देश

  • कमल हासन के बाद रजनीकांत ने कहा हिंदी किसी भी राज्य में नहीं थोपी जानी चाहिए

    कमल हासन के बाद रजनीकांत ने कहा हिंदी किसी भी राज्य में नहीं थोपी जानी चाहिए

     

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के एक देश एक भाषा के बयान को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। अभिनेता कमल हासन के बाद अब रजनीकांत ने भी इसका विरोध किया है। बुधवार को अभिनेता रजनीकांत ने कहा कि हिंदी को न सिर्फ तमिलनाडु बल्कि दक्षिण भारत के किसी भी राज्य में नहीं थोपा जाना चाहिए। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर ऐसा किया गया तो दक्षिण भारत के सभी राज्य इसका विरोध करेंगे।

    रजनीकांत ने कहा, कॉमन भाषा देश की उन्नति के लिए अच्छी होगी लेकिन दुर्भाग्यवश भारत में कॉमन भाषा नहीं है। हिंदी को यदि थोपा जाता है तो इसे तमिलनाडु में कोई स्वीकार नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि हिंदी को थोपा नहीं जाना चाहिए। सिर्फ तमिलनाडु ही नहीं बल्कि दक्षिणी राज्यों में से कहीं भी हिंदी को नहीं थोपा जाना चाहिए।

    रजनीकांत ने कहा कि हिंदी देश की प्रगति के लिए एक सामान्य भाषा हो सकती है लेकिन इसे जबरन थोपना उन लोगों को स्वीकार्य नहीं है। आपको बता दें कि रजनीकांत से पहले अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने भी सोमवार को केंद्र सरकार को एक देश, एक भाषा को बढ़ावा देने के खिलाफ चेतावनी दी थी। एक विडियो जारी कर कमल ने अप्रत्यक्ष रूप से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर हमला करते हुए कहा है कि भारत 1950 में अनेकता में एकता के वादे के साथ गणतंत्र बना था और अब कोई शाह, सुल्तान या सम्राट इससे इनकार नहीं कर सकता है। बता दें कि अमित शाह ने हिंदी दिवस पर 'एक राष्ट्र, एक भाषा' की पैरवी की थी।
     

    और भी...

  • अयोध्या राम जन्मभूमि मामला: CJI रंजन गोगोई का उम्मीद 17 नंवबर तक आएगा फैसला

    अयोध्या राम जन्मभूमि मामला: CJI रंजन गोगोई का उम्मीद 17 नंवबर तक आएगा फैसला

     

    अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 26वें दिन की सुनवाई हुई। इस मुद्दे पर मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई का बड़ा बयान आया है। उन्होंने कहा है कि सभी को संयुक्त प्रयास करना होगा और पक्षकार समझौता कर अदालत को बताए। इस केस की सुनवाई 18 अक्टूबर तक पूरी होने की उम्मीद भी जताई। 27 सितंबर तक मुस्लिम पक्षकार अपनी बहस पूरी कर लेंगे।

    मुस्लिम पक्षकारों की तरफ से राजीव धवन ने कहा, अगले हफ़्ते तक हम अपनी बहस पूरी कर लेंगे। इस पर CJI ने कहा, आप अपनी बहस इस महीने तक पूरी कर लेंगे। इस पर रामलला विराजमान ने कहा कि उन्हें जवाब देने के लिए 2 दिनों का वक्त चहिये।

    CJI ने कहा, हमें उम्मीद है कि हम अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी कर लेंगे। इसके लिए हम सभी को संयुक्त प्रयास करना होगा। इसके बाद जजमेंट लिखने के लिए जजों को चार हफ्तों का वक्त मिलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा, अगर पक्षकार इस मामले को मध्यस्थता समेत अन्य तरीके से सैटल करना चाहते हैं तो कर सकते हैं। पक्षकार समझौता कर अदालत को बताएं।

    चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, मध्यस्थता को लेकर पैनल का पत्र मिला. अगर पक्ष आपसी बातचीत कर मसले का समझौता करना चाहते है तो कर के कोर्ट के समक्ष रखे। मध्यस्थता कर सकते है, मध्यस्थता को लेकर गोपनीयता बनी रहेगी। सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा कि इस दौरान सुनवाई चलती रहेगी। सुनवाई काफी आगे तक बढ़ चुकी है इसलिए सुनवाई भी चलेगी। यानी 17 नवंबर तक फैसला आएगा। बताते चले कि चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई इसी दिन रिटायर भी होंगे।

    और भी...

