पंजाब

  • Jalandhar: पुलिस ने दो महिलाओं को गाड़ी से रौंदा, एक की मौत

    Jalandhar: पुलिस ने दो महिलाओं को गाड़ी से रौंदा, एक की मौत

     

    पंजाब: जालंधर (Jalandhar) में आज यानी सोमवार को एक पुलिस अधिकारी की गाड़ी ने दो महिलाओं को गाड़ी से रौंद दिया। जिसमें से एक महिला ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि दूसरी गंभीर रूप से घायल बताई जा रही है। घटना के बाद पीड़ितों के परिवारों ने न्याय की मांग कर रहा है। ऐसे में पीड़ितों के परिजनों ने न्याय की गुहार लगाते हुए राजमार्ग को जाम कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। 

    दरअसल, जालंधर-फगवाड़ा हाईवे पर धनोवली के पास  एक तेज रफ्तार पुलिस की गाड़ी ने दो महिलओं को कुचल डाला। घटना के समय दोनों महिलाएं सड़क किनारे खड़ी थीं, तभी पुलिस की गाड़ी आई और उनको रौंद दिया। दोनों महिलाओं में से एक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरे को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया है फिलहाल उसका इलाज जारी है। 

    बता दें कि मृतक महिला की पहचान जालंधर के धनोवली निवासी नवजोत कौर के रूप में की गई है। महिला एक कार शो रूम में काम किया करती थी और आज सुबह वह अपनी दोस्त के साथ हाईवे पार करने के लिए ही सड़क के किनारे खड़ी थी, तभी एक तेज रफ्तार कार ने उन्हें कुचल दिया। हादसे के तुरंत बाद नवजोत की मौके पर ही मौत हो गई। पीड़ित परिवार ने न्याय की मांग करते हुए अब हाईवे जाम कर दिया है।

    जिससे इलाके में ट्रैफिक जाम की स्थिती पैदा हो गई है। पुलिस लगातार प्रदर्शनकारियों को हाईवे से हटाने और उन्हें शांत करने की कोशिश में जुटी हुई है। इस बीच, मौके पर पहुंचे एसीपी बलविंदर इकबाल सिंह काहलो (ACP Balwinder Iqbal Singh Kahlo) ने कहा है कि उन्हें घटना का CCtv फुटेज मिल गया है जिसके बाद मामले की जांच तेज कर दी गई है। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

    और भी...

  • Punjab Congress: सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, इन 13 मुद्दों पर खींचा पार्टी का ध्यान

    Punjab Congress: सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, इन 13 मुद्दों पर खींचा पार्टी का ध्यान

     

    पंजाब  में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव  की तैयारियों के बीच नवजोत सिंह सिद्धू  ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है। जिसमें पंजाब से जुड़े 13 मुद्दों को उठाया। सिद्धू ने 13 मुद्दों पर पार्टी की सक्रियता को जरूरी बताया है। इसके साथ ही सिद्धू ने सोनिया गांधी से मुलाकात का वक्त भी मांगा है।

    जानकारी के लिए बता दें कि दो दिन पहले ही सिद्दू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष की कमान संभालने की वापसी की। वहीं राहुल गांधी से मुलाकात भी की थी। जिसके बाद सिद्धू ने कहा था कि वह कमान संभाल रहे हैं। सभी मुद्दों का समाधान हो चुका है। चन्नी के सीएम बनते ही कुछ फैसलों को लेकर नवजोत ने कांग्रेस राज्य इकाई के पद से इस्तीफा दे दिया था।

    और भी...

