हरियाणा

  • हरियाणा में स्कूली बच्चे करेंगे कान पकड़ कर उठक-बैठक, एक्सरसाइज को दिया सुपर ब्रेन योग का नाम

    हरियाणा में स्कूली बच्चे करेंगे कान पकड़ कर उठक-बैठक, एक्सरसाइज को दिया सुपर ब्रेन योग का नाम

     

    दिमाग चुस्त और शरीर स्वस्थ रखने के लिए हरियाणा के स्कूली बच्चे कान पकड़ कर उठक-बैठक करेंगे। उठक-बैठक सजा के तौर पर नहीं बल्कि योग के तौर पर प्रार्थना सभा के बाद कराई जाएगी। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के सचिव राजीव प्रसाद ने कहा कि यह एक्सरसाइज सुपर ब्रेन योग है। उन्होंने कहा कि योग दिवस पर योग एक्सपर्ट से गहन विमर्श के बाद यह फैसला लिया गया।

    हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड स्थित सर्वपल्ली राधाकृष्ण लैब स्कूल में प्रयोग के तौर पर इसी शिक्षा सत्र से इसकी शुरुआत होगी। गुरुवार से शिक्षकों को ट्रेंड किया जाएगा। 8 जुलाई को स्कूल खुलने के बाद करीब 700 विद्यार्थियों को दो सेक्शन में बांटा जाएगा। एक सेक्शन को योग कराया जाएगा। दूसरे को नहीं। दोनों ही सेक्शन के छात्रों का साल भर वैज्ञानिक तरीके से अध्ययन किया जाएगा। योग करने वाले विद्यार्थियों पर प्रयोग सकारात्मक दिखा तो अगले सत्र से विभाग को सभी स्कूलों में यह लागू करने के लिए लिखा जाएगा।

    राजीव प्रसाद ने बताया, सुपर ब्रेन योग से कान के नीचे के हिस्से के एक्युप्रेशर बिंदु सक्रिय होकर मस्तिष्क की क्षमता बढ़ाने में सहायक होते हैं। इससे विद्यार्थियों की याददाश्त अच्छी होगी। सुपर ब्रेन योग के तहत दाएं हाथ से बाएं कान और बाएं हाथ से दाएं कान पकड़ कर उठक-बैठक करनी होती है। 10 से 12 उठक-बैठक के दौरान सांस पर नियंत्रण रखना होगा। योग से मस्तिष्क के दोनों भाग संतुलित होते हैं, तो मस्तिष्क से अल्फा तरंगें निकलती हैं। अल्फा तरंगें सृजनात्मक कार्य के लिए आवश्यक वातावरण-प्रदान करती हैं।

    और भी...

  • हरियाणा में खेल नीति पर बॉक्सर अमित पंघाल ने उठाए सवाल कहा पूरी मिले इनाम राशि

    हरियाणा में खेल नीति पर बॉक्सर अमित पंघाल ने उठाए सवाल कहा पूरी मिले इनाम राशि

     

    हरियाणा में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों की इनामी राशि काटने का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले बॉक्सर अमित पंघाल ने खेल निदेशक को ई-मेल भेजकर पूरी राशि देने की मांग की है। पंघाल का कहना है कि जिस खेल नीति का हवाला देकर सरकार इनाम राशि काट रही है, वह नीति मेरे मेडल जीतने के बाद लागू हुई है। ऐसे में सरकार को पूरी राशि देनी चाहिए।

    अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर अमित पंघाल ने मंगलवार को भूपिंदर सिंह, निदेशक खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग को भेजी ई-मेल में लिखा है कि सरकार की खेल नीति के अनुसार उन्हें तीन करोड़ रुपये बतौर इनाम मिलने थे लेकिन 75 लाख रुपये काटकर 2.25 करोड़ रुपये ही दिए गए हैं।

    पंघाल ने लिखा है कि वर्तमान खेल नीति सितंबर 2018 के मध्य में लागू की गई, जबकि मैंने जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में एक सितंबर 2018 को गोल्ड मेडल जीता था। ऐसे में इस पदक पर वर्तमान खेल नीति लागू नहीं होती है। पंघाल ने ई-मेल की सीसी रोहतक जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी सुखबीर सिंह, वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के अलावा सांसद धर्मबीर को भी की है।

     

    और भी...

