है और उसे कार्ड चालू करने के लिए अलग से पेनाल्टी देनी पड़ती है, लेकिन यहां ऐसा नहीं होगा, यहां पेनाल्टी आपके कार्ड से खुद ही कट जाएगी। 

    और भी...

  • Petrol Diesel Today Price: लोगों पर महंगाई की मार, जानें किस शहर में  कितने बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

    Petrol Diesel Today Price: लोगों पर महंगाई की मार, जानें किस शहर में कितने बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

     

    आज एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम के चलते भारत में पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price Update) के दामों में इजाफा किया गया है। रविवार को फिर से तेल की कीमते आसमान छूती नजर आ रही हैं। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (oil marketing companies) ने आज पेट्रोल और डीजल दोनों पर 35-35 पैसे की बढ़ोतरी की है। बता दें कि इस बीते 19 दिनों में पेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों ने आम आदमी का जेब ढिली करके रख दी है।

    जानिए महानगरों में पेट्रोल-डीजल के दाम-
     

     महानगर   पेट्रोल /प्रति लीटर डीजल /प्रति लीटर
    दिल्ली      105.84 रु      94.57 रु
    मुंबई      111.77 रु      102.52 रु
        कोलकाता       106.43 रु      97.68 रु
          चेन्नई             103.01 रु     98.92 रु

    एक रिपोर्ट के अनुसार, 19 दिनों में डीजल करीब 6 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है। वहीं, पेट्रोल 16 दिनों में 4.65 रुपये महंगा हुआ है। दिल्ली में 105.84 रुपये पहुंचा पेट्रोल, वहीं डीजल 94.57 तक पहुंच गया है। इन चारों महानगरों में से महंगाई में सबसे आगे मुंबई चल रहा है। जहां पेट्रोल 111.77 रुपये और डीजल 102.52 रुपेय हो गया है।  

    और भी...

  • Bitcoin:  दुनिया की 8वीं मोस्ट वैल्यूबल एसेट,  एक बार फिर बढ़ी इसकी कीमत

    Bitcoin: दुनिया की 8वीं मोस्ट वैल्यूबल एसेट, एक बार फिर बढ़ी इसकी कीमत

     

    दुनिया की सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमत में एक बार फिर ऑल टाइम हाई की तरफ बढ़ रही है। शनिवार को यह 62,000 डॉलर के करीब पहुंच गई है। अप्रैल में यह 65,000 डॉलर के करीब पहुंच गई थी जो इसका अब तक का ऑल टाइम हाई लेवल है। इससे पहले शुक्रवार को 60,000 डॉलर का आंकड़ा छूते ही बिटकॉइन दुनिया की आठवीं सबसे मूल्यवान संपत्ति बन गई।

    companiesmarketcap.com के मुताबिक बिटकॉइन का कुल मार्केट कैप वैल्यूएशन 1.119 लाख करोड़ डॉलर पहुंच गया है। इस तरह मार्केट कैप के हिसाब से उसने दुनिया की दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक (Facebook) को पीछे छोड़ दिया है। फेसबुक का मार्केट कैप 926.27 अरब डॉलर है। यह पहला मौका नहीं है जब बिटकॉइन ने फेसबुक को पीछे छोड़ा है। इससे पहले इस साल जनवरी के पहले हफ्ते भी बिटकॉइन मार्केट कैप के मामले में फेसबुक से आगे निकल गई थी।

    बिटकॉइन की कीमत में अगर 17.3 फीसदी उछाल आती है तो यह चांदी से आगे निकल जाएगी। दुनियाभर में सिल्वर की कुल नेटवर्थ 1.313 लाख करोड़ डॉलर है। सिल्वर के अलावा गोल्ड, Apple, Microsoft, Saudi Aramco, Alphabet (Google), और Amazon मार्केट कैप के मामले में बिटकॉइन से आगे हैं।

    और भी...

  • Petrol Diesel Price Hike:पेट्रोल डीजल की मार बार-बार, मुंबई में किमतें 111 रुपय के पार

    Petrol Diesel Price Hike:पेट्रोल डीजल की मार बार-बार, मुंबई में किमतें 111 रुपय के पार

     

    देश में एक बार फिर सरकारी तेल कंपनियों की ओर से पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी की गई है। नई अपडेट के मुताबिक आज डीजल के दामनों  में 33 से 38 पैसे बढ़ाएं गए हैं। वहीं, पेट्रोल  के दामों में 30 से 35 पैसे का इजाफा किया गया है।  लगातर बढ़ रहे दामों के कारण देश के कई शहरों में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये के पार पहुंच चुकी है। पेट्रोल डीजल की कीमतों के कारण आम आदमी की आमदनी पर असर पड़ रहा हैं।

