ब्रेकिंग न्यूज़
  • बिहार: महिला ने अपने 4 बच्चों के साथ चलती ट्रेन के सामने लगाई छलांग, मौत
  • बाजार में लौटी रौनक, शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 37 हजार के पार
  • INX मीडिया केस: पी. चिदंबरम की अर्जी पर SC में सुनवाई आज, HC के आदेश को दी है चुनौती
  • कोलकाता: मदर टेरेसा की जयंती आज, मदर हाउस में की गईं शांति प्रार्थनाएं
  • उत्तराखंड: देहरादून, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी में भारी बारिश का अलर्ट
  • त्तरकाशी: भूस्खलन के कारण बंद किया गया यमुनोत्री हाईवे

दुनिया

  • Twitter india ने किया वर्ल्ड हैशटैग डे सेलिब्रेट, ये है India में Top 5 Trending HasTags

    Twitter india ने किया वर्ल्ड हैशटैग डे सेलिब्रेट, ये है India में Top 5 Trending HasTags

     

    ट्विटर इंडिया ने 23 अगस्त को वर्ल्ड हैशटैग डे के रूप में सेलिब्रेट किया। इस दौरान ट्विटर इंटरनेट डाटा ने 1 जनवरी 2019 से लेकर 30 जून 2019 के बीच टॉप 5 हैशटैग्स की लिस्ट जारी की। जिसमें साउथ इंडियन स्टार अजीत की फिल्म विश्वासम पहले नंबर पर रही। जबकि महेश बाबू की फिल्म महर्षि चौथे नंबर पर रही।

    ट्विटर इंडिया ने 2019 की पहली छमाही में यूज किए गए सबसे ज्यादा हैशटैग्स की लिस्ट जारी की है। इसमें विश्वासम, लोक सभा इलेक्शन 2019 दूसरे नंबर पर, तीसरे नंबर पर CWC19 रहा। चौथे नंबर पर महर्षि और पांचवे नंबर पर न्यू प्रोफाइल पिक शब्द को सबसे ज्यादा यूज किया गया था।

    ट्विटर इंडिया ने अपने हैंडल पर इस डे को सेलिब्रेट करने की वजह भी साझा की। हैश टैग के इन्वेंटर क्रिस मेसिना हैं। क्रिस ने अगस्त 2007 में सबसे पहले हैशटैग के बारे में जानकारी दी थी।

    और भी...

  • PM मोदी पहुंचे संयुक्त अरब अमीरात, सर्वोच्च नागरिक सम्मान ऑर्डर ऑफ जायद से किया जाएगा सम्मानित

    PM मोदी पहुंचे संयुक्त अरब अमीरात, सर्वोच्च नागरिक सम्मान ऑर्डर ऑफ जायद से किया जाएगा सम्मानित

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) पहुंचे, जहां वह शीर्ष नेतृत्व के साथ द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे। पीएम मोदी का स्वागत संयुक्त अरब अमीरात के प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने किया। पीएम मोदी तीन देशों फ्रांस, यूएई और बहरीन की यात्रा के दूसरे चरण के तहत पेरिस से यूएई की राजधानी अबू धाबी पहुंचे। यूएई में आज पीएम मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान ऑर्डर ऑफ जायद दिया जाएगा, इसकी घोषणा अप्रैल में की गई थी।

    अपनी यात्रा के दौरान पीएम मोदी अबू धाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान के साथ द्विपक्षीय, आपसी हित से जुड़े क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मामलों पर बातचीत करेंगे। वह विदेशों में नकदी रहित लेनदेन का विस्तार करने के लिए रुपे कार्ड का औपचारिक रूप से शुभारंभ भी करेंगे। मोदी ने ट्वीट किया, अबू धाबी पहुंचा हूं, शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद के साथ वार्ता को लेकर आशान्वित हूं और भारत तथा यूएई के बीच मित्रता के सभी पहलुओं पर चर्चा होगी। यात्रा के दौरान आर्थिक संबंधों को मजबूत बनाना भी एजेंडे में होगा।

    इसके बाद मोदी अबू धाबी से बहरीन जाएंगे जहां वह बहरीन के शाह शेख हमाद बिन इसा अल खलीफा से बातचीत करेंगे और जी7 शिखर बैठकों में शामिल होने के लिए रविवार को फ्रांस लौटने से पहले खाड़ी क्षेत्र में सबसे पुराने श्रीनाथजी के मंदिर के पुनरुद्धार की औपचारिक शुरुआत के साक्षी बनेंगे। मोदी की बहरीन यात्रा इसलिए भी महत्वपूर्ण होगी क्योंकि किसी भारतीय प्रधानमंत्री की इस देश की यह पहली यात्रा होगी।

    और भी...

