दुनिया

  • भारत की पाक पर एक और बड़ी जीत, ICJ ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर लगाई रोक

    भारत की पाक पर एक और बड़ी जीत, ICJ ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर लगाई रोक

     

    बुधवार को हिंदुस्तान की एक और बड़ी जीत हुई और पाकिस्तान को एक और शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। पाकिस्तान की इस हार के साथ कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लग गई। नीदरलैंड्स के द हेग में दुनिया की सबसे बड़ी अदालत ने कुलभूषण जाधव पर पाकिस्तान के झूठ को उजागर कर दिया। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के अध्यक्ष जज अब्दुलकावी अहमद यूसुफ के फैसले साथ ही पाकिस्तान का दोहरा रवैया एक बार फिर दुनिया के सामने आ गया। इंटरनेशनल कोर्ट के 16 में से 15 जजों ने फैसला भारत के पक्ष में दिया।

    फैसले में कहा गया कि कुलभूषण जाधव को बिना किसी देरी के उनके अधिकारों के बारे में नहीं बताकर पाकिस्तान ने विएना संधि के अनुच्छेद 36 का उल्लंघन किया है। अदालत ने कहा, पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस नहीं दिया, और इस तरह से पाकिस्तान ने विएना संधि के आर्टिकल 36 का उल्लंघन किया। पाकिस्तान ने भारत को कुलभूषण जाधव से मिलने, बात करने और न्यायिक प्रतिनिधित्व करने से भी रोका और ये भी विएना संधि का उल्लंघन है। अदालत ने ये आदेश दिया कि पाकिस्तान तुरंत प्रभाव से कुलभूषण जाधव को उनके अधिकारों के बारे में बताए और उन्हें कॉन्सुलर एक्सेस दे। अदालत ने ये भी कहा कि पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को दी गई फांसी की सजा पर जरूर पुनर्विचार करे।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फैसले का स्वागत करते हुए कहा, सच और न्याय की जीत हुई है। वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसे भारत के लिए बड़ी जीत करार दिया। मोदी ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि जाधव को न्याय मिलेगा। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि उन्होंने जाधव के परिवार से बात की और उनके साहस की सराहना की। विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह ऐतिहासिक फैसला इस मामले में पूरी तरह भारत के रुख का समर्थन करता है। पाकिस्तान को तत्काल आईसीजे के निर्देश का पालन करना चाहिए।

     

    और भी...

  • बिल गेट्स नहीं रहे दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स, इस शख्स ने ली बिल गेट्स की जगह

    बिल गेट्स नहीं रहे दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स, इस शख्स ने ली बिल गेट्स की जगह

     

    आप अभी तक दुनिया के दूसरे सबसे बड़े अमीर आदमी के रुप में बिल गेट्स को जानते होंगे। लेकिन अब बिल गेट्स दूसरे सबसे अमीर आदमी नहीं रहे बल्कि तीसरे नंबर पर चले गए है। दुनिया के दूसरा सबसे बड़ा अमीर आदमी बर्नार्ड अरनॉल्ट (70) बन गए हैं। लग्जरी गुड्स कंपनी एलवीएमएच के चेयरमैन बर्नार्ड की नेटवर्थ 7.45 लाख करोड़ रुपये हो गई है। माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स अब अमीरी के मामले में तीसरे स्थान पर आ गए हैं।

    बर्नाल्ड की कंपनी एलवीएमएच के शेयरों में 1.38 फीसदी की तेजी आने से मंगलवार को उनकी नेटवर्थ 108 अरब डॉलर यानी 7.45 लाख करोड़ रुपये हो गई है। जबकि बिल गेट्स की नेटवर्थ 107 अरब डॉलर यानी 7.38 लाख करोड़ रुपए है। गेट्स ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के सात साल में पहली बार तीसरे नंबर पर आए हैं। इसमें शामिल दुनिया के 500 अमीरों की नेटवर्थ हर रोज अमेरिकी शेयर बाजार बंद होने के बाद अपडेट की जाती है।