    जानें प्रमुख महानगरों में पेट्रोल-डीजल का भाव-

    शहर डीजल प्रति लीटर पेट्रोल प्रति लीटर
    दिल्ली 93.87 105.14
    मुंबई 101.78 111.09
    कोलकाता 96.98 105.76
    चेन्नई 98.26 102.40

    इन राज्यों में 100 रुपये के पार पहुंचा पेट्रोल-

    बता दें कि मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, ओडिशा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में आज के इजाफे के बाद पेट्रोल का भाव 100 रुपये पार हो चुका है। इन सभी राज्यों में से मुंबई में पेट्रोल की कीमत सबसे अधिक है। 

    बता दें कि हर रोज सुबह छह बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव किया जाता है। सुबह 6 बजते ही नई दरें लागू हो जाती हैं। पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने से इनका दाम बढ़ जाता है। इन्हीं मानकों के आधार पर पेट्रोल और डीजल के रेट तेल कंपनियों द्वारा तय किये जाते हैं। 

    और भी...

  • Bitcoin latest Update: फिर हाई तरफ बढ़ी बिटकॉइन, जानिए कितनी हो गई कीमत

    Bitcoin latest Update: फिर हाई तरफ बढ़ी बिटकॉइन, जानिए कितनी हो गई कीमत

     

    दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमत एक बार फिर ऑल टाइम हाई की तरफ तेजी से बढ़ रही है। क्रिप्टो एक्सचेंज वजीरएक्स (WazirX) के मुताबिक दोपहर बाद एक बजे यह 3.53 फीसदी तेजी के साथ 57565 डॉलर यानी 44,87,301 रुपये पर ट्रेड कर रही थी। इस साल इसकी कीमत में 100 फीसदी तेजी आई है। अप्रैल के मध्य में इसकी कीमत 65,000 डॉलर के करीब पहुंची थी। जानकारों के मुताबिक इसकी कीमत जल्दी ही 60 हजार डॉलर पर पहुंच सकती है।

    दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी ईथर (Ethereum) की कीमत में भी गुरुवार को तेजी का रुख है। यह 3.46 फीसदी की तेजी के साथ 3614.31 डॉलर यानी 2,81,627 रुपये पर ट्रेड कर रही थी। सबसे ज्यादा तेजी Polkadot में देखी जा रही है। यह क्रिप्टोकरेंसी 18 फीसदी तेजी के साथ ट्रेड कर रही है। इसके अलावा Cardano, Dogecoin, XRP, Uniswap, Stellar और Binance Coin भी तेजी के साथ ट्रेड कर रही हैं।

    और भी...

  • PNG-CNG Price Hike : पेट्रोल-डीजल के बाद PNG-CNG के दामों में इजाफा, जानिएं क्या हैं नई कीमतें

    PNG-CNG Price Hike : पेट्रोल-डीजल के बाद PNG-CNG के दामों में इजाफा, जानिएं क्या हैं नई कीमतें

     

    देश में बढ़ती महंगाई से परेशान लोगों को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। पेट्रोल-डीजल की दामों में लगातार इजाफे के बाद अब पीएनजी (PNG) और सीएनसी (CNG) के दामों में भी बढ़ोतरी कर दी गई है। आईजीएल (IGL) ने पीएनजी के दामों में पूरे  2 रुपये बढ़ा दिए है। ये नए दाम 13 अक्टूबर यानी बुधवार से लागू कर दिए जाएंगे। बता दें कि नए रेट के आन से दिल्ली और आस-पास के इलाकों में सीएनसी 49.76 रुपये प्रति किलोग्राम और पीएनजी 35.11 रुपये प्रति एससीएम(SCM) मिलेगी।

     

    यह कीमतें बुधवार सुबह छह बजे से लागू कर दी गई हैं। अब दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में लोगों की जेब पर पेट्रोल-डीजल के साथ अब पीएनजी और सीएनजी भी भारी पड़ने वाला है। पीएनजी के दामों में यह इजाफा पिछले 10 दिन के भीतर हुआ है। बता दें कि इससे पहले 2 अक्टूबर को आईजीएल ने घरेलू पीएनजी के दामों में बढ़ोतरी की थी, जिसके बाद दिल्ली में घरों को आपूर्ति की जाने वाली पीएनजी की उपभोक्ता दर 2.10 रुपये प्रति घन मीटर बढ़कर 33.01 रुपये प्रति एससीएम हो गई थी।

    और भी...