  • Punjab: सीएम चन्नी ने केजरीवाल पर बोला हमला, कहा उद्योगपतियों से झूठे वादे कर उन्हें मूर्ख रहे बना

    Punjab: सीएम चन्नी ने केजरीवाल पर बोला हमला, कहा उद्योगपतियों से झूठे वादे कर उन्हें मूर्ख रहे बना

     

    पंजाब (Punjab) में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में पार्टियों में निशानेबाजी शुरू हो गई है। चन्नी ने 2022 के पंजाब चुनाव से पहले केजरीवाल द्वारा उद्योगपतियों को किये जा रहे वादे को लेकर उन पर हमला किया है।  मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (CM Charanjit Singh Channi) ने आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की आलोचना करते हुए कहा कि वह राज्य में 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले उद्योगपतियों से लंबे-चौड़े वादे कर उन्हें मूर्ख बना रहे हैं।

    सीएम चन्नी केजरीवाल बताया अवसरवादी-

    चन्नी ने केजरीवाल को एक अवसरवादी बताते हुए कहा कि पंजाब चुनाव में इस तरह का राजनीति से प्रेरित कदम से आप संयोजक को कोई फायदा नहीं मिलगा। सीएम चन्नी ने आगे कहा कि केजरीवाल बाहरी हैं। उनका राज्य के विकास और कल्याण से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। उनकी नजर सिर्फ वोट बैंक पर टिकी हुई है।

    केजरीवाल पर ब्रह्म मोहिंद्रा का हमला -

    इसी के साथ संसदीय कार्य मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने भी केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि “राज्य में लालफीताशाही को कम करने के लिए एक कानून लागू किया जा चुका है। मैं आपको उसकी (पंजाब लालफीताशाही रोधी अधिनियम, 2021) की एक प्रति भेज रहा हूं”। वहीं चन्नी ने कहा कहा कि राज्य में कोई गुंडा टैक्स नहीं लिया जाता जैसा कि केजरीवाल ने अपने भाषण के दौरान दावा किया है।

    और भी...

  • BSF के अधिकारों को लेकर भिड़े कैप्टन अमरिंदर और CM चन्नी

    BSF के अधिकारों को लेकर भिड़े कैप्टन अमरिंदर और CM चन्नी

     

    भारत (Bharat) में पाकिस्तान और बांग्लादेश (Pakistan and Bangladesh) के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा लगने वाले राज्य असम, पश्चिम बंगाल और पंजाब के अंदर सीमा सुरक्षा बल (BSF) की शक्ति को बढ़ाई गई है। इसके मुताबिक, इन राज्यों के अंदर 50 किमी की सीमा तक बीएसएफ को गिरफ्तारी, तलाशी और जब्ती करने का अधिकार होगा। गृह मंत्रालय (Home Minister) द्वारा इस आदेश का पारित किया है।

    उन्होंने कहा कि सीमा पार से हाल ही में ड्रोन गिराए जाने ने बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में इस विस्तार को प्रेरित किया है। इस फैसले पर पंजाब में एक बार फिर से राजनीतिक माहौल गर्म हो गया है। पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) एक-दूसरे पर जवाबी हमला किया है। जहां अमरिंदर ने केंद्र के इस फैसले का स्वागत किया है तो वहीं सीएम चन्नी ने केंद्र सरकार के इस फैसले पर जहां सवाल उठाए हैं।

    सीएम चन्नी ने कहा कि मैं बीएसएफ को अतिरिक्त अधिकार देने के सरकार के इस फैसले की कड़ी निंदा करता हूं, जो संघवाद पर सीधा हमला है। मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस तर्कहीन फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह करता हूं। बता दें कि पहले पंजाब बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ का दायरा 15 किलोमीटर तक ही होता था जिससे बढ़ाकर 50 किलोमीटर कर दिया गया है। कांग्रेस और टीएमसी ने भी साधा निशाना कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी कहा कि केंद्र का फैसला 'संवैधानिक व्‍यवस्‍था पर अतिक्रमण करता है' और 'आधे से ज्‍यादा पंजाब अब बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में आ जाएगा। पश्चिम बंगाल के यातायात मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के नेता फिरहाद हकीम ने कहा कि केंद्र सरकार 'देश के संघीय ढांचे का उल्‍लंघन' कर रही है।

    और भी...