    इंडेक्स के मुताबिक इस साल बर्नाल्ड की नेटवर्थ में सबसे ज्यादा 39 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है। बर्नाल्ड की नेटवर्थ फ्रांस की जीडीपी के 3 फीसदी के बराबर है। बीते महीने बर्नाल्ड सेंटीबिलेनियर कैंप में भी शामिल हुए थे। जिसमें दुनिया के महज तीन व्यक्ति हैं जेफ बेजोस, बिल गेट्स और बर्नाल्ड अरनॉल्ट।

    बर्नाल्ड के पास एलवीएमएच कंपनी के करीब 50 फीसदी और फैशन हाउस क्रिश्चियन डायर के करीब 97 फीसदी शेयर हैं। फ्रांस के नोट्रे डेम कैथेड्रल चर्च को आग लगने से काफी नुकसान पहुंचा था, जिसके लिए बर्नाल्ड और उनके परिवार ने 65 करोड़ डॉलर दिए थे। जबकि बिल गेट्स अब तक 35 अरब डॉलर से अधिक दान में दे चुके हैं। वहीं अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस अपनी पत्नी को तलाक के सेटलमेंट में करीब 36.5 अरब डॉलर के शेयर देने के बावजूद अमीरों की लिस्ट में प्रथम स्थान पर बने हुए हैं।

    और भी...

  • आतंकी हाफिज सईद को पाक में किया गया गिरफ्तार, टेरर फंडिग मामले में गिरफ्तार

    आतंकी हाफिज सईद को पाक में किया गया गिरफ्तार, टेरर फंडिग मामले में गिरफ्तार

     

    वैश्विक आतंकी हाफिज सईद को पाकिस्तान में गिरफ्तार कर लिया गया है। पंजाब की काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट ने हाफिज सईद को लाहौर से गिरफ्तार किया। वह लाहौर से गुजरांवाला जा रहा था। गिरफ्तारी के बाद हाफिज सईद को न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है। इस दौरान हाफिद सईद ने कहा कि मैं अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ कोर्ट जाऊंगा।

    इससे पहले सोमवार को लाहौर की आतंकवाद निरोधी अदालत  ने मुंबई आतंकवादी हमलों के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के प्रमुख आतंकी सरगना हाफिज सईद और तीन अन्य को जमानत दे दी थी।  सईद के अलावा हाफिज मसूद, आमेर हमजा और मलिक जफर को 31 अगस्त तक 50,000 पाकिस्तानी रुपये के मुचलके पर अंतरिम जमानत दी गई। सुनवाई के दौरान, आरोपी के कानूनी वकील ने अदालत से जमानत की याचिका स्वीकार करने का आग्रह करते हुए कहा कि जमात-उद-दावा भूमि के किसी भी टुकड़े का अवैध रूप से उपयोग नहीं कर रहा है।

    इस बीच, लाहौर हाई कोर्ट ने संघीय सरकार, पंजाब सरकार और काउंटर-टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) को सईद और उसके सात सहयोगियों की ओर से दायर याचिका के बारे में नोटिस जारी किया, जिसमें सीटीडी ने एक मामले में चुनौती भी दी थी।

     

    और भी...

  • कुलभूषण जाधव के मामले में ICJ आज सुनाएगा फैसला, ये है पूरा मामला

    कुलभूषण जाधव के मामले में ICJ आज सुनाएगा फैसला, ये है पूरा मामला

     

    नीदरलैंड के हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय कोर्ट (ICJ) आज पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में फैसला सुनाने वाला है। इस मौके के लिए पाकिस्तान के कानूनी विशेषज्ञों की एक टीम हेग पहुंच चुकी है। पाकिस्तान की कानूनी टीम का नेतृत्व देश के महान्यायवादी मंसूर खान कर रहे हैं। टीम के साथ पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल भी हेग पहुंचे हैं।

    बता दें कि भारतीय नौसेना के रिटायर अधिकारी कुलभूषण जाधव फिलहाल पाकिस्तान की जेल में बंद हैं. पाकिस्तान का दावा है कि कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने 3 मार्च 2016 को जासूसी और आतंकवाद के आरोप में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था। इसके बाद जाधव को मौत की सजा सुनाई गई थी। हालांकि भारत पाकिस्तान के दावों को सिरे से खारिज करता आ रहा है।

