पंजाब

  • इमरान खान की पार्टी के पूर्व विधायक बलदेव कुमार का भारत वीजा खत्म, कहा नहीं जाएंगे वापस

    इमरान खान की पार्टी के पूर्व विधायक बलदेव कुमार का भारत वीजा खत्म, कहा नहीं जाएंगे वापस

     

    पाकिस्तान के बारीकोट से इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के पूर्व विधायक बलदेव कुमार का तीन महीने का भारत का वीजा मंगलवार को खत्म हो गया। हालांकि, बलदेव ने दो महीने पहले से ही वीजा के लिए अप्लाई कर रखा है, लेकिन उसका जवाब सरकार की तरफ से नहीं आया है। बलदेव ने अभी दो दिन पहले ही इसका रिमाइंडर भी सरकार को भेजा है।

    बलदेव कुमार ने बताया कि उनके लिए अब भारत ही उनका देश है। पाकिस्तान में उनकी जान को आतंकियों और आइएसआइ से खतरा है। इस कारण वे वापस नहीं जाएंगे। बलदेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि वे उन्हें भारत में राजनीतिक शरण दें और जल्द उनका वीजा जारी किया जाए। जानकारों की मानें तो बलदेव पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हैं और नागरिकता कानून में किए गए बदलाव के तहत वह वीजा पर फैसला आने तक बिना वीजा भी भारत में रह सकते हैं।

    तीन माह पहले 12 अगस्त को ईद के दिन भारत पहुंचे बलदेव का ससुराल खन्ना में ही है। उनकी बेटी थैलेसीमिया से पीडि़त है। बलदेव ने करीब दो माह पहले ही लंबी अवधि के वीजा के लिए अप्लाई भी किया था, लेकिन केंद्र सरकार ने फिलहाल उसका कोई जवाब नहीं दिया है।

    और भी...

  • करतारपुर कॉरिडोर: सिद्धू ने इमरान खान को कहा आप पंजाब आएं तो सही, लोग फूल बरसाएंगे आप पर

    करतारपुर कॉरिडोर: सिद्धू ने इमरान खान को कहा आप पंजाब आएं तो सही, लोग फूल बरसाएंगे आप पर

     

    पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को करतारपुर गुरुद्वारा जाने के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बस में सफर किया। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डेरा बाबा नानक में करतारपुर स्थित दरबार साहिब को जोड़ने वाले कॉरिडोर का उद्घाटन किया। यहां से 550 श्रद्धालुओं का जत्था रवाना किया। इसमें पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के अलावा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी शामिल थे।

    अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान में इस जत्थे का प्रधानमंत्री इमरान खान ने स्वागत किया। गुरदासपुर से भाजपा सांसद सनी देयोल भी इसी बस में थे। वहीं, कॉरिडोर से श्री करतारपुर साहिब जाते हुए बस में यात्रा करते हुए कैप्टन ने इमरान को बताया कि इस गुरुद्वारे के साथ उनके दादा का खास रिश्ता है।

    बस में नवजोत सिंह सिद्धू भी मौजूद थे। उन्होंने इमरान खान से कहा कि आप पंजाब आएं तो सही, लोग फूल बरसाएंगे आप पर। प्रधानमंत्री इमरान खान ने इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरशरण कौर को रिसीव किया। उन्हें लग्जरी गाडिय़ों में करतारपुर साहिब ले जाया गया। पांच बार के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के लिए भी अलग से लग्जरी गाड़ी भेजी गई, जिसमें वह अकेले ही गुरुद्वारा साहिब गए।

    और भी...

  • प्रकाश पर्व लिए गए 1100 श्रद्धालुओं को पाक सरकार ने दी तीन चरण की सुरक्षा व्यवस्था

    प्रकाश पर्व लिए गए 1100 श्रद्धालुओं को पाक सरकार ने दी तीन चरण की सुरक्षा व्यवस्था

     

    दिल्ली से ननकाना साहिब तक सजाए गए नगर कीर्तन में शामिल 1100 श्रद्धालुओं के लिए पाकिस्तान सरकार ने तीन चरण की सुरक्षा व्यवस्था की है। गुरुद्वारा ननकाना साहिब में पहुंचे इन श्रद्धालुओं की सुरक्षा की दोबारा समीक्षा की गई।

