देश

  • मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को 25 लाख रुपये के निजी मुचलके पर मिली जमानत

    मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को 25 लाख रुपये के निजी मुचलके पर मिली जमानत

     

    दिल्‍ली हाईकोर्ट ने बुधवार को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कर्नाटक कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को 25 लाख रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी। ट्रायल कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी। आज सुबह कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तिहाड़ जेल जाकर डीके शिवकुमार से मुलाकात की थी।

    कर्नाटक कांग्रेस के संकटमोचक माने जाने वाले डीके शिवकुमार पर हवाला के जरिए लेनदेन और टैक्स चोरी का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने उनको तीन सितंबर को गिरफ्तार किया था। वह 25 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में हैं। कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली पिछली सरकार को बनाने का श्रेय जाता है।

    सितंबर 2018 में प्रवर्तन निदेशालय ने डीके शिवकुमार, हनुमंथैया और कर्नाटक भवन के एक कर्मचारी एवं कुछ अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। इससे पहले कांग्रेस नेता ने ट्रायल कोर्ट में खराब सेहत का हवाला देते हुए जमानत की गुहार लगाई थी। इस पर प्रवर्तन निदेशालय ने कहा था कि अपराध की जड़ें गहरी हैं ऐसे में कांग्रेस नेता को जमानत नहीं दी जानी चाहिए।

    और भी...

  • दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश, सिर्फ ग्रीन पटाखों के इस्तेमाल की मंजूरी

    दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश, सिर्फ ग्रीन पटाखों के इस्तेमाल की मंजूरी

     

    प्रदूषण को ध्यान में रखते सुप्रीम कोर्ट ने इस बार दीवाली पर सख्त रुख अपनाया है। यही वजह है कि कोर्ट ने दिल्ली में रॉकेट और बॉम्ब सरीखे और पटाखों को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है। कोर्ट ने इस दीवाली पर सिर्फ ग्रीन पटाखों को ही इस्तेमाल करने की मंजूरी दी है। कोर्ट ने जिन ग्रीन पटाखों को मंजूरी दी है, उसमें अनार और फुलझड़ी शामिल हैं।

    बता दें कि केंद्र सरकार ने कुछ दिन पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दिल्ली और एनसीआर में रहने वाले लोगों से अपील की थी कि इस बार दीवाली में सिर्फ ग्रीन पटाखों का ही इस्तेमाल करें। केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा था कि हमें आपका सहयोग चाहिए, ताकि हमें प्रदूषण की मात्रा को कम किया जा सके।

    कोर्ट ने रॉकेट, बम और तेज आवाज करने वाले पटाखों पर लगाई रोक।

    कोर्ट ने जिन ग्रीन पटाखों को मंजूरी दी है उनमें अनार और फुलझड़ी शामिल हैं।

    अनार और फुलझड़ी दो रंग में आएंगे। 50 फुलझड़ी और पांच अनार के एक डब्बे की कीमत 250 रुपये होगी।

    दिल्ली पुलिस ने पटाखे विक्रेताओं पर नजर रखने के लिए विशेष टीम बनाई है।

    दिल्ली पुलिस की टीम का काम यह सुनिश्चत करने का होगा कि सभी विक्रेता सिर्फ ग्रीन पटाखे ही बेचें।

    सरकार के अनुसार ग्रीन पटाखे समान्य पटाखों की तुलना में 30 फीसदी कम प्रदूषण फैलाते हैं।

    ग्रीन पटाखों के इस्तेमाल से हम हवा में फैलने वाले सल्फर डाइऑक्साइड को काफी हद तक कम कर सकते हैं।

    केंद्र सरकार ने भी इस बार लोगों से ग्रीन पटाखे ही इस्तेमाल करने का अनुरोध किया है।

    सुप्रीम कोर्ट ने 2016 में भी दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर बैन लगाया था।

    कोर्ट ने अपने पुराने ऑर्डर को 2017 में कुछ समय के लिए हटा लिया था।

    और भी...