    भारत का कहना है कि कुलभूषण जाधव रिटायरमेंट ले चुके थे। वे बिजनेस के सिलसिले में ईरान गए थे, जहां से पाकिस्तानी खुफिया अधिकारियों ने उनको अगवा कर लिया था। भारत ने पाकिस्तान की सैन्य अदालत के जरिए जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी। अब इस मामले में अंतरराष्ट्रीय कोर्ट अपना फैसला सुनाने वाला है।

    और भी...

  • पाक ने खोला अपना एयरस्पेस, 26 फरवरी से था बंद

    पाक ने खोला अपना एयरस्पेस, 26 फरवरी से था बंद

     

    पाकिस्तान ने अपने सभी नागरिक उड़ानों को लिए अपने एयरस्पेस को खोल दिया है। पाकिस्तान ने फरवरी में बालाकोट हवाई हमलों के बाद से भारतीय उड़ानों के गुजरने पर बैन लगा दिया था। इसके बाद से भारतीय विमान यहां से नहीं गुजर रहे थे। पाकिस्तान अहम एविएशन कॉरिडोर के बीच में पड़ता है। इससे हर दिन सैकड़ों यात्री और मालवाहक विमानों की उड़ानों पर असर पड़ रहा था।

    इससे एयरलाइंस को ईंधन पर ज्यादा खर्च उठाना पड़ रहा था। वहीं, यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में पहले से ज्यादा समय लग रहा था। इसके अलावा पाकिस्तान को भी इससे भारी नुकसान उठाना पड़ रहा था। एक अनुमान के मुताबिक पाकिस्तान को एक फ्लाइट से औसतन 500 डॉलर मिलते थे। लेकिन एयरस्पेस बंद होने के बाद से ये कमाई बंद हो गई थी। पिछले महीने ऐसी खबरें आई थी कि पाकिस्तान ने एयरस्पेस खोलने के लिए भारत के सामने शर्त रखी थी। कहा गया था कि पाकिस्तान उस वक्त तक हवाई क्षेत्र नहीं खोलेगा जब तक कि वो बालाकोट जैसी एयर स्ट्राइक को नहीं दोहराएगा। लेकिन अब ऐस लग रहा है कि पाकिस्तान ने कुटनितिक दवाब और आर्थिक तंगी के चलते घुटने टेक दिए हैं।

    पाकिस्तान ने 26 फरवरी को तब अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था जब भारत ने बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर पुलवामा हमले का बदला लिया था। एयरस्ट्राइक से 12 दिन पहले 14 फरवरी को जम्मू और कशमीर के पुलवामा में जैश के आत्मघाती हमलावर ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर निशाना बनाया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे।

     

    और भी...

  • कैलिफोर्निया: IPHONE-6 फोन में लगी आग, और फिर हुआ ये....

    कैलिफोर्निया: IPHONE-6 फोन में लगी आग, और फिर हुआ ये....

     

    APPLE कंपनी के फोन दुनियाभर में अपने अलग फीचर की वजह से प्रसिद्ध है और दुनियाभर के लोग नए APPLE के फोन का बेसब्री से इंतजार करते है लेकिन आज आप जो ये खबर पढ़ रहे है उससे इस फोन की कमी का पता चलता है। कैलिफोर्निया की एक 11 वर्षीय लड़की के APPLE आईफोन 6 में आग लगने से उसकी चादर में छेद हो गया, जिसके बाद उसने फोन को फेंक दिया।

    9 टू 5 मैक ने शनिवार को किशोरी के हवाले से कहा, मैं अपने फोन को पकड़कर बैठी हुई थी, तभी मैंने आईफोन से हर जगह से चिंगारियों को निकलते देखा। उसने कहा, मैं ठीक यहां बिस्तर पर बैठी थी, जब फोन से मेरी चादर में आग लग गई और इसमें छेद हो गए। किशोरी की मां मारिया अडाटा ने एप्पल स्पोर्ट को फोन डायल किया, जिसके बाद उन्हें आईफोन की तस्वीरें भेजने और खुदरा विक्रेता को फोन करने का वहां से निर्देश दिया गया।

