देश

  • पुणे: हॉस्पिटल में भर्ती अरुण शौरी से पीएम मोदी ने लिया हालचाल

    पुणे: हॉस्पिटल में भर्ती अरुण शौरी से पीएम मोदी ने लिया हालचाल

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पुणे के रूबी हॉल क्लिनिक में भर्ती पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी से मुलाकात की और उनका हाल जाना, इस मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने कहा, मैंने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी जी से पुणे में मुलाकात की। उनके स्वास्थ्य के बारे में जाना, उनके साथ शानदार बातचीत हुई. हम उनके लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करते हैं।

    बता दें कि राफेल सौदे को लेकर शौरी ने मोदी सरकार की खुलेआम आलोचना की थी और इस मुद्दे पर बेहद मुखर रहे थे। डॉक्टर ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया था कि उनकी हालत में तेजी से सुधार हो रहा है। वह बातचीत कर रहे हैं और समय पर ठीक से खाना भी खा रहे हैं।

    डॉक्टर ने बताया था, शौरी के मस्तिष्क में चोट आई थी। इसमें आंतरिक रक्तस्राव और मस्तिष्क में सूजन भी था। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राज्यसभा सांसद शौरी 1999-2004 के दौरान पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली तत्कालीन सरकार में केंद्रीय संचार, सूचना प्रौद्योगिकी एवं विनिवेश मंत्री थे। रमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित शौरी ने 1967-1978 के दौरान विश्व बैंक के साथ एक अर्थशास्त्री के रूप में भी काम किया है।

    और भी...

  • दिल्ली आग हादसा:इमारत के मालिक रेहान और मैनेजर फरकान गिरफ्तार, इन धाराओं के तहत मामला दर्ज

    दिल्ली आग हादसा:इमारत के मालिक रेहान और मैनेजर फरकान गिरफ्तार, इन धाराओं के तहत मामला दर्ज

     

    दिल्ली की रानी झांसी रोड पर स्थित अनाज मंडी में रविवार को लगी आग के मामले में इमारत के मालिक रेहान को गिरफ्तार किया गया है। इस अग्निकांड में 43 लोगों की मौत हो गई है। पुलिस ने बिल्डिंग के मालिक पर भारतीय दंड संहिता की धारा 304, गैर इरादतन हत्या और धारा 285, आग या ज्वलनशील पदार्थ के संदर्भ में लापरवाही के तहत मामला दर्ज किया है।

    दिल्ली पुलिस ने रेहान के मैनेजर फरकान को भी गिरफ्तार कर लिया है। अभी तक इस मामले में 2 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इसके अलावा रेहान के दोनों भाई शान और इमरान को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। दिल्ली पुलिस की डीसीपी नॉर्थ मोनिका भारद्वाज ने बताया, बिल्डिंग के मालिक रेहान और उसके मैनेजर फुरकान को गिरफ्तार किया गया है। घटना की जांच जारी है। मामले की जांच क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर की गई है।

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये देने का एलान किया है। घायलों को 1-1 लाख रुपये की मदद दी जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर दुख जताते हुए मृतकों के परिवारों के लिए 2-2 लाख रुपए और घायलों के लिए 50-50 हजार रुपए का मुआवजा देने का एलान किया है।

    और भी...

  • गृह मंत्री अमित शाह कल लोकसभा में पेश करेंगे नागरिकता संशोधन विधेयक, ये है विधेयक

    गृह मंत्री अमित शाह कल लोकसभा में पेश करेंगे नागरिकता संशोधन विधेयक, ये है विधेयक

     

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सोमवार को लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश करेंगे। इस विधेयक के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है। लोकसभा में सोमवार को होने वाले कार्यों की सूची के मुताबिक गृह मंत्री दोपहर में विधेयक पेश करेंगे।

    बिल में 6 दशक पुराने नागरिकता कानून में संशोधन की बात है। पेश होने के बाद बिल पर चर्चा होगी और पारित कराया जाएगा। इस विधेयक के कारण पूर्वोत्तर के राज्यों में भारी प्रदर्शन हो रहे हैं और काफी संख्या में लोग और संगठन विधेयक का विरोध कर रहे हैं।

    विरोध प्रदर्शन करने वालों का कहना है कि इससे असम समझौता 1985 के प्रावधान निरस्त हो जाएंगे जिसमें बिना धार्मिक भेदभाव के अवैध शरणार्थियों को वापस भेजे जाने की अंतिम तिथि 24 मार्च 1971 तय है। नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 के मुताबिक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के कारण 31 दिसम्बर 2014 तक भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध शरणार्थी नहीं माना जाएगा बल्कि उन्हें भारतीय नागरिकता दी जाएगी।

    और भी...