  • कमलेश तिवारी हत्याकांड: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, 15 बार किया गया चाकुओं से हमला

    कमलेश तिवारी हत्याकांड: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, 15 बार किया गया चाकुओं से हमला

     

    कमलेश तिवारी हत्या मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, उन पर 15 बार चाकुओं से हमला किया गया था और उसके बाद गोली मारी गई थी जो कि शरीर के अंदर ही फंसी रह गई थी। खास बात है कि चाकुओं के सभी 15 वार सिर्फ जबड़े से लेकर छाती के बीच में 10 सेंटीमीटर के भीतर किया गया था।

    पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, चाकू के हमलों से कमलेश तिवारी के सीने में तीन से चार सेंटीमीटर का सुराख हो गया था। इसके साथ ही कमलेश के शव के पोस्टमार्टम के दौरान दो जगह चाकू से रेते जाने के निशान मिले हैं। इनमें से एक निशान उनकी गर्दन को रेतने का है।

    ठुड्डी से 6 सेमी. नीचे गले पर

    गले पर सामने की ओर से भी गहरा घाव

    सीने पर दाहिनी तरफ दो घाव

    सीने के बाएं हिस्से पर सात घाव

    बाएं कंधे पर

    बाएं कंधे से पीठ की तरफ

    पीठ पर बायीं तरफ

    सीधे कंधे पर

    गौरतलब है कि कमलेश तिवारी की हत्या 18 अक्टूबर को लखनऊ में की गई थी। इस मामले में दोनों संदिग्ध हत्यारों को मंगलवार को गिरफ्तार किया जा चुका है। जबकि 3 साजिशकर्ताओं को गुजरात एटीएस पहले ही हिरासत में ले चुकी है, जो अभी यूपी पुलिस की रिमांड पर हैं।

    और भी...

  • झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, इन 6 विधायकों ने थामा बीजेपी का दामन

    झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, इन 6 विधायकों ने थामा बीजेपी का दामन

     

    झारखंड में विधानसभा चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों को तगड़ा झटका लगा है। झारखंड मुक्ति मोर्चा, जवान संघर्ष मोर्चा और कांग्रेस के छह विधायक बीजेपी में शामिल हों गए हैं। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सभी को पार्टी की सदस्यता दिलाई और इस मौके पर रघुवर दास ने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रवाद और विकास से प्रभावित होकर प्रदेश के विकास के लिए, गरीबी को समाप्त करने के लिए, आगे ले जाने के लिए विभिन्न दलों के नेता, अधिकारी शामिल हुए हैं। ये लोग पार्टी में प्रदेश के विकास और राष्ट्र की सेवा के लिए आए हैं।

    पूर्व प्रदेश कांग्रेस प्रमुख सुखदेव भगत और मनोज यादव बीजेपी में शामिल हुए हैं, इसके अलावा कांग्रेस के एक और विधायक बादल पत्रलेख ने भी कांग्रेस का दामन छोड़ा है। कुणाल षाडंगी और जेएमएम के निलंबित विधायक जेपी पटेल भी झारखंड मुक्ति मोर्चा छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं।

    सुखदेव भगत ने कहा कि वि​कास और राष्ट्रवाद, दूध में शक्कर की तरह है और हम इसकी मिठास को बढ़ाने के लिये बीजेपी में शामिल हुए हैं। मैं निष्ठापूर्वक पार्टी के विश्वास पर खरा उतरूं और विकास और राष्ट्रवाद पर चलूं, ऐसा मेरा प्रयास रहेगा। वहीं मनोज यादव ने कहा कि आज देश में सबसे बड़ा मुद्दा राष्ट्रवाद और विकास है। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। राज्य में विधानसभा की कुल 81 सीटें हैं। बीजेपी अपनी लय में है और इसने चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

    और भी...

  • जम्मू कश्मीर: घाटी से जाकिर मूसा ग्रुप का सफाया, आतंक का मुखिया ललहारी ढेर

    जम्मू कश्मीर: घाटी से जाकिर मूसा ग्रुप का सफाया, आतंक का मुखिया ललहारी ढेर

     

    जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में हुई मुठभेड़ में आतंक के मुखिया बने ललहारी को सेना ने मार गिराया है। ललहारी जाकिर मूसा के बाद घाटी में सक्रिय हुआ था। अब घाटी से जाकिर मूसा ग्रुप का सफाया हो गया है। बुधवार को जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलवामा जिले के त्राल में हुई मुठभेड़ पर जानकारी दी।