    टॉन्टरे 23 डॉट कॉम ने मां के हवाले से कहा, यह मेरी बच्ची के साथ हो सकता था, हो सकता था कि मेरी बच्ची को आग लग जाती और वह घायल हो जाती, मुझे खुशी है कि वह ठीक है। आईफोन बनाने वालों के अनुसार, बहुत सी चीजें ऐसी हैं, जिनके चलते एक आईफोन में आग लग सकती है, जैसे अनाधिकृत चार्जिग केबल और चार्जरों का उपयोग। हलांकि ऐसा नहीं है, जब पहली बार आईफोन में आग लगी है। 2 साल पहले, ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो गया था, जिसमें दावा किया गया कि आईफोन 7 प्लस में आग लगी है। दिसंबर में एक ओहियो आदमी ने कहा था कि उसके आईफोन एक्स एस मैक्स में आग लगी और वह उसकी जेब में ही फट गया।

    और भी...

  • करतारपुर कॉरिडोर: पाक ने गोपाल चावला को सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटाया, 14 जुलाई को बैठक

    करतारपुर कॉरिडोर: पाक ने गोपाल चावला को सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटाया, 14 जुलाई को बैठक

     

    करतारपुर कॉरिडोर को जल्द से जल्द पूरा करने और श्रद्धालुओं की आवाजाही के मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच 14 जुलाई 2019 को एक बार फिर से बैठक होगी। इस बैठक से पहले पाकिस्तान ने खालिस्तान समर्थक आतंकी गोपाल चावला को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटा दिया है। गोपाल सिंह चावला अब करतारपुर कॉरिडोर कमेटी का भी सदस्य नहीं है।

    पाकिस्तान के सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को नगर कीर्तन में शामिल होने का न्योता दिया है। 25 जुलाई को ननकाना साहिब में कीर्तन है। भारत करतापुर कॉरिडोर का जल्द निर्माण चाहता है। 31 अक्टूबर से पहले काम पूरा करने का इरादा है। दूसरे दौर की बातचीत में श्रद्धालुओं की सुविधाओं पर बात हो सकती है।

    आपको बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर कमेटी में गोपाल सिंह चावला को शामिल करने पर भारत ने सख्त नाराजगी जताई थी। इसी मुद्दे पर भारत ने पिछली बार इस बैठक को रद्द कर दिया था। इसके बाद रविवार को अटारी-वाघा बॉर्डर पर शुरु होने वाली बैठक से पहले पाकिस्तान सरकार ने गोपाल सिंह चावला को इस कमेटी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। गोपाल सिंह चावला के ताल्लुकात आतंकी हाफिज सईद और जैश सरगना मसूद अजहर से है।

    और भी...

  • पाक पीएम इमरान खान को SGPC ने गुरुनानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर भेजा न्यौता

    पाक पीएम इमरान खान को SGPC ने गुरुनानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर भेजा न्यौता

     

    गुरुनानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को न्योता भेजा है। एसजीपीसी ने पाकिस्तान स्थित पंजाब के राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भी कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया है। एसजीपीसी के चैयरमेन जीएस लोंगोवाल ने कहा कि हमने गुरुनानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर इमरान खान को पाकिस्तान में स्थित गुरुद्वारा ननकाना साहिब से शुरु होने वाले नगर कीर्तन में शामिल होने का न्योता दिया है। हमने पाकिस्तान पंजाब के राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भी न्योता भेजा है।

    उन्होंने बताया कि 25 जुलाई को ननकाना साहिब से नगर कीर्तन की शुरुआत होगी। उन्होंने बताया कि इस समारोह में भाग लेने 550 श्रद्धालु पाकिस्तान जाएंगे। लोंगोवाल ने कहा कि देश से बाहर रहने वाले सिखों को भी समारोह में भाग लेने के लिए न्योता भेजा गया है। एसजीपीसी प्रमुख ने कहा कि नगर कीर्तन जब अटारी-वाघा बॉर्डर पर पहुंचेगा तो वहां पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह श्रद्धालुओं का स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि दोनों को ही कार्यक्रम में भाग लेने का न्योता भेजा जा चुका है।

    दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, हमने गुरुद्वारा ननकाना साहिब में 25 जुलाई को आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया है। हमें उम्मीद है कि वह इसे स्वीकार करेंगे। हम गुरु नानक देव के दर्शन में यकीन करते हैं, हमारा विश्वास है कि दोनों देशों के बीच अच्छा बीच अच्छा माहौल बनाने का. यह एक बड़ा मौका है।

    और भी...

  • GOOGLE सुनता है आपकी वॉइस रिकॉर्डिंग, साथ ही बताया क्यों सुनता है GOOGLE आपकी  रिकॉर्डिंग

    GOOGLE सुनता है आपकी वॉइस रिकॉर्डिंग, साथ ही बताया क्यों सुनता है GOOGLE आपकी रिकॉर्डिंग

     

    बैल्जियम के भाषा वैज्ञानिकों ने चौकाने वाला खुलासा किया है। इस खुलासे से ये पता ल चलता है कि गूगल आपकी सारी बातें सुनता है। बैल्जियम के भाषा वैज्ञानिकों ने यूजर्स द्वारा बनाई रिकॉर्डिंग के स्निपिट्स की जांच के बाद ये खुलासा किया है। रिपोर्ट में कहा गया, इन रिकॉर्डिग में हम पता और संवेदनशील जानकारी साफ सुन सकते हैं। इससे बातचीत में शामिल लोगों की पहचान करना और ऑडियो रिकॉर्डिग से उसका मिलान करना आसान हो गया है।

    रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि बहुत से पति-पत्नी के बीच बहस और यहां तक कि लोगों की निजी बातें सभी कुछ इन रिकॉर्डिंग को सुनने से हमें पता चली हैं। भाषा वैज्ञानिकों के इस रिपोर्ट पर गूगल ने माना है कि यूजर्स की बातें कंपनी के कर्मचारी सुनते हैं। गुगल ने दावा किया है कि यूजर्स की रिकॉर्डिंग्स इसलिए सुनी जाती है ताकि वॉयस रिकॉग्निशन टेक्नॉलजी को बेहतर किया जा सके। हालांकि इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद एक बार फिर से यूजर्स की निजता और गोपनीयता पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं।

    बता दें कि गूगल वॉइस रिकॉग्नाइज टेक्नोलॉजी का यूज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम से लैस Google Assistant पर करता है। इसका यूज गूगल के स्मार्ट स्पीकर, और एंड्रॉइड स्मार्टफोन पर होता है। बता दें कि ये असिस्टेंट यूजर्स द्वारा दिए वॉइस कमांड को सुनता और उन पर रिस्पॉन्स करता है। इसके साथ ही यूजर्स को न्यूज या वेदर की इंफॉर्मेशन देता है।

     

    और भी...

  • 14 जुलाई को भारत-पाक की करतारपुर कॉरिडोर के लिए बैठक, इन मसलों पर होगी बातचीत

    14 जुलाई को भारत-पाक की करतारपुर कॉरिडोर के लिए बैठक, इन मसलों पर होगी बातचीत

     

    भारत और पकिस्तान के विशेषज्ञ करतारपुर कॉरिडोर के स्वरूप को अंतिम रूप देने के लिए 14 जुलाई को वाघा सीमा पर बैठक करेंगे। दोनों देशों के बीच इस बैठक में कॉरिडोर से संबंधित कई मसलों पर चर्चा हो सकती है। बता दें कि यह गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब को गुरदासपुर जिले स्थित डेरा बाबा नानक गुरूद्वारा से जोड़ेगा। इस कॉरिडोर के बन जाने के बाद भारतीय सिख श्रद्धालुओं को वीजा फ्री आवाजाही का लाभ मिलेगा।