  • केशनी आनंद बनी हरियाणा की मुख्य सचिव, प्रदेश की पांचवीं महिला मुख्य सचिव बनी

    केशनी आनंद बनी हरियाणा की मुख्य सचिव, प्रदेश की पांचवीं महिला मुख्य सचिव बनी

     

    हरियाणा में पिछले साढ़े चार साल से मुख्य सचिव की कुर्सी संभाल रहे डीएस ढेसी आज सेवानिवृत्त हो गए। 1982 बैच के IAS अधिकारी दीपेंद्र सिंह ढेसी को IAS एसोसिएशन शुक्रवार को ही अंतिम कार्यदिवस के चलते विदाई पार्टी दे चुकी है, जबकि औपचारिक रूप से वह 30 जून को रिटायर होंगे। उनकी जगह केशनी आनंद अरोड़ा हरियाणा की नई मुख्य सचिव होंगी। हरियाणा सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। केशनी आनंद अरोड़ा एक ही परिवार की तीसरी महिला मुख्य सचिव बनी हैं।

    दूसरे नंबर की वरिष्ठतम IAS अधिकारी केशनी आनंद अरोड़ा सोमवार को मुख्य सचिव की कुर्सी संभाल सकती हैं। 1983 बैच की अरोड़ा फिलहाल वित्तायुक्त और राजस्व एवं प्रबंधन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव हैं। आज ही मुख्य सचिव डीएस ढेसी के साथ ही 1988 बैच के IAS अधिकारी और उच्चतर शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनिल कुमार भी सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

    मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विश्वस्त अफसरों में शुमार ढेसी को सरकार सेवा का अधिकार आयोग का मुख्य आयुक्त बनाने की तैयारी में है। आयोग में पूर्व मुख्य आयुक्त एससी चौधरी के रिटायर होने के बाद से ही यह पद रिक्त है। इसके अलावा ढेसी रेपिड मेट्रो रेल गुरुग्राम लिमिटेड के लिए गठित यात्रा भाड़ा निर्धारण कमेटी के सदस्य भी बने रहेंगे।

    वहीं, अगली मुख्य सचिव बनने जा रहीं केशनी आनंद अरोड़ा प्रदेश की पांचवीं महिला मुख्य सचिव होंगी। उनकी बड़ी बहन मीनाक्षी आनंद चौधरी प्रदेश की पहली महिला मुख्य सचिव बनी थी, जबकि दूसरे नंबर की बहन उर्वशी गुलाटी भी मुख्य सचिव रहीं। इसके अलावा प्रोमिला ईस्सर और शकुंतला जाखू मुख्य सचिव पद की शोभा बढ़ा चुकी हैं। केशनी आनंद अगले साल 30 सितंबर तक अपनी रिटायरमेंट तक मुख्य सचिव के पद पर सेवाएं देंगी।

    और भी...

  • हरियाणा सरकार का फैसला, गर्मी की छुट्टियां एक सप्ताह और बढाई

    हरियाणा सरकार का फैसला, गर्मी की छुट्टियां एक सप्ताह और बढाई

     

    हरियाणा सरकार ने राज्य के अधिकतर हिस्सों में भीषण गर्मी को देखते हुए स्कूलों की गर्मी की छुट्टियां एक सप्ताह बढ़ाने की घोषणा की। स्कूलों को 1 जुलाई से खुलना था, लेकिन अब 8 जुलाई से खुलेंगे। इस संबंध में एक सरकार की तरफ से जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया, राज्य में भीषण गर्मी के कारण राज्य सरकार ने सरकारी और निजी दोनों तरह के स्कूलों के लिए छुटि्टयां एक सप्ताह बढ़ा दी हैं। स्कूल अब 8 जुलाई को खुलेंगे। स्कूलों की छुट्टियां 7 जुलाई तक बढ़ा दी गई है।

    गौरतलब है कि दक्षिण पश्चिम मानसून के आगमन के पहले हरियाणा में भीषण गर्मी पड़ रही है। पिछले कुछ दिनों में अधिकतम तापमान 40 से 43 डिग्री सेल्सियस के बीच बना हुआ है। बता दे कि दिल्ली सरकार ने भी राष्ट्रीय राजधानी में गर्म मौसम को देखते हुए कक्षा 8 तक के छात्रों के लिए शहर के स्कूलों में गर्मियों की छुट्टी एक सप्ताह बढ़ा दी है। 8वीं कक्षा तक के स्कूल 8 जुलाई से खुलेंगे, जबकि उच्च कक्षाओं के लिए स्‍कूल अपने शेड्यूल के अनुसार ही खुलेगा।

    दिल्‍ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने स्पष्ट किया कि यह आदेश सरकारी और निजी दोनों स्कूलों के लिए लागू होगा। मनीष सिसोदिया ने ट्व‍िटर पर पोस्‍ट किया कि दिल्ली में गर्म मौसम को देखते हुए स्कूलों में 8वीं क्लास तक के लिए गर्मी की छुट्टियां एक सप्ताह के लिए बढ़ाई जा रही हैं। 8वीं तक बच्चों के स्कूल अब 8 जुलाई से खुलेंगे। बाक़ी क्लास के लिए स्कूल अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार खुलेंगे। वहीं, ओडिशा सरकार ने भी इस साल गर्मियों की छुट्टियों को बढ़ाया। पहले स्कूल 17 जून 2019 को खुलने वाले थे. हालांकि, सरकार ने गर्मी की अधिकता के कारण 26 जून 2019 तक ग्रीष्मकालीन अवकाश का फैसला किया।

    और भी...