    उन्होंने कहा कि त्राल में हामिद के अलावा जैश से जुड़े नवीद और जुनैद भी मारे गए हैं। आतंकी जाकिर मूसा के मारे जाने के बाद हामिद ने आतंक की कमान संभाली थी। डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि त्राल में मारे गए आतंकी स्थानीय हैं। हामिद ललहारी आतंकी संगठन अंसार गजावत उल हिंद का कमांडर था। उसने हामिद 2016 से सक्रिय था। उसने जाकिर मूसा के बाद आतंक की कमान संभाली थी। मुठभेड़ में जाकिर मूसा ग्रुप का सफाया हो गया है। 

    इस दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अब हालत सामान्य हैं, बाजार में लोगों की चहल-पहल बढ़ी है। प्रदेश में अब शांति का माहौल है। आपको बता दें कि दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में मंगलवार को चार घंटे चली मुठभेड़ में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के तीन दहशतगर्दों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया था। मारे गए आतंकियों की शिनाख्त नावीद टाक, हामिद लोन उर्फ हामिद ललहारी और जुनैद भट्ट के तौर पर हुई है।

    और भी...

  • अरविंद केजरीवाल का बीजेपी पर वार, कहा दिल्ली में बीजेपी की नहीं हिंदू-मुस्लिम राजनीति करने की हिम्मत

    अरविंद केजरीवाल का बीजेपी पर वार, कहा दिल्ली में बीजेपी की नहीं हिंदू-मुस्लिम राजनीति करने की हिम्मत

     

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि भाजपा के पास दिल्ली में हिंदू-मुस्लिम राजनीति करने की हिम्मत नहीं है क्योंकि आप ने स्वास्थ्य और शिक्षा के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित कर राजनीतिक विमर्श की दिशा को ही बदल दिया है। अपनी सरकार द्वारा किए गए कार्यों की प्रशंसा करते हुए, उन्होंने दावा किया कि भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को वोट देंगे।

    अरविंद केजरीवाल ने एक सभा में कहा, भाजपा के पास दिल्ली में हिंदू-मुस्लिम राजनीति करने की हिम्मत नहीं है क्योंकि हमने इस देश में राजनीति की दिशा को बदल दिया है और शिक्षा और स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित किया है। हमने भाजपा को स्वास्थ्य और शिक्षा के मुद्दों पर बात करने के लिए मजबूर किया है। यह बहुत बड़ी बात है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के प्रत्येक निवासी को उनकी सरकार की नीतियों से लाभ हुआ है।

    बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों के रिडिजाइन को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली की सड़कों को रिडिजाइन करके उन्हें इंटरनेशनल लेवल का बनाया जाएगा। इसके लिए एक पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। इस प्रोजेक्ट के तहत राजधानी की नौ सड़कों का चुनाव किया गया है, जिनकी कुल लंबाई 45 किलोमीटर है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि रिडिजाइन होने के बाद इन सड़कों से न केवल ट्रैफिक कम होगा, साथ ही ये अब से कहीं ज्यादा खूबसूरत भी दिखेंगी। इससे एक्सीडेंट में भी कमी आएगी।

    और भी...

  • कमलेश तिवारी हत्याकांड: गुजरात ATS की बड़ी सफलता, हत्या के मुख्य आरोपी गिरफ्तार

    कमलेश तिवारी हत्याकांड: गुजरात ATS की बड़ी सफलता, हत्या के मुख्य आरोपी गिरफ्तार

     

    कमलेश तिवारी हत्याकांड में गुजरात एटीएस को बड़ी सफलता मिली है। हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी के फरार चल रहे दो हत्यारे अशफाक और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार किया है। दोनों हत्यारों की गिरफ्तारी गुजरात-राजस्थान सीमा से की गई है। बता दें कि कमलेश तिवारी की बीते शुक्रवार को लखनऊ में उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी।

    गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने कहा कि कमलेश तिवारी की हत्या के दो वांटेड आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन पठान को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी गुजरात-राजस्थान बॉर्डर के पास शामलाजी से हुई है। गौरतलब है कि दोनों की पहचान कर ली गई थी। दोनों आरोपी सूरत के रहने वाले हैं जहां से तीन और लोगों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। हालांकि पुलिस ने इन दोनों के नामों का पहले खुलासा नहीं किया था।

    दोनों हत्यारों को लखनऊ में कई जगह लगे सीसीटीवी कैमरों में देखा गया था। गौरतलब है कि शुक्रवार को कमलेश तिवारी को नाका हिंडोला इलाके में उनके कार्यालय में दो लोगों ने गला रेत और फिर गोली मारकर हत्या कर दी थी। शव के पास गुजरात की दुकान की मिठाई का डिब्बा और एक तमंचा बरामद हुआ था। दोनों आरोपियों ने भगवा रंग का कुर्ता पहन रखा था।

    और भी...

