देश

  • कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का बुधवार को उद्घाटन करेंगे PM Modi, प्रसाद के तौर पर बाटेंगे ये खास खीर

    कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का बुधवार को उद्घाटन करेंगे PM Modi, प्रसाद के तौर पर बाटेंगे ये खास खीर

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(PM Modi) बुधवार को उत्तर प्रदेश के चौथे इंटरनेशनल एयरपोर्ट यानी कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Kushinagar International Airport) का उद्घाटन करेंगे। यह देश का 29वां और यूपी का चौथा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा। बता दें कि कुशीनगर बौद्ध सर्किट के तहत आता है। इसी के अंतर्गत गौतम बुद्ध का जन्म स्थान लुम्बिनी, सारनाथ और गया भी आते हैं। इस एयर पोर्ट पर 20 अक्टूबर को यहां पहली इंटरनेशनल फ्लाइट लैंड करेगी। जिसमें श्रीलंका के 25 प्रतिनिधि और 100 बौद्ध भिक्षुक मौजूद रहेंगे।

    जानकारी के मुताबिक, यहां आने वाले सभी अतिथियों को एक खास यानी कालानमक चावल से बनी खीर को प्रसाद के तौर पर बांटा जाएगा। इस पर पार्टिसिपेटर रूरल डेवलपमेंट फाउंडेशन के अध्यक्ष राम चेत चौधरी ने बताया, 'ऐसा कहा जाता है कि गौतम बुद्ध कालानमक चावल से बनी खीर खाकर ही अपना व्रत खोलते थे'। उन्होंने बताया कि कालानमक चावल जो अपनी खुशबू और पोषक तत्वों के लिए जाना जाता है। यह सिर्फ कुशीनगर की नहीं बल्कि सिद्धार्थ नगर, बस्ती, गोरखपुर, महाराजगंज और संत कबीर नगर की भी पहचान है। इस पर राम चेत चौधरी ने बताया कि "एक बार भगवान बुद्ध ने किसानों को कालानमक चावल की खेती करने की सलाह भी दी थी"। इसके अलावा चीनी यात्री फा-हियेन ने भी सिद्धार्थनगर में कालानमक चावक का जिक्र किया है। राम चेत ने बताते हैं कि कुछ साल पहले चावल के उत्पादन में भारी कमी आ गई थी, लेकिन राज्य सरकार के प्रयासों से इसकी खेती 50 हजार हेक्टेयर तक बढ़ गई। 

    एयरपोर्ट बनने के लाभ
    कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शुरू होने से पहला लाभ जो है वो बौद्ध तीर्थयात्रियों को मिलेगा, वह आसानी से बौद्ध सर्किट की यात्रा कर पाएंगे। इसके अलावा यहां पर्यटन और रोजगार में भी बढ़ोतरी होगी। एयरपोर्ट के शुरू होने के बाद अब श्रीलंका, जापान, चीन, थाईलैंड, ताइवान, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया और वियतनाम जैसे देशों के यात्रियों के लिए सारनाथ, श्रावस्ती, बोध गया, लुम्बिनी, वैशाली नगर, केसरिया और संकीसा का सफर कम समय में तय हो सकेगा। 

    और भी...

  • Bangladesh में हिंसा के बाद Bengal में जारी किया गया अलर्ट, सीमा से जुड़े इलाकों पर कड़ी निगरानी

    Bangladesh में हिंसा के बाद Bengal में जारी किया गया अलर्ट, सीमा से जुड़े इलाकों पर कड़ी निगरानी

     

    बांग्लादेश(Bangladesh) के खुफिया विभाग ने सभी सांप्रदायिक हिंसा और पश्चिम बंगाल में ईद मिलाद उन नबी के बाद दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन को देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया है। यह अलर्ट खास तौर पर बांग्लादेश की सीमा पर आने वाले सभी जिलों के लिए किया गया है। यह अतिरिक्त महानिदेशक (secret agency) द्वारा जारी किया गया और DG, ADG एवं सभी SP और आयुक्तों को भेजा गया एक विस्तृत अलर्ट है। इस अलर्ट में कहा गया है कि "इनपुट से पता चला है कि हिंदू मंदिरों, दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ और आगजनी की कुछ घटनाओं जुम्मा नमाज पूरी होने के बाद से नोआखली जिले और चटगांव जिले में जारी हैं। इतना ही नहीं नोआखली का इस्कॉन मंदिर को भी तोड़ दिया गया है"।

    साथ ही अधिसूचना में कहा गया है कि "13 अक्टूबर 2021 से पूरा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों में की गई तोड़फोड़ के पोस्टों से भरा हुआ है। इन सभी घटना के चलते भारत- बांग्लादेश सीमा के सीमावर्ती जिले अति संवेदनशील हो गए हैं और भारत के विभिन्न कट्टरपंथी संगठनों के नेता सक्रिय हो गए हैं और प्रेस में बयानबाजी कर रहे हैं। इस पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तत्काल राहत के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए आग्रह किया जा रहा है"।

