पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि पर PM नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि          मनमोहन, सोनिया और राहुल ने देश के पहले PM जवाहरलाल नेहरू को श्रद्धांजलि दी           राम का काम करना है तो राम का काम हो कर रहेगा: राम मंदिर पर मोहन भागवत          
होम | देश | अमित शाह का TMC पर हमला, बोले CRPF नहीं होती तो मेरा बचकर निकलना मुश्किल था

अमित शाह का TMC पर हमला, बोले CRPF नहीं होती तो मेरा बचकर निकलना मुश्किल था

 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली में प्रेस वार्ता कर कोलकाता के रोड शो में हिंसा को लेकर तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हम शांति से रोड शो निकाल रहे थे, लेकिन तीन हमले हुए। हमारे पास खबर थी कि यूनिवर्सिटी से कुछ लोग आएंगे और पथराव करेंगे। शाह ने कहा है कि यूनिवर्सिटी के अंदर विद्यासागर जी की मूर्ति तृणमूल कार्यकर्ताओं ने ही तोड़ी। दूसरी ओर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि क्या अमित शाह भगवान हैं, जो उनके खिलाफ प्रदर्शन नहीं किया जा सकता।

मंगलवार रात शाह के रोड शो के दौरान हंगामा हुआ था। अमित शाह जिस वाहन पर सवार थे, उस पर डंडे फेंके गए। रोड शो पर कुछ लोगों ने पत्थर फेंके और आगजनी भी की गई। पुलिस ने हालात काबू में करने के लिए लाठीचार्ज किया। इसके बाद शाह ने रोड शो खत्म कर दिया।

शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि चुनाव में बंगाल के अलावा कहीं और हिंसा की घटनाएं नहीं हुईं। ममता बनर्जी का आरोप है कि हिंसा भाजपा कर रही है। भाजपा पूरे देश में चुनाव लड़ रही है जबकि आप सिर्फ बंगाल की 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं। किसी और राज्य में हिंसा नहीं होती, सिर्फ बंगाल की 6 सीटों पर हिंसा होती है। कल पुलिस मूक दर्शक बन कर खड़ी रही। वहां हमारे कार्यकर्ताओं को उकसाने का काम किया गया। प्रधानमंत्री, मेरे और नेताओं के पोस्टर फाड़ने की कोशिश की गई। आगजनी, पथराव और बोतल के अंदर केरोसीन डालकर सुलगाने की कोशिश भी हुई। यूनिवर्सिटी के अंदर से पत्थरबाजी अंदर से हो रही थी।

शाह ने कहा कि यूनिवर्सिटी के अंदर जाकर विद्यासागर जी की मूर्ति को किसने तोड़ा। अदंर से तो टीएमसी के कार्यकर्ता पत्थरबाजी कर रहे थे। वही डंडे लेकर बाहर आ रहे थे। भाजपा कार्यकर्ता तो बाहर थे। बीच में पुलिस थी। टीएमसी कार्यकर्ताओं ने ही ईश्वरचंद विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ी।

भाजपा ने चुनाव आयोग से अपील की है कि ममता को पश्चिम बंगाल में प्रचार से रोकना चाहिए। भाजपा का आरोप है कि राज्य में संवैधानिक तंत्र खत्म हो गया है। शाह के रोड शो में हिंसा होने के बाद मंगलवार को केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी की अगुआई में भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से मुलाकात की थी। भाजपा ने आयोग से बंगाल के मामले में तुरंत दखल देने की अपील की, ताकि वहां निष्पक्ष चुनाव कराए जा सकें।

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.