  • चिदंबरम को सीबीआई मामले में जमानत मिली, मगर जारी रहेगी जेल

    चिदंबरम को सीबीआई मामले में जमानत मिली, मगर जारी रहेगी जेल

     

    आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई है। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के केस में पी चिदंबरम को एक लाख के निजी मुचलके पर जमानत मिली है। इस बेल के बाद भी चिदंबरम तिहाड़ जेल में रहेंगे, क्योंकि वह 24 अक्टूबर तक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कस्टडी में है।

    उच्चतम न्यायालय ने कहा कि अगर किसी अन्य मामले में पी.चिदंबरम की जरूरत नहीं है तो उन्हें जमानत पर रिहा किया जाए। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि पी.चिदंबरम अदालत से इजाजत लिए बिना देश ने बाहर नहीं जा सकते। 

    चिदंबरम को भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई ने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। एजेंसी ने हाल ही में उनके तथा अन्य लोगों खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया है जिनमें उनके बेटे कार्ति तथा कुछ नौकरशाह शामिल हैं। इन पर कथित रूप से भ्रष्टाचार निरोधक कानून तथा भारतीय दंड संहिता के तहत दंडनीय अपराध करके राजकोष को नुकसान पहुंचाने के मामले में आरोपपत्र दाखिल किया गया था। चिदंबरम फिलहाल आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में है।

    सीबीआई ने 2007 में 305 करोड़ रुपये का विदेशी चंदा लेने के लिए आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेशी निवेश संबर्द्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की एक मंजूरी में कथित अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए 15 मई, 2017 को प्राथमिकी दर्ज की थी।

    इसके बाद ईडी ने 2017 में इस संबंध में धनशोधन का मामला दर्ज किया था। 74 वर्षीय वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने उच्च न्यायालय के 30 सितंबर के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी। उच्च न्यायालय ने सीबीआई द्वारा दर्ज आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में उनकी जमानत अर्जी को खारिज कर दिया था। न्यायमूर्ति आर भानुमति, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना तथा न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की पीठ उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली सीबीआई की याचिका पर अपना फैसला सुनाएगी। 

     

    और भी...

  • महाराष्ट्र विस चुनाव: MAHARASHTRA EXIT POLL में देखिए आखिर किस पार्टी को मिल रहा बहुमत!

    महाराष्ट्र विस चुनाव: MAHARASHTRA EXIT POLL में देखिए आखिर किस पार्टी को मिल रहा बहुमत!

     

    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान हो चुका है। महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए थे, जिन पर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए थे। बीजेपी, शिवसेना का मुक़ाबला कांग्रेस, एनसीपी गठबंधन से है। बीजेपी 164 सीटों पर क़िस्मत आज़मा रही है। शिवसेना ने गठबंधन समझौते के तहत 126 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। कांग्रेस एनसीपी गठबंधन की बात करें तो कांग्रेस 147 और एनसीपी 121 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

    महाराष्ट्र का एग्जिट पोल

                                                भाजपा+                         कांग्रेस+               अन्य

    इंडिया टुडे-एक्सिस                 166-194                        72-90                22-34

    एबीपी लोकनीति                       204                               69                     15

    न्यूज 18- आईपीएसओएस          243                             41                        4

    टाइम्स नाउ                             230                              48                       10  

    रिपब्लिक मीडिया                   224-232                       48-52                  8-11 

    और भी...

  • महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: मतदान हुआ समाप्त, 24 अक्टूबर को आयेगा फैसला

    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: मतदान हुआ समाप्त, 24 अक्टूबर को आयेगा फैसला

     

    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान हो चुका है। महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए थे, जिन पर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए थे। बीजेपी, शिवसेना का मुक़ाबला कांग्रेस, एनसीपी गठबंधन से है। बीजेपी 164 सीटों पर क़िस्मत आज़मा रही है। शिवसेना ने गठबंधन समझौते के तहत 126 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। कांग्रेस एनसीपी गठबंधन की बात करें तो कांग्रेस 147 और एनसीपी 121 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

    मतदान प्रतिशत

    समय                  महाराष्ट्र     

    9 बजे                 5.46       

    10 बजे                5.79       

    11 बजे                12.27

    12 बजे                16.35

    1 बजे                 21.07

    2 बजे                 30.93

    3 बजे                 35.23

    4 बजे                 43.65

    5 बजे                 44    

    6 बजे                 55.33

    और भी...

  • सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के प्रस्ताव को दी मंजूरी, भगवान संत रविदास मंदिर का फिर से निर्माण

    सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के प्रस्ताव को दी मंजूरी, भगवान संत रविदास मंदिर का फिर से निर्माण

     

    दिल्ली के तुगलकाबाद में तोड़े गए भगवान संत रविदास मंदिर का फिर से निर्माण किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर हरी झंडी दे दी है। इस मंदिर के निर्माण के लिए केंद्र सरकार 400 गज जमीन देगी। सुप्रीम कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ संत रविदास मंदिर की 400 वर्गगज जमीन सरकार की ओर से बनाई जानेवाली समिति को सौंपने के केंद्र सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

    सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि मंदिर के मैनेजमेंट के लिए एक समिति का गठन करे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि समिति के सदस्य के तौर पर पूर्व सदस्य और अन्य केंद्र सरकार को आवेदन दे सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने 6 सप्ताह में समिति के गठन का आदेश दिया है।

    केंद्र सरकार ने प्रस्ताव में मंदिर के लिए 200 वर्ग गज की मांग की थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाकर 400 वर्ग गज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर तोड़े जाने के बाद विरोध और हंगामा करने के आरोप में गिरफ्तार लोगों को निजी मुचलके और बांड पर रिहा करने का आदेश भी दे दिया है।

    बता दे दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में रविदास मंदिर तोड़े जाने के खिलाफ दलित समाज के लोगों ने रामलीला मैदान में बड़ा प्रदर्शन किया था। आंदोलन के बाद इलाके में हिंसा और आगजनी की घटना भी हुई। हिंसा के मामले में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर समेत 96 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

    और भी...

  • महाराष्ट्र विस चुनाव: सीएम देवेंद्र फडणवीस समेत बॉलीवुड सेलेब्स ने किया मतदान, लोगों से की ये अपील

    महाराष्ट्र विस चुनाव: सीएम देवेंद्र फडणवीस समेत बॉलीवुड सेलेब्स ने किया मतदान, लोगों से की ये अपील

     

    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए सुबह सात बजे से वोटिंग हो रही है। राज्य की सभी 288 विधानसभा सीटों पर मतदान चल रहा है सुबह 10 बजे तक 5.69 फीसदी मतदान हुआ है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी अपने मत का इस्तेमाल किया। फडणवीस ने नागपुर में अपनी मां सरिता फडणवीस और पत्नी अमृता फडणवीस के साथ जाकर मतदान किया। वोटिंग के बाद फडणवीस ने कहा कि सभी लोग लोकतंत्र में सहभागी बनें और मतदान करें।

    केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने भी अपने मत का इस्तेमाल किया। गडकरी ने अपने पूरे परिवार के साथ नागपुर में वोटिंग की। वोटिंग के बाद उन्होंने जनता से ज्यादा से ज्यादा मतदान का आह्वान किया और एक बार फिर देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री बनने का विश्वास जताया।

    एनसीपी नेता अजीत पवार ने भी मतदान कर दिया है। पवार बारामती विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उनके सामने बीजेपी से गोपीचंद पाडलकर हैं। बॉलीवुड एक्टर रितेश देशमुख ने अपनी पत्नी और अभिनेत्री जेनिलिया डिसूजा के साथ जाकर मतदान किया। रितेश देशमुख ने वोटिंग के बाद कहा, मैंने दोनों भाइयों के लिए प्रचार किया है और उन दोनों को उनके काम पर वोट मिलेंगे। मुझे उम्मीद है कि मेरे दोनों भाई विजयी होंगे। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के दो बेटे अमित और धीरज कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

    पूर्व टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति ने अपनी पत्नी और अभिनेत्री लारा दत्ता के साथ वोटिंग की भूपति और लारा ने बांद्रा पश्चिम में मतदान किया। यूपी के गोरखपुर से सांसद और एक्टर रवि किशन ने मुंबई में अपने वोट का इस्तेमाल किया। रवि किशन ने गोरेगांव में अपना वोट डाला। जबकि अभिनेत्री पद्मिनी कोल्हापुरी ने अंधेरी पश्चिम में वोटिंग की।

    और भी...