    अलर्ट में विपक्ष नेता सुवेंदु अधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को लिखे गए पत्र का भी जिक्र किया गया है, जिसमें उन्होंने गृहमंत्री के साथ प्रधानमंत्री मोदी से सनातनी बंगालियों का समर्थन करने के लिए बांग्लादेश सरकार के  साथ राजनयिक तरीके से निपटने का आग्रह किया है।  
    पीएम मोदी को न सिर्फ अधिकारी बल्कि, इस्कॉन के उपाध्यक्ष राधारमण ने भी पत्र लिख कर इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने बांग्लादेश के नोआखली में इस्कॉन भक्तों पर भीड़ द्वारा किए गए हमले  की निंदा भी की।

    हालांकि, इस पर अधिकारियों को किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए संवेदनशील बनाने और कड़ी निगरानी रखने के लिए कहा गया है, अलर्ट में कहा गया है, "यहां यह बताना जरूरी है कि पश्चिम बंगाल में दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन पहले ही शुरू हो चुका है जोकि 18 अक्टूबर तक जारी रहेगा और मुस्लिम त्योहार यानी फतेहा-द्वाज-दहम (नबी दिवस) 18 अक्टूबर और 19 अक्टूबर को आयोजित होने वाला है।"

    और भी...

  • Weather Update: दिल्ली-हरियाणा समेत इन राज्यों में बारिश का अलर्ट, जानें अपने राज्य का हाल

    Weather Update: दिल्ली-हरियाणा समेत इन राज्यों में बारिश का अलर्ट, जानें अपने राज्य का हाल

     

    राजधानी दिल्ली समेत एनसीआर  में मौसम ने करवट लेनी शुरू कर दी है। रविवार से रिमझिम बारिश सोमवार की सुबह तक जारी है। दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, गाजियाबाद, नरेला,  जैसे इलाकों में बादल छाए हुए हैं। 

    मौसम विभाग के मुताबिक, यह बारिश आगे भी जारी रह सकती है। 18 अक्टूबर तक मौसम विभाग ने पहले ही अपडेट किया था। वहीं नोएडा में रविवार रात से बारिश हो रही है। हवाओं ने भी लोगों को ठंड का अहसास करा दिया है। इसके साथ ही लगातार बारिश से तापमान में भी गिरावट आई है। ताजा अपडेट के मुताबिक, 18-19 अक्टूबर को भी उत्तर भारत में बारिश जारी रहेगी। हालांकि, 20 अक्टूबर से दक्षिणी राज्यों में बारिश का एक और दौर होने का अनुमान लगाया गया है।

    इसके अलावा केरल में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी है। अब तक 26 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य के कई जिलों में लगातार बारिश के कारण कई पुल टूट गए। जिससे लोगों का संपर्क टूट गया। साथ ही, भूस्खलन में कम से कम कई घर बह गए हैं।

    और भी...

  • Gujarat: सूरत की एक पैकेजिंग कंपनी में लगी भीषण आग, 125 लोगों को किया गया रेस्क्यू, 2 की मौत

    Gujarat: सूरत की एक पैकेजिंग कंपनी में लगी भीषण आग, 125 लोगों को किया गया रेस्क्यू, 2 की मौत

     

    Gujarat: सूरत (Surat) में आज सुबह यानी सोमवार को एक पैकेजिंग कंपनी में अचानक आग (Fire) लगने से हड़कंप मच गया। इस हादसे में अब तक दो लोगों की मौत होने की जानकारी मिला है। वहीं, रेस्क्यू (Rescue) के दौरान 125 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। मौके पर 10 फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौजूद हैं।

    जानकारी के मुताबिक, कई मजदूर ने आग से बचने के लिए पांच मंजिला इमारत से छलांग लगा ली। अभी भी लोगों को फैक्ट्री से बाहर निकालने का काम जारी है। इस पर बारडोली डिवीजन के डीएसपी रूपल सोलंकी ने  बताया कि  कडोदरा के वारेली  में आज तड़के एक पैकेजिंग फैक्ट्री में आग लग गई। जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। अब तक 125 लोगों को बचाया लिया गया है।

    बता दें कि कंपनी में अचानक आग लगने से आग लपटें तेजी से चारों तरफ फैल गईं। डर के मारे मजदूरों अपनी जान बचाने के लिए 5वीं मंजिल से कूद गए। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने तुरंत कर्मचारियों को हाइड्रोलिक लिफ्ट से नीचे उतारा। फिलहाल, आग पर काबू पाने की पूरी कोशिश की जा रही है। अभी तक आग लगने के कारणों की पता नहीं चल पाया है। 
     

    और भी...