  • विकास चौधरी हत्याकांड: पुलिस ने दिए SIT जांच के आदेश, अभी तक 2 गिरफ्तार

    विकास चौधरी हत्याकांड: पुलिस ने दिए SIT जांच के आदेश, अभी तक 2 गिरफ्तार

     

    फरीदाबाद में कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी हत्याकांड में दोषियों की धरपकड़ के लिए हरियाणा पुलिस पूरी तरह से गंभीर है। मामले की गंभीरता को देखते हुए हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने इस मामले में एसआईटी जांच के आदेश दे दिए हैं। अब स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम इस केस की जांच को आगे बढ़ाएगी।

    यह एसआईटी फरीदाबाद के कमिश्नर ऑफ पुलिस संजय कुमार की निगरानी में काम करेगी। इस एसआईटी में पलवल के एसपी नरेंद्र बिजरनिया, फरीदाबाद के एसीपी अनिल यादव, गुरुग्राम के इंस्पेक्टर नरेंद्र चौहान और रेवाड़ी के इंस्पेक्टर आनंद यादव भी शामिल रहेंगे। यह एसआईटी जल्द ही केस की फाइल अपने अधीन लेगी और जांच को आगे बढ़ाएगी।

     

     

    डीजीपी मनोज यादव के अनुसार पुलिस इस केस को जल्द से जल्द सुलझा लेगी। उनके अनुसार अभी इस मामले में एक महिला समेत दो लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जबकि अन्य आरोपियों को भी इसमें जल्द काबू किया जाएगा। यह एसआईटी रोजाना अपनी जांच रिपोर्ट को कंपाइल करेगी और हफ्ते बाद स्टेटस से अवगत करवाएगी। अभी तक जिन आरोपियों को काबू किया गया है। उनमें गुरुग्राम निवासी नरेश और रोशनी शामिल है। इन दोनों के खिलाफ पुलिस के पास पर्याप्त सुबूत है, जिनके आधार पर इन्हें काबू किया गया है।

    और भी...

  • तिहाड़ जेल में अजय चौटाला के पास मिला मोबाइल फोन, फरलो पर लग सकती है रोक

    तिहाड़ जेल में अजय चौटाला के पास मिला मोबाइल फोन, फरलो पर लग सकती है रोक

     

    देश की सबसे सुरक्षित कही जाने वाली तिहाड़ जेल में बंद जननायक जनता पार्टी नेता अजय चौटाला की सेल से मोबाइल फोन बरामद हुआ है। अजय चौटाला हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के बेटे हैं। अजय चौटाला तिहाड़ जेल के वार्ड नंबर 3 के सेल नंबर 34 में बंद हैं। जेल प्रशासन को कैदियों के पास मोबाइल फोन होने की खुफिया जानकारी मिली थी। इसी के बाद कैदियों की सेल की जांच चल रही थी। इस दौरान प्रशासन को मोबाइल फोन और सिम कार्ड मिला, जिसे बरामद कर लिया गया।

    हरियाणा के शिक्षक भर्ती घोटाले में अजय चौटाला, पिता ओमप्रकाश चौटाला के साथ जेल में बंद हैं। उन्हें अदालत ने 10 साल की सजा सुनाई है। इससे पहले 13 जून को भी तिहाड़ जेल की तलाशी ली गई थी। इस दौरान ओम प्रकाश चौटाला की सेल से मोबाइल फोन बरामद हुआ था।

     

     

    जेल सूत्रों की मानें तो यदि जेल प्रशासन के फैसले पर जज मुहर लगा देते हैं तो अजय चौटाला को मिलने वाली फरलो पर अगले 3 साल के लिए रोक लग सकती है। फरलो, जेल की ओर से दी जाने वाली छुट्टी को कहा जाता है। जेल मैन्युअल के अनुसार अच्छे आचरण पर ही कैदियों को फरलो दी जाती है।

    तिहाड़ जेल देश का सबसे वीआईपी जेल है। इस जेल में अंडर वर्ल्ड डॉन छोटा राजन, बिहार के सीवान जिले से पूर्व सांसद शहाबुद्दीन सहित कई आतंकी भी बंद है। जेल में मोबाइल मिलने से जेल प्रशासन की नाकामियां भी उजागर हो रही हैं।

    और भी...