  • साध्वी प्राची का विवादित बयान, नक्सलवाद, आतंकवाद, बलात्कार को बताया नेहरू खानदान की देन

    साध्वी प्राची का विवादित बयान, नक्सलवाद, आतंकवाद, बलात्कार को बताया नेहरू खानदान की देन

     

    अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाली विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने एक बार फिर भड़काऊ बयान दिया है। साध्वी प्राची ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि नक्सलवाद, आतंकवाद, बलात्कार यह सब नेहरू खानदान की देन है।

    एक निजी कार्यक्रम में मेरठ पहुंची साध्वी प्राची ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को खरी-खोटी सुनाई। प्राची ने कहा कि नक्सलवाद, आतंकवाद, बलात्कार ये सब नेहरू खानदान की देन है। बता दें कि देश में हाल की रेप की घटनाओं पर प्रतिक्रिया देते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि भारत रेप कैपिटल के रूप में विकसित हो रहा है। राहुल गांधी के इस बयान के बाद साध्वी प्राची ने अब ये विवादित बयान दिया है।

    साध्वी प्राची ने हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर के चार आरोपियों के एनकाउंटर पर हैदराबाद पुलिस की तारीफ की और कहा कि हैदराबाद पुलिस से सीख लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस को भी उन्नाव कांड पर ऐसी ही कार्रवाई करनी चाहिए थी। साध्वी ने उन्नाव कांड के दोषियों को सख्त सजा देने की मांग की है।

    और भी...

  • उन्नाव केस: प्रशासन के मनाने के बाद किया गया पीड़िता का अंतिम संस्कार

    उन्नाव केस: प्रशासन के मनाने के बाद किया गया पीड़िता का अंतिम संस्कार

     

    अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पूरी कर पीड़िता का शव दफना दिया गया है। स्वामी प्रसाद मौर्य और मंत्री कमल रानी वरुण उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के अंतिम संस्कार में पहुंची। वहीं कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने बताया कि परिवार में एक लोग को उचित नौकरी, परिवार की मांग पर शस्त्र लाइसेंस और मुख्यमंत्री से मिलवाने का वादा किया। फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमे की सुनवाई का भी आश्वासन दिया। जिसके बाद परिवार पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार करने के लिए मान गया।

    शव दफनाने से पहले पीड़िता के अंतिम संस्कार की प्रशासनिक तैयारियों के बीच मृतका की बहन ने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री आदित्यनाथ मौके पर नहीं आते और कड़ी कार्रवाई का आश्वासन नहीं देते, तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। पीड़िता की बहन ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री से खुद बात करनी है। उसने यह भी कहा कि उसकी बहन की सरकारी नौकरी लगने वाली थी।

    पीड़िता की बहन ने कहा कि परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जानी चाहिए और घटना के जिम्मेदार आरोपियों को तत्काल फांसी दी जानी चाहिए। पीड़िता के पिता ने भी कहा कि जब तक मुख्यमंत्री खुद नहीं आते, वह अपनी लड़की का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।

    और भी...