    पाकिस्तान में मौलाना फजरू रहमान द्वारा निकाले गए आजादी मार्च से श्रद्धालुओं की सुरक्षा में कोई सेंध न लगे, इसके लिए 700 पुलिस कर्मचारियों, चार जिला पुलिस अधीक्षकों, 6 निरीक्षकों, 11 उप-निरीक्षकों, 23 सहायक उप-निरीक्षकों, 33 हेड कांस्टेबल सहित 506 कांस्टेबल, 40 महिला कांस्टेबल और कई सादा वर्दी अधिकारी श्रद्धालुओं के साथ-साथ हैं।

    जानकारी के अनुसार सिख तीर्थयात्रियों की सुरक्षा की समीक्षा के बाद बहुस्तरीय सुरक्षा योजना बनाई गई है। यह सुरक्षा व्यवस्था पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के साथ विचार-विमर्श के बाद की गई है। पाकिस्तान माथा टेकने गए भारतीय श्रद्धालु नगर कीर्तन के अंतर्गत रविवार आधी रात को हसनबदल स्थित गुरुद्वारा पंजा साहिब में पहुंचे और अरदास की।

     

    और भी...

  • सीएम अमरिंदर सिंह ने माना दिल्ली में प्रदूषण और स्मॉग की स्थितिे के लिए पंजाब भी जिम्मेदार, लेकिन..

    सीएम अमरिंदर सिंह ने माना दिल्ली में प्रदूषण और स्मॉग की स्थितिे के लिए पंजाब भी जिम्मेदार, लेकिन..

     

    पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने माना है कि दिल्‍ली में प्रदूषण और स्‍मॉग की स्थितिे के लिए पंजाब भी जिम्‍मेदार है, लेकिन उसे पूरा दोष नहीं दिया जा सकता है। दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस पर राजनीति करना छोड़कर खुद के यहां की स्थिति को देखना चाहिए। इसके साथ ही प्रदूषण को लेकर हाहाकार मचने के बाद पंजाब सरकार ने पराली जलाने वाले किसानों पर और सख्ती शुरू कर दी है।

    रविवार को तरनतारन और फतेहगढ़ साहिब में पराली जलाने पर 40 किसानों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। फतेहगढ़ साहिब में पांच किसानों को गिरफ्तार भी किया गया है। सरकार ने सख्ती करने के साथ ही लोगों की सेहत के खतरे को देखते हुए एहतियाती कदम भी उठाने शुरू कर दिए हैं।

    मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बार फिर कहा है कि दिल्ली में प्रदूषण बढऩे के लिए सारा दोष पंजाब पर मढऩा ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से आती हवाओं समेत पश्चिमी चक्रवात से दिल्ली में स्मॉग के लिए पंजाब की भूमिका तो है लेकिन सिर्फ वही दोषी नहीं है। दिल्ली में प्रदूषण के कई कारण हैं।

    मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि हाई कोर्ट द्वारा किसानों को बीते वर्ष किए जुर्मानों की वसूली करने पर रोक लगाने के बावजूद राज्य सरकार पराली जलाने वाले किसानों के विरुद्ध कार्रवाई कर रही है। वायु प्रदूषण की समस्या को रोकने के लिए उनकी सरकार बेहद संजीदा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक करीब तीन हजार किसानों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। पिछले साल के मुकाबले इस बार पराली कम जल रही है। कुल मामलों में दस से बीस फीसद तक की कमी आने की पूरी संभावना है।

    और भी...

  • हरियाणा के बाद पंजाब ने भी छोड़ा चंडीगढ़ पर हक, कोर्ट में सरकार ने कही ये बात

    हरियाणा के बाद पंजाब ने भी छोड़ा चंडीगढ़ पर हक, कोर्ट में सरकार ने कही ये बात

     

    हरियाणा के बाद आखिरकार पंजाब सरकार ने भी माना है कि चंडीगढ़ पर उसका हक नहीं है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में कहा गया कि चंडीगढ़ ना हरियाणा का है और ना ही पंजाब का। हरियाणा के बाद पंजाब सरकार ने भी चंडीगढ़ पर अपना हक छोड़ दिया।