  • आज KC Venugopal से सिद्धू करेंगे मुलाकात, संगठनात्मक मामलों पर होगी चर्चा

    आज KC Venugopal से सिद्धू करेंगे मुलाकात, संगठनात्मक मामलों पर होगी चर्चा

     

    Punjab: कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धु (Navjot Singh Sidhu) दिल्ली में पार्टी के जनरल सेक्रेटरी केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) से गुरुवार को मुलाकात करेंगे। इसके दौरान वह हरीश रावत (Harish Rawat) से भी मिलेंगे। यह जानकारी खुद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोशल मीडिया के जरिए दी है।

    बता दें कि यह मीटिंग नवजोत सिंह सिद्धू और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बीच 28 सितंबर के बाद पहली बार होने जा रही है। जब उन्होंने सोशल मीडिया पर अपना इस्तीफा पोस्ट किया था और कहा था कि वह पंजाब के भविष्य और उसके कल्याण के एजेंडे को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकते। जैसे ही सिद्धू ने ट्वीट किया। तभी से पंजाब कांग्रेस में हल-चल मचनी शुरू हो गई, जो थमने का नाम नहीं ले रही है।

    हरिश रावत ने ट्वीट के जरिए दी जानकारी

    कांग्रेस नेता हरीश रावत ने अपने ट्वीट के जरिए जानकारी देते हुए लिखा- 'पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत 14 अक्टूबर को मीटिंग के लिए दिल्ली आ रहे हैं। यहां जनरल सेक्रेटरी केसी वेणुगोपाल कार्यालय में कुछ संगठनात्मक मामलों पर जरूरी चर्चा की जाएगी। वह मुझसे और केसी वेणुगोपाल दोनों से मुलाकात करेंगे।"

     

     

    और भी...

  • Punjab Mission: जालंधर में Arvind Kejriwal का बीजेपी-कांग्रेस पर हमला

    Punjab Mission: जालंधर में Arvind Kejriwal का बीजेपी-कांग्रेस पर हमला

     

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने अपने पंजाब (Punjab) मिशन की शुरूआत बेड़े ही जोरों शोरों के साथ शुरू कर दी है। इसी सिलसिले में पंजाब के दो दिवसीय दौर पर पहुंचे सीएम केजरीवाल ने आज यानी बुधवार को जालंधर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पंजाब में हमारी सरकार बनने के बाद हम राज्य के हर शख्स को नौकरी देंगे। 

    गुंडा टैक्स और वसूली करेंगें खत्म- सीएम केजरीवाल

    अरविंद केजरीवाल ने जालंधन के टाउन हॉल में व्यापारियों और उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए कहा कि हम पंजाब की बेरोजगारी को दूर करेंगे, लेकिन मुझे इसके लिए यहां के व्यापारियों और उद्योगपतियों की मदद चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि मैं यहां के व्यापारियों से कहना चाहता हूं कि हमारी पार्टी के सत्ता में आने के बाद गुंडा टैक्स और वसूली को पूरी तरह से खत्म कर देंगे।

    सीएम केजरीवाल कांग्रेस को तंज करते हुए कहा कि, ‘’यहां हर इंडस्ट्री के पार्टनर मंत्री बन गए हैं। हम ये सारा धंधा खत्म करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘’इस निर्णय अब यहां के व्यापरियों को ही लेना है। हमारी सरकार आपके साथ पार्टनरशिप करेगी और लोगों को रोजगार देगी। हमारी सरकार जितना बढ़ावा छोटे व्यापारियों को देगी, उतना ही बढ़ावा छोटे व्यापियों को भी रोजगार देगी।’’

    केजरीवाल ने बनाए अच्छे स्कूल- सांसद भगवंत मान 

    वहीं, केजरीवाल से पहले आप सांसद भगवंत मान ने भी कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में कांग्रेस ने बड़ी ही मज़बूती से अपनी जगह बनाई हुई है। कांग्रेस साल 2015 में भी जीरो थी और साल 2020 में भी जीरो थी। इस दौरान उन्होंने बीजेपी को घेराते हुए कहा कि ‘’BJP हमेशा हिन्दू-मुस्लिम करती रही। जबकि केजरीवाल जी अच्छे स्कूल, अस्पताल, मोहल्ला क्लिनिक और महिला सुरक्षा पर डेट रहे।’’

    और भी...