  • हरियाणा में एक बार फिर से रोडवेज कर्मी करेंगे आंदोलन शुरु, ये है मांगे

    हरियाणा में एक बार फिर से रोडवेज कर्मी करेंगे आंदोलन शुरु, ये है मांगे

     

    हरियाणा में रोडवेज कर्मी अपनी मांगों और किलोमीटर स्कीम के तहत प्राइवेट बसों को हायर करने की पॉलिसी को रद्द करने को लेकर शुक्रवार से फिर अपना आंदोलन शुरू करेंगे। यह आंदोलन दो चरणों में चलेगा। जिसमें राज्यपाल को भी ज्ञापन दिया जाएगा। उधर, किलोमीटर स्कीम गड़बड़झाले में हरियाणा सरकार ने पहले ही विजिलेंस जांच के आदेश दिए हुए हैं।

    शुक्रवार से प्रदेश के सभी रोडवेज डिपो पर धरने प्रदर्शन किए जाएंगे। हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के वरिष्ठ नेता इंद्र सिंह बधाना, सरबत सिंह पूनिया, वीरेंद्र सिंह धनखड़, पहल सिंह तंवर, दलबीर किरमारा, आजाद गिल, अनूप सहरावत व दिनेश हुड्डा ने कहा कि सरकार की नीयत व नीति सही है तो किलोमीटर स्कीम के तहत प्राइवेट बसें ठेके पर लेने का इरादा छोड़कर विभाग में बढ़ती आबादी अनुसार 14 हजार सरकारी बसें शामिल करें ताकि आम जनता व छात्र-छात्राओं को बेहतर व सुरक्षित परिवहन सेवा मिलने के साथ 84 हजार बेरोजगारों को स्थाई रोजगार मिल सकें।

    उधर, इंटक के प्रवक्ता प्रदीप बूरा ने कहा कि सरकार को अपनी जिद छोड़कर जनहित में फैसला लेना चाहिए। उनके अनुसार इंटर भी इस संघर्ष में मिलकर विरोध करेगा। कर्मचारियों की मांग है कि किलोमीटर स्कीम के तहत प्राइवेट बसें ठेके पर लेने का निर्णय रद्द करना व जांच सीबीआई व हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज से करवाई जाए। विभाग में सरकारी बसें बढ़ाई जाए और ठेका प्रथा बंद हो। पुरानी पेंशन स्कीम लागू करने, ओवरटाइम बंद करने के नाम पर कर्मचारियों का शोषण बंद हो। पिछली हड़तालों के दौरान किए गए निलंबन, मुकदमे, तबादले, एस्मा व अन्य उत्पीड़न की कार्यवाही वापस ली जाए। ठेके पर भर्ती कर्मचारियों को पक्का करने, खाली पदों पर पक्की भर्ती करने, सभी श्रेणियों के खाली पड़े प्रॅमोशनल पदों पर पदोन्नति करने, वेतन विसंगतियां दूर करके सभी भत्तों में बढ़ोत्तरी की जाए।

    और भी...

  • फरीदाबाद में कांग्रेस प्रवक्ता की गोली मारकर हत्या, कांग्रेस ने बताया जंगल राज

    फरीदाबाद में कांग्रेस प्रवक्ता की गोली मारकर हत्या, कांग्रेस ने बताया जंगल राज

     

    हरियाणा के फरीदाबाद में कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई है। सेक्टर-9 में हमलावरों ने विकास चौधरी को 8 से 10 गोलियां मारी। विकास को सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। मौके से 12 खोखे बरामद हुए हैं।

    दिनदाहड़े हुई इस हत्या के बाद फरीदाबाद पुलिस हरकत में आ गई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, विकास चौधरी पर दो हमलावरों ने फायरिंग की है। फायरिंग उस वक्त हुई, जब विकास अपनी गाड़ी से जिम जा रहे थे। पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ ही हमलावरों की तलाश में लग जुट गई है। पुलिस का कहना है कि घटना सुबह 9 बजकर 2 मिनट पर हुई, जब विकास सेक्टर-9 की हुडा मार्केट में पीएचसी में जिम करने पहुंचे थे। जैसे ही विकास अपनी गाड़ी से उतरे, वैसे ही हमलावरों ने गोलियां बरसानी शुरू कर दी। विकास पर करीब 10 से 12 गोलियां उन पर दागी गई।

    सीसीटीवी फुटेज में दो हमलावर विकास पर गोलियां चलाते दिखे। विकास की गर्दन और छाती पर गोली मारी गई है। इसके साथ ही चार गोलियां उनके कार के शीशों पर भी लगी हैं। दोनों हमलावर सफेद रंग की एसएक्स-4 गाड़ी से आए थे। पुलिस ने गाड़ी और हमलावरों की तलाश के लिए टीमें लगाई हैं।