  • पीएम मोदी की अपील, मतदान में बड़ी संख्या में लें हिस्सा और लोकतंत्र के इस पर्व को बनाएं सफल

    पीएम मोदी की अपील, मतदान में बड़ी संख्या में लें हिस्सा और लोकतंत्र के इस पर्व को बनाएं सफल

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में लोगों से अपील की है। उन्होंने ट्वीट भी किया। अपने ट्वीट में कहा कि मैं आम लोगों से अनुरोध करता हूं कि वह मतदान में बड़ी संख्या में हिस्सा लें और लोकतंत्र के इस पर्व को सफल बनाएं। पीएम ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में हो रहे मतदान को लेकर भी ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने मराठी में लोगों से वोट डालने के लिए घरों से निकलने की अपील की।

    बता दें कि महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान जारी है। बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियां दोनों ही राज्यों में सत्ता बरकरार रखने कोशिश में जुटी हुई हैं, जबकि विपक्षी दल सत्ता विरोधी लहर का फायदे उठाते हुए इसे अपने पक्ष में करने जुगत में है।

    बता दे हरियाणा में राज्य के लगभग 1.82 करोड़ मतदाता 1169 उम्मीदवारों के भाग्य का फ़ैसला करेंगे। राज्य की 90 विधानसभा सीटों के लिए कुल 1169 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें 1064 पुरुष, 104 महिलाएं और एक अन्य उम्मीदवार शामिल हैं।राज्य में कुल 19578 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 19425 रेगुलर और 153 सहायक मतदान केंद्र हैं। शहरी क्षेत्र में 5741 और ग्रामीण क्षेत्र में 13837 मतदान केंद्र हैं। विधानसभा चुनावों के लिए कुल 29400 बैलेट यूनिट, 24899 कंट्रोल यूनिट और 27611 वीवीपैट मशीनों का उपयोग किया जा रहा है।

    और भी...

  • हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए हुआ मतदान

    हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए हुआ मतदान

     

    हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान शुरू हो चुका है। महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए हैं जिन पर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए हैं। दोनों राज्यों में शांतिपूर्वक और निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराने के लिए इलेक्शन कमीशन ने भी कमर कसी है। केंद्रों पर भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किये गए हैं।

    हरियाणा में राज्य के लगभग 1.82 करोड़ मतदाता 1169 उम्मीदवारों के भाग्य का फ़ैसला करेंगे। राज्य की 90 विधानसभा सीटों के लिए कुल 1169 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें 1064 पुरुष, 104 महिलाएं और एक अन्य उम्मीदवार शामिल हैं।राज्य में कुल 19578 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 19425 रेगुलर और 153 सहायक मतदान केंद्र हैं। शहरी क्षेत्र में 5741 और ग्रामीण क्षेत्र में 13837 मतदान केंद्र हैं। विधानसभा चुनावों के लिए कुल 29400 बैलेट यूनिट, 24899 कंट्रोल यूनिट और 27611 वीवीपैट मशीनों का उपयोग किया जा रहा है।

    महाराष्ट्र में 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत कुल 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए हैं, जिनपर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए हैं। यहां बीजेपी 164 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जिसमें उसके कमल के निशान पर चुनाव लड़ने वाले छोटे सहयोगी दलों के उम्मीदवार शामिल हैं। वहीं शिवसेना ने 126 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं। दूसरी ओर, कांग्रेस ने 147 और सहयोगी राकांपा ने 121 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

    अन्य दलों में, राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने 101 उम्मीदवार, भाकपा ने 16, माकपा ने आठ उम्मीदवार उतारे हैं। बसपा ने 262 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। जबकि दूसरी तरफ, 1400 निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में ताल ठोंक रहे हैं। महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ आज 17 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव भी हो रहा है

     

    और भी...