  • Poonch Encounter पर बड़ा दावा, मुठभेड़ में आतंकवादियों के साथ पाकिस्तानी सेना कमांडर भी थे शामिल?

    Poonch Encounter पर बड़ा दावा, मुठभेड़ में आतंकवादियों के साथ पाकिस्तानी सेना कमांडर भी थे शामिल?

     

    Jammu kashmir:  एलओसी (LOC) इलाकों से लगातार आतंकवादियों की घटना और मुठभेड़ की खबरें सामने आ रही हैं। इस बीच एक मीडिया रिपोर्ट में पूंछ (Poonch Encounter) को लेकर दावा किया गया है कि सुरक्षाबल और स्थानीय पुलिस लगातार आतंकवादियों से लड़ रहे हैं लेकिन आतंकवादियों को ट्रेनिंग पाकिस्तान के कमांडो ने दी है। पुंछ के सुरनकोट जंगल में ऑपरेशन के दौरान दो जवानों की शहादत के बाद अब तक 9 जवान शहीद हो चुके हैं। इस मुठभेड़ के दौरान अभी तक किसी भी आतंकवादी के मारे जाने की जानकारी नहीं मिली है। न ही कोई शव बरामद किया गया है। अभी भी कई इलाकों में भारी घेराबंदी और भारी गोलाबारी के बावजूद कम से कम 9 से 10 किलोमीटर के इस जंगल में मुठभेड़ जारी है।

    बता दें कि नियंत्रण रेखा के पास पुंछ के डेरा वाली गली इलाके में 10 अक्टूबर की रात आतंकियों से पहली मुठभेड़ में एक जेसीओ(JOC)  समेत पांच जवान शहीद हुए थे। इसके बाद गुरुवार को आतंकियों की तलाश में नर खास जंगलों में गए सेना के एक दल पर आतंकियों ने हमला कर दिया। इसमें दो भारतीय जवान शहीद हो गए और एक जेसीओ समेत दो अन्य जवान लापता हो गए। दो दिन के कड़े ऑपरेशन के बाद उनके शव बरामद किए गए।

    पाकिस्तान को लेकर बड़ा दावा
    सूत्रों के मुताबिक सुरक्षाबलों से बचने के लिए आतंकवादी करीब 8 दिनों से लड़ रहे हैं। उन्हें पाकिस्तानी सेना के कमांडो ने ट्रेनिंग दी है। सेना को शक है कि पुंछ एनकाउंटर मे आतंकियों के साथ पाकिस्तानी कमांडो भी शामिल हो सकते हैं। लेकिन ये हमें तब ही पता चलेगा जब वह मारे जाएंगे।

    गौरतलब है कि ये एनकाउंटर 10 अक्टूबर 2021 की रात पुंछ में शुरू हुआ था। इस एनकाउंटर की शुरुआत में ही एक जेसीओ समेत सेना के 5 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद सेना और स्थानीय पुलिस ने मिलकर पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया, लेकिन आतंकी सुरक्षाबलों को चकमा देकर भागने में सफल रहे। इसके बाद 14 अक्टूबर को पुंछ के नर खास के जंगलों में सुरक्षाबलों ने आतंकियों को घेर लिया था। सर्च ऑपरेशन के दौरान सेना के करीब  4 जवान लापता हो गए। इनमें से 2 के शव शुक्रवार को बरामद किए गए और 2 शव शनिवार को मिले। इसके बाद अब सेना और पुलिस ने मिलकर जंगल में एक लंबा सर्च ऑपरेशन शुरू किया है।

    और भी...

  • MP: लखीमपुर और छत्तीसगढ़ के बाद एक बार फिर भोपाल में सनकी कार ने भीड़ को कुचला, कई लोग घायल

    MP: लखीमपुर और छत्तीसगढ़ के बाद एक बार फिर भोपाल में सनकी कार ने भीड़ को कुचला, कई लोग घायल

     

    मध्य प्रदेश (MadhyaPardesh) ​: लखीमपुर खीरी और छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के पत्थलगांव में दुर्गा विसर्जन के दौरान कार से लोगों को कुचलने का मामला अभी तक शांत भी नहीं हुआ था कि राजधानी भोपाल से एक और कार से कुचलने जाने का मामला सामने आ गया। जिसमें दुर्गा विसर्जन के दौरान एक कार ने भीड़ को कुचल दिया। इस घटना में एक बच्चा कार के पहिंए के नीचे आने से घायल हो गया। यह मामला भोपाल रेलवे स्टेशन के पास बजरिया तिराहे के करीब का है, जहां शनिवार-रविवार की रात दुर्गा विसर्जन के लिए भीड़ जमा हुई थी। ऐसे में एक सनकी कार ने बैक गियर लगाकर भीड़ को टक्कर मार दी। जिसमें 4-5 लोग घायल हो गए।