    बुधवार को हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान पंजाब सरकार ने हाई कोर्ट में हल्फनामा दाखिल करते हुए कहा है कि चंडीगढ़ 1966 से पहले पंजाब का भाग था, लेकिन अब नहीं है। बता दें कि इससे पहले हरियाणा सरकार भी हाई कोर्ट में कह चुकी है कि चंडीगढ केवल हरियाणा की राजधानी है, उसका हिस्सा नही। पंजाब ने एफीडेविट के ज़रिए स्पष्ट किया है कि चंडीगढ़ केंद्र शासित प्रदेश है और पंजाब की राजधानी है।

    चंडीगढ़ पंजाब और हरियाणा दोनों की राजधानी है इसको लेकर 9 जून 1966 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में लिए फैसले से जुड़े दस्तावेज कोर्ट में पेश किए गए है। पंजाब सरकार ने ये भी बताया है कि चंडीगढ़ का ज्यूडिशियल सर्विसेस को लेकर अपना अलग कैडर नहीं है।

    और भी...

  • करतारपुर कॉरिडोर के पहले जत्थे में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह समेत जाएंगे 575 लोग

    करतारपुर कॉरिडोर के पहले जत्थे में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह समेत जाएंगे 575 लोग

     

    करतारपुर कॉरिडोर से पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले पहले भारतीय जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल होंगे। केंद्र सरकार के सूत्रों ने बताया कि पहले जत्थे में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और पंजाब के सांसद-विधायक भी शामिल हैं। भारत ने मंगलवार को गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले 575 लोगों की सूची पाकिस्तान को सौंपी।

    गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर भारत-पाकिस्तान ने श्रद्धालुओं के लिए कॉरिडोर का निर्माण किया है। भारत ने सीमा से गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक तक कॉरिडोर बनाया है। 24 अक्टूबर को दोनों देशों ने करतारपुर कॉरिडोर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

    मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह कतारपुर गुरुद्वारे में जत्थे की अगुआई करेंगे। गुरुद्वारे में कार्यक्रम के बाद जत्था वापस पंजाब आ जाएगा। गुरुनानक देव ने अपने जीवन के अंतिम क्षण करतारपुर में ही गुजारे थे। इस बीच, खबर मिली है कि पाकिस्तान सरकार ने एसजीपीसी और डीएसजीएमसी के साथ पंजाब सरकार के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल को ननकाना साहिब में अखंड पाठ और नगर कीर्तन की इजाजत देने से इनकार कर दिया।

    और भी...

  • सीएम अमरिंदर सिंह ने अधिकारियों से कहा आतंकवाद से निपटने के लिए रहें सतर्क

    सीएम अमरिंदर सिंह ने अधिकारियों से कहा आतंकवाद से निपटने के लिए रहें सतर्क

     

    मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य के सिविल और प्रशासकीय अधिकारियों से अपील की है कि सीमा पार से भारत में आतंकवाद को फिर से बढ़ावा देने की कोशिशों को नाकाम करने के लिए और ज्यादा चौकस रहें। सुरक्षा बलों के साथ और बेहतर तालमेल बिठाएं।

    कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब की अमन और शांति को किसी भी कीमत पर भंग न करने की अपनी वचनबद्धता दोहराते हुए कहा कि मौजूदा हालत में आइएएस अधिकारियों का रोल और भी अहम हो जाता है। उन्होंने अधिकारियों से अपील की है कि वह सतर्क रहें और अपने-अपने जिलों में सुरक्षा बलों के लिए उनके आंख-कान बनकर किसी भी घटना से निपटने के लिए मिल कर काम करें।

    कैप्टन ने सभी नागरिकों की जरूरतों विशेषकर विधायकों और हथियारबंद सैनिकों के लिए अधिकारियों को और भी संवेदनशील होने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि सैनिकों की समस्याओं की तरफ जवाबदेह बनें। जो भी फौज का जवान अपनी किसी भी समस्या को लेकर प्रशासनिक अधिकारी से मिलता है, वह खाली हाथ वापस नहीं जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने हाल ही में आई बाढ़ के समय पर प्रशासन की तरफ से किए बढ़िया राहत कार्यों के लिए अधिकारियों की सराहना की।

    और भी...