  • दिल्ली आग हादसा: पीएम मोदी ने जताया दुख, घटना को बताया भयानक

    दिल्ली आग हादसा: पीएम मोदी ने जताया दुख, घटना को बताया भयानक

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के अनाज मंडी क्षेत्र में आग लगने की घटना पर दुख जताते हुए उसे बेहद भयानक बताया। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, दिल्ली के रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी क्षेत्र में आग लगने की घटना बेहद भयानक है। मृतकों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। मैं घायलों के जल्द सेहतमंद होने की कामना करता हूं। उन्होंने लिखा, घटनास्थल पर अधिकारी हर संभव मदद मुहैया करा रहे हैं।

    पुलिस के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी स्थित एक फैक्ट्री में रविवार सुबह आग लगने से 43 लोगों की जान चली गई है। इनमें से ज्यादातर की मौत दम घुटने से हुई है। बता दें, दिल्ली सरकार ने आग की घटना में जांच के आदेश देते हुए 7 दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी है। केजरीवाल सरकार ने मृतकों के परिवार को 10-10 लाख का और घायलों को 1-1 लाख रुपए मुआवजा देने का एलान किया है। केजरीवाल ने कहा कि घायल लोगों की इलाज का खर्चा दिल्ली सरकार उठाएगी।

    पुलिस ने बताया कि एक आवासीय इलाके में चल रही फैक्ट्री में आग लगने के समय 59 लोग अंदर थे। मृतकों और झुलसे लोगों को विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया है। दिल्ली फायर ब्रिगेड के एक अधिकारी ने बताया कि आग लगने की जानकारी सुबह पांच बजकर 22 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 30 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। जिस फैक्ट्री में आग लगी है, वो 600 गज में फैली है और वहां स्कूल बैग पैकेजिंग का काम होता है।

    और भी...

  • दिल्ली आग हादसा: केजरीवाल ने किया मुआवजा देने का एलान और7 दिन में मांगी रिपोर्ट

    दिल्ली आग हादसा: केजरीवाल ने किया मुआवजा देने का एलान और7 दिन में मांगी रिपोर्ट

     

    दिल्ली में रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी स्थित एक फैक्ट्री में रविवार सुबह आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई और कई लोग झुलस गए। इस घटना पर अफसोस जाहिर करते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये बहुत बड़ा हादसा है। अभी तक कारणों का पता नहीं चल पाया है। मामले की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

    दिल्ली सरकार ने आग की घटना में जांच के आदेश देते हुए 7 दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी है। केजरीवाल सरकार ने मृतकों के परिवार को 10-10 लाख का और घायलों को 1-1 लाख रुपए मुआवजा देने का एलान किया है। केजरीवाल ने कहा कि घायल लोगों की इलाज का खर्चा दिल्ली सरकार उठाएगी।

    पुलिस ने बताया कि एक आवासीय इलाके में चल रही फैक्ट्री में आग लगने के समय 59 लोग अंदर थे। मृतकों और झुलसे लोगों को विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया है। दिल्ली फायर ब्रिगेड के एक अधिकारी ने बताया कि आग लगने की जानकारी सुबह पांच बजकर 22 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 30 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। जिस फैक्ट्री में आग लगी है, वो 600 गज में फैली है और वहां स्कूल बैग पैकेजिंग का काम होता है।

    और भी...

  • CM योगी के आने से पहले नहीं होगा उन्नाव रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार, परिवार अड़ा

    CM योगी के आने से पहले नहीं होगा उन्नाव रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार, परिवार अड़ा

     

    गैंगरेप पीड़िता के घरवाले इस जिद पर अड़े हैं कि मुख्यमंत्री आएंगे तभी अंतिम संस्कार करेंगे। वह पीड़िता की बहन को सरकारी नौकरी देने की मांग कर रहे थे। सुबह से ही तमाम लोगों की भीड़ पिता के दरवाजे पर जमा होने लगी है। शनिवार की रात पीड़िता का शव घर पर पहुंचा तो कोहराम मच गया। पूरी रात घरवाले जागते रहे। प्रशासन ने पीड़ित परिवार को रात को ही अंतिम संस्कार करने का आग्रह किया। श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद समेत तमाम प्रशासनिक अमला बिहार थाने में रात को डटा रहा। पीड़ित परिवार अंतिम संस्कार के लिए तैयार नहीं हुआ।

    पिता का कहना था कि एक बेटी पुणे में रहती है वह सुबह तक आ जाएगी तभी बेटी का अंतिम संस्कार करेंगे। रविवार की सुबह से ही सुमेरपुर मोड़ से लेकर वीरता के घर तक करीब 2 किलोमीटर पुलिस सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। आईजी जोन डीएम एसपी समेत तमाम अफसर मौके पर सुबह ही डर गए। प्रशासन ने पीड़ित परिवार से अंतिम संस्कार करने को कहा तो उन्होंने पहले बेटी के आने फिर बाद में मुख्यमंत्री के आने की बात कही। पीड़ित परिवार का कहना था कि बेटी के साथ अत्याचार हुआ है।