    इस हादसे का वीडियो भी बनाया गया है। जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें एक कार बैक गियर में तेजी से पीछे जाती है और पीछे खड़े सभी लोगों को टक्कर मार देती है। इस हादसे में एक बच्चा कार के नीचे आ गयी है और बुरी तरह घायल हो गया। इस पर पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कार चालक हादसे के बाद मौके से फरार हो गया। घायल बच्चे की पहचान 16 वर्षीय रोशन महावर के रूप में की गई है।

    मामले में भोपाल डीआईजी (DIG) इरशाद वली ने कहा कि इस हादसे में गंभीर रूप से घायल बच्चे को अस्पताल में भेज दिया गया है, और उसे छुट्टी भी मिल गई है। वहीं दो अन्य घायलों की भी पहचान हो गई है। जिनमें एक का नाम चेतन साहू और दूसरे का नाम सुरेंद्र सेन है। उन्हें मामूली चोटें आईं। ये सभी घायल भोपाल के चांदबाद इलाके के रहने वाले हैं।

     

    और भी...

  • Jammu Kashmir: सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकवादियों ने दो गैर कश्मीरियों को मारी गोली, मौके पर हुई मौत

    Jammu Kashmir: सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकवादियों ने दो गैर कश्मीरियों को मारी गोली, मौके पर हुई मौत

     

    आतंकवाद  (Terrorist) का सफाया करने के लिए जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में  भारतीय सुरक्षाबलों  (Security Force) द्वारा  बीती 8 अक्टूबर से अलग-अलग इलाकों में सर्च ऑपरेशन (Search Operation) चलाया जा रहा है। ऐसे में उन्हें कई जगह मुठभेड़ का भी सामना करना पड़ा रहा है। इसी बीच जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों ने दो गैर कश्मीरियों की हत्या भी कर दी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीनगर और पुलवामा जिलों में शनिवार को आतंकवादियों ने दो गैर स्थानीय लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। मरने वालों की पहचान श्रीनगर में बिहार के रेहड़ी वाले और पुलवामा में यूपी के एक मजदूर के रूप में की गई है।

    पुलिस ने मुताबिक, शनिवार शाम बिहार के बांका जिले के निवासी अरविंद कुमार साह की श्रीनगर स्थित ईदगाह के पास एक पार्क के बाहर आतंकवादियों ने गोली मार दी थी। उसके बाद साह की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, पुलवामा जिले में उत्तर प्रदेश के मूल निवासी और पेशे से बढ़ई सगीर अहमद की आतंकवादियों ने गोली मार दी। जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।
     

    और भी...

  • कांग्रेस अध्यक्ष फिर बन सकते है राहुल गांधी, सभी नेताओं ने की मांग

    कांग्रेस अध्यक्ष फिर बन सकते है राहुल गांधी, सभी नेताओं ने की मांग

     

    कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद यह तय हो गया है कि पार्टी की कमान अभी करीब एक साल तक सोनिया गांधी के हाथ ही रहेगी। पार्टी ने अध्यक्ष पद के लिए अगले साल अगस्त-सितंबर में चुनाव कराने का फैसला किया है। कांग्रेस के संगठन महासिचव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष का चुनाव 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच होगा। हालांकि, बैठक के दौरान लगभग सभी नेताओं ने राहुल गांधी को ही दोबारा अध्यक्ष बनाए जाने की मांग की। खुद राहुल गांधी ने भी इस विचार करने की बात कही है। ऐसे में यह तय माना जा रहा है कि 2019 लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद पद त्यागने वाले राहुल ही 2024 चुनाव में भी पार्टी की अगुआई करेंगे।

    वहीं, पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि हम पार्टी में ऊपर से लेकर नीचे तक सभी के लिए एक व्यापक प्रशिक्षण कार्यक्रम करने जा रहे हैं। जिसमें सभी स्तर के पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को पार्टी की विचारधारा और नीतियों की ट्रेनिंग दी जाएगी। मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कांग्रेस पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी नेताओं ने एकसुर में राहुल गांधी को दोबारा अध्यक्ष बनाने की मांग की है। राहुल गांधी ने भी कहा है कि वह इस पर विचार करेंगे।

    वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी में सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं के लिए एक व्यापक प्रशिक्षण शुरू किया जाएगा। सभी स्तरों पर कार्यकर्ताओं और नेताओं को पार्टी की विचारधाराओं, नीतियों, एक कांग्रेस कार्यकर्ता की अपेक्षाओं, जमीनी स्तर पर संदेश भेजने, वर्तमान सरकार की विफलता और प्रचार का मुकाबला करने में प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके अलावा केसी वेणुगोपाल ने कहा कि हमने बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए  हैं। राजनीतिक स्थिति, मुद्रास्फीति और तीव्र कृषि संकट और भारत के किसानों पर हो रहे हमले पर हमारा स्टैंड साफ है। हम सरकार की नाकामियों को जनता के समक्ष लाते रहेंगे और आम लोगों के हितों की रक्षा के लिए सदैव तत्पर रहेंगे।  


    वेणुगोपाल ने कहा कि सीडब्ल्यूसी ने फैसला किया है कि कांग्रेस 14-29 नवंबर के बीच मूल्य वृद्धि पर देश भर में बड़ा जन आंदोलन करेगी। वहीं, इससे पहले सोनिया गांधी ने सीडब्ल्यूसी की बैठक में साफ किया कि मैं ही कांग्रेस की अध्यक्ष हूं और हर फैसले मैं ही लेती हूं। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी के अंदर अध्यक्ष को लेकर सवाल उठने लगे हैं। जी-23 के सदस्य कपिल सिब्बल ने पार्टी अध्यक्ष को लेकर सवाल किया था कि पार्टी के फैसले कौन ले रहा है, ये तो पता होना चाहिए।

    और भी...

  •  आतंकियों के निशाने पर गैर-कश्मीरी, श्रीनगर में बिहार के और पुलवामा में यूपी के व्यक्ति की हत्या

    आतंकियों के निशाने पर गैर-कश्मीरी, श्रीनगर में बिहार के और पुलवामा में यूपी के व्यक्ति की हत्या

     

    जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर गैर कश्मीरियों को निशाना बनाकर हमले हुए हैं। आतंकवादियों ने श्रीनगर के ईदगाह इलाके में बिहार के एक गोलगप्पे वाले की गोली मारकर हत्या कर दी है तो पुलवामा में यूपी के रहने वाले सागीर अहमद की जान ले ली है। आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने इसकी पुष्टि की है।

    बिहार के बांका के रहने वाले अरविंद कुमार को आतंकियों ने श्रीनगर के ईदगाह इलाके में गोली मार दी। हमले में अरविंद की मौत हो गई है। कुछ देर बाद ही पुलवामा में यूपी के सहारनपुर के रहने वाले मजदूर सागीर अहमद को गोली मार दी।  

    पाकिस्तानी साजिश के मुताबिक, हाल ही में आतंकियों ने कई गैर-मुस्लिम और गैर-कश्मीरी लोगों की जान ली है। 5 अक्टूबर को श्रीनगर में बिहार के एक रेहड़ी वाले की हत्या कर दी गई थी। सितंबर में कुलगाम के नेहामा इलाके में आतंकियों ने बिहार के एक मजदूर की हत्या कर दी थी।

    इसी महीने आतंकियों ने 8 नागरिकों की हत्या कर दी है। इनमें से 5 अल्पसंख्यक समुदाय से हैं और 6 हत्याएं ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीगर में हुई हैं। पिछले सप्ताह श्रीनगर के एक सरकारी स्कूल के अंदर महिला प्रधानाध्यापक और एक शिक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। प्रमुख कश्मीरी पंडित और श्रीनगर की सबसे प्रसिद्ध फार्मेसी के मालिक माखन लाल बिंदू की गोली मारकर हत्या कर दी गई। एक 'चाट' विक्रेता, बिहार के वीरेंद्र पासवान और एक अन्य नागरिक, मोहम्मद शफी लोन की भी आतंकियों ने जान ले ली थी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 2021 में अब तक कुल 30 नागरिकों को आतंकवादियों ने मार गिराया है।

    और भी...

  • Rave Party क्या है, कब हुई इसकी शुरुआत, जानिए इस पार्टी में क्या-क्या होता है

    Rave Party क्या है, कब हुई इसकी शुरुआत, जानिए इस पार्टी में क्या-क्या होता है

     

    आप सभी को पता होगी की हाल ही में  शाहरुख खाने के बेटे आर्यन खान को मुंबआ से गोवा जा रहे क्रूज में चल रही ड्रग्स पार्टी मामले में एनसीबी ने गिरफ्तार किया है। इस मामले के आने के बाद देशभर में रेव पार्टी की जमकर चर्चा हो रही है। लोग जानना चाहते हैं, आखिर रेव पार्टी होती है क्या और  इसमें क्या-क्या होता है तो आइए हम बताते हैं यहां...

