हरियाणा

  • मानेसर लैंड स्कैम मामले में CBI कोर्ट में पेश हुए भूपेंद्र हुड्डा, 26 सितंबर को होगी अगली सुनवाई

    मानेसर लैंड स्कैम मामले में CBI कोर्ट में पेश हुए भूपेंद्र हुड्डा, 26 सितंबर को होगी अगली सुनवाई

     

    बहुचर्चित एजेल प्लॉट अलॉटमेंट केस और मानेसर लैंड स्कैम मामले में कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा बुधवार को पंचकूला की विशेष सीबीआइ कोर्ट में पेश हुए। आज मानेसर भूमि घोटाले में आरोपों पर बहस हुई। अब मामले की सुनवाई 26 सितंबर को होगी। वहीं, AJL प्लॉट आवंटन मामले में सुनवाई 22 अक्टूबर को होगी।

    मानेसर भूमि घोटाले के मामले में आज 5 घंटे तक बहस हुई। मामले के मुख्य आरोपी और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित अन्य सभी 33 आरोपित कोर्ट में पेश हुए। मामले की अगली सुनवाई अब 26 सितंंबर को होगी। उस दिन भी अरोपों पर बहस रहेगी जारी।

    AJL प्लॉट आवंटन मामले में भी हुड्डा पेश हुए। मामले में AJL हाउस के चेयरमैन मोती लाल वोहरा पेश नहीं हुए। बचाव पक्ष द्वारा मामले में आरोपी मोती लाल वोहरा के उम्र और मेडिकल कारणों के चलते परमानेंट एक्सेम्पशन के लिए लगाई गई याचिका को सीबीआइ कोर्ट ने मंजूर की थी। मामले में आज बचाव पक्ष द्वारा लगाई गई याचिका पर सीबीआइ ने जवाब दायर किया। वहीं, पिछली सुनवाई में बचाव पक्ष द्वारा मामले के मुख्य आरोपित भूपेंद्र सिंह हुड्डा की डिस्चार्ज एप्लीकेशन लगाई थी। मामले की अगली सुनवाई अब 22 अक्टूबर को होगी। 22 अक्टूबर को बचाव पक्ष द्वारा लगाई गई याचिका व सीबीआइ के दायर जवाब पर बहस होगी। उसके बाद ही सीबीआइ कोर्ट द्वारा बचाव पक्ष की याचिका पर फैसला सुनाया जाएगा।

    वहीं, हुड्डा ने नेशनल हेराल्‍ड की कंपनी एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड को पंचकूला में प्लॉट आवंटन मामले में खुद को मुक्‍त करने की मांग की थी। उहोंने पंचकूला की विशेष सीबीआइ अदालत में इस संबंध में याचिका दायर की थी। इस पर कोर्ट ने सीबीआइ को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। इस मामले में भी आज ही सुनवाई हुई।

    और भी...

  • हरियाणा विधानसभा चुनाव: शिरोमणि अकाली दल का ऐलान, बीजेपी के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव

    हरियाणा विधानसभा चुनाव: शिरोमणि अकाली दल का ऐलान, बीजेपी के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव

     

    हरियाणा विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान होने से पहले बीजेपी को बड़ी कामयाबी मिली है। शिरोमणि अकाली दल ने हरियाणा में बीजेपी के साथ गठबंधन करने का एलान किया है। अकाली दल का कहना है कि वह राज्य में बीजेपी के साथ मिलकर ही चुनाव लड़ेगा। इससे पहले शिरोमणि अकाली दल हरियाणा में इंडियन नेशनल लोकदल के साथ मिलकर चुनाव लड़ता रहा है।

    बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला शिरोमणि अकाली दल की कोर कमेटी ने लिया। इस मीटिंग की अध्यक्षता पार्टी चीफ सुखबीर सिंह बादल ने की थी। इससे पहले पार्टी ने जानकारी दी थी कि वह चुनाव लड़ने के लिए इच्छुक उम्मीदवारों का 22 सितंबर को इंटरव्यू लेगी। पार्टी ने टिकट के लिए एप्लिकेशन देने की तारीख 22 सितंबर तय की है।