  • Punjab Assembly Election 2022: दो दिवसीय पंजाब दौरे पर CM  केजरीवाल, ये होगा प्लान

    Punjab Assembly Election 2022: दो दिवसीय पंजाब दौरे पर CM केजरीवाल, ये होगा प्लान

     

    पंजाब के विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) में अब कुछ ही समय रह गया है। चुनावों को लेकर राज्य में राजनीति पूरी तरह गर्मायी हुई है। इन चुनावों में तीसरी बड़ी पार्टी बनकर उभरी आम आदमी पार्टी चुनवों में अपनी पूरी ताकत झोंकते हुए प्रचार-प्रसार में जुटी हुई है। इस चुनाव की सारी भगडोर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरिवाल ने संभाल रखी है। इसी सिलसिले में सीएम केजरीवाल मंगलवार को एक बार फिर पंजाब के दौ दिवसीय दौरे पर जा रहे हैं। 

    पंजाब मामलों के ‘आप’ प्रभारी चड्ढ़ा ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि केजरीवाल मंगलवार दोपहर तीन बजे अमृतसर हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे। वहां पहुंचकर वह शाम छह बजे जालंधर के देवी तालाब मंदिर में पूजा करने जाएंगे। चड्ढ़ा ने बताया कि दोआबा क्षेत्र में स्थित इस मंदिर पर श्रद्धालुओं का काफी विश्वास है। यहां जाने वाले हर श्रद्धालु की कामना पूरी होती है। चड्ढ़ा ने कहा कि नवरात्र के शुभ अवसर पर अरविंद केजरीवाल वहीं शांति, प्यार, परस्पर भाईचारा और पंजाब में समृद्धि के लिए प्रार्थना करेंगे। फिलहाल केजरीवाल के मंदिर दौरे की ही पुष्टि हुई है। चड्ढ़ा ने कहा कि इसके अलावा अगर कोई और कार्यक्रम बनता है तो मीडिया के साथ जानकारी को साझा किया जाएगा। 

    पंजाब के विधानसभा चुनावों पर सीएम केजरीवाल ने लगातार नजर बनाई हुई है। वह लगातार पंजाब का दौरा कर प्रचार प्रसार कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने पूरे राजनीतिक घटनाक्रम पर भी अपनी पैनी नजर बनाई हुई है। आशंका जताई जा रही है कि शायद यही वजह है कि अभी तक ‘आप’ ने पंजाब में अपने सीएम उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया है। हालांकि इस पर पंजाब के नेता का मानना है कि यहां जल्द ही सीएम उम्मीदवार का ऐलान कर देना चाहिए, लेकिन अभी तक पार्टी ने इस पर कोई फैसला नहीं लिया है। 

    और भी...

  • Punjab CM Charanjit Singh Channi: बेटे की शादी की तस्वीरें शेयर, सादे अंदाज में हुई शादी

    Punjab CM Charanjit Singh Channi: बेटे की शादी की तस्वीरें शेयर, सादे अंदाज में हुई शादी

     

    Punjab CM Charanjit Singh Channi: पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी (Punjab CM Charanjit Singh Channi ) के बेटे नवजीत सिंह की शादी की तस्वीरें वायरल हो रही है। हालांकि इस विवाह समारोह में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) की गैरमौजूदगी की काफी चर्चा रही। सिद्धू को जुलाई में पंजाब कांग्रेस की कमान सौंपी गई थी, लेकिन चन्नी के मुख्यमंत्री बनने के बाद कुछ मतभेदों के कारण उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि मानमनौव्वल के बाद उन्होंने अपना त्यागपत्र वापस ले लिया था।  

    मोहाली के एक गुरुद्वारे में चन्नी के बेटे नवजीत की शादी एक सादगी भरे समारोह में हुई। मुख्यमंत्री ने खुद सोशल मीडिया पर इस समारोह की तस्वीरें साझा कीं। कांग्रेस के कई विधायक, सांसद और अन्य नेता समारोह में शामिल हुए। हालांकि पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू की गैरमौजूदगी आश्चर्य का विषय बन गई।