  • Bank Holiday: अक्टूबर के महीने में लगातार 9 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखें छुट्टियों की List

    Bank Holiday: अक्टूबर के महीने में लगातार 9 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखें छुट्टियों की List

     

    अगप आपको अभी तक नहीं पता की अक्टूबर के महीने में बैंक कब-कब बंद रहने वाले हैं तो आपको हम बता दें कि त्योहारी सीजन के चलते अक्टूबर के माह में लगातार नौ दिनों तक बैंक बंद रहने वाले है। दरअसल, अक्टूबर में दुर्गा पूजा, नवरात्रि और दशहरा सहित कई तरह के त्योहार हैं। इसलिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के कैलेंडर के मुताबिक इस महीने बैंकों में छुट्टियों की लिस्ट जरा लंबी है।

    देखें अक्टूबर में कब-कब और क्यों बंद रहेंगे बैंक

    12 अक्टूबर - दुर्गा पूजा (महा सप्तमी), महा सप्तमी के कारण अगरतला और कोलकाता में बैंक बंद रहेंगे।
    13 अक्टूबर - दुर्गा पूजा (महा अष्टमी)। अगरतला, भुवनेश्वर, गंगटोक, गुवाहाटी, इंफाल, कोलकाता, पटना और रांची में बैंक बंद रहेंगे।
    14 अक्टूबर को बैंक अवकाश। दुर्गा पूजा/दशहरा (महा नवमी)/अयुत पूजा, अगरतला, बेंगलुरु, चेन्नई, गंगटोक, गुवाहाटी, कानपुर, कोच्चि, कोलकाता, लखनऊ, पटना, रांची, शिलांग, श्रीनगर, तिरुवनंतपुरम में बैंक महा नवमी के कारण 14 अक्टूबर को बंद रहेंगे।
    15 अक्टूबर को बैंक अवकाश।  दुर्गा पूजा / दशहरा / दशहरा (विजय दशमी)। इंफाल और शिमला को छोड़कर सभी बैंक 15 अक्टूबर को बंद रहेंगे।
    16 अक्टूबर को बैंक अवकाश दुर्गा पूजा (दसैन)। दसैन के चलते 16 अक्टूबर को सिर्फ गंगटोक बैंक बंद रहेंगे।
    17 अक्टूबर को बैंक अवकाश रविवार
    18 अक्टूबर को बैंक अवकाश कटि बिहू (गुवाहाटी), बिहू के चलते 18 अक्टूबर को सिर्फ गुवाहाटी बैंक बंद रहेंगे।
    19 अक्टूबर को बैंक अवकाश,  ईद-ए-मिलाद/ईद-ए-मिलदुन्नबी/मिलाद-ए-शरीफ (पैगंबर मोहम्मद का जन्मदिन)/बारावफा। अहमदाबाद, बेलापुर, भोपाल, चेन्नई, देहरादून, हैदराबाद, इंफाल, जम्मू, कानपुर, कोच्चि, लखनऊ, मुंबई, नागपुर, नई दिल्ली, रायपुर, रांची, श्रीनगर, तिरुवनंतपुरम में बैंक बंद रहेंगे।
    20 अक्टूबर - महर्षि वाल्मीकि का जन्मदिन/लक्ष्मी पूजा/ईद-ए-मिलाडो की वजह से अगरतला, बेंगलुरु, चंडीगढ़, कोलकाता और शिमला में बैंक बंद रहेंगे।

    अक्टूबर में अन्य बैंक अवकाश

    22 अक्टूबर - ईद-ए-मिलाद-उल-नबी के बाद शुक्रवार (जम्मू, श्रीनगर)
    23 अक्टूबर - चौथा शनिवार
    24 अक्टूबर - रविवार
    26 अक्टूबर - परिग्रहण दिवस (जम्मू, श्रीनगर)
    31 अक्टूबर - रविवार

    और भी...

  • Economics Nobel for 2021: इन तीन इकनॉमिस्ट ने जीता अर्थशास्त्र का नोबेल, जानें ऐसी क्या थी कामयाबी

    Economics Nobel for 2021: इन तीन इकनॉमिस्ट ने जीता अर्थशास्त्र का नोबेल, जानें ऐसी क्या थी कामयाबी

     