  • पेरिस में PM मोदी का भारतीय समुदाय को संबोधन, कहा लोकतंत्र के मूल्यों को बचाने में भारत-फ्रांस एकजुट

    पेरिस में PM मोदी का भारतीय समुदाय को संबोधन, कहा लोकतंत्र के मूल्यों को बचाने में भारत-फ्रांस एकजुट

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फ्रांस दौरे का आज दूसरा दिन है। वह फ्रांस में मौजूद भारतीय समुदाय के बीच पहुंचे और लोगों को संबोधित करते हुए कहा भारत आज स्टार्टअप की दुनिया में बहुत आगे बढ़ रहा है। आप लोगों का भारत से रिश्ता मिट्टी का है। चुनौतियों का सामना बातों से नहीं ठोस कार्रवाई से करते हैं। फ्रांस में जल्द गणपति बप्पा मोरया की गूंज सुनवाई देगी। सोलर से लेकर स्पेस इंफ्रा तक भारत और फ्रांस साथ हैं। इंफ्रा से मेरा मतलब IN-इंडिया और  FRA- फ्रांस से है। डिजिटल से लेकर सोलर तक भारत-फ्रांस साथ हैं।

    लोकतंत्र के मूल्यों को बचाने में भारत-फ्रांस एकजुट हैं। हमने फासीवाद, उग्रवाद का सामना फ्रांस में भी किया है। भारत फ्रांस के संबंध दिनोंदिन मजबूत हो रहे हैं। भारत और फ्रांस एक दूसरे के लिए लड़े भी हैं और जिए भी हैं। भारत और फ्रांस की दोस्ती ठोस आदर्शों पर बनी है। कंधे से कंधा मिलाकर दुश्मन से लड़े हैं भारत और फ्रांस। यही वो धरती है जहां प्रथम विश्व युद्ध में 9000 भारतीय सैनिकों ने फ्रांस के सैनिकों के साथ मानवता के पक्ष में लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी।

    नए भारत में थकने और रुकने का नाम ही नहीं है। पिछले 60 सालों में इस संसद सत्र में सबसे ज्यादा काम हुआ। यह इसलिए हुआ क्योंकि देशवासियों ने इसपर ठप्पा लगाया। सात सितंबर को हम सभी का चंद्रयान चांद पर उतरने वाला है। इस उपलब्धि के बाद भारत चांद पर उतरने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाएगा।

    हम वहीं जाते हैं जहां सही जगह होती है। नई सरकार को बने हुए अभी केवल 75 दिन हुए हैं। 100 दिन भी नहीं हुए इसके बावजूद हमने कई कड़े फैसले लिए हैं। हमने तीन तलाक को खत्म किया। भारत का फोकस ईज ऑफ डुइंग और इज ऑफ लिवंग पर है।

    चार साल पहले जब मैं फ्रांस आया था तो मैंने एक वादा किया था। आपलोगों को बेशक याद नहीं होगा पर मुझे याद है। हमारे देश में नेताओं को वादा भूलने की आदत है। लेकिन मैं वादा भूलने वाली बिरादरी से नहीं हूं। भारत तेज गति से विकास के रास्ते पर चल रहा है। भारत की जनता ने हमें एक बार फिर देश की सेवा करने का मौका दिया है। नया भारत आशाओं-आकांक्षाओं के सफर पर है।

     

    और भी...

  • पाकिस्तान का सबसे बड़ा झटका, FATF ने किया ब्लैकलिस्ट, हो जाएगा कंगाल

    पाकिस्तान का सबसे बड़ा झटका, FATF ने किया ब्लैकलिस्ट, हो जाएगा कंगाल

     

    दुनिया भर के सामने अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए भीख मांग रहे पाकिस्तान (Pakistan) को तगड़ा झटका लगा है. फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) के एशिया पैसिफिक ग्रुप ने शुक्रवार को पाकिस्तान को वैश्विक मानकों को पूरा करने में विफलता के लिए 'ब्लैकलिस्ट' में डाल दिया.

    भारत पिछले कई साल से पाकिस्‍तान को एफएटीएफ (FATF) से ब्‍लैकलिस्‍ट कराने की कोशिशें करता आ रहा था. भारत की पहल पर ही एफएटीएफ ने पाकिस्‍तान को ग्रे लिस्‍ट में डाला था. ग्रे लिस्‍ट में डालने का मतलब पाकिस्‍तान को सुधरने की चेतावनी देना था. अब एफएटीएफ ग्रुप ने उसे ब्‍लैकलिस्‍ट (इन्‍हेंस) कर दिया है. अब अगर अक्‍टूबर तक पाकिस्‍तान नहीं सुधरता है तो उसे पूरी तरह ब्‍लैकलिस्‍ट कर दिया जाएगा.

    आतंकवादियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने के लिए फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स पाकिस्‍तान को ब्लैकलिस्ट किया है. एफएटीएफ ने मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण पर 40 में से 32 अनुपालन मानकों पर पाकिस्तान को खरा नहीं पाया. भारतीय अधिकारियों ने समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया के हवाले से यह जानकारी दी.

    एफएटीएफ के 40 पैरामीटर में से पाकिस्‍तान 25 पर खरा नहीं उतरा, जिस पर एफएटीएफ ने यह कदम उठाया है. एफएटीएफ ने यह माना है कि पाकिस्‍तान ने जो एक्‍शन लिए हैं, वह नाकाफी हैं और दिखावे के लिए उसने कुछ कदम उठाए हैं.

    इससे पहले जून में ओरलैंड में हुई टास्‍क फोर्स की बैठक में चीन ने पाकिस्‍तान को ब्‍लैकलिस्‍ट होने से बचा लिया था. तब पाकिस्‍तान को ग्रे लिस्‍ट में बरकरार रखा गया था. सुधरने के लिए अक्‍टूबर तक का समय मिला था. अगर अब अक्‍टूबर तक पाकिस्‍तान नहीं सुधरा तो उसे पूरी तरह ब्‍लैकलिस्‍ट कर दिया जाएगा.

    क्या है FATF
    FATF दुनिया भर में आतंकियों को आर्थिक मदद पर नजर रखने वाली अंतर्राष्ट्रीय संस्था है. यह एशिया-पैसिफिक ग्रुप मनी लॉन्ड्रिंग, टेरर फाइनेंसिंग, जनसंहार करने वाले हथियारों की खरीद के लिए होने वाली वित्तीय लेन-देन को रोकने का काम करती है. 1989 में इसका गठन मनी लांड्रिंग रोकने के लिए किया गया था. लेकिन 2001 में इसका काम बदल गया और यह आतंकियों को दी जाने वाली वित्तीय मदद पर नजर रखने लगी.

    और भी...

  • भारत को फ्रांस का साथ, राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा आतंक से मिलकर लड़ेंगे, कश्मीर पर हो द्विपक्षीय बात

    भारत को फ्रांस का साथ, राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा आतंक से मिलकर लड़ेंगे, कश्मीर पर हो द्विपक्षीय बात

     

    फ्रांस ने कश्मीर मामले पर भारत का साथ दिया है। गुरुवार रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साझा बयान में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने जम्मू-कश्मीर का जिक्र करते हुए कहा कि इस मामले में भारत और पाकिस्तान को ही द्विपक्षीय तरीके से हल खोजना होगा। किसी तीसरे पक्ष को इसमें हस्तक्षेप करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए और न ही क्षेत्र में हिंसा फैलाने की कोशिश हो। मैक्रों ने कहा कि कश्मीर में शांति के साथ लोगों के अधिकारों की रक्षा होनी चाहिए।

    साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी ने कहा कि जी-7 समिट के लिए राष्ट्रपति मैक्रों का आमंत्रण मेरे प्रति उनके मैत्री भाव का उदाहरण है। प्रधानमंत्री ने कहा कि क्रॉस बॉर्डर टेररिज्म का मुकाबला करने में भारत को फ्रांस का बहुमूल्य समर्थन मिला है। उन्होंने इसके लिए मैक्रों का धन्यवाद किया। मोदी ने इसे दोनों देशों की दोस्ती के लिए यादगार पल बताते हुए कहा, हेरिटेज साइट पर मेरा और मेरे डेलिगेशन का भव्य और स्नेहपूर्वक स्वागत किया गया। इसके लिए मैक्रों का शुक्रिया।

     प्रधानमंत्री ने जी-7 के एजेंडे को पूरा करने में भारत के सहयोग पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि फ्रांस और भारत की दोस्ती लिबर्टी, इक्वैलिटी और फ्रेटरनिटी के ठोस आदर्शों पर टिकी है। हमने कंधे से कंधा मिलाकर काम किया है। आज आतंकवाद, पर्यावरण, क्लाइमेट चेंज और तकनीक में समावेशी विकास की चुनौतियों का सामना करने के लिए भारत और फ्रांस मजबूती से साथ खड़े हैं।

    फ्रांस ने कश्मीर मामले पर भारत का साथ दिया है। मोदी के साथ साझा बयान में फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने जम्मू-कश्मीर का जिक्र करते हुए कहा कि इस मामले का हल भारत और पाकिस्तान को ही द्विपक्षीय तरीके से खोजना होगा। किसी तीसरे पक्ष को इसमें हस्तक्षेप करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए और न ही क्षेत्र में हिंसा फैलाने की कोशिश हो। मैक्रों ने कहा कि कश्मीर में शांति के साथ लोगों के अधिकारों की रक्षा होनी चाहिए।

     

    और भी...