    दोनों नेताओं में तनाव की खबरों के बीच नवजोत सिंह सिद्धू चन्नी के बेटे की शादी में नहीं पहुंचे और इसकी बजाय वैष्णो देवी दर्शन करने गए। सिद्धू ने वैष्णो देवी दर्शन की तस्वीरें साझा करने के साथ ट्वीट किया कि माता के दर्शन के साथ आत्मा के सारे पाप धुल गए।  

    पंजाब के गवर्नर बनवारी लाल पुरोहित, कांग्रेस महासचिव हरीश रावत, डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा, ओपी सोनी, मंत्री मनप्रीत सिंह बादल,परगट सिंह समेत सभी बडे नेता इस वैवाहिक समारोह में उपस्थित दिखे। नवजीत की शादी इंजीनियरिंग ग्रेजुएट सिमरनधीर कौर से हुई है, जो मोहाली जिले के डेरा बस्सी के निकट अमाला गांव की रहने वाली हैं। गुरुद्वारा सच्चा धन में सिख परंपराओं के तहत आनंद कारज की रस्में निभाई गईं।

    और भी...

  • सिद्धू ने खत्म किया अपना अनशन, आशीष मिश्रा के CBI ऑफिस पहुंचने के बाद लिया फैसला

    सिद्धू ने खत्म किया अपना अनशन, आशीष मिश्रा के CBI ऑफिस पहुंचने के बाद लिया फैसला

     

    कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने शनिवार को लखीमपुर खीरी कांड के दौरान जान गंवाने वाले पत्रकार रमन कश्यप के घर पर अपना अनशन खत्म कर दिया है। इस भूख हड़ताल को सिद्धू ने खीरी हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा की क्राइम ब्रांच में पेशी के कुछ देर बाद ही खत्म किया है। इस हिंसा में करीब आठ लोगों की मौत हो गई थी। सिद्धू ने आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शुक्रवार को 'अनिश्चितकालीन अनशन' शुरू किया था। सूत्रों की मानें तो सिद्धू ने मारे गए लोगों के परिवारों से मिलने के दौरान मौन व्रत धारण कर रखा था।

    हिंसा के बाद गुरुवार को सिद्धू ने कहा था, भारत न्याय की मांग कर रहा है। यहां सबूत हैं, वीडियो है। एफआईआर में आरोपियों के नाम है, लेकिन गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है क्योंकि आरोपी(आशीष मिश्रा) एक केंद्रीय मंत्री का बेटा है। यूपी पुलिस की FIR में आशीष मिश्रा को लखीमपुर खीरी हिंसा और मौतों के मामले में हत्या का आरोपी बताया गया है। हालांकि. घटना के करीब एक हफ्ते बाद भी उसे गिरफ्तार नहीं किया गया है।

    आशीष मिश्रा को पहली बार कल क्राइम ब्रांच ने पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन वह आए नहीं। इस पर उनके पिता और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने बाद में खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा था कि आज आशीष सबूत के साथ क्राइम ब्रांच के सामने पेश होंगे। आपराधिक प्रक्रिया संहिता(CRPC) की धारा 160 के तहत आशीष को तलब किए जाने के बाद, आखिरकार आज वह पुलिस एस्कॉर्ट से घिरे पूछताछ के लिए पहुंच गए, जिसका आम तौर पर इस्तेमाल गवाहों के लिए किया जाता है।  

     

     

    और भी...

