ब्रेकिंग न्यूज़
  • बिहार: महिला ने अपने 4 बच्चों के साथ चलती ट्रेन के सामने लगाई छलांग, मौत
  • बाजार में लौटी रौनक, शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 37 हजार के पार
  • INX मीडिया केस: पी. चिदंबरम की अर्जी पर SC में सुनवाई आज, HC के आदेश को दी है चुनौती
  • कोलकाता: मदर टेरेसा की जयंती आज, मदर हाउस में की गईं शांति प्रार्थनाएं
  • उत्तराखंड: देहरादून, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी में भारी बारिश का अलर्ट
  • त्तरकाशी: भूस्खलन के कारण बंद किया गया यमुनोत्री हाईवे

हरियाणा

  • हरियाणा में 27 अगस्त से नगर निकाय और ग्रामीण सफाई कर्मचारी 3 दिन तक हड़ताल पर

    हरियाणा में 27 अगस्त से नगर निकाय और ग्रामीण सफाई कर्मचारी 3 दिन तक हड़ताल पर

     

    हरियाणा प्रदेश में 27 अगस्त से 3 दिन तक सफाई नहीं होंगी। वहीं सोमवार यानी आज से मरीजों को दवा नहीं मिलेगी। क्योंकि नगर निकाय और ग्रामीण सफाई कर्मचारी 3 दिन तक हड़ताल पर रहेंगे। जबकि सरकारी अस्पतालों में कार्यरत फार्मासिस्ट भी सोमवार को सामूहिक अवकाश पर रहेंगे।

    नगर पालिका कर्मचारी संघ का दावा है कि इस हड़ताल में प्रदेशभर के 32 हजार कर्मचारी शामिल होंगे। इसके लिए सरकार को पहले ही चेता दिया है। सरकार ने वार्ता का निमंत्रण भी दिया है, लेकिन नगर पालिका कर्मचारी संघ ने इसे ठुकरा दिया है। तर्क दिया है कि वार्ता के लिए 4 सितंबर का समय तय किया है, जो हड़ताल के बाद का है। सरकार की ओर से संघ को उनकी पूर्व में हुई बैठक में सौंपी गई मांगों का स्टेटस भी भेजा है। परंतु कर्मचारी इससे संतुष्ट नहीं है।

    हड़ताल को लेकर नगर निकाय विभाग भी तैयारी में जुट गया है। संघ का दावा है कि इस हड़ताल में सभी 10 नगर निगम, 19 नगर परिषदों और 57 नगर पालिकाओं के कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। पहले दिन सभी शहरों एवं कस्बों में मशाल जुलूस निकाले जाएंगे।

    मंत्री कविता जैन ने कहा कि कर्मचारियों की अधिकांश मांगें मानी जा चुकी है। कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। जनता को परेशान नहीं होने दिया जाएगा। ठेके पर लगी एजेंसियों से कचरा उठवाया जाएगा।

    और भी...

  • पंचकूला हिंसा मामले में नया मोड़, पुलिस ने vipassana insan को किया MOSTWANTED लिस्ट से बाहर

    पंचकूला हिंसा मामले में नया मोड़, पुलिस ने vipassana insan को किया MOSTWANTED लिस्ट से बाहर

     

    डेरा सच्चा सौदा प्रमुख और साध्वी यौन शोषण मामले से लेकर पत्रकार छत्रपति मर्डर मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा भुगत रहे गुरमीत राम रहीम के खास विपासना इंसां और आदित्य इंसां पर हरियाणा पुलिस मेहरबान नजर आ रही है। अब पुलिस ने विपासना को मोस्टवांटेड लिस्ट से बाहर कर दिया है।

    वहीं, केंद्र सरकार ने एक साल पहले पूछा था कि इस केस को सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया जाए। इसका जवाब अब तक नहीं होम डिपार्टमेंट ने नहीं भेजा है। इधर, जम्मू-कश्मीर के रहने वाले आदित्य इंसां करीब 2 साल से फरार है, जबकि पुलिस ने उस पर 5 लाख रुपए का इनाम घोषित किया हुआ है, जिसे पकड़ने के प्रयास भी कम हो चुके हैं। हरियाणा पुलिस ने इनपुट के आधार पर 3 जिलों की पुलिस फोर्स लेकर सिरसा डेरे में रेड करने की प्लानिंग बनाई थी, लेकिन कैंसिल कर दिया गया।