  • पीएम मोदी 3 देशों की यात्रा पर रवाना, बियारेत्ज में 45वें जी-7 शिखर सम्मेलन में लेंगे हिस्सा

    पीएम मोदी 3 देशों की यात्रा पर रवाना, बियारेत्ज में 45वें जी-7 शिखर सम्मेलन में लेंगे हिस्सा

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 देशों की यात्रा पर रवाना हो गए हैं। पीएम मोदी आज से 26 अगस्त तक फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन की यात्रा पर रहेंगे। पीएम मोदी अपनी इस यात्रा के दौरान इन देशों के शीर्ष नेताओं के साथ द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और परस्पर हित के वैश्विक मुद्दों पर व्यापक चर्चा करेंगे। पीएम मोदी अपनी फ्रांस की यात्रा के दौरान बियारेत्ज में 45वें जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

    पीएम मोदी आज शाम फ्रांस पहुंचेंगे। शाम को ही उनकी फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो के साथ बैठक होगी। दोनों नेताओं के बीच पहले आपसी बैठक होगी और फिर शिष्टमंडल स्तर की बैठक होगी। भारत और फ्रांस के बीच चर्चा में रक्षा सहयोग महत्वपूर्ण आयाम होंगे। दोनों देशों के बीच रक्षा, नौवहन क्षेत्र, अंतरिक्ष सहयोग, सूचना प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने पर चर्चा होगी। फ्रांस के साथ जैतापुर परमाणु संयंत्र परियोजना को आगे बढ़ाने पर भी चर्चा होगी। भारत और फ्रांस अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन को आगे बढ़ाने और तीसरे देश खास तौर पर अफ्रीका में इसे आगे बढ़ाने पर चर्चा करेंगे।

    मोदी 23 से 25 अगस्त तक यूएई और बहरीन की यात्रा पर रहेंगे। यूएई और बहरीन की यात्रा पूरी करने के बाद मोदी 25 अगस्त को फिर फ्रांस के बियारेत्ज जायेंगे। वे शिखर सम्मेलन में असमानता से मुकाबला विषय पर भी अपने विचार रखेंगे। इस सम्मेलन में मोदी लोक कल्याण के लिये डिजिटल प्रौद्योगिकी की सफलता के भारत के अनुभव साझा करेंगे और जैव विविधता, जलवायु परिवर्तन के प्रभाव जैसे विषयों पर विचार रखेंगे।

    मोदी की यूएई की यात्रा इस मायने में भी खास है क्योंकि इस दौरान वह यूएई का सर्वोच्च नागरिक सम्मान आर्डर आफ जायद ग्रहण करेंगे। इस यात्रा के दौरान महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर डाक टिकट भी जारी करेंगे। इस दौरान उनका रूपे कार्ड शुरू करने का भी कार्यक्रम है। दोनों देशों के बीच ऊर्जा सुरक्षा, समग्र सामरिक सहयोग के बढ़ावा देने के साथ कारोबार, आतंकवाद से निपटने, अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देने पर व्यापक चर्चा होगी।

    और भी...

  • डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार की कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की पेशकश, कहा जो भी बेहतर वो करूंगा

    डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार की कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की पेशकश, कहा जो भी बेहतर वो करूंगा

     

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और पाकिस्तान के बीच लंबे समय से टकराव का मुद्दा रहे कश्मीर की स्थिति पर एक बार फिर मध्यस्थता की पेशकश की है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष सप्ताहांत में यह मुद्दा उठायेंगे। अमेरिका ने पीएम नरेंद्र मोदी से कश्मीर में तनाव कम करने के लिये कदम उठाने का अनुरोध किया था।

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, कश्मीर बेहद जटिल जगह है, यहां हिंदू हैं और मुसलमान भी और मैं नहीं कहूंगा कि उनके बीच काफी मेलजोल है। उन्होंने कहा, मध्यस्थता के लिये जो भी बेहतर हो सकेगा, मैं वो करूंगा। इससे पहले भी डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ व्हाइट हाउस में बैठक के दौरान कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच 'मध्यस्थ' बनने की पेशकश की थी।