    अपने सबसे मुश्किल दौर से गुजर रही इंडियन नेशनल लोकदल के लिए शिरोमणि अकाली दल का साथ छोड़ना किसी बड़े झटके से कम नहीं है। प्रकाश सिंह बादल को चौटाला परिवार का नजदीकी माना जाता है। इससे पहले शिरोमणि अकाली दल इनेलो के साथ मिलकर ही हरियाणा में चुनाव लड़ती रही है। 2014 के विधानसभा चुनाव में अकाली दल का एक उम्मीदवार जीत दर्ज करने में कामयाब हुआ था।

    और भी...

  • अनिल विज ने साधा पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा पर निशाना, बताया पलटूराम

    अनिल विज ने साधा पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा पर निशाना, बताया पलटूराम

     

    जैसे जैसे हरियाणा में विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे है, नेता एक दूसरे पर पलटवार का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे है और हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा पर निशाना साधते हुए कहा कि वे तो पलटूराम हैं। विज ने इस दौरान प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा पर भी निशाना साधा है।

    हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने कहा कि हुड्डा पहले अनुच्छेद 370 को हटाने का समर्थन करते रहे और अब अनुच्छेद 370 को हटाने का विरोध करने वाली कुमारी शैलजा के साथ कंधे से कंधा मिला कर चलने की बात कर रहे हैं। इनकी कलाबाजियों से प्रदेश की जनता को कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है।

    मंत्री अनिल विज ने अनुच्छेद 370 को हटाने का विरोध करने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इसी अनुच्छेद की वजह से कश्मीर हमारा होकर भी हमारे से अलग सा दिखता था। इस धारा के लगने की वजह से वहां पर हमारे अनेकों सैनिक शहीद हुए और वहां पर अनेकों आतंकवादी गतिविधियां हुईं। सरकार ने बहुत बड़ा कदम उठाया और उन्होंने अनुच्छेद 370 को खत्म किया। जो कश्मीर की जनता के हित में लाभकारी साबित होगा।

    और भी...

  • HSSC क्लर्क भर्ती परीक्षा के स्थगित होने के फर्जी ट्वीट पर कार्रवाई, आयोग ने दर्ज करवाई FIR

    HSSC क्लर्क भर्ती परीक्षा के स्थगित होने के फर्जी ट्वीट पर कार्रवाई, आयोग ने दर्ज करवाई FIR

     

    हरियाणा में क्लर्क भर्ती परीक्षा के स्थगित होने का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल  हुआ। इस ट्वीट में लिखा गया है कि क्लर्क भर्ती परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। परीक्षा के रद्द होने की अफवाह वायरल  होने पर हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने संज्ञान लिया।

    आयोग ने अज्ञात के खिलाफ पंचकूला के सेक्टर 5 पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराई। इसके साथ-साथ आयोग ने स्पष्ट कर दिया है कि 21 सितंबर से तीन दिन तक चलने वाली क्लर्क भर्ती परीक्षा अपने निर्धारित समय के अनुरूप ही होगी, इसमें किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है।

    हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष भारत भूषण भारती ने बताया कि कुछ शरारती तत्वों ने 15 सितंबर को एक फर्जी नोटिस सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी, जिसमें 21 से 23 सितंबर तक क्लर्क भर्ती परीक्षा को स्थगित करने का नोटिस दिया गया था। बड़ी संख्या में युवाओं से हित से जुड़ा मामला होने के कारण यह पोस्ट जल्द ही वायरल हो गया। वहीं वायरल हो रहे पोस्ट को लेकर आयोग ने कहा कि ऐसा कोई नोटिस हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने जारी नहीं किया गया है। मामले को लेकर आयोग ने इस पर संज्ञान लेते हुए एक एफआईआर भी दर्ज कराई है। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धारा 66D, आईटी एक्ट और धारा 420 के तहत मामला दर्ज किया है।

    और भी...