    रेव पार्टी क्या है, कब हुई शुरुआत?
    यूरोपियन कंट्रीज में 60 के दशक में होने वाली पार्टियां शराब और शवाब तक सीमित थी, लेकिन 80 के दशक में इसका स्वरूप बदलने लगा और इसने रेव पार्टी का रूप ले लिया। 90 के दशक के शुरुआत में कई देशों में रेव पार्टियां होने लगी।‘रेव’ शब्द की बात करें तो मौज-मस्ती से भरी जोशीली महफिलों को रेव कहा जाता है।

    मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अमेरिकी कानून विभाग का एक दस्तावेज बताता है कि 80 के दशक की डांस पा​र्टीज से ही रेव पार्टी की शुरुआत हुई। डांस पार्टी, रेव पार्टी में तब्दील होने लगी। इसमें म्यूजिक तकनीक, शौक और ड्रग्‍स वगैरह जुड़ते चले गए और रेव पार्टियों की लोकप्रियता बढ़ती गई।

    भारत में रेव पार्टियों शुरुआत
    भारत में रेव पार्टियों का चलन गोवा से शुरू हुआ। हिप्पियों ने गोवा में इसकी शुरुआत की थी। पिछले कुछ सालों में हिमाचल की कुल्लू घाटी, बेंगलुरु, पुणे, मुंबई, हैदराबाद, कोलकाता, चेन्नई समेत कई शहर रेव हॉटस्पॉट के रूप में उभरे हैं।

    जानें रेव पार्टियों में आखिर क्या-क्या होता है
    रेव पार्टियों में डांस, मस्ती, धमाल, शराब, शवाब, बेरोकटोक हर बात की छूट होती है। ये पार्टियां रात-रात भर चलती हैं। इन पार्टियों में जाने वाले लोगों से फीस के तौर पर मोटा पैसा लिया जाता है। इन पार्टियों में भीतर लाउड साउंड में संगीत बजते रहते हैं और युवा मस्ती में चूर होते हैं। खाना-पीना, ड्रिंक्स, शराब, सिगरेट वगैरह के अलावा कोकीन, हशीश, चरस, एलएसडी, मेफेड्रोन, एक्‍सटसी जैसे ड्रग्‍स का इंतजाम रहता है।

    मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कुछ रेव पार्टियों में सेक्स के लिए 'चिल रूम्‍स' भी होते हैं। एनसीबी के अधिकारियों की मानें तो रेव पार्टियां केवल पार्टी सर्किट से जुड़े हुए कुछ चुनिंदा लोगों के लिए आयोजित की जाती हैं। नए लोगों को इन पार्टियों में आने की इजाजत नहीं होती। सीक्रेसी का पूरा ध्यान रखा जाता है। ड्रग लेने और बेचने वालों के लिए यह एक सुरक्षित जगह होती है।                        

    एक निजी चैनल ने अपनी रिपोर्ट में एनसीबी के एक अधिकारी के हवाले से लिखा है कि रेव पार्टियां केवल पार्टी सर्किट से जुड़े हुए कुछ चुनिंदा लोगों के लिए आयोजित की जाती हैं। नए लोगों को इन पार्टियों में आने की इजाजत नहीं होती। सीक्रेसी का पूरा ध्यान रखा जाता है। ड्रग लेने और बेचने वालों के लिए यह एक सुरक्षित जगह होती है। अधिकारी के मुताबिक रेव पार्टियों में बड़ी मात्रा में ड्रग्स लिया जाता है। रेव पार्टियां 24 घंटे से लेकर तीन दिनो तक चलती हैं।      

    और भी...

  • दिल्ली : CWC की बैठक जारी, राहुल गांधी समेत कई नेता मौजुद, जानें किन मुद्दों पर होगी चर्चा

    दिल्ली : CWC की बैठक जारी, राहुल गांधी समेत कई नेता मौजुद, जानें किन मुद्दों पर होगी चर्चा

     

    दिल्ली स्थित AICC दफ़्तर में कांग्रेस वर्किंग कमेटी(CWC) की बैठक शुरू हो गई है। बैठक में लखीमपुर हिंसा, पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव और पार्टी के नए अध्यक्ष के चुनाव को लेकर चर्चा की जाएगी। इस बैठक के लिए हाल ही में गुलाम नबी आजाद ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी,  सिद्धू के इस्तीफे के बाद इस बैठक को अहम माना जा रहा है। बैठक में राहुल गांधी और सोनिया गांधी समेत पार्टी के कई वरिष्ट नेता मौजूद हैं। 

    किन मुद्दों पर होगी चर्चा?