    बता दें कि कॉरिडोर के बन जाने के बाद श्रद्धालुओं को सिर्फ करतारपुर साहिब की यात्रा के लिए परमिट लेना होगा, जिसे सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव ने साल 1522 में स्थापित किया था। इससे पहले भारतीय विदेश मंत्रालय ने दो जुलाई को कहा कि पाकिस्तान ने कॉरिडोर से संबंधित भारत के साथ दूसरे दौर की बातचीत के लिए 14 जुलाई का प्रस्ताव किया था, जिसे भारत ने स्वीकार कर लिया। पाक विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने कहा, भारतीय प्रतिनिधिमंडल वाघा में होने वाली वार्ता के लिए पाकिस्तान आएगा।

    इस ऐतिहासिक कॉरिडोर के स्वरूप को अंतिम रूप देने के लिए दोनों देशों की पहली बैठक अटारी में मार्च के महीने में हुई थी। तब 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा हुआ था। भारत ने गलियारा पर पाकिस्तान द्वारा नियुक्त कमेटी में कई खालिस्तानी अलगाववादियों की मौजूदगी पर अपनी चिंताओं से पाकिस्तान को अवगत कराया था। बता दें कि पिछले साल नवंबर में भारत और पाकिस्तान इस गलियारे के निर्माण पर सहमत हुए थे।

    और भी...

  • भगोड़े मेहुल चोकसी पर ED की कार्रवाई, 24 करोड़ की संपत्ति जब्त

    भगोड़े मेहुल चोकसी पर ED की कार्रवाई, 24 करोड़ की संपत्ति जब्त

     

    प्रवर्तन निदेशालय ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाले मामले में भगोड़े मेहुल चोकसी की 24 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली है। दुबई स्थित तीन संपत्तियों पर प्रवर्तन निदेशालय की नजर थी, जिसका मूल्य 24 करोड़ के करीब है। 13 हजार करोड़ रुपये के इस बैंक घोटाले का सह आरोपी मेहुल चोकसी इन दिनों एंटीगुआ में रह रहा है। भारत सरकार भगोड़े मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की कोशिश कर रही है। बता दें कि मेहुल चोकसी के खिलाफ देश में ही नहीं विदेश में भी कार्रवाई हो रही है। हाल ही में एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने मेहुल चोकसीकी नागरिकता को रद्द करने का ऐलान किया था। उन्होंने ये कदम भारत के दवाब में उठाया था।

    PNB घोटाले के तहत नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर 13 हजार करोड़ रुपये के गबन का आरोप है। ये मामला 2018 में सामने आया था, तभी से ही विपक्ष इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरे हुए है। वहीं मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण मामले में सरकारी सूत्रों की मानें तो भारत अभी इस इंतजार में है कि पहले एंटिगुआ की सारी कानूनी प्रक्रिया खत्म हो जाए। उसके बाद ही अपने स्तर पर प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

    पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का खुलासा 2018 में हुआ। यह घोटाला करीब 13000 करोड़ का है। इस घोटाले का मास्टरमाइंड हीरा कारोबारी नीरव मोदी था। घोटाले का खुलासा होने के बाद नीरव मोदी पूरे परिवार के साथ देश से फरार हो गया। साथ ही घोटाले का सह-आरोपी मेहुल चोकसी भी देश से भागने में सफल रहा।

    और भी...

  • आतंकी संगठन अल कायदा की भारत को धमकी, कश्मीर को मत भूलना नाम से संदेश जारी

    आतंकी संगठन अल कायदा की भारत को धमकी, कश्मीर को मत भूलना नाम से संदेश जारी

     

    ओसामा बिन लादेन के आतंकी संगठन अल कायदा के सरगना अल जवाहिरी ने कश्मीर को लेकर भारत को धमकी दी है। जवाहिरी ने कश्मीर में आतंक भड़काने को लेकर मैसेज जारी किया है। जवाहिरी ने कश्मीर को मत भूलना नाम से संदेश जारी किया है।