    असल में 25 अगस्त 2017 को पंचकूला इन सबूतों के आधार पर सामने आई थी विपासना की भूमिकामें डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह को डेरे सिरसा से पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया था। गुरमीत सिंह के यहां पेश होने से पहले भारी संख्या में डेरे के अनुयायियों को यहां भेजा गया था। 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट ने जब साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत सिंह को दोषी करार दिया था, तो उसके बाद पंचकूला में हिंसा भड़क गई थी।

    इस पूरे मामले में हनी प्रीत की भूमिका सामने आने के बाद पुलिस ने विपासना को पंचकूला में पूछताछ के लिए बुलाया था। विपासना आई तो हनीप्रीत के सामने बिठाकर उस से पूछताछ की गई थी। दोनों में सवालों के जवाब देने के दौरान बहस भी हुई थी। पुलिस विपासना से हनीप्रीत की डायरी को डी कोड करवाना चाहती थी। उसे दोबारा बुलाया गया था, लेकिन वो नहीं आई। जिसके बाद पुलिस ने विपासना को वांटेड लिस्ट में डाला था। इसी दौरान पुलिस जांच में सामने अबाया कि विपासना पूरे मामले में शामिल थी।

    पुलिस ने जिस विपासना को पकड़ने के लिए 8 बार रेड की थी। उसे अब मोस्टवांटेड लिस्ट से बाहर कर दिया है। दिसंबर-जनवरी महीने के दौरान विपासना चंडीगढ़ में ईडी की इनक्वायरी के दौरान बयान दर्ज करवाने के लिए कई बार आई। पुलिस को ईडी ने बताया कि विपासना यहां हैं, लेकिन अरेस्ट नहीं किया था। विपासना ने पंचकूला पुलिस को एक लेटर भेजा था। इसमें कहा मैं पुलिस की इन्वेस्टिगेशन में मदद करने के लिए तैयार हूं। जो भी मदद चाहिए, मुझे बताया जाए, मैं पंचकूला में जांच में शामिल होने के लिए आ सकती हूं, लेकिन अभी तक पुलिस ने नहीं बुलाया है, जबकि कभी विपासना कभी डेरे में मिली नहीं, बस उसका लेटर आया है। अब पुलिस ने उसे मोस्ट वांटेड लिस्ट से बाहर कर दिया है।

    और भी...

  • वित्त मंत्रालय ने किया जीएसटी अपीलेट ट्रिब्यूनल का ऐलान, हरियाणा की ट्रिब्यूनल बनेगी हिसार में

    वित्त मंत्रालय ने किया जीएसटी अपीलेट ट्रिब्यूनल का ऐलान, हरियाणा की ट्रिब्यूनल बनेगी हिसार में

     

    जीएसटी से जुड़े विवादों में अपील दायर करने के मंच और विवादों के जल्द समाधान के लिए केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने सभी राज्यों के जीएसटी अपीलेट ट्रिब्यूनल का ऐलान किया है। हरियाणा में यह ट्रिब्यूनल हिसार में बनेगा। शुक्रवार को इससे जुड़ी जानकारी वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने दी।

    जीएसटी कानून से जुड़े विवादों में प्राधिकारों के फैसले के खिलाफ पहली अपील राज्यों के अपील प्राधिकरण में दायर की जाएगी। इसके बाद केंद्रीय अपीलीय प्राधिकरण में अपील की जा सकेगी। जीएसटी अपीलीय न्यायाधिकरण यह सुनिश्चित करेगी कि जीएसटी के तहत विवादों के निपटान में समानता हो। इससे देश में जीएसटी के क्रियान्वयन में भी समानता सुनिश्चित हो सकेगी।

    और भी...

  • हरियाणा में योग्यता पूरी न करने वाले 631 हेड टीचर किए गए डिमोट, हाईकोर्ट में मामला विचाराधीन

    हरियाणा में योग्यता पूरी न करने वाले 631 हेड टीचर किए गए डिमोट, हाईकोर्ट में मामला विचाराधीन

     

    कांग्रेस सरकार में नियमों को ताक पर रखकर प्रमोट होकर मिडिल स्कूल के हेड टीचर बनने वालों को शिक्षा विभाग ने झटका दिया है। 631 हेड टीचरों को रिवर्ट कर वापस मास्टर कैटेगरी में लाया गया है। इन शिक्षकों को योग्यता पूरी न होने की वजह से रिवर्ट किया गया है।