    हालांकि भारत ने सीधे तौर पर ट्रंप की इस पेशकश को खारिज कर दिया था। कश्मीर मुद्दे पर भारत की ओर से अमेरिका के मध्यस्थता की बात नकारने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि वह कल्पना करते हैं कि दोनों देश मिलजुलकर रहेंगे। वहीं मध्यस्थता की बात पर उन्होंने कहा था कि सब कुछ प्रधानमंत्री मोदी पर निर्भर करता है। ट्रंप ने कहा था कि उन्होंने इमरान खान से मुलाकात की, मुझे उनसे मिलकर बहुत अच्छा लगा है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगे कहा था, मोदी और खान बहुत ही शानदार लोग हैं।

    और भी...

  • PM मोदी और ट्रंप के बीच हुई फोन पर बात, कहा हिंसा भड़काने वाले बयान शांति के लिए अनुकूल नहीं

    PM मोदी और ट्रंप के बीच हुई फोन पर बात, कहा हिंसा भड़काने वाले बयान शांति के लिए अनुकूल नहीं

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अलग-अलग अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से फोन पर बातचीत की है। मोदी ने ट्रंप से बातचीत में इमरान खान को शांति का दुश्मन बताया है। वहीं, इमरान से बातचीत में डोनाल्ड ट्रंप ने दो टूक कहा है कि कश्मीर का मुद्दा आपस में बातचीत के जरिए सुलझाएं।

    इमरान खान से फोन पर बातचीत के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प ने साफ कर दिया है कि भारत के साथ द्विवपक्षीय मसले बातचीत से सुलझाए जाएं। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस बात की जानकारी दी है। कुरैशी ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि ट्रम्प कश्मीर मसला हल करने में अपनी भूमिका निभाएंगे।

    पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप से फोन पर बातचीत कर उनको पाकिस्तान की तरफ से दिए जा रहे भारत-विरोधी उग्र बयानों से अवगत कराया। मोदी ने क्षेत्र के कुछ नेताओं द्वारा दिए जा रहे भारत विरोधी उग्र और हिंसा भड़काने वाले बयान का जिक्र किया और कहा, यह शांति के लिए अनुकूल नहीं है, आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद से पाकिस्तानी नेतृत्व कश्मीर मसले को लेकर भारत के विरोध में जहर उगल रहा है। कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त कर वहां विकास करने के भारत के प्रयासों का संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा समर्थन किए जाने के कुछ ही दिनों बाद मोदी ने ट्रंप से 30 मिनट फोन पर बातचीत की। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मसलों पर बातचीत हुई।

    क्षेत्रीय हालात के संदर्भ में मोदी ने ट्रंप को बताया कि क्षेत्र के कुछ नेताओं द्वारा दिए जा रहे भारत विरोधी उग्र और हिंसा भड़काऊ बयान शांति के लिए ठीक नहीं है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार ट्विटर के माध्यम से मोदी पर हमले कर रहे हैं और उनको फासीवादी नस्लवादी बता रहे हैं।

    और भी...

  • PAK पीएम इमरान खान ने किए ट्वीट्स, भारत के परमाणु हथियारों को लेकर किया डर जाहिर

    PAK पीएम इमरान खान ने किए ट्वीट्स, भारत के परमाणु हथियारों को लेकर किया डर जाहिर

     

    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के परमाणु हथियारों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताते हुए एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुहार लगाई। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने लगातार कई ट्वीट्स किए और भारत के परमाणु हथियारों को लेकर अपना डर जाहिर किया। इमरान खान ने लिखा कि भारत के परमाणु हथियार का नियंत्रण फासीवादी मोदी सरकार के हाथ में है। यह एक ऐसा मुद्दा है जिससे केवल क्षेत्र पर ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया पर इसका प्रभाव पड़ेगा।

    पाकिस्तानी पीएम इमरान खान का ये बयान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पहले परमाणु हमला ना करने की नीति में परिस्थितियों के अनुसार बदलाव के ऐलान के बाद आया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा था कि हमारी नीति रही है कि हम परमाणु हथियार का पहले प्रयोग नहीं करेंगे लेकिन आगे क्या होगा, यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

    इमरान खान ने एक ट्वीट में लिखा, हिंदुत्ववादी मोदी सरकार केवल पाकिस्तान के लिए ही नहीं बल्कि भारत के अल्पसंख्यकों और नेहरू-गांधी के भारत के लिए भी खतरा है। इमरान खान एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर दुनिया का समर्थन मांगते नजर आए। इमरान ने कहा कि कश्मीर के हालात को देखते हुए अब तक खतरे की घंटियां बज जानी चाहिए थीं और संयुक्त राष्ट्र के पर्यवेक्षक वहां भेजे जाने चाहिए थे।