  • पंचकूला में कंप्यूटर शिक्षकों पर पुलिस का लाठीचार्ज,कई शिक्षकों के फूटे सिर

    पंचकूला में कंप्यूटर शिक्षकों पर पुलिस का लाठीचार्ज,कई शिक्षकों के फूटे सिर

     

    पंचकूला में 20 अगस्त से कंप्यूटर टीचर्स संघ के बैनर तले धरने पर बैठे कंप्यूटर शिक्षक सोमवार दोपहर को सड़क पर आ गए और नारेबाजी करते हुए शिक्षा सदन का घेराव करने पहुंच गए। यहां सदन के गेट बंद किए गए। पुलिस ने खूब जोर आजमाइश भी हुई। इन्हें बताया कि पंचकूला डीसी ने बुलाया है, वहां प्रतिनिधिमंडल जाकर मिल सकता है। इस पर सभी ने डीसी ऑफिस की ओर कूच कर दिया। डीसी कार्यालय के बाहर ये सड़क पर बैठ गए। करीब एक घंटा इंतजार के बाद पुलिस की ओर से इन्हें उठने को कहा गया तो टीचर्स ने मना कर दिया।

    पुलिस ने इन्हें खदेड़ने के लिए पहले वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया, लेकिन जब ये नहीं खिसके तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इतना ही नहीं इन्हें घसीट कर गाडियों में डाला गया। इस दौरान काफी संख्या में टीचर्स को चोटें लगी। पंचकूला के एसीपी नुपूर बिश्नोई ने बताया कि कंप्यूटर टीचर्स को पहले शांत करने का प्रयास किया। ये रोड जाम करने जा रहे थे। गिरफ्तारी का प्रयास किया। जब नहीं माने तो लाठी चार्ज करना पड़ा। ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी मौके पर थे। अज्ञात के खिलाफ केस भी दर्ज किया गया है।

    प्रदेशभर में करीब 2013 से 2200 कंप्यूटर शिक्षक शिक्षा दे रहे हैं। कंप्यूटर शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बलराम धीमान ने कहा कि पिछले 6 वर्षों में सरकार द्वारा 10 बार से ज्यादा उनकी सेवा को समाप्त किया जा चुका है। धीमान ने बताया सरकार शिक्षकों का स्थाई समाधान करने की बजाय सड़क पर ही रखना ज्यादा पसंद कर रही है। शिक्षा विभाग के पास स्थाई पॉलिसी के तहत कंप्यूटर शिक्षकों के 3216 पद स्वीकृत हैं। इसके बावजूद समायोजित नहीं किया जा रहा है।

     

    और भी...

  • HTET पास युवाओं के लिए खुशखबरी, HTET प्रमाणपत्र 5 साल की जगह होगा 7 साल मान्य

    HTET पास युवाओं के लिए खुशखबरी, HTET प्रमाणपत्र 5 साल की जगह होगा 7 साल मान्य

     

    हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा पास करने वाले हजारों युवाओं को प्रदेश सरकार ने बड़ी राहत दी है। अब HTET प्रमाणपत्र 5 साल के बजाय 7 साल तक के लिए मान्य होगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

    सरकार के फैसले से वर्ष 2014 में HTET पास करने वाले 8072 JBT, 9316 TGT और 5770 PGT को फायदा होगा जिनके प्रमाणपत्र की वैधता पहली मार्च को खत्म हो गई थी। इन युवाओं का दर्द था कि उन्हें भर्ती परीक्षा का मौका दिए बगैर ही उनके प्रमाणपत्र रद्दी का टुकड़ा बन गए। वर्ष 2012 के बाद रेगुलर JBT भर्ती का कोई विज्ञापन नहीं निकाला गया है। इसी तरह TGT में भी सामाजिक अध्ययन, गणित, हिंदी विषयों की भर्ती का 5 साल तक कोई विज्ञापन नहीं निकला।

    HTET पास एसोसिएशन लंबे समय से सरकार पर HTET प्रमाणपत्र की अवधि को बढ़ाने का दबाव बनाए हुए थी। इसके चलते हाल ही में सरकारी स्तर पर उच्चस्तरीय बैठक कर केंद्रीय अध्यापक पात्रता टेस्ट  की तर्ज पर HTET के प्रमाणपत्र की अवधि को 7 साल करने का निर्णय ले लिया गया।

     

    और भी...