    मामला हाईकोर्ट में पहुंचने के बाद प्रमोट हुए 972 हेड टीचरों के दस्तावेजों की जांच कराई गई, जिनमें 861 ऐसे पाए गए, जो योग्यता पूरी नहीं कर रहे थे। अब निदेशालय ने 631 हेड टीचरों को रिवर्ट करने की सूची जारी कर दी है। निदेशालय की ओर से उन्हें निर्देश दिया गया है कि रिवर्ट हुए टीचर जिस स्कूल में हैं, वहीं पर संबंधित विषय को पढ़ाएंगे। विभाग की एडिशनल डायरेक्टर एडमिनिस्ट्रेशन वंदना दिसोदिया ने जिला अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किया है।

    दरअसल साल 2013 में हरियाणा में कांग्रेस की हुड्‌डा सरकार थी, तभी 2013 में पहली और 2014 में प्रमोशन की दूसरी सूची जारी की गई थी। इनमें जिनका चयन नहीं हुआ, वे हाईकोर्ट चले गए थे। उनका दावा था कि प्रमोशन में सर्विस रूल-2012 की अनदेखी की गई है। कोर्ट ने प्रमोट हुए मास्टरों के दस्तावेज की जांच के साथ सर्विस रूल-2012 के नियमों को भी देखने के आदेश दिए। साथ ही कहा था कि कमेटी बनाकर जांच की जाए।

    और भी...

  • हरियाणा पीजीटी शिक्षकों को मिली राहत, ट्रांसफर के लिए ऑप्शन चुनना अनिवार्य नहीं

    हरियाणा पीजीटी शिक्षकों को मिली राहत, ट्रांसफर के लिए ऑप्शन चुनना अनिवार्य नहीं

     

    पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा के स्कूलों के पीजीटी शिक्षकों द्वारा ट्रांसफर को लेकर दाखिल याचिकाओं पर हरियाणा सरकार को नोटिस जारी कर जवाब तलब कर लिया है। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार के उस आदेश पर रोक लगा दी है जिसके चलते इनका ट्रांसफर ऑप्शन चुनना अनिवार्य किया गया था।

    बता दे कि हरियाणा सरकार ने आदेश जारी कर इन शिक्षकों के लिए ट्रांसफर ऑप्शन चुनना अनिवार्य किया था। याचिकाकर्ताओं के वकील ने कोर्ट को बताया कि याची पहले ही ट्रांसफर पालिसी 2016 में भाग ले चुका है। ट्रांसफर पालिसी 2016 के नियम के तहत अगर यदि किसी शिक्षक का अन्य स्थान पर तबादला हो जाता है और मूल स्टेशन जहां से तबादला हुआ है वहां पद रिक्त रह जाता है तो शिक्षक मूल स्टेशन पर दोबारा ज्वाइन कर सकता है। ऐसे ही नियम के तहत याची अपने पुराने स्टेशन पर बचे रिक्त पद पर नियुक्त हुए हैं।

    याची ने कहा कि अभी उनको वहां पर नियुक्त हुए पांच साल नहीं हुए हैं, ऐसे में उनका ट्रांसफर नहीं किया जा सकता। जबकि सरकार ने पिछले महीने एक आदेश जारी सभी को ट्रांसफर ड्राइव में भाग लेने और एमआईएस में स्टेशन भरना अनिवार्य कर दिया। याची ने हाईकोर्ट से मांग की कि वे उनको सरकार द्वारा जारी किए इस आदेश के प्रभाव से मुक्त करे। हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए सभी याचिकाकर्ताओं को ट्रांसफर ड्राइव में भाग लेने की अनिवार्यता पर रोक लगाते हुए प्रतिवादियों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

    और भी...