  • पंजाब: भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष कमल शर्मा का निधन

    पंजाब: भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष कमल शर्मा का निधन

     

    पंजाब के पूर्व भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष कमल शर्मा का निधन हो गया है। उनका निधन आज सुबह फिरोजपुर जिले में दिल का दौरा पड़ने से हुआ। शर्मा के करीबी सहयोगी ने बताया कि शर्मा सुबह सैर करने गए थे उसी दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा।

    उन्होंने बताया कि उन्हें तत्काल स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शर्मा के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। निधन से दो घंटे पहले ही शर्मा ने ट्विटर पर लोगों को दीवाली की बधाई दी थी।

    बता दें कि पूर्व प्रदेश प्रधान कमल शर्मा को मार्च 2017 में भी हार्टअटैक पड़ा था। तब डीएमसी हीरो हार्ट इंस्टीट्यूट के डॉक्टरों ने उनके दिल की आरटरीज में एक स्टेंट डाला था। तब उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। जिसके बाद परिवार के लोग उन्हें तुरंत अस्पताल ले गए थे। उस दौरान उनकी एंजियोग्राफी एवं एंजियोप्लास्टी भी की गई थी।

    और भी...

  • पंजाब उप चुनाव: 4 सीटों में से 3 कांग्रेस और 1 अकाली दल के खाते में

    पंजाब उप चुनाव: 4 सीटों में से 3 कांग्रेस और 1 अकाली दल के खाते में

     

    पंजाब विधानसभा उप चुनाव के लिए प्रदेश की चार सीटों में से फगवाड़ा से कांग्रेस के बलविंदर सिंह धालीवाल ने भाजपा के राजेश बाघा को 26116 वोटों के अंतर से हरा दिया है। यह सीट 12 साल बाद कांग्रेस के हाथ आई है, वहीं अकाली दल का गढ़ माने जाते जलालाबाद हलके से कांग्रेस उम्मीदवार रमिंदर आमला 16136 वोटों से विजयी रहे। मुकेरियां सीट पर कांग्रेस की इंदूबाला जीत गई। इसके अलावा दाखां सीट पर अकाली दल के मनप्रीत सिंह अयाली 14672 वोटों से जीते।

    इससे पहले सोमवार को फगवाड़ा में 55.97 फीसद, जलालाबाद में 78.76 फीसद, मुकेरियां मुकेरियां में 59 फीसद और दाखा में 71.86 फीसद मतदान हुआ है। चारों सीटों पर कुल 66.50 फीसद वोटिंग हुई थी।

    अब तक चार सीटों में सिर्फ मुकेरियां ही कांग्रेस के पास थी, जबकि बाकी तीन में एक-एक पर अकाली दल, भाजपा व आम आदमी पार्टी जीती थी। अकाली दल के लिए सबसे बड़ी चुनौती जलालाबाद सीट थी। यहां से पिछले विधानसभा चुनाव में सुखबीर बादल जीते थे। उनके सांसद बनने पर उपचुनाव हो रहा है। अकाली दल को यहां कांग्रेस के रमिंदर आवला से चुनौती शिकस्त मिली।

    सीट                      विजेता                          पार्टी  

    जलालाबाद       रमिंदर आमला                  कांग्रेस

    फगवाड़ा        बलविंदर सिंह धालीवाल        कांग्रेस

    दाखां           मनप्रीत सिंह अयाली           शिअद-भाजपा

    मुकेरियां            इंदूबाला                           कांग्रेस      

    और भी...

  • करतारपुर कॉरिडोर समझौते पर भारत और पाक ने किए हस्ताक्षर, हर यात्री को चुकाने होंगे इतने रूपये

    करतारपुर कॉरिडोर समझौते पर भारत और पाक ने किए हस्ताक्षर, हर यात्री को चुकाने होंगे इतने रूपये

     

    भारत और पाकिस्तान ने बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर समझौते पर गुरुवार को हस्ताक्षर कर दिए। श्रद्धालुओं को करतारपुर जाने के लिए करीब 1420 रुपए) चुकाने होंगे। दोनों पक्षों के बीच सीमा पर जीरो लाइन पर मुलाकात हुई और समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। भारतीय प्रतिनिधि का नेतृत्व गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव एससीएल दास ने किया जबकि पाकिस्तान की तरफ से विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल मौजूद थे।