  • NRC के मुद्दे पर बोले सीएम मनोहर लाल, कहा हरियाणा में भी होगा NRC लागू

    NRC के मुद्दे पर बोले सीएम मनोहर लाल, कहा हरियाणा में भी होगा NRC लागू

     

    हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि असम की तरह हरियाणा में भी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर लागू किया जाएगा। इसके अलावा राज्य में कानून आयोग का गठन करने पर भी विचार किया जा रहा है। समाज के प्रबुद्ध व्यक्तियों की सेवाएं लेने के लिए अलग से एक स्वैच्छिक विभाग का गठन भी किया जाएगा।

    मुख्यमंत्री रविवार को अपनी सरकार के पिछले पांच वर्षों के कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों की जानकारी देने के लिए रष्ट्रीय स्तर पर चलाए जा रहे महा जनसंपर्क अभियान के अंतिम दिन पंचकूला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका उद्देश्य सरकार द्वारा पिछले पांच वर्षों के कार्यकाल में किए गए कार्यों की जानकारी लोगों तक पंहुचाना है। वे आने वाले समय में क्या करना है, इसके बारे भी प्रबुद्ध लोगों से सुझाव भी ले रहे हैं। अच्छे सुझाव को हम अपने संकल्प पत्र में शामिल भी कर सकते हैं।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवार पहचान पत्र पर हरियाणा सरकार तेजी से कार्य कर रही है तथा इसके आंकड़ों का उपयोग राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर में भी किया जाएगा। उन्होंने न्यायमूर्ति एचएस भल्ला के प्रयासों की सराहना की कि सेवानिवृति के बाद भी वे NRC डाटा का अध्ययन करने के लिए असम के दौरे पर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह सरकार के लिए भी एक तरीके से बेहतर होगा और भल्ला की सेवाएं राज्य में स्थापित किए जाने वाले NRC के लिए उपयोगी होंगी।

     

    और भी...

  • विधानसभा चुनाव: अशोक अरोड़ा और जेपी सहित पांच नेताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ

    विधानसभा चुनाव: अशोक अरोड़ा और जेपी सहित पांच नेताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ

     

    विधानसभा चुनाव के आते ही हरियाणा की राजनीति में नेताओं का एक दल से दूसरे दल में जाने का सिलसिला और तेज हो गया है। इस कड़ी में इनेलो के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, हांसी से इनेलो के पूर्व विधायक सुभाष गोयल, कालका से पूर्व विधायक और पार्टी जिला अध्यक्ष प्रदीप चौधरी सहित पूर्व मंत्री पिहोवा से इनेलो के पूर्व विधायक स्व. जसविंद्र सिंह संधू के बेटे गगनजोत सिंह इनेलो छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए।

    इसके अलावा कलायत से निर्दलीय विधायक जयप्रकाश ने भी कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। इन नेताओं के पार्टी में शामिल होने की घोषणा रविवार शाम कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी के प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी आजाद ने की। आजाद के साथ प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी मौजूद थे।

    इंडियन नेशनल लोकदल में टूट के बाद पार्टी के विधायक, पूर्व विधायक और नेताओं का दूसरे दलों में जाने का सिलसिला लोकसभा चुनाव से ही शुरू हो गया था। पार्टी के अब तक 10 विधायक भाजपा में शामिल हो चुके हैं। इनेलो के चार विधायक नवगठित जननायक जनता पार्टी में हैं। 2014 में इनेलो के कुल 19 विधायक जीते थे, इनमें से दो विधायकों जींद के हरीचंद मिढ्डा और पिहोवा के जसविंद्र सिंह संधू का निधन हो गया था। इनेलो में अब तीन विधायक पूर्व नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, ओमप्रकाश और वेद नारंग ही हैं।

    और भी...