  • सरकारी अस्पतालों में होगी होमगार्ड की नियुक्ति, हरियाणा सरकार ने दी मंजूरी

    सरकारी अस्पतालों में होगी होमगार्ड की नियुक्ति, हरियाणा सरकार ने दी मंजूरी

     

    सरकारी अस्पतालों में अक्सर डॉक्टरों से होने वाली मारपीट की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए सरकार की ओर से उनकी सुरक्षा के लिए 1730 होम गार्ड लगाए जाने की मंजूरी मिल गई है। अब जल्द ही इनकी भर्ती की जाएगी। जिसके बाद इन्हें अस्पतालों में तैनात किया जाएगा। डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर मांग लंबे समय से चल रही थी। कुछ समय वेस्ट बंगाल में हुए मामले के बाद डॉक्टरों ने सरकार से सुरक्षा को लेकर इंतजाम करने की मांग फिर दोहराई।

    इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इसका प्रस्ताव बनाकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास भेजा था। जिसे मंजूर कर दिया गया है। विज का कहना है कि मंजूरी मिलने के बाद जल्द ही यह इनकी भर्ती का प्रस्ताव डीजी होम गार्ड के पास जाएगा। वे फिर भर्ती प्रक्रिया शुरू करेंगे। होम गार्ड अस्पतालों में तैनात होने पर मरीज के साथ आने वालों और डॉक्टरों के बीच होने वाली घटनाओं को रोका जा सकेगा।

    स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद मेडिकल कॉलेजों में भी होम गार्ड तैनात किए जाएंगे। इसका प्रस्ताव भी जल्द बनाकर मुख्यमंत्री के पास भेजा जाएगा। वहां भी होमगार्ड तैनात होने से डॉक्टरों और स्टाफ को कोई परेशानी नहीं आएगी।

    और भी...

  • हरियाणा सरकार लागू करेगी प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान धन योजना,तैयारी शुरु

    हरियाणा सरकार लागू करेगी प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान धन योजना,तैयारी शुरु

     

    हरियाणा में केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान धन योजना को लागू करने के लिए प्रदेश सरकार ने तैयारी कर दी है। इसके लिए प्रदेशभर में ऐसे लघु कारोबारियों का डाटा जुटाने की तैयारियां शुरू कर दी गई है, ताकि लाभार्थी कारोबारियों का केंद्र सरकार की इस योजना का लाभ दिया जा सके। इसके लिए हरियाणा सरकार की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने कमान संभाल ली है। मुख्य सचिव ने इस स्कीम को लागू करवाने से पहले श्रम, आबकारी एवं कराधान विभाग, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे लघु, सुक्ष्म और मध्यम उद्योग, छोटे दुकानदारों और स्ट्रीट वेंडर्स का डाटा शेयर करें, ताकि पात्र व्यक्तियों को इस योजना से लाभांवित किया जा सके। इस संदर्भ में मुख्य सचिव ने अफसरों की बैठक भी ली।

    इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला स्तर पर अतिरिक्त जिला उपायुक्त की अध्यक्षता में कमेटियां बनाई जाएं और सभी विभाग जो इस योजना से संबंध रखते हैं, उनके नोडल अधिकारी इस कमेटी में शामिल किए जाएं। उन्होंने ग्रामीण विकास विभाग को भी निर्देश दिए कि गांवों में स्व-रोजगार शुरू करने वाले व्यक्तियों का डाटा भी साझा किया जाए, ताकि इस योजना का लाभ उन व्यक्तियों को मिल सके। लघु, सुक्ष्म और मध्यम उद्योग की एसोसिएशन को इस योजना के मानदंड और योग्यता से अवगत करवाया जाए।

    यह केंद्र सरकार की ओर से छोटे व्यापारियों-दुकानदारों के लिए एक पेंशन योजना है। डेढ़ करोड़ रुपये तक सालाना कारोबार वाले इस योजना के तहत पेंशन पा सकेंगे। प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान-धन योजना की अधिसूचित नियम-शर्तों के मुताबिक, 18 से 40 वर्ष का कोई भी कारोबारी इस योजना का लाभ उठा सकेगा। उसे हर माह के मामूली योगदान के बदले 60 साल की उम्र से करीब तीन हजार रुपये पेंशन मिलेगी।

    और भी...

  • जन आशीर्वाद यात्रा पहुंची अंबाला, CM मनोहरलाल ने कहा अब लाइसेंस रिन्यू करने का समय आ गया

    जन आशीर्वाद यात्रा पहुंची अंबाला, CM मनोहरलाल ने कहा अब लाइसेंस रिन्यू करने का समय आ गया

     

    जन आशीर्वाद यात्रा के तीसरे दिन मंगलवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अम्बाला पहुंचे। उन्होंने चुनावी रैली में कहा कि उनकी सरकार के 5 साल पूरे होने वाले हैं। जनता ने सेवक का जो लाइसेंस उन्हें दिया था वह अब लाइसेंस रिन्यू करने का समय आ गया है। क्या जनता उनके लाइसेंस को दोबारा रिन्यू करेगी?