  • सजा सुनते ही आरोपी ने किया कोर्ट में ऐसा काम कि हर कोई रह गया भौचक्का

    सजा सुनते ही आरोपी ने किया कोर्ट में ऐसा काम कि हर कोई रह गया भौचक्का

     

    मध्यप्रदेश के छतरपुर की जिला अदालत में मंगलवार को उस समय अजब हालात बन गए जब बलात्कार के 32 वर्षीय आरोपी ओमकार अहिरवार ने सजा सुनते ही अपनी गर्दन चाकू से काट ली। उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। अहिरवार के वकील राजेन्द्र सक्सेना ने बताया कि छतरपुर सिविल लाइन्स थाने की पुलिस ने ओमकार अहिरवार पर 28 अक्तूबर 2015 को बलात्कार का मामला दर्ज कर चालान न्यायालय में पेश किया था। आरोपी ओमकार पिछले कुछ समय से जमानत पर था।

    उन्होंने बताया कि मामले में अपर सत्र न्यायाधीश नौरिन निगम की अदालत ने फैसला सुनाते हुए आरोपी को बलात्कार का दोषी करार दिया और उसे 10 वर्ष की कैद और 5,000 रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। अधिवक्ता ने बताया कि सजा सुनते ही अहिरवार ने अदालत के अंदर ही चाकू से अपनी गर्दन काट ली और उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां से बेहतर इलाज के लिये ग्वालियर भेज दिया गया है।

    उन्होंने बताया कि ओमकार सागर जिले के बीना का रहने वाला है और छतरपुर की लड़की से उसकी फेसबुक पर दोस्ती हुई थी तथा दोनों लिव इन में रह रहे थे।

    और भी...

  • विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने कहा, POK भारत का हिस्सा एक दिन होगा हमारे अधिकार में

    विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने कहा, POK भारत का हिस्सा एक दिन होगा हमारे अधिकार में

     

    विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने सरकार के सौ दिन पूरे होने पर मंगलवार को विदेश मंत्रालय के कार्यों का ब्योरा प्रेसवार्ता के जरिए पेश किया। उन्होंने कहा कि पीओके भारत का हिस्सा है। उम्मीद है इसे एक दिन अपने अधिकार में ले लेंगे। जयशंकर ने कहा कश्मीर मामले पर एक सीमा के बाद, हम सभी को बहुत ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है कि लोग क्या कहेंगे। वैसे भी यह भारत का आंतरिक मामला है, जिसे बहुत ज्यादा प्रचारित किया गया है। आगे भी किया जाएगा। मगर इससे स्थिति नहीं बदलना है क्योंकि यह तो 1972 से स्पष्ट है।

    दुनिया में भारत की स्थिति पर जयशंकर ने कहा, मैं मानता हूं कि यदि आप आज के दौर में मल्टीलेटरल फोरम जैसे जी20, ब्रिक्स में होने वाली बड़ी डिबेटों को देखें तो आप पाएंगे कि वहां भारत की आवाज और उसके विचार पहले से कहीं ज्यादा स्पष्ट तरीके से सुने जा रहे हैं। नीतियों के मामले पर उन्होंने कहा, भारत की घरेलू और विदेशी नीति के बीच गहरा संबंध है। हमारी राष्ट्रीय नीति और विदेश नीति के लक्ष्यों के बीच जो सह-संबंध है, वो मजबूत बनने का है। हमारी विदेश नीति का जो यूनिक पहलू है, वो जल्द ही आपको अमेरिका में देखने को मिलेगा। भारतीय-अमेरिकन कम्युनिटी वहां एक बड़ा इवेंट करने वाली है।

    उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के ह्यूस्टन इवेंट पर कहा, मैं इस आयोजन को भारतीय-अमेरिकी कम्युनिटी का एक बड़ा अचीवमेंट मानता हूं। यदि आज वहां इस स्तर का इवेंट हो रहा है, उसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी शिरकत करने वाले हैं तो यह दर्शाता है कि कम्युनिटी कहां तक पहुंच गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने वहां की कम्युनिटी का निमंत्रण स्वीकार किया। यह निश्चित रूप से सम्मान की बात है।

    और भी...