    एससीएल दास ने समझौते के बाद कहा, पाकिस्तानी पक्ष श्रद्धालुओं को लंगर और गुरुद्वारा परिसर में प्रसाद वितरित किए जाने पर सहमत हो गया है। हमारी तरफ से राजमार्ग निर्माण, यात्री टर्मिनल इमारत के निर्माण समेत सभी आवश्यक इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कार्य समय पर पूरा हो जाएगा। समझौते पर हस्ताक्षर होने के साथ ही करतारपुर साहिब कॉरिडोर के संचालन का फ्रेमवर्क पूरा कर लिया गया। श्रद्धालु आज से prakashpurb550.mha.gov.in पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

    उन्होंने बताया, सभी भारतीय और भारतीय मूल के श्रद्धालु करतारपुर कॉरिडोर का इस्तेमाल कर सकेंगे। श्रद्धालु करतारपुर की वीजा फ्री यात्रा कर सकेंगे। उन्हें बस एक वैध पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ेगी। श्रद्धालु सुबह यात्रा प्रारंभ करेंगे और उसी दिन वापस लौट जाएंगे। यह कॉरिडोर पूरे साल खुला रहेगा। सिर्फ कुछ चुनिंदा दिनों में यह बंद रहेगा। इसकी घोषणा पूर्व में कर दी जाएगी।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 नवंबर को कॉरिडोर के उद‌्घाटन के लिए डेरा बाबा नानक पहुंचेंगे, जबकि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 9 नवंबर को पाकिस्तान कॉरिडोर शुरू करेंगे। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन जाने का कार्यक्रम है।

    और भी...

  • पंजाब: नवजोत कौर सिद्धू ने तोड़ा कांग्रेस से नाता, कहा वो अब एक सामाजिक कार्यकर्ता

    पंजाब: नवजोत कौर सिद्धू ने तोड़ा कांग्रेस से नाता, कहा वो अब एक सामाजिक कार्यकर्ता

     

    पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने कांग्रेस पार्टी से नाता तोड़ दिया है। नवजोत कौर ने कहा कि वह कांग्रेस छोड़ चुकी हैं। अब वह किसी भी राजनीतिक पार्टी के साथ नहीं हैं। वह अब सिर्फ समाजसेवी हैं और उनका लक्ष्य अपने क्षेत्र का विकास करना है। एक कार्यक्रम के उद्घाटन के लिए पहुंची नवजोत कौर ने कहा, मुझे अपने हलके के सिवाय किसी भी राजनीतिक दल से कोई लेना-देना नहीं। मेरे पास कोई राजनीतिक दल नहीं है। मैं किसी भी पार्टी से संबंध नहीं रखती। सब कुछ छोड़ दिया है। सामाजिक कार्यकर्ता हूं और इसी नाते लोगों के बीच जाऊंगी।

    नवजोत कौर ने कहा, नवजोत सिंह सिद्धू दिल के साफ इंसान हैं। सच बोलते हैं। अपने दिल की बात उसी वक्त फटाक से कह देते हैं। उन्हें चालाकी नहीं आती। सिद्धू के मन में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ कभी कोई बात नहीं थी। वह उन्हें पिता की संज्ञा देते थे। वह उनसे कहते थे कि आप मुझे अपना बच्चा बनाकर रखो। मुझे पंजाब से प्यार है। मैं सारा काम छोड़कर आया हूं। न जाने कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसकी बात सुनी और यह सोचा कि नवजोत सिंह सिद्धू उनके खिलाफ हैं।

    नवजोत कौर ने कहा कि जब किसी इन्सान की कोई बात न सुनी जाए तो वह विश्वास खो देता है। बटाला ब्लास्ट के बाद नवजोत वहां इसलिए नहीं गए, क्योंकि वह जानते थे कि वहां जाकर यदि वह सीएम से कुछ मांगेंगे तो कुछ नहीं मिलेगा। नवजोत कौर ने कहा कि अब उनका फोकस अपने हलके के विकास पर है। अमृतसर ईस्ट हलके की एक-एक सड़क बनवाएंगे। इसके लिए सिद्धू बैठकें कर रहे हैं। यदि हलके के विकास के लिए पैसा न दिया गया तो वह सरकार के खिलाफ धरना भी देंगे। नवजोत कौर ने साफ किया कि शहर में पार्षदों को विकास कार्य करवाने में परेशानी आ रही है। लोग पार्षदों के घरों का दरवाजा खटखटाते हैं। नगर निगम की ओर से विकास के लिए कुछ नहीं मिल रहा। नवजोत सिंह सिद्धू ने कई प्रोजेक्ट पास करवाए, पर जब उन्होंने मंत्री पद छोड़ा तो ये प्रोजेक्ट पूरे नहीं हो पाए।

    और भी...