    जन आशीर्वाद यात्रा के दूसरे दिन का रात्रि पड़ाव अम्बाला सिटी में था। मंगलवार सुबह करीब नौ बजे मुख्यमंत्री ने पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में महिला महाविद्यालय भवन शहजादपुर, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान समेत कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

    खट्टर ने 26 अक्टूबर 2014 को हरियाणा के 10वें मुख्यमंत्री के रुप में शपथ ली थी। अब हरियाणा में फिर चुनाव होने हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि सितंबर में आचार संहिता लग जाएगी। अक्टूबर में चुनाव होने की संभावना है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री खट्टर ने जन आशीर्वाद यात्रा शुरू की है, जो 18 अगस्त को पंचकूला के कालका से शुरू हुई और पूरे हरियाणा में होते हुए 8 सितंबर को खत्म होगी।

    और भी...

  • पूर्व सीएम हुड्डा की घोषणाओं और बयानबाजी को अशोक तंवर ने बताया अनुशासनहीनता

    पूर्व सीएम हुड्डा की घोषणाओं और बयानबाजी को अशोक तंवर ने बताया अनुशासनहीनता

     

    रोहतक में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंदर सिंह हुड्डा की ओर से आयोजित परिवर्तन रैली में की गई घोषणाओं और बयानबाजी पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने कहा कि पार्टी के खिलाफ जाकर रैली करना अनुशासनहीनता है। अब इस अनुशासनहीनता का अंत होना चाहिए। कांग्रेस पहले वाली ही है, बदली नहीं है।

    तंवर सोमवार को सिरसा में कांग्रेस नेता होशियारी लाल शर्मा की ओर से आयोजित किए गए बूथ सम्राट सम्मेलन में बोल रहे थे। उन्होंने कहा की इस रैली को लेकर मैं हाईकमान से बात करूंगा। घोषणा पत्र पार्टी का होता है और पार्टी ही जारी करती है।

    किसी व्यक्ति विशेष का मैनिफेस्टो नहीं होता। इस मामले का संज्ञान कांग्रेस पार्टी के प्रभारी को लेना चाहिए। अशोक तंवर ने कहा की 25 सदस्यों की जो कमेटी बनाने की बात है, उसका कोई औचित्य नहीं है। इसका अधिकार उनके पास है ही नहीं।

    और भी...

  • पूर्व CM भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कांग्रेस अब भटक गई, देशभक्ति और स्वाभिमान का नहीं करूंगा समझौता

    पूर्व CM भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कांग्रेस अब भटक गई, देशभक्ति और स्वाभिमान का नहीं करूंगा समझौता

     

    हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रविवार को जम्मू कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाए जाने के मोदी सरकार के फैसले का समर्थन किया। आर्टिकल 370 के मुद्दे पर पहले भी पार्टी के अंदर एकराय नहीं थी। कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने इस मुद्दे पर मोदी सरकार के फैसले का समर्थन किया था। अब भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी इस मुद्दे पर पार्टी लाइन से अलग दिख रहे हैं।

    बता दें कि हरियाणा में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। रोहतक में महापरिवर्तन रैली कर रहे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा अपनी ही पार्टी से नाराज़ दिखे। हुड्डा ने साफ कहा कि कांग्रेस अब भटक गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर कुछ भटकी है, हमने देशहित में इस फ़ैसले का समर्थन किया है।

    उन्होंने कहा कि हमारे बहुत सारे साथियों ने उसका विरोध किया। लेकिन जहां तक सवाल है देशभक्ति का और स्वाभिमान का मैं किसी से भी समझौता नहीं करूंगा। इसलिए ही मैंने 370 का साथ दिया है। हुड्डा ने इसके साथ ही यह भी ऐलान कर दिया कि वह सभी बंधनों से मुक्त होकर रैली में आए हैं और जनता की लड़ाई के लिए वह कोई भी फैसला लने के लिए तैयार हैं।

    पूर्व मुख्यमंत्री ने हालांकि कहा कि वह पार्टी नहीं छोड़ेंगे, लेकिन 13 विधायकों की एक समिति का गठन करेंगे जो भविष्य के बारे में फैसला लेगा।  उन्होंने इस दौरान प्रदेश की बीजेपी सरकार पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया है। फसलों के दाम नहीं मिल रहे, खाद बीज के दाम बढ रहे हैं, बेरोजगारी को बढ़ावा मिला है और कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। प्रदेश अपराध के मामले में नंबर-1 एक पर है, पारदर्शिता के नाम पर केवल लूट हुई है। हमारी सरकार में किसी से नौकरी के नाम पर कोई पैसा नहीं लिया गया और भाजपा सरकार में नौकरी परचून की दुकान की तरह बेची हैं।

    और भी...