    सूत्रों के मुताबिक कार्यसमिति की बैठक में लखीमपुर खीरी, किसानों के मुद्दे और अन्य मामलों पर केंद्र और योगी सरकार को घेरने के अलावा कांग्रेस के नए अध्यक्ष और संगठन के चुनाव पर चर्चा की जाएगी। इसी दौरान चुनाव समिति को भी चुनाव समय पर तय कराने के निर्देश भी दे दिये जा सकते हैं, लेकिन हो सकता है कि आगामी विधानसभा चुनावों के चलते संगठन का चुनाव अगले साल कराया जाए। माना जा रहा है कि हो सकता है कि सीडब्ल्यूसी की इस बैठक में कांग्रेस के नये अध्यक्ष के चुनाव को लेकर पार्टी के आला कमान कोई तारीख या रूपरेखा को तय कर सकते हैं।


    पार्टी ने यह फैसला 22 जनवरी को CWC की बैठक में किया था कि जून 2021 तक कांग्रेस में एक निर्वाचित अध्यक्ष होगा, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के कारण 10 मई की सीडब्ल्यूसी बैठक में इसे टाल दिया गया था। यह बैठक अब ऐसे समय हो रही है जब सुष्मिता देव, जितिन प्रसाद, लुईजिन्हो फालेरियो और कई अन्य नेता पिछले कुछ महीनों में दल बदला है।

     

    और भी...

  • Chhatisgarh: रायपुर रेलवे स्टेशन पर खड़ी एक ट्रेन में धमाका, 6 CRPF  जवान घायल, एक की हालत गंभीर

    Chhatisgarh: रायपुर रेलवे स्टेशन पर खड़ी एक ट्रेन में धमाका, 6 CRPF जवान घायल, एक की हालत गंभीर

     

    छत्तीसगढ़: राजधानी रायपुर रेलवे स्टेशन खड़ी ट्रेन में अचानक धमाका होने की खबर सामने आई है। इस धमाके में CRPF  के करीब 6 जवान घायल हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक यह ब्लास्ट सुबह करीब 6 बजे हुआ था।

    इस स्पेशल ट्रेन में सीआरपीएफ की 211वीं बटालियन के जवान जम्मू जा रहे थे। तभी अचानक से ग्रेनेड (जो की एक डमी कारतुस के डबे में रखा था) ट्रेन की बोगी में रखती ही फट गया। इस हादसे के बाद एक हवलदार की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। घटनास्थल पर सीआरपीएफ के आला अधिकारी पहुंच चुके हैं।

     

    बता दें कि इससे पहले 17 जून को भी इसी तरह सिकंदराबाद से दरभंगा जंक्शन पहुंची सिकंदराबाद दरभंगा एक्सप्रेस की पार्सल वैन से उतारे गए रेडीमेड कपड़े के पैकेट में धमाका हुआ था। उस वक्त ट्रेन दिन में 1:18 बजे प्लेटफार्म नंबर दो पर रुकी हुई थी। उसके बाद पार्सल वैन से सामानों का पैकेट उतारा जाने लगा। इस दौरान अचानक से 3:25 बजे रेडीमेड कपड़ों के पैकेट में से एक में विस्फोट हुआ। इस पार्सल ब्लास्ट का  'पाकिस्तान कनेक्शन' भी सामने आया था।

    और भी...

  • Poonch Encounter: आतंकियों के साथ मुठभेड़ में एक JCO समेत दो जवान शहीद

    Poonch Encounter: आतंकियों के साथ मुठभेड़ में एक JCO समेत दो जवान शहीद

     

    Jammu Kashmir: पुंछ (poonch) जिले के मेंढर सब-डिविजन में शुक्रवार को आतंकियों के खिलाफ चल रहे ऑपरेशन के दौरान भिम्बर गली में एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर (JCO) समेत दो जवान शहीद हो गए। शहीदों में से एक सिपाही रैंक का है। इसकी जानकारी भारतीय सेना की तरफ से दी गई है। इस घटना के बाद अब तक शहीद हुए जवानों की संख्या कुल मिलाकर सात हो गई है। आंतंकियों के खिलाफ यह ऑपरेशन 11 अक्टूबर से लगातार जारी है।

    इससे पहले, इसी ऑपरेशन के दौरान एक जेसीओ समेत पांच जावान पुंछ रजौरी के थाना मंडू में शहीद हो गए थे। उस समय अधिकारियों ने बताया था कि पुंछ के सुरनकोट इलाके में डेरा की गली (DKG) के पास एक गांव में आतंकवादियों ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी थी, जिसमें सैनिक शहीद हो गए। अधिकारियों के अनुसार, सेना और पुलिस ने यह संयुक्त अभियान नियंत्रण रेखा पार कर भारत में दाखिल हुए आतंकवादियों की जानकारी मिलने के बाद शुरू किया था।

    मंगलवार को पुलिस ने बताया कि सुरक्षा बलों पर हमला करने वाले आतंकवादी करीब दो से तीन महीने से पुंछ जिले रह रहे थे। बता दें कि पिछेल कुछ दिनों में जम्मू-कश्मीर में आतंकी वारदातों में तेजी आई है। वहीं, सुरक्षाबलों ने भी सिर्फ दो हफ्ते में करीब 10 आतंकियों को ढ़ेर किया है। सुरक्षाबलों ने बुधवार को ही पुलवामा के त्राल इलाके में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के शीर्ष कमांडर शम सोफी को मार गिराया था।

    और भी...