    Economics Nobel for 2021: नोबेल पुरस्कार प्राप्त करना खुद के लिए एक बड़ी उपलब्धि होती है। और हर वर्ष कई क्षेत्रों में अद्भुत कार्य करने वालों को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। इस नोबेल पुरस्कार को रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज द्वारा दिया जाता है।  इस साल अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अमेरिका स्थित तीन अर्थशास्त्रियों ने जीता है। ये तीन अर्थशास्त्री हैं- डेविड कार्ड (David Card), जोशुआ डी एंग्रिस्ट (Joshua Angrist) और गुइडो डब्ल्यू इम्बेन्स (Guido Imbens)। इन्हें अनपेक्षित प्रयोगों, या तथाकथित "नेचुरल एक्सपेरिमेंट्स" से निष्कर्ष निकालने पर काम करने के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार मिला है। पुरस्कार का 50 फीसदी डेविड कार्ड को दिया गया है और दूसरा आधा हिस्सा संयुक्त रूप से एंग्रिस्ट और इम्बेन्स को दिया गया।

    डेविड कार्ड बर्कले में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय से हैं। वहीं जोशुआ एंग्रिस्ट, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से और गुइडो इम्बेन्स स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से हैं। कार्ड कनाडाई मूल हैं, एंग्रिस्ट एक अमेरिकी नागरिक हैं जबकि इम्बेन्स की राष्ट्रीयता डच है।

    रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने कहा कि तीनों ने इकनॉमिक साइंसेज में अनुभवजन्य/प्रयोगसिद्ध कार्य को पूरी तरह से नया रूप दिया है। इकनॉमिक साइंसेज के लिए नोबेल रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज द्वारा प्रदान किए गए अन्य नोबेल से इस अर्थ में अलग है कि इसे आधिकारिक तौर पर एक अलग नाम से जाना जाता है।

    आधिकारिक तौर पर इसे इकनॉमिक साइंसेज में Sveriges Riksbank पुरस्कार कहा जाता है, इस पुरस्कार की स्थापना 1968 में Sveriges Riksbank (स्वीडन का केंद्रीय बैंक) द्वारा अल्फ्रेड नोबेल की स्मृति में की गई थी। यह तब से अकादमी द्वारा उन्हीं सिद्धांतों के अनुसार प्रदान किया जाता रहा है, जो 1901 से प्रदान किए गए नोबेल पुरस्कारों के लिए हैं। यह पुरस्कार बैंक की 300वीं वर्षगांठ के अवसर पर नोबेल फाउंडेशन को 1968 में Sveriges Riksbank से मिले दान पर आधारित है।

    और भी...

  • Petrol Diesel: देश में फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कहां कितनी है कीमत

    Petrol Diesel: देश में फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कहां कितनी है कीमत

     

    देश में पेट्रोल डीजल का रेट लगातार बढ़ रहे है। इससे आम जनता की जेबों पर अतिरिक्त खर्च पड़ने से परेशानी बढ़ गई है। क्योंकि ईधन के दाम में लगातार बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। इस बीच, आज भी भारतीय तेल कंपनियों ने आज फिर से पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी की है। आईओसीएल द्वारा जारी नए रेट के मुताबिक दिल्ली में आज पेट्रोल और डीजल के दाम क्रमश: 0.30 रुपये (104.44 रुपये प्रति लीटर) और 0.35 रुपये (93.17 रुपये प्रति लीटर) बढ़ गए।

    मुंबई में आज पेट्रोल की कीमत 110.41 रुपये प्रति लीटर (0.29 रुपये ऊपर) और डीजल की कीमत 101.03 रुपये प्रति लीटर (0.37 रुपये ऊपर) है। उधर, देश के कई शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा हो चुके हैं। तेल कंपनियों ने लगातार सातवें दिन पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी की है। इससे पहले रविवार को पेट्रोल की कीमत में 26 से 30 पैसे बढ़े हैं और डीजल के दाम में 33 से 35 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। इसी के साथ पहली बार मुंबई में डीजल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गए हैं।

    जानें कहां कितनी है कीमत 

          शहर     डीजल

        पेट्रोल

         दिल्ली  

        93.17       104.44
         कोलकाता

        96.24    

       105.05 

          चेन्नई  

        97.56       101.76

          मुंबई  

       101.03       110.41 

    वहीं राजधानी दिल्ली में पेट्रोल के दाम 104.14 रुपये जबकि डीजल के दाम 92.82 रुपये प्रति लीटर हो गए थे। बता दें कि इस महीने में अब तक सिर्फ एक दिन (04 अक्टूबर) पेट्रोल-डीजल के रेट स्थिर रहे हैं। बाकी के दिनों में ईधन की कीमतों में इजाफा देखा गया। पेट्रोल-डीजल के दाम प्रतिदिन अपडेट किए जाते हैं। ऐसे में आप सिर्फ एक SMS के जरिए रोज अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत जान सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल के ग्राहकों को RSP कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा।

    और भी...