     

    विकास चौधरी की हत्या के बाद हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर ने कहा कि यह जंगल राज है। किसी को कानून का कोई डर नहीं है। कल भी इसी तरह की घटना हुई थी, जहां छेड़छाड़ का विरोध करने वाली महिला को चाकू मार दिया गया था। विकास चौधरी की हत्या की जांच होनी चाहिए।

    विकास चौधरी हरियाणा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता थे। विकास कुछ साल पहले ही इनेलो छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे और उन्हें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर के गुट का बताया जाता था। विकास के इनेलो छोड़ने के पीछे फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र से टिकट न मिलना वजह बताई जा रही थी। माना जा रहा था कि इस बार विकास, फरीदाबाद सीट से चुनाव लड़ सकते थे।

    और भी...

  • अंबाला एयरबेस पर IAF Jaguar क्रैश होने से बचा, पायलटों ने की इमरजेंसी लैंडिंग

    अंबाला एयरबेस पर IAF Jaguar क्रैश होने से बचा, पायलटों ने की इमरजेंसी लैंडिंग

     

    अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर वीरवार सुबह एक विमान IAF Jaguar क्रैश होने से बाल-बाल बचा। दरअसल, विमान के एक फ्यूल टैंक से पक्षी टकरा गया। इससे उसमें आग लग गई और एक हिस्सा नीचे गिर गया। दोनों पायलटों ने सूझबूझ दिखाते हुए विमान की सुरक्षित इमरजेंसी लैंडिंग करा दी।

    हादसा एयरफोर्स स्टेशन की सीमा के अंदर हुआ, इसलिए वहां किसी को भी जानें की इजाजत नहीं है। मौके पर वायुसेना के आलाधिकारी पहुंच चुके हैं। विमान का एक टैंक गिरने के कारण आग लग गई। अग्निशमन दस्ता आग बुझाने में लगा है।

    प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सुबह अचानक तेज आवाज आई। इससे अफरा तफरी मच गई। लोगों को पहले लगा कि विमान नीचे गिरा है, लेकिन बाद में फ्यूल टैंक के कुछ हिस्सों को देखा। बताया जा रहा है कि तेज आवाज के कारण बलदेव नगर के कुछ घरों में दरार आई है।

    इससे पहले 28 जनवरी 2019 को उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में वायुसेना का लड़ाकू विमान जगुआर क्रैश हो गया था। हादसे में पायलट को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था। वायुसेना ने हादसे की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया था। यह विमान प्रशिक्षण उड़ान पर था। जगुआर विमान ने गोरखपुर एयरबेस से उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के 10 मिनट बाद ही विमान का संपर्क एयरबेस से संपर्क टूट गया था।

    और भी...

  • नशा तस्करों और नशा कारोबारियों के खिलाफ हरियाणा सरकार का सख्त रुख, दिए ये आदेश

    नशा तस्करों और नशा कारोबारियों के खिलाफ हरियाणा सरकार का सख्त रुख, दिए ये आदेश

     

    नशा तस्करों और नशा कारोबारियों के खिलाफ हरियाणा सरकार ने अपना कड़ा रूख अख्तियार कर लिया है। सीएम मनोहर लाल ने उत्तरी राज्यों की पुलिस के आला अफसरों से नशे के खिलाफ मिलकर काम करने का आह्वान करते हुए साफ कहा कि फंड की कोई कमी नहीं है। अब नशा तस्करों की कमर तोड़ दो। उन्होंने स्पष्ट किया सभी राज्यों की सरकार नशे को लेकर एकमत हैं और सभी सियासत से ऊपर उठकर नशे के खिलाफ काम कर रही हैं, इसलिए पुलिस अफसरों को आपसी तालमेल बढ़ाते हुए इस नेटवर्क को खत्म करना होगा।

    सीएम ने कहा कि नशा तस्करी पर लगाम के साथ-साथ युवाओं को नशे पर उबारने और उन्हे सही दिशा में लाने की जिम्मेदारी भी सरकारों और अफसरों की है। इसलिए शिक्षा और स्वास्थ्य महकमे के आला अफसर भी एक अभियान की तरह इस पर प्लान करें और काम शुरू करें। सीएम ने पुलिस अफसरों को कहा कि वे अपने-अपने राज्यों में नशे के खिलाफ जो अभियान चला रहे हैं, उस पर एक्शन टेकन रिपोर्ट भी तैयार करें, जिसे वे आपस में साझा भी करें।