    आतंकियों को जेहादी-मुजाहिदीन बताते हुए जवाहिरी ने कहा है कि कश्मीर में लड़ रहे मुजाहिदों को पाकिस्तानी की एजेंसियों के चंगुल से छुड़ाना चाहिए। मुजाहिदीनों को शरिया के हिसाब से अपनी रणनीति बनानी चाहिए। जवाहिरी ने कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों के खिलाफ जिहाद छेड़ने को कहा है। 14 मिनट के मैसेज में जवाहिरी ने कहा, मेरे विचार से कश्मीर में मुजाहिदीन को एकाग्र ध्यान से भारतीय सेना और सरकार पर निशाना साधना चाहिए। उन्हें फियादीन हमलो को अंजाम देना होगा। इससे भारतीय अर्थव्यवस्था पर खासा असर पड़ेगा। साथ ही भारत को सैनिकों की भारी कमी से भी जूझेगा पड़ेगा।

    जवाहिरी जिस वक्त बोल रहा था तभी जाकिर मूसा की तस्वीर स्क्रीन पर दिख रही थी, लेकिन उसने उसका कोई जिक्र नहीं किया। इस साल कश्मीर में सुरक्षाबलों ने उसे मार गिराया था। जाकिर मूसा अंसार ग़ज़वात-उल-हिंद का प्रमुख था। ये संगठन अलकायदा से ही जुड़ा है।

    और भी...

  • डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के खिलाफ फिर जताई नाराजगी,कहा अमेरिकी प्रोडक्ट पर टैरिफ में इजाफा नहीं मंजूर

    डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के खिलाफ फिर जताई नाराजगी,कहा अमेरिकी प्रोडक्ट पर टैरिफ में इजाफा नहीं मंजूर

     

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर से अमेरिका के उत्पादों पर भारत में लगने वाले टैरिफ के मुद्दों पर खुलकर नाराजगी जताई और कहा कि यह स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने आज ट्वीट कर कहा, भारत दिनों दिन अमेरिकी प्रोडक्ट पर टैरिफ में इजाफा कर रहा है। इसे लंबे समय तक स्वीकार नहीं किया जाएगा। पहली बार नहीं है जब डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी नाराजगी जताई है। पिछले महीने के आखिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात से ठीक पहले डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि मैं इस संबंध में पीएम मोदी से बात करना चाहता हूं।

     

     

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने 27 जून को ट्वीट कर कहा था, मैं प्रधानमंत्री मोदी से इस मुद्दे पर बातचीत करूंगा कि भारत द्वारा अमेरिका पर कई सालों से बहुत ज्यादा शुल्क लगाए जाने के बावजूद, हाल ही में शुल्क और ज्यादा बढ़ा दिया गया है। यह अस्वीकार्य है, शुल्क वृद्धि को वापस लेना होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप ने जापान के ओसाका शहर में जी-20 सम्मेलन से इतर 28 जून को मुलाकात की थी।

    अमेरिका और भारत के बीच व्यापार को लेकर तनाव जैसी स्थिति है। ट्रंप सरकार ने पिछले दिनों भारत को जीएसपी से हटा दिया था। जिसके बाद भारत ने भी 15 जून को अमेरिका से आयात होने वाले अखरोट और सेब समेत विभिन्न वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ा दिया था। ट्रंप अमेरिकन बाइक कंपनी हार्ले डेविडसन की गाड़ियों पर भी शुल्क कम करने की मांग उठाते रहे हैं।

     

    और भी...

  • पाकिस्तान में सबसे अधिक वजन वाले व्यक्ति की मौत, आईसीयू में नहीं थे कर्मचारी

    पाकिस्तान में सबसे अधिक वजन वाले व्यक्ति की मौत, आईसीयू में नहीं थे कर्मचारी

     

    पाकिस्तान में लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। पाकिस्तान के सबसे अधिक वजनदार व्यक्ति का सोमवार को शलमार अस्पताल में निधन हो गया। अस्पताल के आईसीयू में हुए हंगामे के कारण स्टॉफ की अनुपलब्धता थी। जिस कारण मरीज की देखभाल करने के लिए कोई नही था और अस्पताल में दो व्यक्तियों की मौत हो गई। जिसमें से एक पाकिस्तान के सबसे अधिक वजन वाले व्यक्ति थे।    