  • कर्नाटक में DRDO का मानव रहित एयर व्हीकल दुर्घटनाग्रस्त

    कर्नाटक में DRDO का मानव रहित एयर व्हीकल दुर्घटनाग्रस्त

     

    कर्नाटक के चित्रदुर्गा में मंगलवार सुबह डीआरडीओ का मानव रहित एयर व्हीकल दुर्घटनाग्रस्त हो गया। फिलहाल इस घटना में किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। चित्रदुर्गा जिले में जोडीचिक्‍कनाहल्‍ली के खेत में मानवरहित यान क्रैश हो गया।

    घटना की खबर मिलते ही डीआरडीओ अधिकारी मौके पर पहुंचे। चित्रदुर्गा जिले में मुख्‍यालय के काफी करीब डीआरडीओ का टेस्‍ट रेंज चैलकेरे एरोनॉटिकल टेस्ट रेंज है। यहीं इसका परीक्षण किया जा रहा था।

    रेंज के करीब ही खुले इलाके में यह दुर्घटना का शिकार हो गया। चित्रदुर्गा के एसपी ने बताया, डीआरडीओ का एयरक्राफ्ट ट्रायल के दौरान हादसे का शिकार हो गया और वहां के खेत में गिरा। स्‍थानीय लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं थी। वहां भीड़ इकट्ठी हो गई।

    और भी...

  • पीएम नरेंद्र मोदी जन्मदिन पर जाने उनके बचपन से जुड़े 5 किस्से

    पीएम नरेंद्र मोदी जन्मदिन पर जाने उनके बचपन से जुड़े 5 किस्से

    पीएम नरेंद्र मोदी आज अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं। 17 सितंबर 1950 को गुजरात के वडनगर में मोदी का जन्म हुआ था। पांच भाई-बहनों में नरेंद्र मोदी का नंबर तीसरा है। गरीब परिवार में जन्मे मोदी ने बचपन से ही परेशानियों से लड़ना सीख लिया था। तमाम संघर्षों के बीच बचपन से ही उनके मन में देश सेवा का भाव था। उन दिनों वह सेना में भर्ती होना चाहते थे। लेकिन नियति में कुछ और लिखा था। आम आदमी से लेकर प्रधानमंत्री तक सफर इतना आसान नहीं था। पीएम मोदी का बचपन कैसा था? वो बचपन में बाकी बच्चों के जैसे ही थे या फिर शुरू से ही उनके अंदर कुछ अलग था। आईए जानतें है उनके बचपन से जुड़े कुछ किस्सों के बारे में।

    चाय बेचने की कहानी

    नरेंद्र मोदी ने कई बार बताया है कि उनके घर में आर्थिक तंगी थी। जिस बात को मोदी अच्छें से समझते थे और अपने पिता की मदद के लिए मोदी स्कूल के बाद सीधा पिता की दुकान पर पहुंच जाते और ग्राहकों को चाय देते, वे रेल के डिब्बों में घूम कर भी चाय बेचते थे। चाय बेचते हुए मोदी ने पढाई पर भी पूरा ध्यान रखा था।

    जूतों की कहानी

    पीएम मोदी के घर की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि वे जूते तक खरीद सकें, उनके मामा ने उन्हें सफेद कैनवस जूते खरीद कर दिए थे। अब जूते गंदे होने तय थे लेकिन नरेंद्र मोदी के पास पॉलिश खरीदने के लिए भी पैसे नहीं थे। उन्होंने एक तरीका निकाला  टीचर जो चॉक के टुकड़े फेंक देते थे उन्हें वो जमा कर लेते थे और उनका पाउडर बनाकर भिगोकर अपने जूतों पर लगा लिया करते थे। सूखने के बाद जूते नए जैसे ही लगते थे।

    मगरमच्छ की कहानी

    एक दिन नरेंद्र मोदी अपने बचपन के दोस्त के साथ शर्मिष्ठा सरोवर गए थे। जहां से वह खेल-खेल में एक मगरमच्छ के बच्चे को पकड़ लिया और घर लाए। उनकी मां ने जब ये देखा तो उनसे कहा कि इसे वापस छोड़कर आओ, बच्चे को कोई यदि मां से अलग कर दे तो दोनों को ही परेशानी होती है। मां की ये बात नरेंद्र मोदी को समझ आ गया और वो उस मगरमच्छ के बच्चे को वापस सरोवर में छोड़ आए।