  • Singhu Border: बैरिकेड पर  हाथ काटा लटका मिला शव, आंदोलनकारियों में मचा हड़कंप

    Singhu Border: बैरिकेड पर हाथ काटा लटका मिला शव, आंदोलनकारियों में मचा हड़कंप

     

    सिंघु बार्डर (Singhu Border)  पर जारी किसान आंदोलन के दौरान एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक युवक की बेरहमी से हत्या कर दी गई। जानकारी के मुताबिक, युवक के हाथ काटकर शव को बैरिकेड से लटकाया गया। शव मिलने के बाद से ही सिंघु बार्डर पर हड़कंप मचना शुरू हो गया। शुरुआत में तो पुलिस को भी आंदोलनकारी मुख्य मंच के पास नहीं जाने दे रहे थे। हालांकि, बाद में कुंडली थाना पुलिस द्वारा शव को बैरिकेड से उतारा गया और सिविल हॉस्पिटल में भेजा गया।

    बता दें कि सुबह-सुबह सिंघु बार्डर पर आंदोलनकारियों के मंच के पास लगे बैरिकेड पर एक युवक का शव लटका मिला। युवक की उम्र करीब 35 वर्ष होगी। मृतक के शरीर पर किसी धारदार हथियार से हमले के निशान मिले हैं। मृतक के हाथ को कलाई से काट दिया गया है।  इस हत्या का आरोप निहंगों पर लगाया जा रहा है।

    गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध में किसन दिल्ली, हरियाणा और यूपी की अलग-अलग सीमाओं पर धरना दे रहे हैं। इस धरने को शुरू हुए 9 महीने से ज्यादा का समय बीत चुका है। किसानों की समस्या को सुलझाने के लिए किसान संगठनों और सरकार के बीच कई मीटिंग्स भी हुईं, लेकिन अभी तक कोई समाधन सामने नहीं आया हैय़। इस पर किसानों का कहना है कि वे तब तक सीमा से नहीं हटेंगे जब तक कृषि कानूनों की वापसी न हो जाए। वहीं, सरकार भी कृषि कानूनों को वापस न लेने पर अड़ीग है। सरकार का कहना है कि कानून वापस नहीं होगा, लेकिन इसमें बदलाव किये जा सकते हैं।

    और भी...

  • अमित शाह की पाकिस्तान को चेतावनी, नहीं सुधरे तो होगी सर्जिकल स्ट्राइक

    अमित शाह की पाकिस्तान को चेतावनी, नहीं सुधरे तो होगी सर्जिकल स्ट्राइक

     

    सीमा पर आई दिन कुछ ना कुछ हरकतें करने वाले पाकिस्तान को केंद्रीय गृहमंत्री ने खुली चेतावनी दी है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि अगर पाकिस्तान ने उल्लंघन बंद नहीं किया और कश्मीर में आम नागरिकों की हत्याओं का खेल बंद नहीं किया तो उसपर फिर से सर्जिकल स्ट्राइक किया जा सकता है। पाकिस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक की याद दिलाते हुए अमित शाह ने कहा, ' सर्जिकल स्ट्राइक से साबित हो चुका है कि हम हमले बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर आप उल्लंघन करेंगे तो और भी सर्जिकल स्ट्राइक होंगे।'

    आपको बता दें कि पाकिस्तान पोषित आतंकवाद जम्मू-कश्मीर में फिर से जड़े जमाने की कोशिश कर रहा है। हाल के दिनों में कायर आतंकवादियों ने घाटी में कई निर्दोष लोगों की जान ले ली। इसके अलावा आतंकियों ने सेना पर भी हमला किया था। पड़ोसी मुल्क की शह पर आतंकियों के इस खूनी खेल के बाद इस वक्त पूरा देश उबल रहा है।

    कई लोग इन आतंकवादियों पर करारा प्रहार करने की मांग कर रहे हैं। घाटी में देश की सेना ने आतंकवादियों को जबरदस्त चोट भी दी है। सेना ने घेर-घेर कर आतंकियों को मौत की नींद सुलाने का अभियान चला रखा है। दिल्ली और अन्य राज्यों से कुछ आतंकियों को जिंदा भी पकड़ा गया है जिसके बाद इन आतंकवादियों के कबूलनामे से पाकिस्तान की पोल-पट्टी पूरी दुनिया में खुल गई है।

    और भी...