  • पंजाब विस उपचुनाव: 4 विधानसभी सीटों पर मतदान जारी, 11 बजे तक हुआ इतने प्रतिशत मतदान

    पंजाब विस उपचुनाव: 4 विधानसभी सीटों पर मतदान जारी, 11 बजे तक हुआ इतने प्रतिशत मतदान

     

    हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा के लिए मतदान जारी है और इसी के साथ पंजाब में भी चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए सुबह 7 बजे से मतदान जारी है। लोग बढ़ चढ़कर मतदान में हिस्सा ले रहे हैं। लुधियाना की दाखा विधानसभा में सुबह 9 बजे तक 6.54 प्रतिशत मतदान हुआ।

    11 बजे तक पंजाब उपचुनाव का मतदान प्रतिशत

    दाखा- 23.76%

    जलालाबाद- 29%

    मुकेरियां- 23.5

    फगवाड़ा- 17.5%

    इन चारों हलकों के 7.68 लाख मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल कर रहे हैं। 40 बूथ अतिसंवेदनशील हैं, जिनमें दाखा हलके में सबसे ज्यादा हैं। सुबह 11 बजे तक फगवाड़ा में 17.5 फीसद, दाखा में 23.76 फीसद वोटिंग हो चुकी है। जलालाबाद में 239 बूथों पर चुनाव प्रक्रिया शुरू हो गई हैं। सुबह 7 बजे वोटिंग शुरू हुई और 11 बजे तक कुल 29 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी है। मुकेरियां में सुबह 11 बजे तक करीब 23.5 फीसद मतदान हो चुका है।

    और भी...

  • पंजाब: करतारपुर कॉरिडोर पर लगने वाली फीस पर मामला फंसा, रजिस्ट्रेशन के लिए वेबसाइट अभी बंद

    पंजाब: करतारपुर कॉरिडोर पर लगने वाली फीस पर मामला फंसा, रजिस्ट्रेशन के लिए वेबसाइट अभी बंद

     

    पाकिस्तान का करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने के लिए प्रत्येक श्रद्धालु से 20 डॉलर यानी करीब 1420 रुपए फीस वसूलने का पेंच फंस गया है। इस वजह से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया रविवार से शुरू नहीं हो पाई। एक अफसर ने बताया कि सोमवार को इस मुद्दे पर विदेश मंत्रालय एक बैठक करेगा। इसके बाद जल्द ही पाक अधिकारियों से भी मीटिंग करेंगे, जिसमें पाकिस्तान से कहा जाएगा कि वह पूरी फीस माफ करे, फिर भी वह नहीं माना तो फीस कम करने को कहा जाएगा।

    बैठक के बाद ही केंद्र सरकार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को शुरू करेगा। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 नवंबर को कॉरिडोर के उद‌्घाटन के लिए डेरा बाबा नानक पहुंचेंगे, जबकि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 9 नवंबर को पाकिस्तान कॉरिडोर शुरू करेंगे। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन को जाने का प्रोग्राम है।

    श्रद्धालुओं का रजिस्ट्रेशन करने के लिए केंद्र की वेबसाइट तैयार है। हालांकि इसे अभी खोला नहीं गया है। पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर के लिए हर भारतीय सिख श्रद्धालु से 20 डॉलर यानी करीब 1420 रुपए लेने पर अड़ा है। भारत के कई बार कहने के बावजूद पाकिस्तान ने फीस हटाने से इनकार कर दिया है। पाकिस्तान ने रोजाना 5 हजार श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब में माथा टेकने की इजाजत दी है। हर साल 18 लाख सिख श्रद्धालु जाएंगे तो पाकिस्तान को 259 करोड़ रुपए मिलेंगे।

    और भी...