  • सिद्धू के सीएम चन्नी को तीखे बोल, सीएम की कुर्सी को लेकर आलाकमान से जताई नाराजगी

    सिद्धू के सीएम चन्नी को तीखे बोल, सीएम की कुर्सी को लेकर आलाकमान से जताई नाराजगी

     

    पंजाब के फेमस कांग्रेस नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर पार्टी से नाराजगी जताते हुए पार्टी के खिलाफ बयान दिया है। सिद्धू ने कहा कि अगर मुझे सीएम बनाया जाता तो सक्सेस दिखाता।

    दरअसल पंजाब प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने के बाद सिद्धू ने एक फिर अपनी बयानबाजी तेज कर दी है। इस बार सिद्धू ने सीएम की कुर्सी न देने पर आलाकमान से नाराजगी जताई है। कैप्टन अमरिंदर के इस्तीफे के बाद कांग्रेस आलाकमान ने चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद के लिए चुना था। इस बात को लेकर सिद्धू नाराज है।  

    इतना ही नहीं सिद्धू ने सीएम चन्नी को एक वायरल वीडियो में गुरुवार को अपशब्द भी कहे। इसके साथ ही सिद्धू इस वीडियो ये भी कहते हुए दिखाई दिये कि चन्नी 2022 में कांग्रेस की नैया को डुबो देंगे। ये वायरल वीडियो पंजाब के जीरकपुर का बताया जा रहा है।

    गौरतलब है कि लखीमपुर जा रहे सिद्धू गुरुवार सुबह अपना प्रोटेस्ट मार्च शुरू करने के लिए पंजाब के सीएम चन्नी का इंतजार कर रहे थे, लेकिन जब चन्नी वहां देरी से पहुंचे तो सिद्धू ने अपशब्दों का इस्तेमाल कर चन्नी पर अपना गुस्सा जाहिर किया। हालांकि उसके कुछ ही देर बाद सीएम चन्नी वहां पहुंच गए थे।

    उल्लेखनीय है कि हाल ही में चन्नी सरकार में हो रही नियुक्ति पर नवजोत सिंह सिद्धू ने आपत्ति जताते हुए पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि पार्टी सूत्रों के मुताबिक, इस पद पर सिद्धू पहले की तरह ही बने रहेंगे, क्योंकि उन्हें मना लिया गया है।

    और भी...

  • मुख्यमंत्री चन्नी के आश्वासन के बाद रोडवेज के कच्चे कर्मचारियों ने वापस ली हड़ताल

    मुख्यमंत्री चन्नी के आश्वासन के बाद रोडवेज के कच्चे कर्मचारियों ने वापस ली हड़ताल

     

    पंजाब रोडवेज(Punjab Roadways) पर कच्चे मुलाजिमों ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी(CM Charanjit Singh Channi) से बात करने के बाद हड़ताल वापस ले ली है। मुख्यमंत्री ने मुलाजिमों को फोन पर उनकी मांगों पर जल्द फैसला लेने का आश्वासन दिया है। बता दें कि कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर चार घंटे के लिए बस स्टैंड बंद करने की चेतावनी दी थी।

    दरअसल, कर्मचारियों की मांगें हैं कि पीआरटीसी, पनबस और पंजाब रोडवेज के कच्चे मुलाजिमों को रेगुलर किए जाए, सरकारी बसों के बेड़ में दस हजार नई बसों को शामिल किए जाए और छोटे-छोटे मामलों में जिन कर्मचारियों को निकाल दिया गया है उनको वापस बहाल किया जाए। 

    इन मांगों को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी कर्मचारियों को आश्वासन दिया था, लेकिन मुख्यमंत्री बदलने से एक बार फिर कर्मचारियों की मांगों पर पेंच फंस गया है, इसलिए उन्होंने बुधवार को चार घंटे के लिए के लिए सभी बस अड्डों को बंद करने की चेतावनी दी थी।

    इस पर कर्मचारियों की प्रदेश के परिवहन मंत्री राजा वडिंग के साथ बैठक हुई, जिसके बाद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने यूनियन के नेताओं को फोन पर बातचीत कर उन्हें आश्वासन दिया। जिसके बाद कर्मचारियों ने बस स्टैंड बंद करने का फैसला वापस ले लिया।

    इस पर कानट्रेक्ट वर्कर यूनियन के प्रधान रेशम सिंह गिल ने बताया कि पंजाब रोडवेज, पीआरटीसी और पनबस की करीब दो हजार बसें कच्चे मुलाजिमों के भरोसे ही चल रही हैं। कई सालों से करीब आठ हजार कर्मचारी अपने पक्के किए जाने की मांग कर रहे हैं, इसके बाद भी अब तक उनकी मांगों पर सरकार ने कोई विचार नहीं किया है, यहीं कारण है कि उन्हें अपनी बात मनवाने के लिए आंदोलन का सहारा लेना पड़ा।      

    और भी...