    शरारती भी थे मोदी

    मन की बात में पीएम मोदी ने बताया था कि वो शहनाई बजाने वालों को इमली दिखाया करते थे, ताकि शहनाई बजाने वालों के मुंह में पानी आ जाए और वो शहनाई ना बजा पाएं। इस पर शहनाईवादक नाराज होकर मोदी के पीछे भी भागते थे। पीएम मोदी ने कहा कि उनका मानना है कि शरारतों से ही बच्चे का विकास होता है।

    मोदी के दयालुपन की कहानी

    स्कूली दिनों में मोदी एनसीसी कैंप में जाया करते थे। एनसीसी कैंप से बाहर निकलना मना था। स्कूल के शिक्षक गोवर्धनभाई पटेल ने देखा कि मोदी एक खंबे पर चढ़े हुए हैं तो उन्हें गुस्सा आ गया। लेकिन जब उनकी नज़र इस बात पर पड़ी कि एक फंसे हुए पक्षी को निकालने के लिए नरेंद्र मोदी खंबे पर चढ़े हैं तो उनका गुस्सा खत्म हो गया।

    और भी...

  • पीएम मोदी का आज 69वां जन्मदिन, नेताओं ने दी शुभकामनाएं

    पीएम मोदी का आज 69वां जन्मदिन, नेताओं ने दी शुभकामनाएं

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस वक्त पूरे देश ही नहीं बल्कि विदेश से भी उन्हें बधाई मिल रही है। राजनीतिक गलियारों से लेकर आम लोगों तक सभी उनकी लंबी उम्र और अच्छी सेहत की कामना कर रहे हैं।

    नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने भी प्रधानमंत्री को नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने लिखा, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी, आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ। मैं आपके अच्छे स्वास्थ्य, खुशहाल जीवन और दीर्घायु की कामना करता हूं। मुझे पूरा विश्वास है कि हम मिलकर नेपाल-भारत द्विपक्षीय संबंधोंको और अधिक मजबूत करते जाएंगे.।

    पीएम मोदी को शाह ने बधाई देते हुए लिखा, दृढ़ इच्छाशक्ति, निर्णायक नेतृत्व और अथक परिश्रम के प्रतीक देश के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। आपके नेतृत्व में उभरते नये भारत ने विश्व में एक मजबूत, सुरक्षित और विश्वसनीय राष्ट्र के रूप में अपनी पहचान बनाई है।

    हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने भी पीएम मोदी को बधाई देते हुए लिखा अपार ऊर्जा के स्रोत, सर्व लोकप्रिय, कर्मठ, आदरणीय प्रधानमन्त्री श्री जी को जन्मदिन की अनंत शुभकामनाएं। मैं आपकी लम्बी आयु एवं उत्तम स्वास्थ्य की मंगल कामना करता हूं।

    बीजेपी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा, देश का सम्मान आपके नेतृत्व में नई ऊंचाइयों पर पहुंच रहा है।

    रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, आज, मैं पीएम नरेंद्र मोदी जी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं देने वाले 130 करोड़ साथी नागरिकों में शामिल हो रहा हूं। वह एक निर्णायक नेता हैं और हम सभी के लिए प्रेरणा हैं। गोयल ने आगे लिखा, न्यू इंडिया के निर्माण के लिए हम सब प्रतिबद्ध हैं। मैं उनके लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं, हैप्पी बर्थडे पीएम मोदी।

    राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी पीएम मोदी को शुभकामनाएं दी। उन्होंने लिखा, पीएम श्री नरेंद्र मोदीजी ने अपने नेतृत्व कौशल के चलते विश्व में भारत की एक अलग पहचान कायम की. ग्रामोदय से भारत उदय तक, आयुष्मान भारत से किसान सम्मान निधि तक, धारा 370 से तीन तलाक की कुप्रथा हटाने तक आपके हर निर्णय ने भारत और भारतीय लोकतंत्र को मजबूती प्रदान की है।

    वहीं भारतीय जनता पार्टी के ट्विटर हैंडल से भी पीएम मोदी को बधाई दी गई है बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, राष्ट्रसेवा और जनहित को सर्वोपरि रखने वाले सच्चे कर्मयोगी, आदर्शवादी राजनेता और देश के यशस्वी प्रधानसेवक श्री नरेन्द्र मोदीजी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं।

    और भी...

  • महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के बीच विधानसभा चुनावों के लिए सीटों का हुआ बंटवारा

    महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के बीच विधानसभा चुनावों के लिए सीटों का हुआ बंटवारा

     

    राष्ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख शरद पवार ने कांग्रेस और एनसीपी के बीच विधानसभा चुनाव को लेकर गठबंधन का ऐलान किया है। पवार ने कहा है कि महाराष्ट्र में दोनों पार्टियां 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ेंगीं। शरद पवार ने नासिक में प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह ऐलान किया।

    शरद पवार ने कहा कि बाकी बची हुई सीटें उनके गठबंधन में शामिल दूसरी पार्टियों को दी जाएगी। शरद पवार ने कहा कि उनके और कांग्रेस के बीच 15-20 सीटो में उलट फेर हो सकता हैं। बता दें शरद पवार ने पिछले हफ्ते ही विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे के मुद्दे पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से चर्चा की थी। दोनों नेताओं ने राज्य के सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी-शिवसेना गठबंधन को रोकने के लिए कांग्रेस और एनसीपी के बीच गठबंधन के मुद्दे पर बातचीत की थी।

    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में दो महीने का ही समय शेष है। बता दें 2014 के चुनाव में, भाजपा ने 288 सदस्यीय विधानसभा में 122 सीटों पर कब्जा जमाया था, जबकि शिवसेना को 62 सीटें मिली थीं। कांग्रेस को 42 और राकांपा को 41 सीटों के साथ संतुष्ट होना पड़ा था।

    और भी...

  • आंध्र प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कोडेला शिवप्रसाद राव ने की आत्महत्या

    आंध्र प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कोडेला शिवप्रसाद राव ने की आत्महत्या

     

    आंध्र प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कोडेला शिव प्रसाद राव ने हैदराबाद में अपने घर पर आत्महत्या कर ली। उनका शव फंदे से लटका मिला। 72 साल के राव राज्य में विपक्षी तेलुगु देशम पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक थे। राव विधानसभा की संपत्ति चोरी को लेकर विवादों के घेरे में थे।

    स्थानीय पुलिस के मुताबिक राव को बसवतारकम अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उनकी मौत की पुष्टि की। उनके परिवार में पत्नी शशिकला, पुत्री डॉ. विजया लक्ष्मी और दो बेटे डॉ शिव राम कृष्ण और डॉ. सत्यनारायण हैं। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने पूर्व स्पीकर के निधन पर दुख जताया है।

    आंध्र प्रदेश के विभाजन के बाद राव 2014 में स्पीकर बने थे। वे छह बार विधायक रहे। राव ने पांच बार नरसरावपेट से और 2014 में सत्तेनापल्ली से जीत दर्ज की थी। वे कई बार मंत्री भी रह चुके हैं। 1983 में राव तेदेपा में शामिल हुए थे।

    और भी...

  • Article370: CJI रंजन गोगोई ने कहा अगर जरूरत पड़ी तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट

    Article370: CJI रंजन गोगोई ने कहा अगर जरूरत पड़ी तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट

     

    चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई ने जम्मू-कश्मीर को लेकर दाखिल याचिकाओं की सुनवाई करते हुए कहा कि अगर जरूरत पड़ेगी तो मैं खुद जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट जाऊंगा। उन्होंने कहा कि मैंने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट से एक रिपोर्ट मांगी है, इस रिपोर्ट को देखने के बाद अगर मुझे लगा कि वहां जाना चाहिए तो मैं खुद हाईकोर्ट जाऊंगा। उन्होंने इस मामले की सुनवाई के दौरान CJI ने सरकार से पूछा कि आखिर जम्मू-कश्मीर में हालात को सामान्य करने के लिए अभी तक क्या कदम उठाए गए हैं उसकी जानकारी दी जाए।

    सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को केंद्र सरकार ने बताया कि एक भी गोली नहीं चलाई गई है, कुछ स्थानीय बैन लगे हुए हैं। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से हालात सामान्य करने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि कश्मीर में अगर तथा-कथित बंद है तो उससे जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय निपट सकता है।

    वहीं केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, कश्मीर स्थित सभी समाचार पत्र चल रहे हैं और सरकार हरसंभव मदद मुहैया करा रही है। पत्रकारों को फोन और इंटरनेट की सुविधा भी मुहैया कराई गई है। दूरदर्शन जैसे टीवी चैनल और अन्य निजी चैनल, एफएम नेटवर्क काम कर रहे हैं। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने अटार्नी जनरल के. के. वेणुगोपाल से कहा कि इन हलफनामों का विवरण दें और सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए प्रयास किए जाएं।

    और भी...