  • पंजाब: मौड़ मंडी ब्लास्ट मामला में हाईकोर्ट ने दिए नई एसआईटी बनाने के निर्देश

    पंजाब: मौड़ मंडी ब्लास्ट मामला में हाईकोर्ट ने दिए नई एसआईटी बनाने के निर्देश

     

    2017 में पंजाब विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान मौड़ मंडी में हुए बम ब्लास्ट केस की जांच से पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट अंसतुष्ट है। इसलिए हाईकोर्ट ने इस समय जांच कर रही एसआईटी को भंग कर नए सिरे से एसआईटी गठित करने के पंजाब सरकार को आदेश दिए हैं। NIA जांच की मांग को लेकर गुरजीत सिंह पातड़ां द्वारा एडवोकेट मोहिंदर जोशी के जरिए हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी।

    याचिका में बताया गया कि 2017 में पंजाब विधानसभा के चुनाव प्रचार के दौरान मौड़ मंडी में कांग्रेसी उम्मीदवार हरमिंदर सिंह जस्सी की जनसभा के पास बम ब्लास्ट हुआ था। इसमें 6 लोगों की जान चली गई थी और कई घायल हुए थे। इस मामले को लेकर गुरजीत सिंह पातड़ां ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर मामले की जांच में कई खामियां बताई थीं। हाईकोर्ट को बताया गया था कि इस मामले की जांच के दौरान यह सामने आया था कि ब्लास्ट में इस्तेमाल होने वाली कार को डेरे में ही असेम्बल किया गया था। इस कार को किसके कहने पर बनाया गया था, इसका अभी तक खुलासा नहीं हुआ है।

    लिहाजा इस मामले की जांच एनआईए को सौंपी जानी चाहिए और साथ ही मामले में डेरामुखी को भी पक्ष बनाने की मांग की गई थी। हाईकोर्ट के आदेश पर एसआईटी का गठन किया गया था। अब हाईकोर्ट ने कहा कि एसआईटी अभी तक जांच में कुछ भी हासिल नहीं कर पाई है और जांच बेहद ही धीमी गति से चल रही है। कोर्ट ने कहा कि मौजूदा एसआईटी की जांच से कुछ नतीजा निकलेगा, इसकी उम्मीद कम ही दिखाई दे रही है। यह बेहद ही महत्वपूर्ण मामला है लिहाजा बेहतर होगा कि मौजूदा एसआईटी को भंग कर नए सिरे से गठित किया जाए।

    और भी...

  • श्री करतारपुर साहिब दर्शन के लिए पाक की एक माह पहले ऑनलाइन आवेदन की शर्त गलत: CM अमरिंदर सिंह

    श्री करतारपुर साहिब दर्शन के लिए पाक की एक माह पहले ऑनलाइन आवेदन की शर्त गलत: CM अमरिंदर सिंह

     

    श्री करतारपुर साहिब दर्शन के लिए अब पाकिस्तान अड़चन डाल रहा है। पाकिस्तान की तरफ से फीस और एक माह पहले ऑनलाइन आवेदन की शर्त गलत है। यह विचार पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने व्यक्त किए। सीएम गुरुवार को हलका दाखा में कांग्रेसी प्रत्याशी कैप्टन संदीप संधू के लिए प्रचार करने पहुंचे थे।

    उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर अब केंद्र सरकार को पाकिस्तान से बात करनी होगी। एक माह पहले गांव का एक व्यक्ति कैसे ऑनलाइन आवेदन ले सकता है। उसके पास कौन सा कंप्यूटर है। उन्होंने कहा कि श्री गुरुनानक देव जी के 550वें जन्म उत्सव को लेकर होने जा रहे समारोह को लेकर जैसा श्री अकाल तख्त के जत्थेदार कहेंगे, वैसा होगा।

    समागम के दौरान पीएम और गृहमंत्री के एसजीपीसी के स्टेज पर आने की बात पर कैप्टन ने कहा कि सांसद हरसिमरत कौर कौन होती है, यह फैसला करने वाली। इसका फैसला पीएम ऑफिस की तरफ से किया जाना है। हरसिमरत को ना तो दिल्ली में और ना ही पंजाब में कोई गंभीरता से लेता है।

     

    और भी...