    इमरान ने हमेशा की तरह एक बार फिर मोदी सरकार की तुलना जर्मनी के नाजियों से की और आरोप लगाया कि कश्मीर में पिछले दो हफ्तों से 90 लाख मुस्लिम डर के साए में जी रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि भारत सरकार की नफरत की विचारधारा की वजह से ना केवल भारत के अल्पसंख्यक खौफ में हैं बल्कि पाकिस्तान के हिंदू अल्पसंख्यकों पर भी इसका प्रभाव पड़ रहा है।

    और भी...

  • UNSC में कश्मीर पर चीन-पाक नाकाम, भारत की दो टूक-एक देश घाटी में फैला रहा जेहाद

    UNSC में कश्मीर पर चीन-पाक नाकाम, भारत की दो टूक-एक देश घाटी में फैला रहा जेहाद

     

    संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी दूत अकबरुद्दीन ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला है। कश्मीर पर लिए गए फैसले से बाहरी लोगों को कोई मतलब नहीं होना चाहिए। अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान जेहाद के नाम पर भारत में हिंसा फैला रहा है। उन्होंने कहा कि हम अपनी नीति पर हमेशा की तरह कायम हैं।

    कश्मीर मुद्दे पर अकबरुद्दीन ने कहा कि सभी मसले बातचीत से सुलझाए जाएंगे। हिंसा किसी भी मसले का हल नहीं है। साथ ही अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद फैलाना बंद करना होगा। अकबरुद्दीन ने कहा कि भारत, जम्मू कश्मीर में शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, हमारा बहुत पहले से यह मत है कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और अनुच्छे 370 भारतीय संविधान से जुड़ा है। हाल ही में भारत सरकार और हमारी लेजिस्लेटिव बॉडीज द्वारा लिया गया फैसला गुड गवर्नैंस प्रमोट करने के लिए लिया गया है। जम्मू कश्मीर और लद्दाख के सामाजिक और आर्थिक विकास के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है।

    संयुक्त राष्ट्र के रिकॉर्ड के मुताबिक, आखिरी बार सुरक्षा परिषद ने 1965 में भारत-पाकिस्तान प्रश्न के एजेंडा के तहत जम्मू कश्मीर के क्षेत्र को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद पर चर्चा की थी। हाल में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि उनके देश ने, जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के भारत के फैसले पर चर्चा के लिए सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाने की औपचारिक मांग की थी।

    और भी...

  • पाक को लगा झटका, संयुक्त राष्ट्र ने पाक की खुली चर्चा की मांग को ठुकराया

    पाक को लगा झटका, संयुक्त राष्ट्र ने पाक की खुली चर्चा की मांग को ठुकराया

     

    आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर के मुद्दे को अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर उठाने की पाकिस्‍तान की कोशिशों को करारा झटका लगा है। संयुक्‍त राष्‍ट्र ने इस मुद्दे पर खुली चर्चा की पाकिस्‍तान की मांग को ठुकरा दिया है। दरअसल शुक्रवार शाम को भारतीय समयानुसार शाम 7:30 बजे इस मुद्दे पर संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद चीन के आग्रह पर अनौपचारिक बैठक के लिए सहमत हुआ है लेकिन उसमें बंद कमरे में गुप्‍त मंत्रणा होगी।

    इसके बजाय पाकिस्‍तान चाहता है कि इस मुद्दे पर संयुक्‍त राष्‍ट्र के खुले मंच पर चर्चा हो ताकि उसको अपने प्रोपैगेंडा को प्रचारित-प्रसारित करने का मौका मिले। संयुक्‍त राष्‍ट्र ने लेकिन उसकी इसी मांग को ठुकरा दिया है। दरअसल सुरक्षा परिषद इस मुद्दे पर अनौपचारिक बैठक करेगा। उसमें सुरक्षा परिषद के 15 सदस्‍यों के अलावा गैर-सदस्‍यों को शामिल नहीं किया जाता। यह बैठक परिषद के चैंबर में भी नहीं होती बल्कि लोगों की निगाह से दूर एक साइड कमरे में होती है।

    संयुक्‍त राष्‍ट्र के एजेंडा आइटम इंडिया पाकिस्‍तान क्‍वेश्‍चन के तहत चीन ने इस बैठक का प्रस्‍ताव किया है। इसमें कश्‍मीर शब्‍द का जिक्र नहीं किया गया है। संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्‍यों के बीच सलाह-मशविरे के लिए इस तरह की अनौपचारिक बैठकों का आयोजन किया जाता है। इसका प्रसारण नहीं किया जाता। पत्रकारों को भी इसको कवर करने की अनुमति नहीं होती।

    और भी...