  • Air India: एयर इंडिया की लगी बोली, 18000 करोड़ में टाटा ने खरीदा

    Air India: एयर इंडिया की लगी बोली, 18000 करोड़ में टाटा ने खरीदा

     

    सालों से कर्ज के तले दबी सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया (Air India) फिर घर वापसी हो गई है। एयर इंडिया के लिए विनिंग बिड टाटा सन्स की इकाई ने जीती है। इस बारे DIPAM के सेक्रेटरी तुहीन कांत पांडे ने घोषणा की है। पांडे ने शुक्रवार शाम को एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि टाटा सन्स की इकाई Talace Pvt Ltd 18000 करोड़ रुपये के साथ एयर इंडिया के लिए विनिंग बिडर रही। यह सौदा इस साल दिसंबर के अंत तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। एयर इंडिया के लिए टाटा ग्रुप (Tata Group) और स्पाइसजेट (SpiceJet) के अजय सिंह ने बोली लगाई थी।

    सरकार एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस (Air India Express) में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच रही है। साथ ही एयर इंडिया की ग्राउंड हैंडलिंग कंपनी AISATS में 50 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है। इसके लिए टाटा ग्रुप और स्पाइसजेट के अजय सिंह ने व्यक्तिगत बोली लगाई थी। मोदी सरकार के निजीकरण कार्यक्रम में एयर इंडिया की बिक्री सबसे अहम है। गृह मंत्री अमित शाह की अगुवाई में मंत्रियों की एक समिति खुद इसकी निगरानी कर रही है। मौजूदा प्रस्ताव के मुताबिक एयर इंडिया को 23,000 करोड़ रुपये के कर्ज के साथ नए मालिक को ट्रांसफर किया जाएगा। कंपनी का बाकी कर्ज Air India Asset Holdings Ltd (AIAHL) को ट्रांसफर किया जाएगा।

    एयर इंडिया को टाटा समूह ने ही शुरू किया था और अब 68 साल बाद एक बार फिर एयर इंडिया के टाटा समूह की झोली में आने की उम्मीद जगी है। जेआरडी टाटा ने 1932 में टाटा एयरलाइंस की स्थापना की थी। दूसरे विश्वयुद्ध के वक्त विमान सेवाएं रोक दी गई थीं। जब फिर से विमान सेवाएं बहाल हुईं तो 29 जुलाई 1946 को टाटा एयरलाइंस का नाम बदलकर उसका नाम एयर इंडिया लिमिटेड कर दिया गया। आजादी के बाद 1947 में एयर इंडिया की 49 फीसदी भागीदारी सरकार ने ले ली थी। 1953 में इसका राष्ट्रीयकरण हो गया।

    और भी...

  • PM Mitra Scheme: पीएम मित्र योजना को मिली हरी झंडी, 20 लाख से भी अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार!

    PM Mitra Scheme: पीएम मित्र योजना को मिली हरी झंडी, 20 लाख से भी अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार!

     

    PM Mitra Scheme:  मोदी कैबिनेट की मीटिंग के बाद अनुराग ठाकुर और पीयूष गोयल ने इसमें हुई घोषणाओं के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि इस मीटिंग में पीएम मित्र योजना को मंजूरी दे दी गई है, जिसमें करीब 4445 करोड़ रुपये खर्च होंगे। पीयूष गोयल ने बताया कि गुजरात के समय से ही पीएम मोदी इस योजना के बारे में सोचते थे। इसके तहत देश भर में 7 टेक्सटाइल पार्क लगेंगे, जिनसे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 20 लाख से भी अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा।

    पीयूष गोयल ने कहा कि काफी पहले से ये कहा जा रहा है कि भारत को 5 एफ को कैप्चर करना चाहिए। यानी फार्म से फाइबर, फाइबर से फैक्ट्री, फैक्ट्री से फैशन और फैशन से फॉरेन। पूरी वैल्यू चेन को भारत में मजबूत बनाना चाहिए और भारत इसकी सेवा दुनिया को दे, लेकिन अभी ये सब अलग-अलग है। कॉटन गुजरात और महाराष्ट्र में पैदा होता है, वहां से तमिलनाडु जाता है, जहां स्पिनिंग होती है। प्रोसेसिंग के लिए राजस्थान, गुजरात जाता है, गारमेंटिंग दिल्ली एनसीआर, बेंगलुरु, कोलकाता में होती है और निर्यात के लिए मुंबई और कांडला जाना पड़ता है। ये सारा कुछ अब इंटीग्रेटेड तरीके से हो सकेगा।