  • 500 करोड़ से ज्यादा का काला धन उजागर, 'कल्कि भगवान' के ठिकानों पर आयकर का छापा

    500 करोड़ से ज्यादा का काला धन उजागर, 'कल्कि भगवान' के ठिकानों पर आयकर का छापा

     

    बेंगलुरू। कलियुग में धर्म के नाम पर ठोंगी बाबाओं द्वारा लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ जारी है। पुलिस और आयकर विभाग के छापों में इन बाबाओं का 'काला सच' दुनिया के सामने आ जाता है। ऐसे ही बेंगलुरू में एक बाबा यहां मारे गए छापें में करोड़ों रुपए बरामद किए गए। खुद को 'कल्कि भगवान' (Kalki Bhagwan) कहने वाले विजय कुमार नायडू के 40 से अधिक ठिकानों पर जब आयकर विभाग ((Income tax department)) ने छापेमारी की तो वह हैरान रह गई।

    आयकर विभाग के एक बयान जारी कर शुक्रवार को बताया गया कि अघोषित आय में 409 करोड़ की बेहिसाब प्राप्ति रसीदें (कैश रीसिप्ट) शामिल हैं। छापे के दौरान 43.9 करोड़ रुपये की नकदी व 18 करोड़ रुपये से ज्यादा मूल्य की अमेरिकी मुद्रा भी जब्त की गई है। इस तरह कुल 93 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्तियां जब्त की गई हैं। इनमें 88 किलो सोने के गहने शामिल है, जिनकी कीमत 26 करोड़ रुपये है और करीब पांच करोड़ रुपये के 1,271 कैरेट हीरे शामिल हैं।

    बयान के मुताबिक, बुधवार को आध्यात्मिक गुरु द्वारा स्थापित कंपनियों व ट्रस्टों के 40 ठिकानों पर छापेमारी की गई। इनमें चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु और आंध्र प्रदेश का वरदैयापालम शामिल हैं। कंपनी व ट्रस्टों के ठिकानों पर छापेमरी अब भी जारी हैं। आध्यात्मिक गुरु की कंपनियों के द्वारा कल्याण पाठ्यक्रम (वेलनेस कोर्सेज) का संचालन किया जाता हैं। एकात्म दर्शन पर आधारित इन पाठ्यक्रमों व प्रशिक्षण कार्यक्रमों का संचालन वरदैयापालम, चेन्नई व बेंगलुरु स्थित कई आवासीय परिसरों में होता है। इनके अनुयायियों में कई देशों के विदेशी भी शामिल हैं, जो इन जगहों पर आकर रहते हैं और विदेशी मुद्रा में फीस का भुगतान करते हैं।

    रियल स्टेट, निर्माण व देश-विदेश में खेल के क्षेत्रों से जुड़े इस समूह का संचालन आध्यात्मिक गुरु व उनके पुत्र के द्वारा किया जाता हैं। आयकर विभाग ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर छापे की यह बड़ी कार्रवाई शुरू की गई। बताया गया था कि समूह उन सभी प्राप्तियों को छिपा रहा है, जिनका निवेश विदेशों और आंध्र प्रदेश व तमिलनाडु की संपत्तियों में किया गया है। छापेमारी के दौरान समूह की तरफ से संचालित किए जाने वाले विभिन्न केंद्रों व आश्रमों की प्राप्तियों को नियमित रूप से छिपाए जाने के सबूत भी मिले हैं। ये सबूत एक प्रमुख कर्मचारी के पास से बरामद हुए, जो कैश कलेक्शन का ब्योरा रखता है। उसने सारे कैश कलेक्शन को खाते से अलग रखा था, जिससे उस राशि का निवेश अन्य कहीं किया जा सके। इस बात का भी पता चला है कि समूह ने संपत्तियों की बिक्री के जरिये भी अघोषित आय अर्जित की है। पहली नजर में वर्ष 2014-15 के बाद करीब 409 करोड़ की बेहिसाब प्राप्तियां सामने आई हैं।

    आयकर विभाग करे मुताबिक आध्यात्मिक गुरु के समूह ने भारत के साथ-साथ टैक्स हैवेन देशों में भी निवेश किया है। इस समूह की कुछ कंपनियां चीन, अमेरिका, सिंगापुर व यूएई में भी हैं। इन कंपनियों के जरिये उन विदेशी ग्राहकों से पैसे वसूले जाते हैं, जो भारत में आवासीय पाठ्यक्रम में शामिल होने आते हैं।

    और भी...