  • डोनाल्ड ट्रंप का कड़ा रुख, कहा भारत और चीन नहीं विकासशील देश, WTO टैग का ले रहे फायदा

    डोनाल्ड ट्रंप का कड़ा रुख, कहा भारत और चीन नहीं विकासशील देश, WTO टैग का ले रहे फायदा

     

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और चीन के विकासशील देश के दर्जे पर कड़े तेवर इख्तियार कर लिए हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत और चीन अब विकासशील देश नहीं रहे हैं। ट्रंप ने दावा किया कि वे वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाइजेशन के टैग का फायदा ले रहे हैं और चेताया कि वह अब इसे और नहीं होने देंगे।

    ट्रंप ने पीट्सबर्ग में एक प्रचार अभियान रैली में कहा, वे कुछ देशों जैसे चीन, भारत को विकासशील राष्ट्र के रूप में देखते हैं। देखिए, अब वे विकसित हो चुके हैं और इन्होंने जबरदस्त फायदा उठाया, हम इसे अब और नहीं होने देंगे, हर कोई प्रगति कर रहा है, सिवाय हमारे।

    उन्होंने रैली में कहा कि भारत और चीन डब्ल्यूटीओ से मिले विकासशील देश के दर्जे का फायदा ले रहे हैं, जिससे अमेरिका को नुकसान हो रहा है। डब्ल्यूटीओ एक अंतरसरकारी संगठन है जो राष्ट्रों के बीच अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को नियंत्रित करता है।

    मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि व्हाइट हाउस ने एक ज्ञापन में कहा है कि चीन और कई अन्य देशों ने विकासशील देशों के रूप में अपने को दिखाना जारी रखा है। इससे उन्हें लाभ मिल रहा है और डब्ल्यूटीओ के कुछ अन्य सदस्य देशों से अलग वे कम जिम्मेदारियां उठा रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि अगर जिनेवा स्थित संगठन कुछ राष्ट्रों को फायदा पहुंचाने की अपनी कमियों पर ध्यान देने में विफल रहता है तो फिर अमेरिका को डब्ल्यूटीओ की जरूरत नहीं है।

    और भी...

  • John Cena ने भारतीय लोगों को दी स्वतंत्रता दिवस की बधाई, Instagram पर की ये तस्वीर शेयर

    John Cena ने भारतीय लोगों को दी स्वतंत्रता दिवस की बधाई, Instagram पर की ये तस्वीर शेयर

     

    जॉन सीना WWE के दिग्गज सुपरस्टार्स में से एक हैं। उन्होंने कंपनी में 16 बार WWE चैंपियनशिप पर कब्जा किया है जो एक बड़ा रिकॉर्ड है। जॉन सीना ने WWE में लगभग 15 सालों से ज्यादा समय तक फुल टाइमर के रूप में काम किया है।  2017-18 से वह कंपनी में बहुत कम दिखाई देने लग गए हैं। अंतिम बार वह रॉ रीयूनियन के एपिसोड में उपस्थित थे, जहां उन्होंने सिर्फ एक प्रोमो कट किया था। जॉन सीना ने 15 अगस्त के मौके पर भारत के लिए एक विशेष संदेश भेजा।

    आज हर भारतीय नागरिक के लिए बहुत बड़ा दिन है क्योंकि आज हमारे देश को स्वतंत्र हुए 73 साल पूरे हो चुके हैं। भारत 15 अगस्त 1947 को लंबे समय बाद एक स्वतंत्र देश बना था। इस वजह से 15 अगस्त के दिन को हर साल भारत में एक बड़े त्यौहार की तरह मनाया जाता है।

    जॉन सीना को USA के अलावा भारत में भी काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। जॉन सीना ने कुछ समय पहले अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर एक फोटो पोस्ट की जिसके जरिए उन्होंने सारे भारतीय लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। जॉन सीना हमेशा से ही भारत या भारतीय सेलिब्रिटी से जुड़े पोस्ट डालते रहते हैं। सीना ने कुछ समय पहले शिल्पा शेट्टी से जुड़ा एक मजाकिया ट्वीट किया था, जिसपर भारतीय फैंस का जबरदस्त रिएक्शन रहा था। इसके अलावा उन्होंने भारतीय क्रिकेटर और कप्तान विराट कोहली की वर्ल्ड कप 2019 के दौरान एक अजीब फोटो डाली थी। सीना हमेशान कुछ ना कुछ नया करते रहते हैं।

    और भी...