  • सुप्रीम कोर्ट ने गुलाम नबी आजाद को दी कश्मीर जाने की इजाजत, लेकिन इन शर्तो के साथ

    सुप्रीम कोर्ट ने गुलाम नबी आजाद को दी कश्मीर जाने की इजाजत, लेकिन इन शर्तो के साथ

     

    सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हे कश्मीर जाने की इजाजत दे दी है, इस दौरान वह चार जिलों का दौरा कर सकते हैं। लेकिन इस दौरान वह कोई राजनीतिक कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। वहां जाने के बाद वह सुप्रीम कोर्ट को एक रिपोर्ट सौपेंगे। इस बारे में केंद्र को नोटिस दिया गया है।

    सुप्रीम कोर्ट की इजाजत के बाद अब गुलाम नबी आजाद बारामूला, अनंतनाग, श्रीनगर और जम्मू जिलों का दौरा कर सकते हैं। गुलाम नबी आजाद की तरफ से अदालत को भरोसा दिलाया गया है कि इस दौरान वह कोई रैली नहीं करेंगे।

    सोमवार को सुनवाई के दौरान गुलाम नबी आजाद की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी ने अदालत में कहा कि गुलाम नबी आजाद 6 बार के सांसद हैं, पूर्व मुख्यमंत्री हैं फिर भी श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेज दिया गया। गुलाम नबी आजाद ने 8, 20 और 24 अगस्त को वापस जाने की कोशिश की थी। गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डालकर अपने परिवार से मिलने की इजाजत मांगी थी।

    और भी...

  • सेव आरे फॉरेस्ट मुहिम के तहत 3 लाख लोग आए एक साथ,इन बॉलीवुड हस्तियों ने भी किया समर्थन

    सेव आरे फॉरेस्ट मुहिम के तहत 3 लाख लोग आए एक साथ,इन बॉलीवुड हस्तियों ने भी किया समर्थन

     

    सेव आरे फॉरेस्ट मुहिम के तहत मुंबई में करीब 3200 एकड़ के जंगल को बचाने के लिए 3 लाख लोग एकजुट हुए हैं। आरे फॉरेस्ट संजय नेशनल पार्क का हिस्सा है। यह जंगल पश्चिम उपनगर के बीचों-बीच है। इसलिए इसे मुंबई का ग्रीन लंग भी कहते हैं। इसकी 1000 एकड़ जमीन पर पहले ही अतिक्रमण और निर्माण कार्य हो चुका है।

    बाकी 2200 एकड़ जमीन में से 90 एकड़ पर कुलाबा-बांद्रा-सीप्ज मेट्रो-3 के लिए कारशेड बनाया जाएगा। दावा है कि यहां 3600 पेड़ हैं। मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए इसमें से 2700 पेड़ काटे जाएंगे। यह ओशिवरा नदी और मीठी नदी का इलाका भी है। पर्यावरण कार्यकर्ताओं का कहना है कि वे मुंबई को बाढ़ जैसे हालात में नहीं झोंकना चाहते। जंगल रहे तो बाढ़ रोकी जा सकती है।

    इस मुहिम को अभिनेत्री श्रद्धा कपूर और जॉन अब्राहम सहित बॉलीवुड की कई हस्तियों ने समर्थन किया है। गायिका लता मंगेशकर ने भी कहा था कि मेट्रो के लिए पेड़ों को काटना हत्या के समान है। पर्यावरण कार्यकर्ता निराली वैद्य ने आरे फॉरेस्ट को बचाने के लिए ऑनलाइन याचिका दायर की है। इसका 3 लाख लोगों ने दस्तखत कर समर्थन किया है। याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होगी।

    मुंबई मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने कहा कि आरे फॉरेस्ट में मेट्रो के लिए 2700 पेड़ काटे जाएंगे। इतने पेड़ सालभर में 64 टन कार्बन डाईऑक्साइड का अवशोषण करते हैं। जबकि 4 दिन में मेट्रो-3 लगभग 194 ट्रिप करेगी। इससे इन दिनों में 64 टन कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जन कम होगा। यानी मौजूदा प्रदूषण कम हो जाएगा।

    और भी...