    पीएम मित्र के तहत एक इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल वैल्यू चेन बनाने का फैसला किया है। इसमें 4445 करोड़ रुपये का अगले 5 साल में खर्च होगा। इसके तहत देश में 7 टेक्सटाइल पार्क बनेंगे। इससे 7 लाख लोगों को डायरेक्ट और 14 लाख लोगों को इनडायरेक्ट रोजगार मिलेगा। राज्यों से इसके लिए बात हो रही है। जो राज्य सस्ती जमीन, पानी देगा और लेबर आसानी से मिलेगी वहां पर ये पार्क लगाए जाएंगे। ये भी देखा जाएगा कि वहां टेक्सटाइल की मांग हो। कुछ नए पार्क होंगे और कुछ पुराने पार्क हो सकते हैं, जिन पर काम चल रहा है।

    7 पार्क लगाने का अनुमानित खर्च 1700 करोड़ रुपये होगा। जो यूनिट शुरुआत में आकर बड़ा निवेश करेंगी, उन्हें पहले आओ पहले पाओ के आधार पर मदद भी मुहैया कराई जाएगी। एक यूनिट को 3 साल में 30 करोड़ रुपये तक की मदद सरकार की तरफ से दी जा सकती है। कोशिश की जा रही है कि अधिक से अधिक निवेश यहां आए, विदेशी निवेश भी आए। पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप को भी तवज्जो दी जाएगी। इससे लोकल को ग्लोबल बनाने की कोशिशें की जाएंगी।

    कोशिश की जा रही है कि अच्छी प्लॉटिंग हो, रिसर्च सेंटर हो, डिजाइन सेंटर हो, ट्रेनिंग सेंटर भी हो, मेडिकल सुविधाएं हों, काम करने वालों के लिए घर की सुविधा हो, वेयरहाउस भी हो, ट्रांसपोर्ट की सुविधा हो, होटल-दुकानें भी बनें। यानी इससे एक इंटीग्रेटेड सिस्टम बनाने की कोशिश है, जिसके जरिए एक ऐसा ईकोसिस्टम बन सके, जिससे सभी को एक-दूसरे से फायदा और मदद मिल सके।

    और भी...

  • Energy Crisis: चीन की तरह देश में भी बिजली संकट का खतरा, इतनें दिनों का बचा स्टॉक

    Energy Crisis: चीन की तरह देश में भी बिजली संकट का खतरा, इतनें दिनों का बचा स्टॉक

     

    Electricity shortage: पिछले दिनों चीन में थर्मल पावर प्लांट में कोयले की किल्लत की वजह से बिजली की आपूर्ति प्रभावित हुई थी और लोगों के घरों में भी बिजली काट दी गई थी। कुछ इसी तरह का संकट अब भारत में देखने को मिल सकता है।

    दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती इकोनामी में पावर प्लांट को कोयले की आपूर्ति की स्थिति बदहाल हो चुकी है। कोयले से बिजली बनाने वाले पावर प्लांट के पास औसतन 4 दिन का स्टॉक बचा हुआ है। पिछले कई सालों में यह सबसे खराब आंकड़ा है। अगर बात अगस्त की करें तो उसमें पावर प्लांट के पास औसतन 13 दिन का कोयला बचा हुआ था। देश में थर्मल पावर प्लांट के आधे से ज्यादा ने बिजली संकट की चेतावनी दे दी है।

    भारत में 70 फीसदी बिजली कोयले से बनती है। इस साल भारी बारिश की वजह से कोयले की खान में पानी भरा हुआ है और महत्वपूर्ण ट्रांसपोर्ट रूट खराब हो गए हैं। कोयले से बिजली बनाने वाले प्लांट में ऑपरेटर एक अजीब सी स्थिति का सामना कर रहे हैं। वह घरेलू बाजार में बाजार से कोयले की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मोटा प्रीमियम देने को मजबूर हैं। अगर उन्हें स्थानीय स्रोत से कोयला नहीं मिला तो वह समुद्र किनारे मौजूद कोल मार्केट में जा रहे हैं जहां कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं।

    और भी...