  • हरियाणा सरकार का NHM कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ाया महंगाई भत्ता

    हरियाणा सरकार का NHM कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ाया महंगाई भत्ता

     

    हरियाणा में लंबे अरसे से संघर्ष कर रहे एनएचएम कर्मचारियों को सरकार ने एक और राहत देते हुए उनका महंगाई भत्ता बढ़ा दिया है। इन कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 148 से 154 प्रतिशत तक बढ़ाया जाएगा। यह लाभ इन कर्मचारियों को इसी साल पहली जनवरी से मिलेगा। सरकार की अनुमति के बाद मिशन निदेशक एनएचएम हरियाणा ने इस संदर्भ में सभी जिलों के सिविल सर्जन को जरूरी दिशा-निर्देश भेज दिए हैं और उन्हे आवश्यक कार्यवाही को कहा है।

    एनएचएम कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष रिहान रजा ने इसके लिए सभी एनएचएम कर्मचारियों की तरफ से मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री समेत आला अफसरों का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि एनएचएम कर्मचारी पिछले काफी समय से लंबित मांगों को लेकर संघर्षरत थे और उसी कड़ी में 9 सितंबर को मुख्यमंत्री आवास करनाल का घेराव किया गया था और उसके पश्चात जिला प्रशासन करनाल की मध्यस्थता के चलते एनएचएम कर्मचारी संघ के प्रतिनिधिमंडल की बैठक 10 सितंबर को मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर के साथ हुई थी। जिसमें उक्त मांग पर सहमति बन गई  थी।

    उन्होंने बताय कि इस मांग केअलावा अन्य मांगों जैसे सातवां वेतन आयोग का लाभ, हड़ताल के दौरान काटे वेतन की वापसी, एकमुश्त वेतन ,सेवा नियम में संशोधन इत्यादि मांगों पर भी सरकार ने सकारात्मक कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

    और भी...

  • नीलोखेड़ी में रिश्वत खोरी का हुआ पर्दाफाश, रिश्वत लेते बिजली विभाग के JE का किसान ने बनाया VIDEO

    नीलोखेड़ी में रिश्वत खोरी का हुआ पर्दाफाश, रिश्वत लेते बिजली विभाग के JE का किसान ने बनाया VIDEO

     

    हरियाणा के नीलोखेड़ी बिजली दफ्तर में तैनात जेई सूरजभान का एक किसान से ट्रांसफार्मर लगवाने की एवज में तीन हजार रुपए रिश्वत लेते का एक वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो आला अधिकारियों तक पहुंचा तो जेई सूरजभान को सस्पेंड कर दिया गया। विभाग ने केस की जांच के आदेश दे दिए हैं। 

    वीडियो बनाने वाला किसान गुरजंट ने बताया कि उसका ट्रांसफर पहले खराब हो गया था। इसके बाद मैं बिजली विभाग के दफ्तर गया तो उन्होंने कहा कि करनाल जाकर फाइल पर नंबर लगवाकर आओ। करनाल जा रहा था कि रास्ते में फोन आया कि आगर मिलो। मैं गया तो अंदर जाते ही फोन का कैमरा चालू कर लिया।

    वीडियो में नजर आ रहा है कि जेई सूरजभान पैसे कि डिमांड कर रहा है। किसान ने पहले 1 हजार रुपए दिए, वे कहने लगे कि यह कम है। इसके बाद किसान गुरजंट ने 2 हजार रुपए दिए। पैसे जेब में डालने के बाद जेई कहने लगे कि मोबाइल में स्टिंग ऑप्रेशन तो नहीं कर रहे हो। आजकल लोग वीडियो ज्यादा बनाते हैं। इस पर किसान कहता है कि नहीं सर, ऐसा नहीं है।

    इस मामले में बिजली निगम के एसई एसके चावला ने बताया कि वीडियो से रिश्वत दिखाई दे रही है। तुरंत प्रभाव से जेई सूरजभान को सस्पेंड कर दिया है। जिले में और भी किसानों से कोई स्टाफ सदस्य इस तरह पैसे मांगता है तो वह भी शिकायत करें। भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

    और भी...