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने पंजाब के मुख्य सचिव से किया आग्रह, कहा किसी को लखीमपुर खीरी न आने दें

    उत्तर प्रदेश सरकार ने पंजाब के मुख्य सचिव से किया आग्रह, कहा किसी को लखीमपुर खीरी न आने दें

     

    लखीमपुर खीरी में किसान आंदोलन के दौरान चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत का मामला अब तूल पकड़ता दिख रहा है। घटना के बाद से जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार ने पंजाब के मुख्य सचिव को चिट्ठी कर आग्रह किया है कि पंजाब से किसी को भी लखीमपुर खीरी ना आने दिया जाए। यह चिट्ठी उत्तर प्रदेश की तरफ से पंजाब को लखीमपुर में हिंसा को बढ़ने से रोकने के उद्देश्य से लिखा गया है।

    बता दें कि लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों के प्रदर्शन के दौरान केंद्रीय मंत्री के बेटे की गाड़ी ने किसानों को रौंद दिया था, जिसमें चार किसानों समेत कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी। घटने के बाद सभी नेता लखीमपुर खीरी जाने की जद्दोजहद में लगे हुए है। इस दौरान प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है। यही कारण है कि हंगामे के कारण नोएडा पुलिस ने डीएनडी पर बैरिकेड्स लगा दिये है। बैरिकेड्स लगाने  के कारण सोमवार को डीएनडी पर करीब 4-5 किमी लंबा जाम लगा है।

     

    और भी...

  • सिद्धू ने चन्नी सरकार पर साधा निशाना, AD-DG के इस्तीफे की मांग पर अड़े

    सिद्धू ने चन्नी सरकार पर साधा निशाना, AD-DG के इस्तीफे की मांग पर अड़े

     

    पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके नवजोत सिंह सिद्धू ने अब अपनी ही सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। सिद्धू ने सीएम चरणजीत सिहं चन्नी से नए AD-DG की नियुक्तियों को बदलने की मांग करते हुए चेतावनी दी है कि अगर ऐसा नहीं किया, तो हम अपना चेहरा दिखाने लायक नहीं रहेगें।

    उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया कि हमारी सरकार धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी के मामलों में, न्याय और ड्रग्स के मामलों में मुख्य आरोपियों को सजा दिलाने के लिए आई थी। लेकिन विफल होने के कारण जनता ने कैप्टन को सीएम पद से हटा दिया। उसी तरह अब नए AD-DG की नियुक्ति पीड़ितों के जख्मों पर नमक मलने जैसा काम कर रही हैं। इन्हें बदलना चाहिए, नहीं तो हम किसी को चेहरा दिखाने के लायक नहीं रहेंगे।

     

     

    क्या है धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी मामला?

    दरअसल, 2015 में पंजाब में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का मामला सामने आया था, जिसके खिलाफ में पंजाब में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हुए थे। इस दौरान अक्टूबर 2015 को पंजाब के कोटकपूरा चौक और कोटकपूरा बठिंडा पर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों की भीड़ पर पंजाब पुलिस ने गोलियां बरसा दी थीं। इस पूरे हंगामे में करीब दो लोगों की मौत हो गई थी, जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

    यही वो मुद्दा था जिसपर कांग्रेस ने अकाली दल और भाजपा गठबंधन की सरकार को जमकर घेरा था। इसका फायदा कांग्रेस को 2017 के चुनावों में मिला, और अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में पंजाब में सरकार बनी।
     