    सूबे के मुख्यमंत्री यहां आएं और उनकी हकीकत देखें उसके बाद ही वह अंतिम संस्कार करेंगे। पीड़ित परिवार कहना था कि उनके परिवार की माली हालत बहुत ही खराब है। वह छोटी बेटी के नौकरी की भी मांग कर रहे थे। प्रशासनिक अफसर पीड़िता परिवार को समझाने में लगे हैं। प्रशासन का कहना है कि पीड़ित परिवार अपने खेत में ही पीड़िता को दफन करेगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है पीड़ित परिवार के अनुमति मिलते ही अंतिम संस्कार कराया जाएगा।

    और भी...

  • दिल्ली के रानी झांसी रोड की अनाज मंडी में लगी भीषण आग, 43 लोगों की मौत

    दिल्ली के रानी झांसी रोड की अनाज मंडी में लगी भीषण आग, 43 लोगों की मौत

     

    दिल्ली के अनाजमंडी इलाके में रविवार तड़के लगी भीषण आग में अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि संकरी गलियों में स्थित पैकेजिंग और बैग बनाने वाली फैक्ट्री में शार्ट सर्किट होने से आग लगी। दिल्ली पुलिस के अनुसार, इनमें से अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने से हुई है। मरने वाले अधिकतर लोग यूपी और बिहार के बताए जा रहे हैं।

    अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि आग लगने की जानकारी सुबह पांच बजकर 22 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 30 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। उन्होंने बताया कि आवासीय इलाके में चलाई जा रही फैक्ट्री में आग लगने के समय 50 से अधिक लोग थे। दमकल के अधिकारियों ने बताया कि आग के कारण फंसे कई लोगों को बाहर निकालकर आरएमएल अस्पताल एवं हिंदू राव अस्पताल ले जाया गया है। 

    बता दें कि आग बिल्डिंग की छठी मंजिल पर लगी थी, जिसके कारण लोग नीचे नहीं उतर पाए। बिल्डिंग में जो जिस जगह पर था, वो वहीं फंसा रह गया। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने बताया कि इस बिल्डिंग में पैकिंग का काम किया जाता था। बिल्डिंग के अंदर संकरी जगह होने के कारण लोगों को भागने में ज्यादा दिक्कत हुई। इस वजह से करीब 50 प्रतिशत लोग आग की चपेट में आ गए।

    और भी...

  • CM उद्धव की PM मोदी से पहली मुलाकात, एयरपोर्ट पर स्वांगत के लिए पहुंचे

    CM उद्धव की PM मोदी से पहली मुलाकात, एयरपोर्ट पर स्वांगत के लिए पहुंचे

     

    पुणे: मुख्यमंत्री बनने के बाद उद्धव ठाकरे पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार शाम को पुणे हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया। इसके बाद दोनों नेता एक कार्यक्रम में भी शामिल हुए। इस कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद थे। पिछले महीने ठाकरे द्वारा भाजपा से रिश्ता खत्म करने और कांग्रेस एवं राकांपा के समर्थन से महाराष्ट्र में शिवसेना की अगुवाई वाली सरकार का गठन करने के बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात थी।

    प्रधानमंत्री पुणे में हो रहे पुलिस महानिदेशकों और महानिरीक्षकों के राष्ट्रीय सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। राज्य सरकार के अधिकारियों के अनुसार प्रधानमंत्री की अगवानी करने के बाद ठाकरे मुम्बई रवाना हो गये। केंद्रीय मंत्री अमित शाह, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस ने भी हवाई अड्डे पर मोदी का अभिवादन किया।

    और भी...