  • हरियाणा के सरकारी स्कूलों में होगी स्मार्ट क्लासरूम, गाइडलाइन जारी

    हरियाणा के सरकारी स्कूलों में होगी स्मार्ट क्लासरूम, गाइडलाइन जारी

     

    हरियाणा के सरकारी स्कूलों में अब बच्चों को स्मार्ट क्लासरूम मुहैया कराए जाएंगे। इसके तहत रिमोट क्लासरूम टीचिंग दी जाएगी। साथ ही क्लासरूम में ऑडियो एवं वीडियो के जरिये शिक्षा के वास्तविक स्तर को विकसित किया जाएगा। इसके तहत अब हरियाणा शिक्षा विभाग की ओर से स्कूलों में स्मार्ट विजुअल क्लासरूम फैसेलिटी प्रोजेक्ट के लिए सभी स्कूलों में गाइडलाइन भी जारी कर दी है।

    इसके साथ ही हरियाणा उन 7 राज्यों में शामिल हुआ है, जिसमें हरियाणा, हिमाचल, गुजरात, राजस्थान, त्रिपुरा, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु शामिल हैं। इसके तहत कंप्यूटर से लेकर इलेक्ट्रानिक बोर्ड, प्रोजेक्टर्स, स्पेशलाइज्ड साफ्टवेयर, ओडियो-वीडियो सिस्टम शामिल हैं। गाइडलाइन में इस प्रोजेक्ट के तहत राज्य के गांव के स्कूलों में भी डिजिटल इंडिया को पहुंचाना है। इसके जरिये गांव और शहरों के सरकारी स्कूलों में शिक्षा को स्मार्ट स्तर तक पहुंचना है। बच्चों को इंटरनेट के जरिये शिक्षा के हर क्षेत्र के बारे में पढ़ाना भी है।

    क्लासरूम में ICT सिस्टम होगा, जिसके तहत विद्यार्थियों की जरूरत के अनुसार टीचिंग क्लास होगी। यह सिस्टम डिस्ट्रिक इंस्टीट्यूट आफ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग, जीओएच के साथ जोड़ा है, जिसमें बच्चों की शिक्षा के अनुसार सिस्टम को ऑपरेट किया जाता है। इसके तहत हर जिले में एक नोडल अधिकारी होगा, जो हर एक प्रोजेक्ट की निगरानी करेगा। नोडल अधिकारी की ओर से सभी स्कूलों में इस योजना को पुख्ता तौर पर चलाने की व्यवस्था करनी होगी। इसके अलावा प्रोजेक्ट की सभी सुविधाओं को प्रतिदिन जीओएच प्रशासन की ओर से चेकिंग की जाएगी।

     

     

    और भी...

  • अमित शाह ने किया जींद से हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 का शंखनाद, मिशन 75 प्लस का लक्ष्य

    अमित शाह ने किया जींद से हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 का शंखनाद, मिशन 75 प्लस का लक्ष्य

     

    गृहमंत्री अमित शाह ने आज हरियाणा के जींद में एकलव्य स्टेडियम में आयोजित विशाल रैली को संबोधित किया। उन्होंने विधानसभा चुनाव 2019 का शंखनाद किया। साथ ही विरोधियों को ललकारते हुए मिशन 75 प्लस का लक्ष्य हासिल करने की प्रतिबद्धता जताई। अपने संबोधन में गृहमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370 अखंड भारत की राह में रोड़ा थी। देश की एकता के लिए धारा 370 हटानी जरूरी थी। इसलिए हमनें 370 वोटों से अनुच्छेद 370 को हटाया।

    जो काम 70 साल में नहीं हो सकता, उसे 75 दिन में कर दिखाया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अब हमारा लक्ष्य हरियाणा में विधानसभा चुनाव जीतना है। यहां मिशन 75 पूरा करके विरोधियों को पस्त करना है। प्रदेश की जनता से मैं अपील करता हूं कि जैसे लोकसभा चुनाव में हमारा साथ दिया, उसी तरह विधानसभा चुनाव में दें तो हम जीत पाएंगे।