  • पाक विदेश मंत्री कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कश्मीर मुद्दे पर आपात बैठक की गुजारिश

    पाक विदेश मंत्री कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कश्मीर मुद्दे पर आपात बैठक की गुजारिश

     

    पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कश्मीर मुद्दे पर आपात बैठक करने की गुजारिश की। कुरैशी ने कहा कि वह यूएन में पाक की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी के माध्यम से सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को औपचारिक पत्र भेज रहे हैं। वहीं, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने पाक को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि इमरान खान अपने देश और सीमा पर शांति और स्थायित्व कायम करें।

    दरअसल, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले के खिलाफ दुनियाभर से समर्थन जुटा रहे पाकिस्तान को हर जगह मुंह की खानी पड़ रही है। हाल ही में मलीहा लोधी को उनके ही देश के एक नागरिक ने मीडिया के सामने खरी-खोटी सुनाई। पोम्पियो ने बधाई संदेश में कहा, यूएस और पाक ने जब भी साथ मिलकर काम किया है, हमेशा कामयाबी मिली है। हाल ही में इमरान अमेरिकी दौरे पर आए थे। उन्होंने अपने क्षेत्र में शांति और स्थायित्व कामय करने की बात कही थी। हमें उम्मीद है कि आने वाले सालों में इमरान अपने कहे अनुसार काम करेंगे।

    वहीं, पाक विदेश मंत्री ने कहा, कश्मीर मुद्दे पर भारत का फैसला यूएन प्रस्ताव के खिलाफ और गैरकानूनी है। इस फैसले से राज्य में अशांति फैली है। हम कश्मीर के साथ खड़े हैं। हमारी वहां के निवासियों के साथ सहानुभूति है। मैंने यूएनएससी को लिखे पत्र में निवेदन किया है कि इस मुद्दे पर चर्चा के लिए आपात बैठक बुलाई जाए।

    और भी...

  • Man Vs Wild: पीएम मोदी की ये बात सुनकर बेयर ग्रिल्स ने कहा ‘WOW’

    Man Vs Wild: पीएम मोदी की ये बात सुनकर बेयर ग्रिल्स ने कहा ‘WOW’

     

    डिस्कवरी चैनल के चर्चित शो में से एक Man Vs Wild में बेयर ग्रिल्स के साथ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नजर आए। इस शो की शूटिंग उत्तराखंड के कॉर्बेट नेशनल पार्क में हुई। इस शो को डिस्कवरी नेटवर्क के चैनलों पर दुनिया के 180 से अधिक देशों में दिखाया गया। बेयर ग्रिल्स के साथ Man Vs Wild  में शिरकत के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप अगर इसे छुट्टी कहते हैं, तो 18 सालों में यह मेरी पहली छुट्टी है जिस पर बेयर ग्रिल्स ने WOW कहा।

    इस कार्यक्रम से पहले डिस्कवरी चैनल की ओर से जारी किये गये एक टीजर में बीयर ग्रिल्स बाघ के संभावित हमले से बचने के लिए मोदी को एक तरह का भाला देते हैं। इस पर मोदी कहते हैं, मेरा पालन-पोषण मुझे किसी की जान लेने की अनुमति नहीं देता। लेकिन यदि आप जोर देते है तो मैं इसे अपने पास रखूंगा।

    कार्यक्रम से एक दिन पहले पार्क प्रशासन ने पीएम के साथ जुड़ी फोटो जारी की। फोटो में पीएम मोदी पार्क अधिकारियों के साथ दिखाई दे रहे थे। पार्क के निदेशक राहुल ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने पार्क अधिकारियों की कार्यप्रणाली की प्रशंसा की। वन्यजीवों से संबंधित जानकारी पार्क अधिकारियों ने प्रधानमंत्री ने साझा की थी। बताया कि वाइल्ड लाइफ से संबंधित किताबें भी पीएम को भेंट की। इससे पीएम नरेंद्र मोदी काफी खुश नजर आए थे।

    शो के शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने भी सभी देशवासियों से अपील करते हुए इस कार्यक्रम को देखने को कहा था। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा कि भारत में हरे भरे जंगल, विविधतापूर्ण वन्यजीवन, सुन्दर पहाड़ियां और बड़ी नदियां हैं। इस कार्यक्रम को देखकर आप भारत के विभिन्न क्षेत्रों में उन स्थानों पर जाना चाहेंगे और पर्यावरण संरक्षण की पहल से जुड़ना चाहेंगे।

     

     

    और भी...