  • असम NRC की फाइनल लिस्ट हुई ऑनलाइन जारी, 19 लाख से ज्यादा लोग लिस्ट से बाहर

    असम NRC की फाइनल लिस्ट हुई ऑनलाइन जारी, 19 लाख से ज्यादा लोग लिस्ट से बाहर

     

    असम NRC की फाइनल लिस्ट शनिवार को ऑनलाइन जारी कर दी गई है। 31 अगस्त को जारी की गई NRC की फाइनल लिस्ट में 19 लाख से ज्यादा लोगों को बाहर रखा गया है। अब फाइनल लिस्ट को ऑनलाइन जारी कर दिया गया है। जिससे व्यक्ति लिस्ट में आसानी से अपना नाम चेक कर सकते हैं।

    गौरलतब है कि असम में NRC में शामिल होने के लिए 3,30,27,661 लोगों ने आवेदन किया था। फाइनल लिस्ट से 19,06,657 लोगों को निकाल दिया गया जबकि 3,11,21,004 लोगों को भारतीय नागरिक बताया गया था।

    बता दें कि असम में अवैध रूप से रह रहे विदेशियों की पहचान करने और NRC की फाइनल लिस्ट ऑनलाइन जारी होने की पूरी प्रक्रिया में 6 साल का वक्त लगा है। NRC को संशोधित करने की प्रक्रिया सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 2013 में शुरू हुई थी। सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में भारत के रजिस्ट्रार जनरल द्वारा इसकी पूरी प्रक्रिया हुई।

     

    और भी...

  • हिंदी दिवस पर अमित शाह की लोगों से अपील, कहा रोजमर्रा के कामों में हिंदी भाषा का प्रयोग करे ज्यादा

    हिंदी दिवस पर अमित शाह की लोगों से अपील, कहा रोजमर्रा के कामों में हिंदी भाषा का प्रयोग करे ज्यादा

     

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिंदी दिवस के अवसर पर देश को शुभकामनाएं दीं। अमित शाह ने नागरिकों से महात्मा गांधी और सरदार वल्लभभाई पटेल के सपनों को साकार करने के लिए अपने रोजमर्रा के कामों में हिंदी भाषा का प्रयोग बढ़ाने के लिए आग्रह किया।

    अमित शाह ने हिंदी में ट्वीट कर कहा, भारत विभिन्न भाषाओं का देश है और हर भाषा का अपना महत्व है परन्तु पूरे देश की एक भाषा होना अत्यंत आवश्यक है जो विश्व में भारत की पहचान बने। आज देश को एकता की डोर में बांधने का काम अगर कोई एक भाषा कर सकती है तो वो सर्वाधिक बोली जाने वाली हिंदी भाषा ही है।

    उन्होंने आगे कहा, आज हिंदी दिवस के अवसर पर मैं देश के सभी नागरिकों से अपील करता हूं कि हम अपनी-अपनी मातृभाषा के प्रयोग को बढ़ाएं और साथ में हिंदी भाषा का भी प्रयोग कर पूज्य बापू और लौह पुरुष सरदार पटेल के देश की एक भाषा के स्वप्न को साकार करने में योगदान दें। हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

    हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है, जो उस दिन के महत्व को दर्शाता है जब देश की संविधान सभा ने हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया। हिंदी भाषा देश की 22 अनुसूचित भाषाओं में से एक है।

    और भी...

  • दुष्कर्म मामला: RJD विधायक के खिलाफ कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

    दुष्कर्म मामला: RJD विधायक के खिलाफ कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

     

    पटना और भोजपुर के चर्चित देह व्‍यापार व दुष्‍कर्म कांड में राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) विधायक अरुण यादव की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रहीं हैं। इस मामले में शुक्रवार को आरा कोर्ट ने संदेश के राजद विधायक के विरुद्ध वारंट जारी कर दिया।

    विशेष पॉक्सो अदालत का प्रभार देख रहे जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरके सिंह ने जिला पुलिस के अनुरोध पर विधायक के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया. भोजपुर के पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने जिला मुख्यालय आरा में कहा, ‘कुछ समय से विधायक का पता नहीं चल रहा है.

    यहां तक कि विशेष जांच टीम ने यादव को पकड़ने के लिए आरा और पटना स्थिति उनकी संपत्तियों पर छापेमारी की. उन्होंने कहा, ‘हमने उनके मोबाइल फोन को सर्विलांस पर डाला है लेकिन पिछले 48 घंटे से वह बंद है. पुलिस की ओर से मुहैया कराए गए अंगरक्षक वापस बुला लिए गए हैं. हमें उम्मीद है कि गैर जमानती वारंट के बाद वह आत्मसमर्पण कर देंगे.'

    और भी...