    बता दें कि अमित शाह से पहले रैली को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने संबोधित किया। रैली में मुख्यमंत्री के अलावा मंत्रिमंडल के सदस्य भी मौजूद रहे। चौधरी बीरेंद्र सिंह ने पगड़ी पहनाकर और लट्ठ भेंट करके केंद्रीय मंत्री का स्वागत किया। दरअसल, बीरेंद्र सिंह ने ही इस विशाल रैली का आयोजन किया है। केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने इस रैली में मुख्यातिथि के तौर पर शिरकत की।

    मोदी सरकार 2 में गृहमंत्री बनने और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद पहली बार अमित शाह हरियाणा ही आए हैं। ऐसे में रैली की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रही। अन्य जिलों से भी पुलिस टीम को बुलाया गया था। तीन आईपीएस, 30 डीएसपी, 40 इंस्पेक्टर, 200 महिला पुलिस कर्मचारी, 1300 पुलिस कर्मचारी के अलावा घुड़सावर सुरक्षा व्यवस्था देख रहे थे। रैली स्थल पर और जिले भर में सुरक्षा व्यवस्था इस प्रकार की गई है कि पुलिस की हर व्यक्ति पर नजर रही। चप्पे-चप्पे पर पुलिस कर्मी तैनात नजर आए।

    और भी...

  • अमित शाह का हरियाणा में दौरा, जींद से विधानसभा चुनाव के लिए बजाएंगे बिगुल

    अमित शाह का हरियाणा में दौरा, जींद से विधानसभा चुनाव के लिए बजाएंगे बिगुल

     

    जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहली बार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हरियाणा के जींद दौरे पर है। वह आज राज्यसभा सदस्य और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौ. बीरेंद्र सिंह के बुलावे पर हरियाणा आ रहे हैं। अमित शा‍ह जींद की जाट बांगर बेल्‍ट से आज रैली को संबोधित करेंगे और इसमें हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल बजाएंगे।

    शुक्रवार को बीरेंद्र सिंह को भाजपा में शामिल हुए पूरे पांच साल हो जाएंगे। रैली में जींद की धरती से शाह कोई बड़ा राजनीतिक संदेश दे सकते हैं, इसका असर हरियाणा में अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव पर पडऩा तय है। पांच साल पहले अमित शाह ने ही बीरेंद्र सिंह को जींद में भाजपा में शामिल कराया था। अब पांच साल बाद बीरेंद्र सिंह भाजपा के शीर्ष नेतृत्व खासकर मोदी और शाह की जोड़ी के प्रति कृतज्ञता जाहिर करने के लिए रैली कर रहे हैं। इसके पीछे उनका राजनीतिक एजेंडा भी है।

    भाजपा की आस्था रैली के जरिये अमित शाह लगे हाथ हरियाणा में चुनावी बिगुल बजाकर जाएंगे। रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपनी पांच साल की सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करेंगे। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद चल रही प्रतिक्रियाओं के बीच अमित शाह जींद की धरती से कोई बड़ा राजनीतिक संदेश भी दे सकते हैं।

    और भी...

  • Sirsa: दो नाबालिग लड़कियां एक दूसरे से शादी करने के लिए घर से भागी और फिर...

    Sirsa: दो नाबालिग लड़कियां एक दूसरे से शादी करने के लिए घर से भागी और फिर...

     

    समलैंगिक शादी करने के इरादे से घर से फरार हुई दो नाबालिग को पुलिस ने बुधवार सुबह फतेहाबाद में तलाश लिया। इसके बाद दोनों को बाल कल्याण समिति के पास लाया गया। यहां दोनों नाबालिग लड़कियों की काउंसलिंग की गई और बाद में कानूनी कागजी कार्यवाही पूरी करने के बाद उन्हें उनके परिजनों के हवाले कर दिया।