  • उन्नाव रेप पीड़िता ने रात 11: 40 पर तोड़ा दम

    उन्नाव रेप पीड़िता ने रात 11: 40 पर तोड़ा दम

     

    नई दिल्ली: आग के हवाले की गई उन्नाव की रेप पीड़िता की मौत हो गई है। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था जहां कल रात 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई। डॉक्टरों के मुताबिक कल रात साढ़े आठ बजे उसकी हालत अचानक बिगड़ने लगी। लाइफ सपोर्ट पर तो डॉक्टरों ने उसे पहले ही रख रखा था लेकिन उन्नाव की रेप पीड़ित को बचाया नहीं जा सका। वो मरना नहीं चाहती थी। मरने से पहले पुलिस और परिवार को सामने उसने आखिरी ख्वाहिश भी रखी थी। वो उन्हें फांसी पर चढ़ते देखना चाहती थी। डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद उसकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ और 11:40 पर उसका निधन हो गया.

    अस्पताल के बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया, ‘हमारे बेहतर प्रयासों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका. शाम में उसकी हालत खराब होने लगी. रात 11 बजकर 10 मिनट पर उसे दिल का दौरा पड़ा. हमने बचाने की कोशिश की लेकिन रात 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई.’

    अस्पताल सूत्रों ने बताया कि पीड़िता के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल के फोरेंसिक विभाग को सौंप दिया गया है.  इसके बाद उसका शव उसके परिवार को दे दिया जाएगा. शव वो दोपहर बार उन्नाव ले जाया जाएगा.

    हालांकि 90 प्रतिशत से भी ज्यादा जल चुकी यूपी की इस 'निर्भया' ने आखिरी वक्त तक भी हार नहीं मानी थी. गुरुवार रात 9 बजे तक वह होश में थी. जब तक होश में थी कहती रही- मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत. फिर नींद में चली गई, डॉक्टरों ने पूरी कोशिश की, वेंटिलेटर पर रखा लेकिन वो नींद से नहीं उठी. और फिर ..... दुनिया छोड़ कर चली गई. न्याय की जंग लड़ते-लड़ते एक और निर्भया जिंदगी की जंग हार गई.

    सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने शुक्रवार सुबह 11 बजे बयान जारी कर कहा था कि पीड़िता के बचने के चांस बहुत कम हैं. उसकी बिगड़ती हालत को देखते हुए वेंटीलेटर पर रखा गया था. कहा जा रहा था कमर के नीचे के दो अंदरूनी अंगों ने काम करना बंद कर दिया था.

    डॉक्टरों को सबसे ज्‍यादा डर संक्रमण फैलने का था. डर भी सही साबित हुआ, पीड़िता के शरीर में तेजी से संक्रमण फैला जिसे रोकना मुमकिन नहीं रहा. डॉक्टरों ने इस बात की जानकारी पहले ही दी थी कि यदि पीड़िता के शरीर में संक्रमण फैल गया तो फिर उसे कंट्रोल करना बहुत मुश्किल होगा. बताया जा रहा है कि बर्न केस में ज्यादातर मरीज की मौत संक्रमण फैलने के चलते हो जाती है.

    आरोपियों के जलाने के बाद उन्नाव (Unnao) से लखनऊ और फिर एयरलिफ्ट कर दिल्ली (Delhi) के सफदरजंग अस्पताल में करवाया गया था भर्ती, 90 प्रतिशत से ज्यादा जल चुकी थी रेप पीड़िता, गुरुवार रात 9 बजे तक होश में थी, कहती रही- मुझे जलाने वालों को किसी भी हाल में मत छोड़ना.

    और भी...

  • रेप आरोपियों का एनकाउंटर, देश ने कहा मिला इंसाफ

    रेप आरोपियों का एनकाउंटर, देश ने कहा मिला इंसाफ

     

    राजन शर्मा

    वैसे ये कहना गलत नहीं होगा कि आज का दिन भारतवासी दिवाली के रुप में मना रहे है। पटाखें जलाएं गए, मिठाईयां बांटी गई आपस में एक-दूसरे को गले लगाकर बधाईयां दी, यूं लगा मानों किसी रावणरुपी राक्षस का अंत हुआ हो ।

    जी हां आज जैसे ही  सुबह न्यूज चैनलों ने हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपियों के एनकाउंटर में मारे जाने की खबर ब्रेक की लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई। लोगों की खुशी न्यूज चैनलों पर दी जी रही बाईट से साफ देखी जा सकती थी। खासकर महिलाओं के चेहरे पर खुशी और उनके जोश से दिए जा रहे वकतव्यों से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता था कि उन्हें कितने हर्ष की अनुभुति हो रही हैं।