    पाकिस्तान के सादिकाबाद में रहने वाले नूरुल हसन(55) का वजन 330 किलोग्राम है। नूरुल हसन ने कुछ दिन पहले वजन घटाने के लिए सर्जरी कराई थी। सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के विशेष निर्देश पर हसन को इलाज के लिए पाकिस्तानी सेना के हेलिकॉप्टर से लाहौर लाया गया था। सर्जरी के बाद उन्हें आईसीयू में निगरानी में रखा गया था। लेकिन शलमार अस्पताल में एक महिला मरीज की मौत हो गई थी। जिससे नाराज महिला के घरवालों ने अस्पताल में हंगाम मचा दिया। परिजनों ने वेंटिलेटर बंद कर दिए। आईसीयू में कोई कर्मचारी नहीं होने की वजह से हसन और एक दूसरे मरीज की मौत हो गई।

    रिपोर्ट में डा. माजुल हसन ने बताया है, ''अव्यवस्था की स्थिति के बीच स्टाफ की अनुपलब्धता के कारण नूर और दूसरे मरीज की मौत हो गई।" तो वहीं अस्पताल के कर्मचारियों का कहना है कि महिला मरीज के रिश्तेदारों ने खिड़कियां तोड़ दी, वेंटिलेटर बंद कर दिए और डॉक्टरों पर हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि हंगामे के दौरान आईसीयू से नर्स चली गई।

    और भी...

  • दुबई शासक की पत्नी राजकुमारी हया भागी थी ब्रिटिश बॉडीगार्ड के साथ, बकिंगम पैलेस गार्डेंस में घर खरीद

    दुबई शासक की पत्नी राजकुमारी हया भागी थी ब्रिटिश बॉडीगार्ड के साथ, बकिंगम पैलेस गार्डेंस में घर खरीद

     

    दुनिया के अमीर लोगों में शुमार और दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की पत्नी राजकुमारी हया बिंत अल हुसैन एक ब्रिटिश बॉडीगार्ड के साथ भागी हैं। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, मोहम्मद शेख की छठी पत्नी राजकुमारी हया एक ब्रिटिश बॉडीगार्ड के साथ भागी हैं। वह लंदन में शानदार जिंदगी जी रही हैं। राजकुमारी हया ब्रिटेन में राजनीतिक शरण लेने की भी तैयारी कर रही हैं। इसके अलावा वे शेख मोहम्मद से तलाक लेने की अर्जी भी दायर करने वाली हैं।

    हालांकि, इनकी शादी में दो देशों के राजनीतिक और कूटनीतिक संबंध भी जुड़े हुए थे। पिछले हफ्ते राजकुमारी हया 271 करोड़ रुपये और दोनों बच्चों को लेकर दुबई से फरार हो गई थीं। हया जर्मनी होते हुए ब्रिटेन भाग गईं और वहां उन्होंने बकिंगम पैलेस गार्डेंस में एक घर खरीदा है। इस घर की कीमत कई सौ करोड़ की बताई जा रही है। बकिंघम पैलेस गार्डेंस ऐसा इलाका है, जहां दुनिया के सबसे महंगे घर हैं। पति-पत्नी के बीच दरार तब आई, जब पिछले साल शेख मोहम्मद की एक बेटी शेखा लतीफा ने देश से भागने की कोशिश की। इसके बाद राजकुमारी हया और शेख मोहम्मद के बीच भी रिश्ते असामान्य हो गए।

    69 वर्षीय शेख मोहम्मद बिन राशिद एक कवि भी हैं। राजकुमारी हया की बेवफाई पर एक कविता लिख इंस्टाग्राम पर शेयर की। कविता का शीर्षक है यू लिव्ड एडं यू डाइट। उन्होंने अरबी भाषा में कविता लिखी कि अब मेरी जिंदगी में तुम्हारी कोई जगह नहीं रह गई है। मुझे अब फर्क नहीं पड़ता कि तुम जिंदा हो या मर गई। मोहम्मद शेख बिन राशिद की सात बीवियां और कुल मिलाकर 23 बच्चे हैं।

     

    और भी...