    सिरसा की रहने वाली दोनों नाबालिग लड़कियों ने बताया कि फेसबुक पर उनकी फ्रेंडशिप हुई थी। इसके बाद वे दोनों एक दूसरे को चहाने लगी। बाद में दोनों मेल फिमेल की तरह आपस में चेटिंग करने लगे। अब दोनों ने आपस में शादी करने का मन बना लिया। इसी के चलते मंगलवार को दोनों घर से फरार गईं। स्कूटी पर सवार होकर दोनों फतेहाबाद पहुंची और वहां एक पार्क में बैठकर प्लानिंग करने लगी। शाम को दोनों घर नहीं लौटी तो दोनों के परिजनों ने पुलिस थाने में दोनों की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। इसके बाद पुलिस दोनों नाबालिग की तलाश में जुट गई।

    सुबह मोबाइल लोकेशन का पता चलने पर पुलिस ने दोनों को फतेहाबाद में तलाश कर लिया। इसके बाद कीर्ति नगर चौकी पुलिस दोनों को बाल कल्याण समिति में लेकर आई। यहां पर दोनों की काउंसिलिंग की गई। दोनों नाबालिग जीवनभर एक साथ रहने पर अड़ी हुई थी। काउंसलिंग के बाद दोनों उनके परिजनों के हवाले कर दिया गया। कीर्ति नगर चौकी इंचार्ज बलवान सिंह बताया कि दोनों नाबालिग लड़कियों के कोर्ट समक्ष बयान दर्ज करवाए गए हैं। इसके बाद दोनों को उनके परिजनों के हवाले कर दिया गया। दोनों मंगलवार को घर से लापता हो गई थी। पुलिस दोनों को फतेहाबाद से तलाश करके लाई।

    और भी...

  • सीएम मनोहर लाल ने सोनीपत में फहराया झंडा, लोगों को बताए सरकार के विकाय कार्य

    सीएम मनोहर लाल ने सोनीपत में फहराया झंडा, लोगों को बताए सरकार के विकाय कार्य

     

    73वें स्वतंत्रता दिवस पर पूरे हरियाणा में जगह-जगह स्‍वतंत्रता दिवस समारोह आयाोजित किए गए। मुख्‍य राज्यस्‍तरीय समारोह सोनीपत में हुआ। मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने यहां राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया और परेड कर सलामी ली। राज्‍यपाल सत्‍यदेव नारायण आर्य ने फरीदाबाद में झंडोतोलन किया। राज्‍य के अन्‍य मंत्रियों ने विभिन्‍न जिलों में राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया।

    मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने सोनीपत में राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया। उन्‍होंने परेड की सलामी ली और समारोह को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा कि आज का दिन बहुत शुभ है। आज स्वतंत्रता दिवस के साथ-साथ रक्षाबंधन का पर्व भी है। उन्‍होंने लोगों से प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सभी मिलकर देश और प्रदेश की उन्‍नति में योगदान दें।

    मनोहरलाल ने जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 को हटाए जाने की भी चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि चंद रोज पहले हमें अभूतपूर्व खुशी मिली है। मां भारती के मस्तक कश्मीर पर अनुच्छेद 370 पीड़ा देने वाला था, लेकिन कृष्ण-अर्जुन की भांति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह की जोड़ी ने इस पीड़ा से मुक्ति दिलाते हुए सरदार पटेल के सपने को पूरा किया।

    उन्‍होंने कहा कि हरियाणा के नौजवानों ने कश्मीर के लिए शहादत दी है। हमारे युवाओं राष्ट्रीय एकता, अखंडता के लिए कभी नहीं चूकेंगे। सैनिक, पूर्व सैनिकों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा बड़े कदम उठाए गए। अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए मनोहरलाल ने कहा कि मेरे सामने अन्य सरकारों से अलग सरकार शासन की चुनौती थी। हमने भ्रष्टाचार की दलदल, दबंगों के व्यवस्था काबिज होने सहित दलाली की परंपरा खत्म की है।

    उन्‍होंने कहा कि आज प्रदेश के युवाओ में बदलाव का नजर आ रहा है और वे अपने लक्ष्‍य के प्रति गंभीर नजर आ रहे हैं। किसानों को ताकत मिली, उन्हें अहसास हुआ कि प्रदेश में उनकी चिंता करने वाली सरकार है। हरियाणा इज आफ डूइंग में देश में तीसरे और उत्तर भारत में प्रथम स्‍थान पर है। पहले विकास परियोजनाएं राजनीतिक मुनाफे को ध्यान में रखकर बनाई जाती थी, लेकिन हमने हरियाणा एक-हरियाणवी एक की सोच से आगे बढ़े।

     

    और भी...