    दरअसल ये खुशी स्वभाविक इसलिए भी थी जिस तरह से पिछले कुछ दिनों देश में बलात्तकार की घटनाएं घट रही थी उसे लेकर लोगों में काफी रोष था। समाज में निरंतर यह गुस्सा पनप रहा था की इन घटनाओं में सलिंप्त अपराधियों को जल्द से जल्द सख्त सजा दी जाएं। शायद उसी का नतीजा है हैदराबाद एनकांउटर, जैसे ही लोगों को आज ये ज्ञात हुआ कि गैंगरेप के चारों आरोपी को तेलंगाना पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है देशवासी खुशी से झुम उठे।

    पीड़िता के पिता ने भावुक होते हुए कहा मेरी बेटी की आत्मा को अब जरूर शांति मिली होगी। उनकी आंखों में आंसु थे, उन्होनें कहा मैं पुलिस और सरकार को इसके लिए आभार जताता हूं।

    बता दें कि हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में 27 नवंबर की रात को चार ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर ने मिलकर महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और जलाकर मारने जैसे अपराध को अंजाम दिया था। इस घटना के बाद से दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की मांग को लेकर देश भर में प्रदर्शन हो रहे थे।

    लोगों की खुशी उस समय दोगुनी हो गई जब ये खबर आई की निर्भया केस के एक दोषी विनय वर्मा की दया याचिका जिसे की राष्ट्रपति के पास भेजा माफी के लिए भेजी गया है गृह मंत्रालय ने उस याचिका को खारिज करने की सिफारिश की है। राष्ट्रपति के याचिका खारिज करते ही निर्भया केस के सभी आरोपियों को सजा दिए जाने का रास्ता साफ हो जाएगा।

    याद रहे की 16 दिसंबर, 2012 को दक्षिणी दिल्ली के मुनीरका में एक प्राइवेट बस में अपने एक दोस्त के साथ चढ़ी 23 साल की पैरा मेडिकल छात्रा के साथ एक नाबालिग सहित छह लोगों ने चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म किया गया था।

    इसके बाद गंभीर रूप से घायल पीड़िता और उसके पुरुष साथी को चलती बस से महिपालपुर में बस से नीचे फेंक दिया गया था। पीड़िता का इलाज पहले सफदर जंग अस्पताल में चला, उसके बाद तत्कालीन शीला दीक्षित सरकार ने बेहतर इलाज के लिए उसे विशेष विमान से सिंगापुर भेजा था, जहां वारदात के 13वें दिन उसने दम तोड़ दिया था।

    इस दुष्कर्म कांड ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। छह आरोपियों में से एक नाबालिग था, जिसे रिमांड होम भेजा गया था, वहीं एक अन्य आरोपी ने तिहाड़ जेल में खुद को फांसी लगा ली थी।

    और भी...

  • महिला सुरक्षा पर राष्ट्रपति कोविंद का बड़ा बयान, कहा पॉक्सो एक्ट में नहीं मिले दया याचिका का अधिकार

    महिला सुरक्षा पर राष्ट्रपति कोविंद का बड़ा बयान, कहा पॉक्सो एक्ट में नहीं मिले दया याचिका का अधिकार

     

    महिला सुरक्षा को लेकर महामहीम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा एक गंभीर मुद्दा है, पॉक्सो एक्ट के तहत सज़ा पाए दुष्कर्म के अपराधियों को दया याचिका का अधिकार नहीं मिलना चाहिए। राष्ट्रपति ने कहा कि इस बारे में कानून संशोधन का काम संसद को करना होगा, लेकिन सबकी सोच इसमें एक होनी चाहिए।

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को राजस्थान के सिरोही में एक कार्यक्रम में ये बात कही। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में 27 नवंबर को महिला डॉक्टर से गैंगरेप और उसे जलाकर मारने के चारों आरोपियों का पुलिस ने आज एनकाउंटर कर दिया। जानकारी के मुताबिक पुलिस चारो आरोपियों को वारदात की जगह ले जा रही थी, जहां इन लोगों ने पुलिस का हथियार छीन कर फायरिंग की और भागने की कोशिश की, इसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया।