    किस मुद्दे पर सिद्धू और चन्नी में विवाद

    सिद्धू चन्नी सराकरा में की गई नियुक्तियों की वजह से नाराज हैं। जब से एडवोकेट जनरल और डीजीपी की नियुक्ति हुई है तब से सिद्धू उनको हटाने पर अड़े हैं। इस मामले में उन्होंने मुख्यमंत्री चन्नी के साथ बैठक भी की थी। लेकिन चन्नी ने सिद्धी की बात मानने से मना कर दिया।
    हालांकि, पंजाब सरकार ने सिद्धू को संतुष्ट करने के लिए गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामलों और उसके बाद प्रदर्शनकारियों पर हुई फायरिंग के मामलों की पैरवी करने के लिए स्पेशल पब्लिक प्रोसिक्यूटर भी बनाया है।

     

     

     

    और भी...

  • CM चन्नी का किसानों को लेकर बड़ा ऐलान, आरपीएफ को रेलवे ट्रैक से जुड़े केस वापस लेने का दिया आदेश

    CM चन्नी का किसानों को लेकर बड़ा ऐलान, आरपीएफ को रेलवे ट्रैक से जुड़े केस वापस लेने का दिया आदेश

     

    पंजाब में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने शनिवार को कई बड़ा ऐलान किये। सीएम ने आरपीएफ द्वारा रेलवे ट्रैक पर धरने को लेकर किसानों पर दर्ज केस को वापस लेने का आदेश दिया है। सीएम चन्नी ने आरपीएफ चेयरमैन को चिट्ठी लिखकर जल्द से जल्द किसानों पर दर्ज केस को वापस लेने को कहा है। जानकारी के मुताबिक यह केस किसानों पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान रेल रोकने के कारण किया गया था।

    इसी के साथ सीएम ने आशीर्वाद स्कीम से कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता को खो चुकी लड़कियों के लिए इनकम लिमिट को हटाने के ऐलान के साथ-साथ 2004 की शुरुआत के बाद से सरकारी नौकरी में चुने हुए कर्मचारियों के लिए फैमिली पेंशन स्कीम को भी मंजूरी दे दी है।

    सीएम ने बिजली बिल किया माफ

    सीएम ने इससे पहले किसानों का बिजली बिल माफ करने का वादा किया था। अपने वादे के मुताबिक चन्नी ने पहली कैबिनेट बैठक में 2 किलो वाट तक बिजली बिल माफ करने करने की घोषणा की है। चन्नी ने कहा कि पंजाब में 2 किलोवाट कनेक्शन धारकों का बकाया बिजली बिल माफ किया किया जाएगा। इसके अलावा जिन लोगों का कनेक्शन काट गया है, उनको नया कनेक्शन दिया जाएगा। इससे 53 लाख परिवारों को लाभ भी मिल सकेगा।

    बता दें कि सीएम चन्ने ने अपनी पहली कॉन्फ्रेंस में कहा था कि पंजाब सरकार के किसानों के साथ है। पंजाब के किसानों को हम कमजोर नहीं होने देंगे। मैं किसानों के लिए कुछ भी कर सकता हूं। अगर किसानों पर एक आंच भी आई तो मैं अपनी गर्दन भी कटवा सकता हूं। मैं किसानों के लिए अपना सब कुछ न्योछावर करने के लिए तैयार हूं। इसी के साथ उन्होंने केंद्र सरकार से कृषि कानून को वापस लेने की भी मां की थी।

     

     

     

    और भी...

  • Navjot Singh Sidhu आज करेंगे मुख्यमंत्री चन्नी से मुलाकात, 3 बजे पंजाब भवन में मीटिंग

    Navjot Singh Sidhu आज करेंगे मुख्यमंत्री चन्नी से मुलाकात, 3 बजे पंजाब भवन में मीटिंग

     

    नवजोत सिंह सिद्धू दोपहर 3 बजे पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी  से मुलाकात करने जा रहे हैं । उन्होंने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने ट्वीट किया, "मुख्यमंत्री ने मुझे बातचीत के लिए आमंत्रित किया है आज दोपहर 3:00 बजे पंजाब भवन, चंडीगढ़ पहुंचकर बातचीत करेंगे, किसी भी चर्चा के लिए उनका स्वागत है!

    और भी...