  • Modi meet Qualcomm ceo: स्मार्ट कार और गैजेट खरीद के लिए पीएम मोदी ने की यह पहल

    Modi meet Qualcomm ceo: स्मार्ट कार और गैजेट खरीद के लिए पीएम मोदी ने की यह पहल

     

    Modi meet Qualcomm ceo: दुनिया भर में इन दिनों चिप और सेमीकंडक्टर की किल्लत चल रही है। इस वजह से स्मार्ट गैजेट से लेकर स्मार्ट कार्ड तक के प्रोडक्शन पर असर पड़ा है। पिछले करीब एक साल से चल रहे इस संकट की वजह से भारत में स्मार्ट कार और अन्य गैजेट की बिक्री प्रभावित हुई है।

    हाल में ही पीएम मोदी विदेश दौरे पर गए थे। पीएम मोदी ने अमेरिका में अपने कार्यक्रम की शुरुआत टेक्नोलॉजी सेक्टर की प्रमुख कंपनी क्वालकॉम के अध्यक्ष और सीईओ क्रिस्टिआनो ई अमोन से मुलाकात करके की। इसके बाद पीएम मोदी ने अडोबी समेत पांच कंपनियों के सीईओ से भी बातचीत की। पीएम मोदी ने इस बैठक में भारत में निवेश, 5G टेक्नोलॉजी समेत कई मुद्दों पर चर्चा की।

    पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि क्वालकॉम के सीईओ क्रिस्टिआनो अमोन के साथ एक उपयोगी बैठक हुई। मोदी ने लिखा, "हमने भारत में अधिक से अधिक सार्वजनिक भलाई और तकनीकी अवसरों के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने के मौके के बारे में बात की। ओमान 5G में भारत की प्रगति और कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए PM-WANI जैसे हमारे प्रयासों में रुचि रखते हैं।"

    क्रिस्टियानो अमोन ने कहा, "हमें भारत के साथ अपनी साझेदारी पर बहुत गर्व है। हम भारत के साथ मिलकर जो कुछ भी कर रहे हैं उससे खुश हैं। हमने प्रौद्योगिकी के भविष्य के बारे में बात की। हमने 5जी के बारे में बात की। हमने भारत में प्रौद्योगिकी के निर्यात के रूप में उद्योग को आगे बढ़ाने के अविश्वसनीय अवसरों के बारे में बात की, जैसा कि हम भारत में 5G द्वारा डिजिटल परिवर्तन की संभावना के बारे में सोचते हैं। हमने सेमी-कंडक्टर के बारे में बात की। यह बातचीत का एक महत्वपूर्ण विषय था। बातचीत से बहुत खुश हैं और हम हर चीज से बहुत खुश हैं।"

    और भी...

  • दिल्ली में कल से 45 दिन बंद रहेंगी शराब की प्राइवेट दुकानें, क्या हैं नए नियम

    दिल्ली में कल से 45 दिन बंद रहेंगी शराब की प्राइवेट दुकानें, क्या हैं नए नियम

     

    दिल्ली में शराब के शौकीनों के लिए बुरी खबर आई है। यहां प्राइवेट शराब की दुकानें कल से डेढ़ महीने बंद रहेंगी जोकि कुल शराब दुकानों की करीब 40 फीसदी हैं। दिल्ली सरकार की नयी आबकारी नीति के तहत 266 निजी शराब की दुकानों सहित सभी 850 शराब की दुकानें खुली निविदा के जरिए निजी कंपनियों को दे दी गई हैं। नए लाइसेंस धारक शहर में शराब की खुदरा बिक्री 17 नवंबर से शुरू करेंगे। हालांकि, इस दौरान शराब की खुदरा बिक्री के लिए सरकारी शराब की दुकानें खुली रहेंगी। ये सरकारी दुकानें 16 नवंबर को बंद हो जाएंगी। आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि सरकारी शराब की दुकानों को मांग में इजाफा होने की संभावना के मद्देनजर पर्याप्त भंडारण सुनिश्चित करने को कहा गया है।

    शराब माफिया इस मौके का उठा सकते पूरा फायदा

    दिल्‍ली में शराब की कमी को देखते हुए आबकारी विभाग सर्तक है। इस बारे में आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि सरकारी शराब की दुकानों को मांग में इजाफा होने की संभावना के मद्देनजर पर्याप्त भंडारण सुनिश्चित करने को कहा गया है। दिल्‍ली में प्राइवेट दुकानों को 1 अक्‍टूबर से बंद करने का फैसला ले लिया गया है लेकिन दिल्ली की शराब की जरूरत को कैसे पूरा किया जाएगा, इसकी कोई तैयारी नहीं की है।

     1. नई नीति का उद्देश्य ग्राहक के अनुभव में सुधार, शराब माफिया की सफाई और चोरी को समाप्त करके राष्ट्रीय राजधानी में शराब के कारोबार में सुधार करना है।

    2. नई नीति के तहत, दिल्ली सरकार शहर भर में शराब की दुकानों को 32 क्षेत्रों में विभाजित करके समान वितरण सुनिश्चित करना चाहती है।