    इस घटना के बाद पीड़िता के पिता और उसकी बहन मीडिया के सामने आए और कहा, आज हम सरकार और पुलिस के शुक्रगुजार हैं। पीड़िता की बहन ने कहा है कि आज हमारे साथ न्याय हो गया है। आज जो हुआ है वह अपराधियों के लिए एक उदाहरण है। वहीं पिता ने कहा है कि हमें 10 दिन बाद आखिरकार न्याय मिल गया। आज हमारी बच्ची को इंसाफ मिल गया है।

    और भी...

  • निर्भया केस: दोषी विनय वर्मा की दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेजी गई, गृह मंत्रालय ने की ये सिफारिश

    निर्भया केस: दोषी विनय वर्मा की दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेजी गई, गृह मंत्रालय ने की ये सिफारिश

     

    निर्भया गैंगरेप केस के एक दोषी विनय वर्मा की दया याचिका राष्‍ट्रपति के पास भेज दी गई है। गृह मंत्रालय ने याचिका को खारिज करने की सिफारिश की है। राष्‍ट्रपति के ऐसा करते ही सभी दोषियों की फांसी का रास्‍ता साफ हो जाएगा। 16 दिसंबर, 2012 को दक्षिणी दिल्ली के मुनीरका में एक प्राइवेट बस में अपने एक दोस्त के साथ चढ़ी 23 साल की पैरा मेडिकल छात्रा के साथ एक नाबालिग सहित छह लोगों ने चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म और लोहे के रॉड से क्रूरतम आघात किया गया था।

    इसके बाद गंभीर रूप से घायल पीड़िता और उसके पुरुष साथी को चलती बस से महिपालपुर में बस से नीचे फेंक दिया गया था। पीड़िता का इलाज पहले सफदर जंग अस्पताल में चला, उसके बाद तत्कालीन शीला दीक्षित सरकार ने बेहतर इलाज के लिए उसे विशेष विमान से सिंगापुर भेजा था, जहां वारदात के 13वें दिन उसने दम तोड़ दिया था।

    इस दुष्कर्म कांड ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। छह आरोपियों में से एक नाबालिग था, जिसे रिमांड होम भेजा गया था, वहीं एक अन्य आरोपी ने तिहाड़ जेल में खुद को फांसी लगा ली थी।

    और भी...

  • पीएम मोदी ने कहा, हम देश को वादों की राजनीति की बजाए कामकाज की राजनीति की तरफ ले जा रहे

    पीएम मोदी ने कहा, हम देश को वादों की राजनीति की बजाए कामकाज की राजनीति की तरफ ले जा रहे

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में एक समिट में कहा कि अनुच्छेद 370 को निरस्त करने का निर्णय राजनीतिक रूप से कठिन लग सकता है लेकिन इस फैसले ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों में विकास की नई उम्मीद जगाई है। उन्होंने कहा कि चुनाव आते ही रेलों की, किसानों की मुआवजे की घोषणा हुआ करती थी। हम देश को वादों की राजनीति की बजाए कामकाज की राजनीति की तरफ ले जा रहे हैं।

    हम पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ देशवासियों के बेहतर भविष्य के लिए देश में मौजूद हर संसाधन का उपयोग करने की कोशिश कर रहे हैं। भारत पूरे विश्वास के साथ अपनी अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए जुटा हुआ है। यह लक्ष्य अर्थव्यवस्था के साथ ही 1309 करोड़ भारतीयों की औसत आय, इज ऑफ लिविंग और उनके बेहतर कल से जुड़ा है।

    मोदी ने नागरिकता संशोधन विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि अपने देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा।

    प्रधानमंत्री मोदी ने समिट में नागरिकता संशोधन विधेयक के संदर्भ में कहा, पड़ोसी देशों से आए सैकड़ों परिवार जिन्हें भारत में आस्था थी जब इनकी नागरिकता का रास्ता खुलेगा तो उससे उनका बेहतर भविष्य सुनिश्चित होगा। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी।

    और भी...