  • हरियाणा विधानसभा चुनाव: जेजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

    हरियाणा विधानसभा चुनाव: जेजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

     

    हरियाणा विधानसभा चुनाव का आगाज हो चुका है। प्रदेश में कभी भी आचार सहिंता लागू हो सकती है। आचार संहिता लगने से पहले ही सभी पार्टियों में सबसे पहले जननायक जनता पार्टी ने 7 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है।

    इस सूची में इनेलो से 2014 में विधायक रहे अनूप धानक को जजपा की तरफ से उकालाना सीट से उतारा गया है। बता दें कि अनूप धानक को इसी महीने विधानसभा स्पीकर ने दल बदल कानून के तहत कार्रवाई करते हुए इनकी सदस्यता रद्द कर दी थी।

    और भी...

  • हरियाणा पुलिस का बड़ा फैसला 15 सितंबर तक नहीं कटेगा चालान,अब करेंगे ये काम

    हरियाणा पुलिस का बड़ा फैसला 15 सितंबर तक नहीं कटेगा चालान,अब करेंगे ये काम

     

    एक सितंबर लागू हुए इस एक्ट के बाद चालानों के सारे रिकार्ड टूटने लगे हैं। भारी-भरकम चालान ने लोगों के साथ राज्य सरकारों को भी परेशान कर दिया है। वाहन चालकों में मची अफरातफरी के बीच हरियाणा पुलिस ने बड़ा कदम उठाया है। राज्य में शुक्रवार से रविवार तक किसी वाहन का चालान नहीं काटा जाएगा। इस दौरान पुलिस कर्मचारी वाहन चालकों को फूल देकर ट्रैफिक नियमों का पालन करने की गुजारिश करेंगे।

    पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने कहा कि 13 से 15 सितंबर तक चलने वाले अभियान के तहत सभी एसएचओ, डीएसपी, एसपी, पुलिस आयुक्त और रेंज एडीजीपी और आइजी को नए कानून और बढ़े हुए दंड के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कहा गया है। अभियान के दौरान ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को दंडित करने के बजाय आम जनता को यातायात नियमों के प्रति शिक्षित, जागरूक और प्रेरित करने पर जोर दिया जाएगा।

    जागरूकता अभियान में कॉलेज के छात्रों और मौजिज लोगों की मदद ली जाएगी। बता दें  नया मोटर व्हीकल एक्ट आने के बाद लोगों के लाखों रुपये तक का चालान कटा है। वीरवार को दिल्ली में मुबारका चौक के पास एक ट्रक का दो लाख 500 रुपये का चालान कटा। इसके अलावा दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में भी बड़े चालान कटे हैं।

    और भी...

  • खाप पंचायत पर दुष्यंत चौटाला का बड़ा बयान, कहा उन्हें देवीलाल परिवार को एक करवाना चाहिए

    खाप पंचायत पर दुष्यंत चौटाला का बड़ा बयान, कहा उन्हें देवीलाल परिवार को एक करवाना चाहिए

     

    हरियाणा में विधानसभा चुनाव से पहले इनेलो छोड़कर जा रहे नेताओं के सिलसिले के बीच खाप पंचायतों द्वारा चौटाला परिवार को एक करवाने की मुहिम पर दुष्यंत चौटाला ने सवाल खड़े किए हैं। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि खाप कोई राजनीतिक फ्रंट नहीं है, वे चौटाला परिवार को एक क्यों करवा रहे है, उन्हें तो देवीलाल परिवार को एक करवाना चाहिए। स्वर्गीय जगदीश के परिवार के भी तीन सदस्य हैं, कभी खाप पंचायत तो उनसे नहीं मिली।

    दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मेरे से कोई खाप पंचायत मिलने नहीं आई, अकेले रमेश दलाल दो बार मिलने आए। उन्होंने इसके बाद चौटाला गांव में मेरे खिलाफ बयान दिया कि दुष्यंत बीजेपी की गोद में जाकर बैठ गया है। जबकि बीजेपी से आजतक संसद से लेकर हरियाणा तक किसी ने लड़ाई लड़ी है तो वह दुष्यंत चौटाला है।

    उन्होंने कहा कि खाप परिवार के नाम पर घूमा फिराकर दुष्यंत चौटाला को टारगेट कर रही हैं। डॉ. अजय चौटाला पहले ही कह चुके हैं कि जब वे जेल से बाहर आएंगे तो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला और प्रकाश सिंह बादल से मिलकर बात करेंगे और कोई राजनीतिक फैसला लेंगे। दुष्यंत ने कहा कि फिलहाल जेजेपी की जिम्मेदारी उनके कंधों पर है। वे स्पष्ट कर देते हैं कि जजपा हरियाणा की 90 की 90 सीटों पर अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। 

     

    और भी...

  • अमित शाह का फर्जी लेटर हेड बनाकर सीएम मनोहर लाल को भेजी चिट्ठी, ये थी सच्चाई

    अमित शाह का फर्जी लेटर हेड बनाकर सीएम मनोहर लाल को भेजी चिट्ठी, ये थी सच्चाई

     

    हरियाणा सीएम मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा प्रदेशभर में चली और इस दौरान सीएम ने सरकार के 5 सालों का हिसाब जनता को बताया और आने वाले विधानसभा चुनाव में फिर से बीजेपी को वोट करने की अपील की। हरियाणा विधानसभा चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे है, वैसे वैसे हर पार्टी में टिकट के दावेदार सामने आ रहे है और टिकट के लिए सभी अपनी अपनी अर्जी नेताओ के पास लगा रहे है।

    लेकिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का फर्जी लेटर हेड बनाकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को चिट्ठी भेजी गई और चिट्ठी में हरिओम नाम के युवक को टिकट देने को कहा गया था। और इस मामले में हरियाणा पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए दोनों का नाम हरिओम और गोपाल बताया गया है।

    हरिओम बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ना चाह रहा था और हरिओम ने सीएम की जन आशीर्वाद यात्रा का स्वागत भी किया था। डीएसपी रमेश कुमार ने दोनों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दोनों को 2 दिन के रिमांड पर भेजा है।

    और भी...

  • बबीता फौगाट ने हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर पद से दिया इस्तीफा, इस सीट से लड़ सकती है चुनाव

    बबीता फौगाट ने हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर पद से दिया इस्तीफा, इस सीट से लड़ सकती है चुनाव

     

    अंतरराष्ट्रीय महिला रेसलर बबीता फौगाट ने हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर पद से इस्तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि बबीता हरियाणा की बाढड़ा या चरखी दादरी सीट से बीजेपी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ सकती हैं। हाल में ही बबीता ने अपने पिता महावीर फौगाट के साथ बीजेपी ज्वॉइन की थी। फौगाट बीजेपी के चुनाव चिह्न पर अगला चुनाव लड़ सकती हैं।

    बबीता फौगाट ने ट्वीट कर लिखा, आज भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़कर राजनीति में नई शुरुआत कर रही हूं। आप सबसे भी आह्वान करती हूं कि आप भी भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़कर भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के हाथों को मजबूत करें।

    इससे पहले पहलवान बबीता फौगाट और उनके पिता महावीर फौगाट केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू की मौजूदगी में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे। द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित महावीर फौगाट इस साल की शुरुआत में अजय चौटाला की जननायक जनता पार्टी में शामिल हुए थे।

    बीजेपी में शामिल होने के बाद रिजिजू ने महावीर फौगाट की सराहना की थी। उन्होंने कहा, उन्होंने कई महान पहलवानों को बनाया है। फौगाट के पार्टी में शामिल होने के बाद रिजिजू ने कहा, बीजेपी के लिए यह गर्व की बात है कि दो पहलवान, जिन्होंने भारत को गर्व करने का अवसर दिया है, पार्टी में शामिल हुए हैं।

    और भी...