    मुख्यमंत्री बुधवार को अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ विरोध दिवस के अवसर पर चंडीगढ़ में हरियाणा पुलिस द्वारा आयोजित उत्तरी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस के आला अफसरों की समन्वयक बैठक को संबोधित कर रहे थे। हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव ने इस समन्वय बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में मादक पदार्थों के दुरुपयोग एवं अवैध तस्करी के खिलाफ एकजुट होकर प्रभावी रणनीति तैयार करने के लिए तीन सूत्रीय फार्मूला अपनाने पर सहमति बनी।

    कहा कि नशे के कारोबारी को सख्त से सख्त सजा दिलवाने के लिए हमें भले ही कानून में संशोधन करना पड़े तो भी हम करेंगे। हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने दिनभर चली बैठक में की गई चर्चा के बारे मुख्यमंत्री को अवगत करवाया। बैठक में हरियाणा के अलावा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली तथा केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक, एनसीबी महानिदेशक व गुप्तचर ब्यूरो के अधिकारी उपस्थित रहे।

    सीएम मनोहर लाल ने भी नशे के खिलाफ पुलिस अफसरों द्वारा बनाई जा रही रणनीतियों में एड-ऑन करते हुए कहा कि पुलिस और विभिन्न एजेंसियों को नशा तस्करों और कारोबारियों की सूचना देने वालों को इनाम भी देना चाहिए। एजेंसियों के पास सीक्रेट फंड की कमी नहीं होती, इसलिए वे लोगों को अपने सीक्रेट फंड से इनाम दें। साथ ही सूचना देने वालों का नाम भी पूरी तरह गोपनीय रखें। सीएम ने कहा कि इसी मसले को लेकर सभी राज्यों के पुलिस महानिदेशक साल में एक बार, आईजीपी तीन महीनों में एक बार और राज्यों के सीमावर्ती जिलों के थाना प्रभारी अमूमन मिलते-जुलते रहें और सूचनाओं का तुरंत आदान-प्रदान करते रहें।

     

    और भी...

  • गुरमीत राम रहीम की पैरोल पर बोले सीएम मनोहर लाल, हर कैदी को पैरोल मांगने का अधिकार

    गुरमीत राम रहीम की पैरोल पर बोले सीएम मनोहर लाल, हर कैदी को पैरोल मांगने का अधिकार

     

    डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम की पैरोल पर प्रशासन अभी तक कोई फैसला नहीं ले पाया है।  इस बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को कहा कि उसे पैरोल मांगने का अधिकार है। साथ ही कहा कि कोई भी पैरोल मांग सकता है। यह उसका हक है, जिससे उसे रोका नहीं जा सकता है। मुख्यमंत्री ने एक प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कोई भी कैदी जेल अधीक्षक से पैरोल मांगता है। जेल अधीक्षक उसे जिला उपायुक्त को भेजता है। वह उसे पुलिस अधीक्षक को भेजता है। अंतिम अनुमति डिविजनल कमिश्नर देता है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर सरकार द्वारा कोई निर्णय लेने की बात आएगी तो प्रदेश हित को देखते हुए फैसला लिया जाएगा। 

    रोहतक की सुनारियां जेल में बंद गुरमीत राम रहीम ने पिछले सप्ताह खेती करने के लिए पैरोल मांगी थी। जेल अधीक्षक ने सिरसा जिला प्रशासन को पत्र लिखकर पूछा था कि क्या उसे पैरोल देना उचित होगा? पत्र में बताया गया है कि उसका जेल में आचरण अच्छा रहा है। अब जिला प्रशासन को यह तय करना होगा कि उसकी पैरोल के लिए अनुशंसा की जाए या नहीं।  सिरसा के तहसीलदार ने रिपोर्ट में बताया है कि डेरे के पास कुल 250 एकड़ जमीन है। इसमें कहीं भी राम रहीम मालिक या काश्तकार नहीं है। सारी भूमि डेरा सच्चा सौदा ट्रस्ट के नाम है। इसी वजह से प्रशासन की नजर में पैरोल का आधार नहीं बन रहा है।

    बता दे जनवरी में सीबीआई की विशेष अदालत ने पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में राम रहीम समेत चार लोगों को दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। जस्टिस जगदीप सिंह की अदालत ने फैसला सुनाया था कि राम रहीम की यह सजा साध्वी यौन शोषण मामले की 20 वर्ष की सजा पूरी होने के बाद शुरू होगी।

    और भी...