    3. 8-10 वार्डों वाले वाले हर जोन में लगभग 27 शराब की दुकानें होंगी। फिलहाल कुछ वार्डों में 10 से अधिक शराब की दुकानें हैं और कई में एक भी नहीं है। इस कदम से सरकार खुदरा शराब कारोबार से किनारा कर रही है।

    4. 17 नवंबर से खुदरा विक्रेता एमआरपी दरों पर बेचने के बजाय प्रतिस्पर्धी माहौल में शराब का बिक्री मूल्य तय करने के लिए स्वतंत्र होंगे।

    5. MRP का निर्धारण आबकारी आयुक्त एक मैथेमेटिकल फ़ॉर्मूले और परामर्श के आधार पर करेंगे। हालांकि असल बिक्री मूल्य बाजार प्रतिस्पर्धा के आधार पर खुदरा व्यापारी तय कर सकेंगे।

    6. नई आबकारी नीति के तहत दिल्ली सरकार को शराब की दुकानों की बोली से लगभग ₹10,000 करोड़ का राजस्व मिलने की उम्मीद है।

    7. दिल्ली सरकार ने कहा है कि शराब बेचने या परोसने की उम्र पड़ोसी राज्यों जैसी ही होनी चाहिए, जहां शराब पीने की कानूनी उम्र पहले से ही 21 साल है। दिल्ली में ये फिलहाल 25 साल है।

    8. शराब की हर दुकान अब वॉक-इन होगी और अब उसी के अनुसार डिजाइन किया जाएगा। दुकानों को वातानुकूलित और अच्छी रोशनी वाला होना चाहिए। प्रत्येक दुकान में दुकान के अंदर और बाहर सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे और रिकॉर्डिंग कम से कम एक महीने तक रखी जाएगी।

    9. होटल, क्लब और रेस्तरां के लिए नई नीति: बार लाइसेंस प्रदान करने से पहले कई लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता को समाप्त किया जा सकता है। इसके बजाय, बार लाइसेंस प्राप्त करने के लिए फायर एनओसी एकमात्र अनिवार्य आवश्यकता हो सकती है। लाइसेंस प्राप्त परिसर के भीतर किसी भी क्षेत्र में किसी भी भारतीय शराब और विदेशी शराब परोसने की अनुमति इस शर्त के साथ दी जाएगी कि शराब परोसने वाले क्षेत्र को सार्वजनिक न रखा जाए।

    10. बैंक्वेट हॉल, पार्टी-प्लेस, फार्म हाउस, मोटल के लिए एल-38 के रूप में नया लाइसेंस: फिलहाल ऐसे स्थान पर पार्टियों और आयोजित समारोहों के लिए P-10, P-10A, P-11 और P-13 के रूप में अस्थायी लाइसेंस प्राप्त करना आवश्यक है। हालांकि, एल-38 एस के रूप में नया लाइसेंस 5 लाख से 15 लाख तक के एकमुश्त वार्षिक शुल्क के भुगतान पर उनके परिसर में आयोजित सभी पार्टियों में भारतीय और विदेशी शराब परोसने की अनुमति के साथ आवश्यक होगा। एक बार वार्षिक लाइसेंस प्राप्त हो जाने के बाद इन स्थानों पर आयोजित होने वाले किसी भी कार्यक्रम में अलग से पी-10 लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होगी।

    और भी...

  • Petrol Diesel Prices: नहीं होगा डीजल-पेट्रोल सस्ता, GST के दायरे से किया बाहर

    Petrol Diesel Prices: नहीं होगा डीजल-पेट्रोल सस्ता, GST के दायरे से किया बाहर

     

    Petrol Diesel Prices: बहुत से लोगों को उम्मीद थी कि सरकार पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel) को जीएसटी (GST) के दायरे में ले आएगी तो उनका महीने का खर्च कम हो जाएगा। इन सभी लोगों की उम्मीदों को झटका लग सकता है। सरकार ने पेट्रोल-डीजल को गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के दायरे में लाने से मना कर दिया है।

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी काउंसिल की 45वीं बैठक के बाद कहा कि पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया है। इस वजह से देश के करोड़ों लोगों को झटका लग सकता है।

    अब अगर आपको पेट्रोल डीजल के बढ़ते भाव के लिए किसी को दोष देना हो तो आप सिर्फ कच्चे तेल के भाव पर इसका दोष नहीं मढ़ सकते। पेट्रोल डीजल के खुदरा भाव में टैक्स का बहुत बड़ा योगदान है। पेट्रोल डीजल के भाव को जीएसटी के दायरे में लाने की काफी समय से मांग की जा रही थी जिसके लिए एक बार फिर मना कर दिया गया है।

    और भी...