  • गुरमीत राम रहीम के पैरोल मामले में पुलिस ने जिलाधिकारी को नहीं सौपीं रिपोर्ट

    गुरमीत राम रहीम के पैरोल मामले में पुलिस ने जिलाधिकारी को नहीं सौपीं रिपोर्ट

     

    बलात्कार के जुर्म में सजा काट रहे बाबा गुरमीत राम रहीम को पैरोल दिए जाने को लेकर अभी तक फैसला नहीं हो पाया है। दरअसल सिरसा पुलिस ने अभी तक अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को नहीं सौपीं है। आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रिपोर्ट तैयार करने में अभी वक्त लग रहा है। गौरतलब है कि सजायाफ्ता कैदियों को अच्छे आचरण के आधार पर जेल प्रशासन द्वारा पैरोल दिया जाता है। बाबा राम रहीम ने खेती करने के नाम पर परोल की मांग की थी। वहीं हरियाणा सरकार के मंत्री के एल पंवार ने कहा है कि अच्छे आचरण वाले कैदी को दो साल में पैरोल दिया जा सकता है।

    बता दें कि बाबा राम रहीम बलात्कार के दो मामलों और पत्रकार की हत्या के आरोप में दोषी करार दिया गया है। इस समय राम रहीम रोहतक के सुनारिया जेल में सजा काट रहा है। राम रहीम ने जेल प्रशासन से खेती करने के लिए 42 दिन की पैरोल मांगी है। जिसको लेकर जेल प्रशासन ने जिलाधिकारी से पैरोल देने को लेकर सलाह मांगी है।

    हरियाणा सरकार में मंत्री के एल पंवार ने कहा, हर दोषी दो साल की सजा पूरी करने के बाद पैरोल का हकदार होता है। अगर दोषी का व्यवहार जेल में अच्छा होता है, तो जेल अधीक्षक इसकी रिपोर्ट स्थानीय पुलिस को देता है। वेरिफिकेशन के बाद यह रिपोर्ट कमिश्नर के पास जाती है और वहीं अंतिम निर्णय लेते हैं।

    वही पुलिस के अधिकारिक बयान में कहा गया है कि कैदी द्वारा मांगी गई परोल की याचिका को उसके गुण और दोष के आधार पर तैयार की जाती है। इसके लिए बाकायदा पुलिस द्वारा नियमित कैदी के आचरण की जांच की जाती है। गौरतलब है कि अगस्त 2017 में डेरा प्रमुख को दो महिलाओं के साथ बलात्कार करने के आरोप में 20 साल के कारावास की सजा सुनाई गई है।

    और भी...

  • Janta TV लेकर आ रहा है हरियाणा की राजनीति का महाकुंभ 2019

    Janta TV लेकर आ रहा है हरियाणा की राजनीति का महाकुंभ 2019

     

    देश में लोकसभा चुनाव के बाद अब हरियाणा में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। विधानसभा चुनाव के लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है और एक और जहां सूबे की बीजेपी सरकार अपने कार्यकाल में किए गए विकास कार्यों को लगातार जनता को बता रही है और एक बार फिर से प्रदेश में बीजेपी सरकार आने का दावा कर रही है तो वहीं विपक्ष सरकार पर बेरोजगारी, भ्रष्टाचार के आरोप लगा रही है।

    लेकिन आपका अपना चहेता प्रदेश का न्यूज चैनल Janta TV प्रदेश की जनता को आसान सीधे और सरल तरीके से समझाने के लिए कि सरकार ने आपके लिए कितने विकास कार्य किए है और किए गए वादों पर कितना खरी उतरी है सरकार। आपके विधायक ने आपके क्षेत्र में कितने विकास कार्य किए है? इन्हीं सब का पता लगाने के लिए लेकर आ रहे है एक बड़ा मंच... “हरियाणा की राजनीति का महाकुंभ 2019”, जहां पर होगे जनता के चुने हुए 90 विधायक, सूबे के मुख्यमंत्री और हम पूछेंगे आपके हित के सवाल, होंगे ऐसे मुद्दे जो जुड़े है सीधा आपसे।

    तो 25 जून मंगलवार और 26 जून बुधवार लगातार 2 दिन जुड़े रहिएगा लगातार Janta TV के साथ। अगर आपके मन भी है कोई सवाल पूछना चाहते है अपने विधायक से तो भेजिए हमें आपका सवाल हमारे FACBOOK पेज या फिर ट्वीटर के माध्यम से। पूछा जाएगा आपका हर एक सवाल ‘नेता जी’ से।    

    और भी...

  • लगातार दूसरे साल खिलाड़ियों को सम्मानित करने का कार्यक्रम रद्द, खेल विभाग ने दिया ये तर्क

    लगातार दूसरे साल खिलाड़ियों को सम्मानित करने का कार्यक्रम रद्द, खेल विभाग ने दिया ये तर्क

     

    पंचकूला में प्रदेश के 3 हजार खिलाड़ियों को सम्मानित करने के लिए 24 जून को होने वाला समारोह रद्द कर दिया गया है। अब करीब 90 करोड़ की सम्मान राशि खिलाड़ियों के बैंक अकाउंट में डाली जा रही है। खेल विभाग का तर्क है कि मंच पर एक खिलाड़ी को सम्मानित करने में कम से कम 5 मिनट भी लगते तो करीब 15 हजार मिनट यानी 10 दिन से भी ज्यादा लग जाते। जो एक दिन में नहीं हो सकता था। इसलिए समारोह रद्द करने का फैसला लिया है।

    खेल मंत्री अनिल विज ने कहा कि बहुत से खिलाड़ियों के खातों में राशि पहुंच चुकी है। बाकी को भी जल्द राशि मिल जाएगी। इस समारोह में सीएम को साल 2016-17, साल 2017-18 और 2018-19 के दौरान मेडल विजेता खिलाड़ियों को सम्मानित करना था। इनमें राष्ट्रमंडल, एशियन और पैरा-एशियन खेलों में पदक विजेता खिलाड़ी शामिल होने थे। इनके अलावा सीनियर एवं जूनियर वर्ग के अन्य मेडलिस्ट खिलाड़ियों को भी पुरस्कृत किया जाना था। वहीं, फैसले का विपक्षी दलों ने विरोध किया है। जननायक जनता पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला ने ट्वीट कर कहा कि सरकार के पास 4 साल में पदक विजेता खिलाड़ियों को सम्मानित करने का वक्त नहीं है।

    पिछले साल भी खिलाड़ियों के सम्मान समारोह को स्थगित किया गया था। खेल विभाग ने पहले निर्णय लिया था कि सम्मान राशि खिलाड़ियों के खातों में दी जाएगी। बाद में गणतंत्र दिवस पर सभी जिला मुख्यालयों पर होने वाले समारोह में सम्मानित किया गया। बता दे ओलिंपिक, एशियन, कॉमनवेल्थ, नेशनल और अन्य गेम्स के पदक विजेता खिलाड़ियों को राज्य सरकार नकद पुरस्कार राशि देती है। ओलिंपिक के स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ी को 6 करोड़, रजत पदक विजेता को 4 करोड़ और कांस्य पदक विजेता को 2.5 करोड़ रुपए व प्रतिभागियों को 15 लाख रुपए की राशि दी जाती थी। अन्य गेम्स के लिए भी सरकार ने पदक के हिसाब से पुरस्कार राशि तय की हुई है।

    और भी...

  • बॉक्सर जयभगवान हुए सस्पेंड, इस मामले में हुई कार्रवाई

    बॉक्सर जयभगवान हुए सस्पेंड, इस मामले में हुई कार्रवाई

     

    सिरसा के अनाज मंडी स्थित होटल सीजी इन के प्रबंधक वीरेंद्र सिंह को थप्पड़ मारने वाले इंस्पेक्टर जयभगवान को आईजी हिसार ने सस्पेंड कर दिया है। इंस्पेक्टर जयभगवान के खिलाफ दी शिकायत पर डीएसपी आर्यन चौधरी ने जांच रिपोर्ट तैयार कर एसपी अरुण सिंह को सौंपी थी। इसके बाद एसपी की ओर से भेजी रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए आईजी हिसार ने इंस्पेक्टर जयभगवान को सस्पेंड कर दिया। पुलिस प्रवक्ता सुरजीत सहारण ने बताया कि प्राथमिक जांच में दोषी पाए जाने के बाद इंस्पेक्टर जयभगवान को सस्पेंड कर दिया है।

    इंस्पेक्टर जयभगवान एक महिला के साथ 16 जून की रात्रि को 11 बजे होटल सीजी इन में पहुंचे। उसकी ओर से ऑनलाइन कमरा बुक करवाया गया था। जब उसने कमरा देने से पहले आईडी मांगी, तब उन्होंने अपनी आईडी तो दे दी मगर युवती की आईडी देने में आनाकानी की। कमरा न देने पर उन्होंने युवती की आईडी दी लेकिन उसका मिलान नहीं हुआ।

    इस पर प्रबंधक ने उसे कमरा देने से इंकार कर दिया। इसके बाद इंस्पेक्टर जयभगवान ने प्रबंधक को थप्पड़ मार दिया था। शिकायतकर्ता ने एसपी को सीसीटीवी की फुटेज भी सौंपी। इस शिकायत के बाद एसपी अरुण सिंह ने इस मामले की जांच डीएसपी आर्यन चौधरी को सौंप दी जबकि इंस्पेक्टर जयभगवान की ओर से आरोपों को खारिज किया गया था। उनका कहना था कि वे अपने परिवार के साथ कमरे पर आए थे। होटल के रिसेप्शन पर उन्हें 40 मिनट रोका गया और बाद में कमरे की बुकिंग राशि देने से भी इंकार कर दिया था। इसके अलावा होटल मैनेजर ने उनके साथ बदतमीजी की।

    और भी...